साइकिल के अविष्कारक मैकमिलन ने भी या नहीं सोचा होगा कि उसके साइकिल आविष्कार के वर्षों बाद भी साईकिल इतनी उपयोगी सिद्ध होगी।

अंतर्राष्ट्रीय खोज बिहार मोतिहारी मोतिहारी स्पेशल राजनीति राष्ट्रीय शिक्षा स्पेशल न्यूज़
  • 11
    Shares

आज मोतिहारी में TET-STET उतीर्ण नियोजित शिक्षक संघ द्वारा साइकिल चलाकर पर्यावरण संरक्षण एवं शहर को प्रदूषण मुक्त चलाने के लिए चलाए जा रहे साइकिल स्वास्थ्य के लिए लाभदायक अभियान के तहत सामूहिक साइकिल चलाया गया जिसका नेतृत्व संघ के जिला अध्यक्ष प्रिय रंजन सिंह जी द्वारा किया गया। इस अवसर पर श्री सिंह ने कहा कि सायकलिंग से स्वास्थ्य पर बहुत ही अच्छा प्रभाव पड़ता है पर्यावरण को भी लाभ होता है इसलिए हमें कम से कम छोटी दूरियों के लिए साईकल का प्रयोग जरूर करना चाहिए।

मालूम हो कि करोड़पति सुशील कुमार द्वारा साइकिल स्वास्थ्य के लिए लाभदायक अभियान चलाया जा रहा है एवं प्रत्येक दिन यह अभियान मोतिहारी शहर के विभिन्न इलाकों में आम से लेकर खास लोगों के बीच चलाया जाता है जिसमें सभी तरह के लोगों की सहभागिता रहती है यहां तक कि अब कुछ लोग साइकल से ऑफिस जाने लगे हैं जिसके कारण इस अभियान को गति मिली है।

पिछले दिनों मतदाता जागरूकता अभियान के दौरान मोतिहारी के जिला अधिकारी सह जिला निर्वाचन पदाधिकारी रमण कुमार ने भी साइकिल चलाकर इस अभियान को गति देने का काम किया था यहां तक कि अब विभागीय अधिकारीगण भी साइकिल से ऑफिस जाकर इस स्वास्थ्य वर्धक एवं सामाजिक अभियान को मोरल सपोर्ट दे रहे हैं।

साइकिल के आविष्कार के समय मैकमिलन ने भी यह नहीं सोचा होगा कि भविष्य में मानव अपने स्वार्थ के लिए इस स्तर तक पहुंच जाएगा कि तमाम तरह के आविष्कार होने के बावजूद उसकी छोटी सी किंतु महत्वपूर्ण आविष्कार वर्षों बाद भी सस्ता सुलभ एवं पर्यावरण के दृष्टिकोण से महत्वपूर्ण परिवहन के तौर पर उपयोग किया जाएगा।

मालूम हो कि शहरों में चल रहे पेट्रोल डीजल वाहनों से एक बार में बड़े पैमाने पर कार्बन डाई ऑक्साइड कार्बन मोनो ऑक्साइड सल्फर डाइऑक्साइड जैसे हानिकारक गैस से काफी गंभीर बीमारियां उत्पन्न हो रही हैं इतना ही नहीं स्वास्थ संबंधी बीमारियां हृदय रोग से संबंधित बीमारियां उच्च रक्तचाप आदि के संदर्भ में भी पर्यावरणीय प्रदूषण को नुकसान पहुंचाना ही पाया गया है।

इतिहास में चिपको आंदोलन चलाने का एक मात्र यही उद्देश्य था कि वृक्षों को बचाया जाए क्योंकि उस समय के लोग भले ही आज की तरह वैज्ञानिक रूप से उन्नत नहीं थे किंतु पर्यावरण संरक्षण एवं प्राकृतिक संतुलन उन्हें अच्छी तरह से पता था पर्यावरण के प्रति यही प्रेम लोगों को स्वस्थ रखता था जिसके कारण लोग वर्षो तक जीवित रहते थे।

