राधामोहन सिंह: अनुच्छेद 370 के जरिए कश्मीर को विशेष दर्जा देना एक ऐतिहासिक भूल थी

Featured Post slide खोज बिहार मोतिहारी मोतिहारी स्पेशल राजनीति स्पेशल न्यूज़
  • 5
    Shares

मोति“राष्ट्रीय एकता अभियान, एक राष्ट्र एक संविधान”
अनुच्छेद 370 और 35ए को समाप्त करके कश्मीर का भारत में पूर्ण विलय वर्तमान भाजपा सरकार ने किया है। भाजपा सरकार के इस फैसले का हर तरफ से स्वागत और समर्थन किया जा रहा है। इससे भाजपा नेताओं के स्पष्ट सिद्धांत का सच, कि अनुच्छेद 370 के जरिए कश्मीर को विशेष दर्जा देना एक ऐतिहासिक भूल थी, उजागर हुआ है। पूरे सितम्बर माह में राष्ट्रीय एकता अभियान चलाया जा रहा है।
इस ऐतिहासिक निर्णय से एक देश एक संविधान लागू हुआ है। अनुच्छेद 370 के हटने से जम्मू कश्मीर वासियों को भारी लाभ हुआ है।
• जो कानून देश की पूरी आबादी के लिए बनता था, उसके लाभ से जम्मू-कश्मीर के डेढ़ करोड़ से ज्यादा लोग वंचित रह जाते थे।
• गरीबी खत्म कर जम्मू, कश्मीर और लद्दाख के लोगों का आत्मविश्वास बढ़ेगा। पर्यटन क्षमता का विकास होगा। शिक्षा और स्वास्थ्य सुविधाओं को सुधार कर जम्मू, कश्मीर और लद्दाख का विकास सुनिश्चित होगा।
• जम्मू कश्मीर में कानून-व्यवस्था दुरूस्त कर आतंकवाद पर लगाम।
• भारत के दूसरे राज्यों की तरह जम्मू कश्मीर में भी अल्पसंख्यक आयोग की स्थापना कर वहां के अल्पसंख्यकों के साथ न्याय।
• वाल्मिकी समाज के भाई-बहनों और सफाई कर्मचारियों के लिए देश के दूसरे हिस्सों की तरह यहां भी राष्ट्रीय आयोग के मानदण्ड लागू होंगे।
• प्रदेश के 40,000 पंच-सरपंच अपने-अपने गांव के विकास की इबारत लिख रहे हैं। पहले यह अधिकार राज्य के केवल तीन परिवारों ने अपने पास सीमित कर रखा था। पंचायती कानून के 73 व 74 संशोधन के अब लागू होने से केन्द्रीय कोश का धन सीधे पंचायत तक पहुँचेगा।
• जम्मू कश्मीर के लोगों को निष्पक्ष और निर्भीक तरीके से अपने जनप्रतिनिधियों को चुनने का मौका मिलेगा।
• जम्मू कश्मीर के बच्चों को भी देश के बाकी बच्चों की तरह शिक्षा के अधिकार का लाभ। प्रधानमंत्री छात्रवृति योजना का विस्तार ऐसे किया जाएगा कि इसका लाभ अधिक से अधिक छात्रों को मिल सके।
• केन्द्र और राज्य सरकार में रिक्त पदों पर तत्काल भर्ती का काम शुरू करने से सबसे पहले जम्मू, कश्मीर और लद्दाख के 50 हजार युवाओं को रोजगार का लाभ मिल रहा है।
• स्थानीय निकायों में कभी भी लोकतंत्र की स्थापना नहीं हो पायी, जिसकी वजह से भ्रष्टाचार अपने चरम पर था। अब एक पारदर्शी और जवाबदेह शासन प्रांत को देखने को मिलेगा।
• अब राज्य के सभी धार्मिक और सांस्कृतिक स्थलों की पुनर्स्थापना कर धार्मिक तीर्थ पर्यटनों को बढ़ावा मिलेगा।
• देश के बाकी हिस्सों की तरह जम्मू कश्मीर और लद्दाख के लोगों को भी मुक्त गैस, बिजली और शौचालय की सुविधा मिलेगी।
• राज्य के उद्योग, स्वास्थ्य सेवाएं और शैक्षणिक संस्थानों की स्थापना से रोजगार के बेहतर अवसर बनेंगे। इससे यहां रियल इस्टेट सेक्ट भी विकसित होगा।
• कश्मीरियत की भावना को और मजबूत करने के साथ-साथ कश्मीरी संस्कृति को सहेजना।
• केसर, सेब, अखरोट एवं अन्य जैविक उत्पादों वाले स्थानीय कृषि उद्योग का प्रोत्साहन एवं सहायता।
• कश्मीर सदियों से प्राकृतिक सौंदर्य का प्रतीक रहा है और रहेगा। एक बार फिर जम्मू कश्मीर को धरती पर स्वर्ग का दर्जा मिलेगा। राष्ट्रीय एवं अंतरराष्ट्रीय फिल्म उद्योग को राज्य में बड़े स्तर पर फिल्म निर्माण के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा।
श्री सिंह ने यह भी कहा है कि गांव-गांव में सभा कर प्रधानमंत्री एवं गृह मंत्री को इस महान कार्य के लिए आभार-पत्र भेजना चाहिए।

अन्य ख़बरें

मैट्रिक परीक्षा में पूर्वी चम्पारण(जिला) टॉपर्स को सम्मानित करेगी प्रभाग्लोबल
भारत की जनवादी नौजवान सभा ने निकाला प्रतिरोध मार्च
अंतरराष्ट्रीय नृत्य दिवस के अवसर पर डांस टीचर  मौसम शर्मा ने कहा कि नृत्यकला हमारी संस्कृति की देन 
वीरेंद्र सिंह कुशवाहा जदयू में हुए शामिल, 21 जनवरी को पटना जदयू कार्यालय में पार्टी की सदस्यता ग्रहण...
आज गाँधी जयंती के अवसर पर, मोतिहारी में होने वाले कार्यक्रम
रोटरी क्लब पटना ने इन डॉक्टर्स को प्रदान किए पीपीई किट
केंद्रीय कृषि मंत्री ने मछली परिवहन के लिए मत्स्यवाहन का किया वितरण
आतंकवाद एवं बातचीत दोनों साथ साथ नहीं हो सकते पाकिस्तान मसूद अजहर को भारत को सौंपें।
चकिया: ABVP के काॅलेज इकाई का हुआ पुनर्गठन,
वन नेशन, वन कार्ड योजना में तीन और राज्य शामिल किए गए
तेली अधिकार रैली को सफल बनाने के लिए ढाका में जनसंपर्क
तैलिक साहू सभा के प्रदेश अध्यक्ष रणविजय साहू ने किया गरीबों में कंबल का वितरण
दिसंबर तक बिहार नवयुवक सेना(BNS) के 30 हजार सदस्य बनाने का लक्ष्य : अनिकेत पाण्डेय
भांजी पर थी बुरी नजर.........और फिर हुआ तेजाबकांड
मोतिहारी सदर SDO प्रियरंजन राजू पटना में सम्मानित
पूर्वी चंपारण में राजद की साइकिल रैली सोशल डिस्टेंसिंग की उड़ी धज्जियां
औरंगाबाद। सेंटर फॉर कैटालाइजिंग चेंज C3 के द्वारा ब्लॉक इंटरफेस बैठक का आयोजन
'संविधान से समरसता' कार्यक्रम के तहत वाद-विवाद प्रतियोगिता का आयोजन
नियोजित शिक्षक के बी पी एस सी परीक्षा पास करने पर बी ई ओ और शिक्षकों ने किया सम्मानि
क्षेत्रीय मीडियाकर्मियों हेतु एकदिवसीय कार्यशाला - “वार्तालाप” का आयोजन आज प्रातः 10:00 बजे से

  • 5
    Shares

Leave a Reply