शहीद दिवस पर शहर में निकाली गई तिरंगा यात्रा। अगले वर्ष पाकिस्तान में तिरंगा यात्रा निकालने का लिया गया संकल्प

Administration Featured Post बिहार मोतिहारी मोतिहारी स्पेशल स्पेशल न्यूज़

मोतिहारी। 23 मार्च को शहीद दिवस के अवसर पर मोतिहारी में संघ परिवार के तत्वावधान में एक तिरंगा यात्रा का आयोजन किया गया यह तिरंगा यात्रा मोतिहारी के नरसिंह बाबा मठ से शुरू होकर, शहर के मुख्य पथ, चौराहों से गुजरते हुए संघ कार्यालय जाकर समापन हुआ । जिसमें सैकड़ों की संख्या में युवा व शहरवासी व महिलाएं शामिल हुई।
तिरंगा यात्रा के माध्यम से शहीद ए आजम भगत सिंह, राजगुरु एवं सुखदेव की शहादत को याद करते हुए तीन युवकों द्वारा क्रमशः भगत भगत सिंह, शशांक कुमार (राजगुरु) एवं हिमांशु राज (सुखदेव) द्वारा उनकी वेशभूषा धारण करके उनकी जीवंतता को प्रदर्शित किया गया।
इस तिरंगा यात्रा में सैकड़ों की संख्या में शामिल आम शहरवासियों द्वारा भगत सिंह अमर रहे, राजगुरु अमर रहे, सुखदेव अमर रहे के गगनभेदी नारे लगाए जा रहे थे। झांकी एवं इस तिरंगा यात्रा को देखने के लिए एक क्षण के लिए शहर मानो ठहर सा गया था।
तिरंगा यात्रा के क्रम में जगह-जगह शहर वासियों द्वारा पुष्प वर्षा करके यात्रा में शामिल युवाओं का मनोबल बढ़ाया जा रहा था पुष्प वर्षा करने वालों में सैकड़ों की संख्या में महिलाएं भी शामिल थी जो सड़क किनारे खड़ी होकर अथवा अपनी बालकनी से पुष्प वर्षा कर रही थी।
तिरंगा यात्रा के अपने गंतव्य तक पहुंचने पर पुष्प वर्षा कर के सभी का स्वागत किया गया एवं यहां पर भारत माता की भव्य आरती की गई। इस दौरान उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए आर एस एस के चंपारण विभाग कार्यवाहक सुधीर कुमार ने कहा कि हम सभी राष्ट्र भक्तों के मन में यह सपना जागृत रखना है कि इसी जीवन में सरदार भगत सिंह के जन्म स्थल पाकिस्तान के लाहौर स्थित लायलपुर जाकर तिरंगा यात्रा निकालेंगे।
उन्होंने यरूशलम में इजरायल को प्रतिस्थापित करने वाले यहूदी समुदाय का उदाहरण देते हुए कहा कि 1000 वर्ष तक इजरायल के यहूदी अपनी भूमि से अलग रहें एवं जब एक दूसरे से मिलते थे तो कहते थे कि अगले वर्ष यरूशलम में मिलेंगे। उन्हें पता भी नहीं था कि यरूशलम भूमि आने वाले समय में उन्हें मिलेगी…??? लेकिन 2000 वर्ष बाद यहूदियों को येरूसलम मिला और आज इजराइल प्रतिस्थापित है।
आपको बता दें कि अप्रैल 1929 में अंग्रेजी सरकार मजदूरों के मौलिक अधिकारों पर प्रतिबंध लगाने के उद्देश्य से ‘ट्रेड डिस्प्यूट बिल’ तथा ‘पब्लिक सेफ्टी बिल’ पारित कराना करने की योजना बना रही थी। जिसके प्रति विरोध प्रदर्शित करने हेतु भगत सिंह तथा बटुकेश्वर दत्त द्वारा 8 अप्रैल 1929 को केंद्रीय विधानसभा में बम फेंका गया। जिसका उद्देश्य किसी की हत्या नहीं अपितु सरकार को विरोध से अवगत कराना था इस दौरान उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया।
वहीं 1928 में लाहौर में साइमन कमीशन के भारत दौरे का विरोध हेतु एक प्रदर्शन आयोजित किया गया था जिसका नेतृत्व लाला लाजपत राय कर रहे थे । प्रदर्शन कर रहे इन लोगों का दमन करने के उद्देश्य से पुलिस अधीक्षक जेम्स एस्कॉर्ट के नेतृत्व में भीड़ पर लाठीचार्ज किया गया जिसमें लाला लाजपत राय की मृत्यु हो गई।
इस घटना के बाद हिंदुस्तान सोशलिस्ट रिपब्लिकन एसोसिएशन के तीन प्रमुख सदस्य भगत सिंह, चंद्रशेखर आजाद एवं राजगुरु ने लाला लाजपत राय की मृत्यु का बदला लेने के उद्देश्य से 17 दिसंबर 1928 को जॉन पी सांडर्स की हत्या कर दी।( उन्होंने सांडर्स को ही पुलिस अधीक्षक जेम्स एस्कॉर्ट समझ लिया था जो साइमन कमीशन का विरोध कर रहे निहत्थे लोगों पर लाठीचार्ज करवाया था जिसमें लाला लाजपत राय की मृत्यु हो गई थी)
सांडर्स की हत्या के लिए भगत सिंह राजगुरु एवं सुखदेव को 23 मार्च 1931 को फांसी की सजा सुनाई गई । भगत सिंह कौन के साथियों के साथ हुई फांसी के बाद बच्चे बच्चे की जुबान पर भगत सिंह का नाम आ गया एवं पूरे देश में क्रांति की लहर दौड़ पड़ी । तब से आज तक 23 मार्च को सर्वोदय दिवस अथवा शहीद दिवस के रूप में मनाया जाता है।