आज पूरी दुनिया में पर्यावरण संरक्षण से लेकर वृक्षारोपण के लिए लोग गंभीर हैं एवं बड़े पैमाने पर वृक्षारोपण कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं जहां बिहार में करोड़ों पौधे नरेगा आदि के तहत लगाए गए तो वही विभिन्न संस्थाओं द्वारा भी बड़े पैमाने पर जन जागरूकता अभियान चलाकर वृक्षारोपण कराए जा रहे हैं ताकि पर्यावरण संतुलन बना रहे।

आज सुबह के इस साइकिल अभियान में साथ में
तरुण पासवान (जिला उपाध्यक्ष), मणि भूषण (जिला उपाध्यक्ष), रुमित रौशन (प्रदेश कार्यकरिणी), रंजीत कुमार (जिला कमिटी),संजय कुमार शर्मा(शिक्षक),अरुण कुमार,अभिषेक राज,आदित्य कुमार बिट्टू,दीपक कुमार बबलू, निखिल विवेक,मनोज कुमार टैक्स कन्सलटेंट आदि की उपस्थित रहें।

नकुल कुमार
(स्वतंत्र पत्रकार) ? 8083686563
www.ntcnewsmedia.com

अन्य ख़बरें

एनएसआई डांस एकेदमी का वार्षिक समारोह धूमधाम से मनाया गया
मोतिहारी हनुमान मंदिर में बाढ़ पीड़ितों के लिए राहत सामग्री पैकिंग शुरू
सही प्रशिक्षण से ही मिलेगा इंडस्ट्री में काम : अभिनेता जतिन सूरी
स्व.ललित नारायण दुबे की प्रतिमा का हुआ अनावरण, BRABU, MGCU के कुलपति सहित विभिन्न क्षेत्रों के विद्व...
कल्याणपुर: चुनावी पाठशाला का आयोजन, मतदाताओं को जागरूक करने के बताए गए तरीके
कड़े संघर्ष के बाद फिल्म इंडस्ट्री में पहचान बनायी सुरेश कुमार चौधरी ने
भिक्षुकों के बीच कंबल वितरण करते नजर आए जिलाधिकारी, बढ़ती ठंड में जीना हुआ मुहाल
मोतिहारी सदर SDO प्रियरंजन राजू पटना में सम्मानित
प्रभात-फेरी निकालकर बच्चों ने दिया स्वच्छता का संदेश।
पटना गोलघर के प्रांगण में हुआ योगाभ्यास... पर्यटन मंत्री हुए शामिल
प्रमंडल स्तरीय कार्यकर्ता सम्मेलन को सफल बनाने के लिए बैठक संपन्न
संघर्ष, चुनौती और कामयाबी का दूसरा नाम है काजल यादव, सामाजिक क्षेत्र में है खास पहचान।
किसान विरोधी सरकार को पूर्वी चंपारण की जनता सिखायेगी सबक : आकाश कुमार सिंह
सोशल यूथ कमिटी ने मैट्रिक एवं इंटरमीडिएट में 70% अंक से उतीर्ण छात्रों को किया सम्मानित
बिहार के मेधावी एवं आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों को 100 प्रतिशत छात्रवृति देगा निजामिया एजुकेशन ग्रुप
कमेंटेटर लिटिल गुरु, वैश्विक शांति राजदूत पुरस्कार से सम्मानित
गांधी के विचार आज भी प्रासंगिक: अवनीश कुमार
अज्ञात कारण से मोती झील के तट पर उमड़ी भीड़
पुलवामा हमले के बाद पूरे देश में गुस्सा एवं आक्रोश। पाकिस्तान पर ठोस कार्रवाई की मांग।।
CTET की परीक्षा स्थगित

  • 11
    Shares

1 thought on “साइकिल के अविष्कारक मैकमिलन ने भी या नहीं सोचा होगा कि उसके साइकिल आविष्कार के वर्षों बाद भी साईकिल इतनी उपयोगी सिद्ध होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *