राधामोहन सिंह: अनुच्छेद 370 के जरिए कश्मीर को विशेष दर्जा देना एक ऐतिहासिक भूल थी

Featured Post slide खोज बिहार मोतिहारी मोतिहारी स्पेशल राजनीति स्पेशल न्यूज़
  • 5
    Shares

मोति“राष्ट्रीय एकता अभियान, एक राष्ट्र एक संविधान”
अनुच्छेद 370 और 35ए को समाप्त करके कश्मीर का भारत में पूर्ण विलय वर्तमान भाजपा सरकार ने किया है। भाजपा सरकार के इस फैसले का हर तरफ से स्वागत और समर्थन किया जा रहा है। इससे भाजपा नेताओं के स्पष्ट सिद्धांत का सच, कि अनुच्छेद 370 के जरिए कश्मीर को विशेष दर्जा देना एक ऐतिहासिक भूल थी, उजागर हुआ है। पूरे सितम्बर माह में राष्ट्रीय एकता अभियान चलाया जा रहा है।
इस ऐतिहासिक निर्णय से एक देश एक संविधान लागू हुआ है। अनुच्छेद 370 के हटने से जम्मू कश्मीर वासियों को भारी लाभ हुआ है।
• जो कानून देश की पूरी आबादी के लिए बनता था, उसके लाभ से जम्मू-कश्मीर के डेढ़ करोड़ से ज्यादा लोग वंचित रह जाते थे।
• गरीबी खत्म कर जम्मू, कश्मीर और लद्दाख के लोगों का आत्मविश्वास बढ़ेगा। पर्यटन क्षमता का विकास होगा। शिक्षा और स्वास्थ्य सुविधाओं को सुधार कर जम्मू, कश्मीर और लद्दाख का विकास सुनिश्चित होगा।
• जम्मू कश्मीर में कानून-व्यवस्था दुरूस्त कर आतंकवाद पर लगाम।
• भारत के दूसरे राज्यों की तरह जम्मू कश्मीर में भी अल्पसंख्यक आयोग की स्थापना कर वहां के अल्पसंख्यकों के साथ न्याय।
• वाल्मिकी समाज के भाई-बहनों और सफाई कर्मचारियों के लिए देश के दूसरे हिस्सों की तरह यहां भी राष्ट्रीय आयोग के मानदण्ड लागू होंगे।
• प्रदेश के 40,000 पंच-सरपंच अपने-अपने गांव के विकास की इबारत लिख रहे हैं। पहले यह अधिकार राज्य के केवल तीन परिवारों ने अपने पास सीमित कर रखा था। पंचायती कानून के 73 व 74 संशोधन के अब लागू होने से केन्द्रीय कोश का धन सीधे पंचायत तक पहुँचेगा।
• जम्मू कश्मीर के लोगों को निष्पक्ष और निर्भीक तरीके से अपने जनप्रतिनिधियों को चुनने का मौका मिलेगा।
• जम्मू कश्मीर के बच्चों को भी देश के बाकी बच्चों की तरह शिक्षा के अधिकार का लाभ। प्रधानमंत्री छात्रवृति योजना का विस्तार ऐसे किया जाएगा कि इसका लाभ अधिक से अधिक छात्रों को मिल सके।
• केन्द्र और राज्य सरकार में रिक्त पदों पर तत्काल भर्ती का काम शुरू करने से सबसे पहले जम्मू, कश्मीर और लद्दाख के 50 हजार युवाओं को रोजगार का लाभ मिल रहा है।
• स्थानीय निकायों में कभी भी लोकतंत्र की स्थापना नहीं हो पायी, जिसकी वजह से भ्रष्टाचार अपने चरम पर था। अब एक पारदर्शी और जवाबदेह शासन प्रांत को देखने को मिलेगा।
• अब राज्य के सभी धार्मिक और सांस्कृतिक स्थलों की पुनर्स्थापना कर धार्मिक तीर्थ पर्यटनों को बढ़ावा मिलेगा।
• देश के बाकी हिस्सों की तरह जम्मू कश्मीर और लद्दाख के लोगों को भी मुक्त गैस, बिजली और शौचालय की सुविधा मिलेगी।
• राज्य के उद्योग, स्वास्थ्य सेवाएं और शैक्षणिक संस्थानों की स्थापना से रोजगार के बेहतर अवसर बनेंगे। इससे यहां रियल इस्टेट सेक्ट भी विकसित होगा।
• कश्मीरियत की भावना को और मजबूत करने के साथ-साथ कश्मीरी संस्कृति को सहेजना।
• केसर, सेब, अखरोट एवं अन्य जैविक उत्पादों वाले स्थानीय कृषि उद्योग का प्रोत्साहन एवं सहायता।
• कश्मीर सदियों से प्राकृतिक सौंदर्य का प्रतीक रहा है और रहेगा। एक बार फिर जम्मू कश्मीर को धरती पर स्वर्ग का दर्जा मिलेगा। राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय फिल्म उद्योग को राज्य में बड़े स्तर पर फिल्म निर्माण के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा।
श्री सिंह ने यह भी कहा है कि गांव-गांव में सभा कर प्रधानमंत्री एवं गृह मंत्री को इस महान कार्य के लिए आभार-पत्र भेजना चाहिए।

