मातृत्व-शिशु स्वास्थ्य एवं पोषण सेवाओं की उपलब्धता एवं गुणवत्ता सुनिश्चित कराने हेतु प्रखंड स्तरीय बैठक सम्पन्न

Featured Post छौडादानौ बिहार मोतिहारी मोतिहारी स्पेशल स्पेशल न्यूज़ स्वास्थ्य
  • 33
    Shares

मोतिहारी। दिनांक 27 दिसंबर 2019 को चैम्पियन परियोजना के अंतर्गत प्रखंड स्तरीय सरकारी पदाधिकारियों एवं महिला पंचायत प्रतिनिधियों की बैठक का आयोजन सभा कक्ष, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, छौरादानो प्रखंड, पूर्वी चम्पारण जिला में आयोजित किया गया।

प्रखंड स्तरीय बैठक का उद्घाटन पुष्पा देवी, प्रखंड विकास पदाधिकारी; डॉक्टर एजाज अहमद, प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, छौरादानो; रम्भा कुमारी, समेकित बाल विकास परियोजना पदाधिकारी, छौरादानो; जय शर्मा, प्रखंड स्वास्थ्य प्रबंधक, सी एच सी, छौरादानो एवं महिला प्रतिनिधियों द्वारा संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलन कर किया गया।

कार्यशाला के दौरान प्रकाश रंजन, वरिष्ठ कार्यक्रम पदाधिकारी, सेंटर फॉर कैटेलाईजिंग चेंज, पटना ने प्रखंड स्तरीय पदाधिकारियों का स्वागत करते हुए बताया की संस्था बिहार राज्य में विगत 15 वर्षों से महिलाओं एवं किशोरियों के उत्थान हेतु कार्यरत है एवं विभिन्न कार्यक्रमों के माध्यम से उन्हें सशक्त, क्षमतावान, नेतृत्वकर्ता के रूप में स्थापित करने का लगातार प्रयत्नशील है।

संस्था के माध्यम से ‘चैम्पियन परियोजना’ नामक एक कार्यक्रम विगत वर्ष 2018 से बिहार के 15 जिलों में 3000 महिला जन प्रतिनिधियों के साथ चलाया जा रहा है.

इस परियोजना में पूर्वी चम्पारण जिले के मोतीहारी सदर एवं छौरादानो प्रखंड की 200 महिला वार्ड सदस्य जुडी हुई हैं. चैंपियन परियोजना के अंतर्गत महिलाओं को प्रभावित करने वाले मुद्दों, खास तौर से प्रजनन, मातृत्व, नवजात, शिशु स्वास्थ्य और पोषण से सम्बंधित सेवाओं और अधिकारों के सन्दर्भ में जागरूकता बढ़ाने हेतु जमीनी स्तर पर महिला नेतृत्व को प्रोत्साहन दिया जा रहा है ताकि वे इन मुद्दों से सम्बंधित स्थानीय प्राथमिकताओं और समस्याओं को चिन्हित कर उनकी बेहतरी हेतु कदम उठाने में समर्थ हो सकें I

साथ ही साथ महिला जन प्रतिनिधियों की आवाज, भागीदारी, नेतृत्व और प्रभाव को सशक्त किया जा रहा है I चैंपियन परियोजना के माध्यम से महिलाओं में नेतृत्व करने व बदलाव लाने का विश्वास भरा जा रहा है जिससे वे उन सामाजिक एवं सांस्कृतिक संदर्भों में बदलाव ला सकें जो महिलाओं के अवसरों में बाधा बनते हैं I

महिला जन प्रतिनिधियों ने अपने अपने वार्ड में आरोग्य दिवस, अन्नप्राशन दिवस एवं गोद भराई दिवस का आयोजन भी सुनिश्चित करवाया है एवं पोषण जन आंदोलन के कार्यक्रमों, स्तनपान माह के ऊपर आयोजित कार्यक्रमों को भी जमीन पर उतारने का काम किया है साथ ही साथ राज्य, देश एवं वैश्विक स्तर के दिवसों जैसे की माहवारी स्वछता दिवस, हैण्ड वाशिंग दिवस, चमकी बुखार, परिवार नियोजन कार्यक्रमों के ऊपर भी अपने वार्ड एवं पंचायत में कार्यक्रमों का आयोजन कर जागरूकता फैलाने का कार्य किया है।

उन्होंने आगे बताया की चैंपियन परियोजना के माध्यम से कई महिला जन प्रतिनिधियों ने अपने अपने वार्ड में महिलाओं की स्वास्थ्य एवं पोषण सम्बन्धी आवश्यकताओं एवं जरूरतों पर सकारात्मक कारवाई करने की पहल की है, एवं विभिन्न मांगों के सम्बन्ध में सरकारी पदाधिकारियों के साथ दूरभाष पर संपर्क एवं पत्राचार कर मामलों की गंभीरता से अवगत कराया है एवं सकरात्मत बदलाव हेतु पहल की है I

चैम्पियन परियोजना कार्यक्रम के पूर्वी चम्पारण जिला के समन्वयक, आदित्य राज ने बताया कि महिला जन प्रतिनिधियों ने अपने स्तर से आंगनवाडी केन्द्र, स्वास्थ्य उपकेन्द्र, अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र एवं सदर अस्पताल का निरक्षण भी कर रही है एवं उन आकलन से निकल कर आए बिंदुओं को लेकर एक मांग पत्र का निर्माण एवं नीति निर्माताओं एवं सरकारी पदाधिकारियों के साथ साझा किया है ताकि स्वास्थ्य एवं पोषण में अपेक्षाकृत सुधार हो सके

चैंपियन कार्यक्रम द्वारा पूर्वी चम्पारण जिला में पंचायत स्तर पर क्रियान्वित गतिविधियों को मजबूती देने के लिए जिला स्तर पर मातृत्व स्वास्थ्य एवं पोषण सम्बन्धी मुद्दों की बेहतरी को लेकर सांसदों, विधायकों, जिला परिषद् अध्यक्षों एवं समान मुद्दों पर कार्य करने वाली सहयोगी संस्थाओं एवं मीडिया प्रतिनिधियों के साथ लगातार बातचीत की जा रही है।

कार्यक्रम के दौरान जिले की 10 महिला पंचायत प्रतिनिधियों द्वारा उनके माध्यम से वार्ड एवं पंचायत में स्वास्थ्य एवं पोषण के सम्बन्ध में किये जा रहे कार्यों को भी साझा किया गया जिसमें मुख्य रूप से अंजुम खातून वर्ड-6 , भातनेहिया, गयात्री रंजन वार्ड-8, भेलवा, राधिका देवी-3, दरपा इत्यादि।

कार्यशाला के दौरान प्रखंड स्तरीय पदाधिकारियों के द्वारा इन महिला पंचायत प्रतिनिधियों का सामूहिक रूप से संवाद भी किया गया साथ ही साथ सरकार के स्तर से अपेक्षित सहयोग को भी जानने की कोशिश की गई.

महिला वार्ड सदस्यों ने इच्छा जाहिर किया की उन्हें प्रखंड स्तर पर स्वास्थ्य एवं पोषण के क्षेत्र में आयोजित विभिन्न समीक्षा बैठकों में बुलाया जाए ताकि वे अपनी वार्ड एवं पंचायत की समस्याओं को बैठक में रख कर उसके निदान हेतु प्रयास कर पायें.

कार्यक्रम के दौरान संजय शर्मा प्रखंड स्वास्थ्य प्रबंधक पदाधिकारी, छौरादानो ने बताया की एक महिला के लिए स्वास्थ्य एवं पोषण बहुत ही अहम मुद्दा है एवं सरकार की ओर से विभिन्न कार्यक्रमों के माध्यम से सेवाएं देने का कार्य किया जा रहा है. महिला जन प्रतिनिधि अपनी जानकारी इन विषयों पर बढ़ा रही हैं, यह एक बहुत ही शुभ संकेत है।

उन्होनें आग्रह करते हुए कहा कि अपने पंचायत में और भी लोगों को इन विषयों के ऊपर जागृत करें एवं विभिन्न कार्यक्रमों में उनकी भागीदारी सुनिश्चित करें. जन प्रतिनिधि होने के नाते समुदाय आपसे ज्यादा जुड़ें हुए हैं एवं स्वास्थ्य सेवा प्रदाताओं को आपके द्वारा सहयोग मिलता रहेगा यही हमारी आशा एवं विश्वास है. स्वास्थ्य विभाग, छौरादानो प्रखंड अपने ए.एन.एम्. एवं आशा बैठकों में चुनिन्दा महिला पंचायत प्रतिनिधियों को बुलाना अब से सुनिश्चित करेगा, इसका मैं आश्वासन देता हूँ.

कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रही रम्भा कुमारी, समेकित बाल विकास परियोजना पदाधिकारी ने बताया की मैं चैम्पियन परियोजना से जुड़ी हुई कुछ महिला जन प्रतिनिधियों को पूर्व से ही उनके पोषण माह में किये गए उल्लेखनीय कार्यों की वजह से जान रही हूँ।

अपनी उपलब्धियों को गिनाते हुए उन्होनें कहा कि महिला जन प्रतिनिधियों के माध्यम से पुरुषों को गोद भराई में शामिल कराना एवं पति के रूप में उनकी जिम्मेवारियों को एहसास दिलवाना एक बहुत ही बड़ी उपलब्धी है। मेरी जन प्रतिनिधियों से अपेक्षा है की वे अपने पंचयात में पोषण के ऊपर जन जागरण करें एवं विभिन्न बैठकों के आयोजन में सेविका का सहयोग करें.

