मिस इंडिया दिवा की फायनलिस्ट बनी आकांक्षा, पिता है बिजनेसमैन तो वही मां है पुलिस ऑफिसर

Featured Post slide पटना बिहार मनोरंजन
  • 7
    Shares

Patna।मिस इंडिया दिवा की फायनलिस्ट बनी आकांक्षा। आकांक्षा अब फैशन और मॉडलिंग की दुनिया में भी अपनी अलहदा पहचान बना
ली है। आकांक्षा गोआ में आगामी 15 जून को होने वाले मॉडलिंग हंट शो मिस इंडिया दिवा की फाइनलिस्ट बनायी गयी हैं।

बिहारी की राजधानी पटना में जन्मी आकांक्षा के पिता दयांनद बिजनेस मैन हैं जबकि मां विभा कुमारी पुलिस ऑफिसर है। माता-पिता ने घर की लाडली बड़ी बेटी आकांक्षा को अपनी राह खुद चुनने की आजादी दे रखी थी। बॉलीवुड अभिनेत्री और पूर्व मिस व्लर्ड प्रियंका चोपड़ा से प्रभावित रहने के कारण आकांक्षा उन्हीं की तरह मॉडल-अभिनेत्री बनने का ख्वाब देखा करती थी।आकांक्षा ने बताया कि प्रियंका मॉडलिंग की दुनिया से करियर की शुरूआत कर मिस व्लर्ड का ताज अपने नाम किया था । वह ग्राउंड टु अर्थ है । उन्होंने न सिर्फ ग्लैमर की दुनिया में बल्कि सामाजिक सरोकार से जुड़े काम में भी अपनी भागीदारी दी है। उन्होंने न सिर्फ बॉलीवुड में बल्की अंतर्राष्ट्रीय मंच पर भी भारत का नाम रौशन किया है।आकांक्षा ने अपनी प्रारंभिक शिक्षा पटना से पूरी की। इंटर की पढ़ाई पूरी करने के बाद आकांक्षा वर्ष 2014 नयी दिल्ली चली गयी। इस दौरान आकांक्षा ने स्नातक की पढ़ाई पूरी की और इसके बाद एवियेशन में डिप्लोमा किया। वर्ष 2018 में आकांक्षा आखो में बड़े सपने लिये मुंबई आ गयी। आकांक्षा यदि चाहती तो वह जॉब कर अपनी जिंदगी गुजर बसर कर सकती थी लेकिन वह मॉडलिंग के क्षेत्र में अपनी पहचान बनाना चाहती थी। वर्ष 2018 में आकांक्षा ने गोआ में आयोजित मिस सुपर मॉडल इंटरनेशनल में हिस्सा लिया और मिस कॉनफिडेंट चुनी गयी। आकांक्षा अब मॉडलिंग हंट शो मिस इंडिया दिवा की फाइनलिस्ट बनायी गयी है। वह इस शो मे बिहार का प्रतिनिधत्व कर रही हैं। आकांक्षा का मानना है कि बिहार में प्रतिभाओं की कमी नही , यदि उन्हें उचित मंच दिया जाये तो यहां की प्रतिभायें अपनी पहचान बना सकती हैं।आकांक्षा आज फैशन-मॉडलिंग के क्षेत्र में अपनी अलग पहचान बनाने में कामयाब हुयी है लेकिन उनके सपने यूं ही नही पूरे हुये हैं यह उनकी कड़ी मेहनत का परिणाम है।आकांक्षा ने बताया किवह अपनी कामयाबी का पूरा श्रेय अपने माता-पिता और अपने भाई सुमित को देती हैं जिन्होंने उन्हें हमेशा सपोर्ट किया है।आकांक्षा ने राजधानी पटना के जेनिथ कामर्स एकेदमी से शिक्षा ली है। जेनिथ के निदेशक सुनील कुमार सिंह ने आकांक्षा की उपलब्धियों के लिये उन्हें बधाई एवं शुभकामनायें दी है। सुनील कुमार सिंह ने कहा कि आकांक्षा ने बिहार का नाम रौशन किया है। मैं उनके उज्जवल भविष्य की कामना करता हूँ।

अन्य ख़बरें

ब्रज भूषण की बहुचर्चित भोजपुरी फिल्‍म ‘काजल’ मुंबई में हुई रिलीज
नागरिकता संशोधन अधिनियम-2019 पर भव्य सम्मेलन आयोजित
भाजपा जिला महामंत्री डॉ लालबाबू प्रसाद ने किया अपोलो इमरजेंसी हॉस्पिटल का उद्घाटन
अटल जी की श्रद्धांजलि सभा को संबोधित करते हुए केंद्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह
मेगा ऑडिशन के साथ हुआ डिज़ाइनर नेक्स्ट इंडिया शो का आगाज़
मुजफ्फरपुर बालिका गृह मामले में बिहार नवयुवक सेना का कैंडल मार्च
मोतिहारी: चांदमारी हॉस्टल में रह कर पढ़ाई कर रही छात्रा की हत्या के खिलाफ बिहार नवयुवक सेना ने किया...
अखिल भारतीय युवा कुशवाहा समाज (भारत) कमेटी का हुआ विस्तार
बिहार के मेधावी एवं आर्थिक रूप से कमजोर छात्रों को 100 प्रतिशत छात्रवृति देगा निजामिया एजुकेशन ग्रुप
पार्श्वगायन के क्षेत्र में खास पहचान बना चुके हैं अमर आनंद
अभिनेता गौरव झा और ऋतु सिंह स्‍टारर फिल्‍म ‘भूल ना जाना पिया’ का मुहूर्त संपन्‍न
नालंदा के नंद्यावर्त में दो दिवसीय कुंडलपुर महोत्सव सम्पन्न, सैंड आर्टिस्ट मधुरेंद्र कुमार हुए सम्मा...
शहनाज हुसैन सिग्नेचर सैलून के तीन साल पूरे होने पर, केक काटकर मनाया गया जश्न
पढ़िए पूरा सच...तेलंगना कैडर की IAS "स्मिता सभरवाल" के बारे में। इन्हीं का फोटो चंपारण में रानी कुमा...
ग्रामीण क्षेत्र में मोटिवेशनल कार्यशाला का आयोजन, प्रयोगात्मक बातों से बच्चें हुए प्रेरित
घर में लगी आग घरेलू सामान सहित मवेशी हुए खाक
धरती के भगवान को कोरोना वायरस संक्रमण से बचाने के लिए स्थानीय सांसद ने मास्क एवं साबुन कराया उपलब्ध
पताही थानाध्यक्ष पर शराब माफियाओं ने किया जानलेवा हमला, शरीर में भारी चोट, अनेक हड्डियों के टूटने की...
मोतिहारी में पूर्ण लॉकडाउन के लिए जिलाधिकारी को भेजा गया प्रस्ताव
अल्पसंख्यक मोर्चा जिला अध्यक्ष मोहिबुल हक ने मृतक शेख मोतिउर्रहमान के घर जाकर उनके परिवार को सांत्वन...

  • 7
    Shares

Leave a Reply