अन्य ख़बरें

सदस्यता अभियान को सफल बनाने को लेकर हुई महत्वपूर्ण बैठक
अटल जी को शायर डॉक्टर सबा अख्तर की श्रद्धांजलि
रमगढ़वा पंचायत के वार्ड नंबर 1 में लगी भीषण आग, मौके पर पहुंच मुखिया ने की मानवीय सहायता
कर्पूरी ठाकुर के कथित अनुयायी कर्पूरी जी के सपनों को शर्मिंदा कर रहे हैं : कृर्षि मंत्री
देश के पहले मल्टी मॉडल टर्मिनल का... प्रधानमंत्री ने किया उद्घाटन, वाराणसी हल्दिया जल मार्ग से पूर्व...
उज्जवला के तहत भारत गैस ने लगाया गैस पंचायत
छात्र राजद ने दी उग्र आंदोलन की चेतावनी
प्रोफेसर संजय कुमार के साथ मारपीट निंदनीय, विवि जल्द नहीं खुला तो होगा आंदोलन: ABVP
21वी सदी के शस्त्रों से सुसज्जित शिक्षकों की आवश्यकता: बबन पांडे
नहीं रहे वरिष्ठ पत्रकार कुलदीप नैयर
मोतिहारी में कांग्रेस गठबंधन का भारत बंद पूरी तरह से सफल
बीजेपी के स्टार प्रचारक मनोज तिवारी पहुंचे मोतिहारी, राधामोहन सिंह के लिए मांगा वोट।
जिला यूथ पार्लियामेंट के लिए 18 जनवरी से होगा मुंशी सिंह महाविद्यालय में सेलेक्सन।
मुजीब गर्ल हाई स्कूल के संस्थापक स्वर्गीय कमला प्रसाद सिंह की पुण्यतिथि पर पर्यटन मंत्री ने की पुष्प...
15 दिसंबर तक भाजपा का गहन संपर्क अभियान, घर घर संपर्क करके पार्टी देगी स्वच्छता का संदेश
शिक्षक राष्ट्र निर्माता है अतः उनका सम्मान जरूरी : निखिल
हास्य कलाकार से बिजनेसमैन बने सौरभ सिंह।
राहुल गांधी सचिन पायलट समेत तमाम नेताओं ने की भारतीय पायलट के सुरक्षित वापसी की कामना
वज्रपात (ठनका/आकाशीय बिजली) पर आधारित जागरूकता कार्यक्रम संपन्न
भारत बंद के दौरान मोतिहारी राजद का जोरदार प्रदर्शन

  • 5
    Shares

4 thoughts on “राधामोहन सिंह: अनुच्छेद 370 के जरिए कश्मीर को विशेष दर्जा देना एक ऐतिहासिक भूल थी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *