सरकार के खिलाफ जनता का आक्रोश ही भारत बंद : वामदल

Featured Post फोटो गैलरी बिहार मोतिहारी मोतिहारी स्पेशल राष्ट्रीय स्पेशल न्यूज़
  • 39
    Shares

वामदलों का भारत बंद ?

NTC NEWS MEDIA/ Motihari

 आज भारत बंद के दौरान Congress, CPIM, CPI,SFI, माले, RJD…. सहित भारत की तमाम विपक्षी पार्टियों ने अपना दमखम दिखाया हजारों की तादाद में उतरे पार्टी कार्यकर्ताओं नेे मोदी सरकार के खिलाफ जमकर नारे लगाया। 

भारत बंद में दूर दराज से आए हुए महिला नौजवान किसान शामिल हुए । सब की एक ही मांग केंद्र सरकार होश में आओ जनता विरोधी सरकार होश में आओ के

                   वामदलों की ओर से मीडिया से मुखातिब होते हुए सीपीआई,मोतिहारी के शंभू शरण सिंह ने कहा कि आज के भारत बंद में सभी भाजपा विरोधी पार्टियां शामिल है वर्तमान सरकार की जनविरोधी नीतियों के कारण लोगों का गुस्सा चरम पर है जनता वर्तमान सरकार से उठ चुकी है सब के सब चाहे वह खेत में काम करने वाला मजदूर हो किसान हो चाहे बॉर्डर पर मर रहा है जवान हो सब के सब त्रस्त  हैं।

श्री शंभू सिंह ने कहा कि देश में बेतहाशा बढ़ी महंगाई ने लोगों का जीना मुहाल कर रखा है दिनों दिन बढ़ती पेट्रोल डीजल की कीमतों  को यदि सरकार नियंत्रित नहीं कर पाती है तो नैतिक रूप से सरकार को सत्ता में रहने का कोई हक नहीं है

 आगे उन्होंने कहा कि देश में महिलाओं लेखकों बुद्धिजीवी वर्ग का स्थिति काफी खराब है जहां एक और महिलाओं के साथ छेड़खानी बलात्कार की घटना सामने आ रही हैं वहीं दूसरी और शिक्षाविदों पर हमले हो रहे हैं चारों तरफ मॉब लिंचिंग की घटनाएं सामने आ रही हैं यही कारण है कि सरकार के खिलाफ जनता में आक्रोश है।

मालूम हो कि देश में प्रतिदिन डीजल व पेट्रोल की कीमतें बढ़ती जा रही हैं जिस पर सरकार नियंत्रण करने में अभी तक नाकाम रही है ।

वामदलों की भारत बंद के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए रविशंकर प्रसाद ने यहां तक कहा कि तेल की कीमतें अंतरराष्ट्रीय मार्केट के अनुसार कंपनियां तय करती है आज स्थिति यह है कि अमेरिका ने ईरान पर प्रतिबंध लगा रखा है ।

 रविशंकर प्रसाद कुछ भी कहें लेकिन यक्ष प्रश्न यह है कि जिन तरकीबों से चुनाव वाले राज्यों में तेल के दाम कम किए जा रहे हैं निश्चित रूप से उन्हीं तरकीबों से पूरे देश में तेल के दाम कम किए जाने की आवश्यकता है क्योंकि पेट्रोल डीजल के दाम बढ़ने से महंगाई थोक भाव में बढ़ रही है क्योंकि ट्रांसपोर्टेशन महंगा होने से वस्तु का कीमत अपने आप में बढ़ने लगता है।

Advertisements

भले ही भाजपा ने इस भारत बंदी को नकार दिया हो एवं असफल करार दिया हो किंतु कहीं ना कहीं जनाक्रोश था तभी इतनी बड़ी तादाद में जनसंख्या सड़कों पर थी। अतीत में आपको ले चलें तो आपको मालूम होगा कि जब यही भाजपा विपक्ष में थी तो महंगाई का रोना रोती थी किंतु सत्ता में आते ही शायद या भूल गई कि यह जनता है जो बटन सोच समझकर ही दबाती है।

 

 

अन्य ख़बरें

जन अधिकार पार्टी ने जारी की अपने 33 उम्मीदवारों की पहली सूची
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ द्वारा सेवा कार्य का विस्तार जिले के विभिन्न प्रखंड एवं गाँवों तक
ढाका विधायक फैसल रहमान के बैलगाड़ी का बैल ? हुआ भारत बंद के खिलाफ
जिला शांति समिति की बैठक संपन्न, पंडालों में लगेंगे सीसीटीवी, DJ रहेगा बंद
कार्यशाला में पांचवें दिन आंकड़ा विश्लेषण एवं प्राचीन शोध पद्धति पर चर्चा
मोतिहारी विधानसभा में भाजपा को हराने के लिये रालोसपा ने कमर कस ली है: डॉ दीपक कुमार
UPSA शिक्षा रत्न" 2019 से निजी विद्यालयों के 108 सर्वश्रेष्ठ शिक्षक सम्मानित
एनएसआई बैनर तले बनी शार्ट फिल्म छठ की महिमा रिलीज
जगदेव बाबू के सिद्धांत और आदर्श बिहार सहित भारत का विकास करने में सक्षम : मधुमंजिरी
नृत्यांगन हॉबी सेंटर का वैलेंटाइन डे सेलेब्रेशन 09 फरवरी को
ढाका में स्थिति हुआ सामान्य ...
"साइबर क्राइम"......सावधानी ही सर्वोपरि है: IPS रतन लाल डांगी, डीआईजी, छत्तीसगढ़
एक ही फ़िल्म में मवाली लड़की और प्रिंसेस के किरदार में नज़र आएंगी आम्रपाली दुबे
इनर व्हील क्लब ऑफ पटना ने बाल श्रमिकों के बीच अवेरनेस प्रोग्राम करवायाA
मिशन चंद्रयान-2 की उम्मीदें अभी भी बरकरार...आर्बिटर ने लैंडर विक्रम को ढूंढा। संपर्क की कोशिश जारी
सप्तक्रांति, गरीबरथ, सत्याग्रह, पूर्वांचल व इंटरसिटी एक्सप्रेस ट्रेनों के इलेक्ट्रिक इंजन से संचालन ...
सेवा सप्ताह के अंतर्गत सदर हॉस्पिटल मोतिहारी में स्वच्छता अभियान चलाया गया
इनरव्हील क्लब का दो दिवसीय कार्यक्रम संपन्न
पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की 95 वीं जयंती मनाई गई
पीड़ित परिवार से मिले रणविजय साहू मृतक को दी श्रद्धांजलि

  • 39
    Shares

Leave a Reply