अन्य ख़बरें

उपेंद्र कुशवाहा ने दिया इस्तीफा। महागठबंधन में शामिल होकर मोतिहारी से लड़ सकते हैं लोकसभा चुनाव
कोरेन्टाईन सेंटर में मरे युवक क़े परिजन क़ो 50 लाख का मुआवजा दे सरकार: डॉ दीपक कुमार
मोतीझील का होगा जीर्णोद्धार एवं सौंदर्यीकरण, नौका विहार का सपना जल्द होगा पूरा
बॉलीवुड सिंगर कनिका चौधरी, ऋतू चौधरी और दानिश खान के गीतों संग मनेगा नए साल का जश्न
शिक्षक राष्ट्र निर्माता है अतः उनका सम्मान जरूरी : निखिल
प्रभा फाउंडेशन के सचिव ने देशवासियों को दी चैत्र छठ की बधाई, कहा, करोना वायरस की जंग हम जरूर जीतेंगे
राजधानी पटना में दिखायी जायेगी लघु फिल्म "पुर्नजन्म"
संघर्ष, चुनौती और कामयाबी का दूसरा नाम है काजल यादव, सामाजिक क्षेत्र में है खास पहचान।
Save Child Beggar संस्था के द्वारा मेडिकल कैंप का हुआ आयोजन
दो दिवसीय जॉब कैंप में कुल 48 अभ्यर्थियों का हुआ अंतिम रूप से चयन
केसरिया: आगजनी में 7 घर जलकर राख, रालोसपा नेता माधव आनंद ने की पीडि़त परिवार की मानवीय सहायता ।
इनर व्हील क्लब वनश्री की सदस्याओं ने फौजी भाईयों के लिये भेजी राखी
ननकाना साहब पर हमले के विरोध में इमरान खान का पुतला दहन
बाढ़ पीड़ितों के बीच भोजन का वितरण शुरू, पूर्व मंत्री ने किया उद्घाटन
लायंस क्लब ऑफ पटना शिव शक्ति का तीसरा पद ग्रहण समारोह आयोजित
पटना फैशन वीक सीजन 4 संपन्न ,मॉडलस से रैंप पर बिखेरे जलवे
लोकसभा 2019 के लिए, मोतिहारी भाजपा कोर कमेटी का हुआ गठन
प्रदेश यूथ कॉन्ग्रेस करेगी सामाजिक न्याय सम्मेलन, 26 सितंबर को पटना के श्रीकृष्ण मेमोरियल हॉल में हो...
जिला पदाधिकारी सहित अन्य पदाधिकारी एवं कर्मियों ने किया रक्तदान
शुक्राणुओं की संख्या में हो रही है गिरावट, निःसंतानता के 30 से 40 प्रतिशत मामलों में पुरूष जिम्मेदार

Leave a Reply