Featured Video Play Icon

हमने अपना अटल रत्न खो दिया :नरेंद्र मोदी

slide अंतर्राष्ट्रीय अररिया अरवल औरंगाबाद कटिहार कानपुर किशनगंज कैमूर क्राइम खगड़िया खेल खोज गया गाँव-किसान गोपालगंज चम्पा से चम्पारण छपरा छौडादानौ जमुई जहानाबाद दरभंगा धार्मिक ज्ञान नवादा नालंदा पकड़ीदयाल पटना पूर्णिया बंजरिया बांका बालिकागृह मामला बिहार बुक्सर बेगूसराय बेतिया बेलबनवा भभुआ भागलपुर भोजपुर मठिया जिरात मधुबन मधुबनी मधेपुरा मनोरंजन मुंगेर मुजफ्फरपुर मोतिहारी मोतिहारी स्पेशल रक्सौल रमगढ़वा राष्ट्रीय रोसड़ा रोहतास लाखिसराया वीडियोस शिक्षा शिवहर शेखपुरा समस्तीपुर सम्पादकीय सहरसा साइंस साहित्य सिवान सीतामढ़ी सुपौल स्पेशल न्यूज़ हाजीपुर
  • 3
    Shares

 

अटल जी के देहांत के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का देश के नाम संदेश प्रसारित हुआ जिसमें अटल जी के विषय में प्रधानमंत्री ने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि देश के भविष्य को  दिशा देने वाले हम सबके प्रेरणा स्रोत श्रद्धेय अटल जी अब नहीं रहे। अटल जी के रूप में भारतवर्ष ने आज अपना अनमोल अटल रत्न खो दिया है । अटल जी का विराट व्यक्तित्व और उनके जाने का दुःख दोनों ही शब्दों के दायरे से परे हैं।  वह एक  जननायक, प्रखर वक्ता,  पत्रकार, ओजस्वी कवि, प्रभावशाली अंतर्राष्ट्रीय व्यक्तित्व के धनी और सबसे बढ़कर मां भारती के सच्चे सपूत थे। उनके निधन से एक युग का अंत हो गया है  उनका निधन संपूर्ण  संपूर्ण राष्ट्र के लिए अपूरणीय क्षति है ।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यहां तक कहा कि मेरे  मेरे लिए अटल जी का जाना  जाना पितातुल्य संरक्षण का साया सिर से उठने के समान है। उन्होंने मुझे संगठन और शासन दोनों का महत्व समझाया । दोनों में काम करने  की शक्ति  और सहारा दिया।  वह जब भी  मिलते थे पिता की तरह खुश होकर  आत्मीयता के साथ गले लगाते थे।  मेरे लिए उनका जाना ऐसी कमी है जो कभी भर नहीं पाएगी।

अटल जी के  कुशल व्यक्तित्व की चर्चा करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि अटल जी ने अपने कुशल नेतृत्व,  अविरत संघर्ष  के द्वारा जनसंघ से लेकर भाजपा तक इन संगठनों को मजबूती के साथ खड़ा किया।  उन्होंने भाजपा के विचारों को  और उनकी नीतियों को जन जन तक पहुंचाने का कार्य किया। उन्हीं के दृढ़ निश्चय और कठिन परिश्रम का परिणाम हैै कि आज भाजपा की यात्रा यहां तक पहुंची हैं।

www.ntcnewsmedia.com

अटल जी भले ही हमें छोड़कर चीर निद्रा में लीन हो गए हो। लेकिन उनकी वाणी, उनका जीवन, उन के विचार, उनकी सादगी, उनके दर्शन हम समस्त भारतवासियों के लिए हमेशा प्रेरणा देता रहेगा उनका ओजस्वी, तेजस्वी और यशस्वी व्यक्तित्व सदा हम देशवासियों का मार्गदर्शन करता रहेगा।

अंत में प्रधानमंत्री ने  कहा कि अपार शोक की इस घड़ी में मेरी संवेदना उनके परिवार और समस्त देशवासियों के साथ है इस दुख की घड़ी में मैं अटल जी के चरणोंं में आदरपूर्वक अपनी श्रद्धांजलि अर्पित करता हूं 

wwwwww.ntcnewsmedia.
www.ntcnewsmedia.com

अन्य ख़बरें

महिला के सिर पर बाल नहीं थे फिर मोतिहारी के इस डॉक्टर से इलाज कराया और बाल उग गए
रालोसपा अध्यक्ष उपेंद्र कुशवाहा 26 नवंबर से पटना में करेंगे आमरण अनशन
एनीमिया बचाव को लेकर साईकिल रैली आयोजित
मिसेज ब्यूटी मॉमस का आडिशन 15 सितंबर को पटना में। गृहणी, मां और मॉडल का दिखेगा अद्भुत संयोग
अपराधियों ने किया घात लगाकर फेरीवाले पप्पू दास पर किया हमला
मंत्री ने दिया सामुदायिक किचन शुरू करने का आदेश कल से खिलाया जाएगा बाढ़ पीड़ितों को खाना
मुंशी सिंह कॉलेज मोतिहारी में फीट इंडिया कार्यक्रम पर हुआ वाद विवाद प्रतियोगिता का आयोजन
सदस्यता अभियान को सफल बनाने को लेकर हुई महत्वपूर्ण बैठक
मसहूर किसान नेता ध्रुव त्रिवेदी ने दी अटल जी को श्रद्धांजलि
मतदाता जागरूकता के लिए निकाली गई मोटरसाइकिल रैली, 12 मई को है क्षेत्र में मतदान
सपा-बसपा के बीच हुआ सीटों का बंटवारा, बिहार में सीटों का फैसला कब...???
लोक आस्था के महापर्व के अवसर गरीब महिलाओं में वस्त्र एवं आवश्यक समान वितरित
A guest lecture Organised by MGCUB on international day for elimination of violence
तुरकौलिया: मुखिया बेबी आलम के नेतृत्व में महिलाओं ने निकाला कैंडल मार्च, पाकिस्तान मुर्दाबाद के लगे...
बिहार विधानसभा निर्वाचन, संचालन एवं सफलतापूर्वक संपन्न कराने हेतु एक आवश्यक प्रशिक्षण सम्पन्न
सड़क दुर्घटना की शिकार फुलगेनी देवी के पति को मिला चार लाख का चेक
ग्रामीण क्षेत्र में मोटिवेशनल कार्यशाला का आयोजन, प्रयोगात्मक बातों से बच्चें हुए प्रेरित
केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री राधामोहन सिंह के जन्मदिन पर डॉक्टर संदीप ने बांटे पौधे
अटल जी की अस्थि कलश यात्रा पटना से मोतिहारी के लिए प्रस्थान
बिहार की 11 बेटियों को मिला कंचन रत्न सम्मान

  • 3
    Shares

Leave a Reply