मोतिहारी के विवेक का ISRO में बतौर साइंटिस्ट हुआ चयन

Featured Post बिहार मोतिहारी स्पेशल शिक्षा साइंस

मोतिहारी। नकुल कुमार
मोतिहारी। मोतिहारी के रहने वाले विवेक श्रीवास्तव का चयन भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO-Indian Space Research Organisation) में बतौर साइंटिस्ट हुआ है उन्होंने पूरे देश में 24 वां स्थान प्राप्त किया है। ग्रुप ए के अंतर्गत इनका राजपत्रित पद है।
Vivek shrivtastav मूल रूप से पूर्वी चंपारण के चिरैया थानांतर्गत सरौगढ़ के दिवंगत अधिवक्ता अभय कुमार श्रीवास्तव व पूनम देवी के पुत्र और सेवानिवृत्त सैनिक रामचन्द्र श्रीवास्तव के पौत्र हैं। वर्तमान समय में मोतिहारी के अंबिका नगर में रहते है।
ISRO में बतौर साइंटिस्ट पूरे देश में उन्हें 24 स्थान प्राप्त करने वाले विवेक श्रीवास्तव की स्कूली शिक्षा मोतिहारी के ही एक निजी शिक्षण संस्थान से हुई है। उसके बाद उन्होंने 2018 में NIT कुरुक्षेत्र से इलेक्ट्रॉनिक्स एवं कम्यूनिकेशन से बीटेक किया है। फिलहाल अभी रेलवे में जॉब कर रहे थे। इसी दौरान उन्होंने ISRO क्वालीफाई किया।
विवेक श्रीवास्तव की जीवन यात्रा भी बड़ी उथल-पुथल वाली रही है। उनकी अभी स्कूली शिक्षा पूरी भी नहीं हुई थी कि  प्रकृति ने उनके साथ क्रूर मजाक किया एवं महज़ 9 साल की उम्र में सर से पिता का साया उठ गया। जिसके बाद उनके सेवानिवृत्त दादाजी ने उन्हें बेटे की तरह लाड-प्यार देकर जीवन के तूफान में एक-एक पग बढ़ाना सिखाया।
उन्होंने बताया कि उनका हमेशा से यही सपना था कि टेक्निकल फील्ड में वे देश की सेवा करें एवं अपने क्षेत्र का नाम रोशन करें। इसरो के लिए उनका यह पहला प्रयास था। इसके लिए लगातार प्रयास करते रहे। इस दौरान उन्होंने रेलवे क्वालीफाई किया एवं जॉब करने लगे।
आंखों में इसरो में जाने का जो ख्वाब था। वह ख्वाब रेलवे में जॉब लगने के बावजूद श्री विवेक को सोने नहीं देता था। यही कारण है कि वो रेलवे में जॉब करने के साथ-साथ समय निकालकर जी तोड़ मेहनत करते थे ताकि वे भारत के सबसे प्रतिष्ठित टेक्निकल संगठन से जुड़कर अपने सपनों को उड़ान दे सके।
विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे युवाओं को संदेश में श्री विवेक कहते हैं कि असफलता से कभी घबराना नहीं चाहिए बल्कि ध्यान हमेशा अपने लक्ष्य का होना चाहिए एवं फल की चिंता किए बगैर निरंतर प्रयास जारी रखना चाहिए।
उनका कहना है कि यदि आप असफल होते हैं तो अपनी असफलता को अपनी प्रेरणा बनाकर, अगली बार उससे भी ज्यादा मेहनत लगन दृढ़ इच्छाशक्ति से करना चाहिए। कभी भी हताश व निराश नहीं होना चाहिए। क्योंकि मेहनत का फल थोड़ा देर से भले ही मिलता है लेकिन जब मिलता है तो फिर उस जैसा कुछ नहीं होता है।
बता दें कि अपने दादा को अपना आदर्श व अपने बड़े भाई विकास श्रीवास्तव को अपना मार्गदर्शक मानने वाले विवेक अपनी सफलता का श्रेय अपने शिक्षकों व मित्रों को देते हैं।

अन्य ख़बरें

गोलीबारी में घायल शिक्षक की हालत स्थिर, जदयू महिला मोर्चा अध्यक्ष कंचन गुप्ता ने मिलकर दिलाया न्याय ...
चुनाव 2019 का रण..........
नवयुवक सेवा समिति की बैठक हुई संपन्न
डॉक्टर संजीव रंजन के नए हॉस्पिटल बिल्डिंग "रानी हॉस्पिटल" का भव्य उद्घाटन 29 जुलाई को
मानवता शर्मसार, मोतिहारी एनएच किनारे मिली नवजात बच्ची।। पूर्व लोकसभा प्रत्याशी ने पहुंचाया अस्पताल ।...
माताओं एवं बच्चों के पोषण संबंधी व्यवहारों के प्रति जन जागरुकता के लिए पोषण रथ रवाना
लोक आस्था के महापर्व के अवसर गरीब महिलाओं में वस्त्र एवं आवश्यक समान वितरित
मुजफ्फरपुर जिला तैलिक साहू समाज की बैठक संपन्न, राजनीतिक भागीदारी के लिए लिया गया एकजुटता का संकल्प
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने किया महावीर प्रसाद और रामेश्वर महतो के मूर्ति का अनावरण। युवाओं को हुनरम...
मोतिहारी वाले गाँधी जी से नकुल कुमार की मुलाकात... नाली, बिजली, सड़क समस्या ही समस्या
सवर्ण आंदोलन ... भूमिहार ब्राह्मण एकता मंच का मोतिहारी में प्रदर्शन
कंटेनमेंट जोन में बदला संक्रमित क्षेत्र, ड्रोन से की जा रही है सतत् निगरानी
भोजपुरी सिनेमा संकट के दौर में गुजर रहा : मृदुल शरण
एसडीओ से मिला मोतिहारी चैंबर ऑफ कॉमर्स का प्रतिनिधिमंडल। समस्याओं से कराया अवगत
बापू की 150वीं जयंती के अवसर पर भाजपा करेगी 30 दिवसीय 'गांधी संकल्प यात्रा'।
वरिष्ठ भाजपा नेता राजेंद्र प्रसाद का निधन, कला संस्कृति मंत्री एवं अन्य ने दी श्रद्धांजलि
स्व.अटल बिहारी वाजपेयी जी के जयंती पर लिया पर्यावरण सुरक्षा का संकल्प एवं जागरूकता रैली
हैप्पी हेल्थ इंडिया द्वारा आयुर्वेदिक मेडिसिन पर सेमिनार
बंजरिया। मुखिया ने आरटीपीएस काउंटर का किया उद्घाटन। लगभग 22 हजार की जनसंख्या होगी लाभान्वित।
सीट बढ़ाने, एडमिशन का डेट बढ़ाने आदि मुद्दों को लेकर बिहार नवयुवक सेना ने किया प्रदर्शन

1 thought on “मोतिहारी के विवेक का ISRO में बतौर साइंटिस्ट हुआ चयन

Leave a Reply