एनीमिया से पीड़ित माताएँ, किशोरियाँ, अति कुपोषित बच्चे, एवं अल्प पोषित बच्चों को चिन्हित करने में भी आपका सहयोग अपेक्षित है. समेकित बाल विकास परियोजना की ओर से उन्हें सभी प्रकार का सहयोग मिलेगा इसका उन्होंने विश्वास दिलाया।

कार्यक्रम में उपस्थित दीपक कुमार, प्रखंड विकास पदाधिकारी प्रतिनिधि ने बताया की उन्हें खुशी है की महिला जन प्रतिनिधि अपने कार्यों एवं दायित्यों को बखूबी अंजाम दे रहीं हैं।

सरकार के स्तर से उन्हें हर तरह का सहयोग दिया जा रहा है एवं आगे भी दिया जाएगा।

आज के समय में पंचायत प्रतिनिधियों को सरकार के द्वारा अनेक महत्वपूर्ण कार्यों की जिम्मेदारी दी जा रही है – मुख्यमंत्री के सात निश्चय का पूर्ण क्रियान्वयन इस दिशा में एक बहुत बड़ी पहल है. संविधान के अनुसार पंचायत को तीसरी सरकार माना गया है एवं पंचायत प्रतिनिधियों को यह अधिकार है की वे अपने क्षेत्र में चलने वाली सरकारी योजनाओं का मूल्यांकन कर गुणवत्तापूर्ण क्रियान्वयन में सहयोग करें।

उन्होंने कम उम्र में विवाह, 21 वर्ष से पूर्व गर्भधारण ना करने, दो बच्चे से ज्यादा परिवार ना बढ़ाने में भी परिवार को समझाने का दायित्व महिला वार्ड सदस्यों को दिया।

Advertisements

चैंपियन परियोजना में शामिल वार्ड सदस्यों ने यह आशा जताई की वे प्रखंड स्तरीय सरकारी पदाधिकारियों के साथ बैठक के माध्यम से मातृत्व स्वास्थ्य एवं पोषण संबंधी विषयों पर उनके द्वारा जमीनी स्तर पर किये जा रहे कार्यों से अवगत करा पाई।उन्होंने यह भी विश्वास जताया की सरकारी तंत्र अब उन्हें सहयोगी की भूमिका में देखेगा एवं सामूहिक जिम्मेदारी लेते हुए इन मुद्दों पर त्वरित कारवाई हेतु अपने स्तर से प्रयास करेगा।

आपको बता दें कि इस बैठक/कार्यशाला का उद्देश्य महिला वार्ड सदस्यों के द्वारा मातृत्व स्वास्थ्य एवं पोषण की बेहतरी हेतु किये जा रहे विभिन्न कार्यों को साझा करना, सरकार की योजनाओं को जमीनी स्तर तक उतारने में हो रही दिक्कतों को साझा करना एवं सामूहिक जिम्मेदारी तथा आपसी सामंजस्य स्थापित करने हेतु पहल करना था।कार्यक्रम के आयोजन में चैम्पियन परियोजना के क्षेत्रीय समन्वयकों में अरुण कुमार, बिकेश कुमार एवं सुनीता देवी का सराहनीय योगदान रहा।

अन्य ख़बरें

MGCU के प्रोफेसर संजय कुमार के पक्ष में 25 अगस्त को प्रतिरोध मार्च एवं प्रतिरोध सभा।
मसहूर किसान नेता ध्रुव त्रिवेदी ने दी अटल जी को श्रद्धांजलि
मंत्री ने दिया सामुदायिक किचन शुरू करने का आदेश कल से खिलाया जाएगा बाढ़ पीड़ितों को खाना
NTC NEWS MEDIA ने की सच की तहकीकात...मोतिहारी की नई डीएम रानी कुमारी...?
मंत्री कला,संस्कृति एवं युवा विभाग प्रमोद कुमार ने स्मार्ट क्लास का किया उद्घाटन
समर इंटर्नशिप 2.0 के 50 घंटे कार्यक्रम का तीसरा दिन... LND College Motihari
UPSA शिक्षा रत्न" 2019 से निजी विद्यालयों के 108 सर्वश्रेष्ठ शिक्षक सम्मानित
स्वर्गीय अटल जी की मासिक पुण्यतिथि पर हुआ काव्यांजलि का आयोजन
संविधान गरीब को भी राजा बनने का अधिकार देता है : मुकेश सहनी
मोतिहारी के किस सड़क का नाम हुआ "महात्मा गांधी मार्ग"(M.G.Road) पढ़िए.....
ABVP कल्याणपुर: सेल्फी विद केंपस यूनिट की शुरुआत
केंद्रीय विद्यालय मोतिहारी में हुआ "स्वच्छता ही सेवा" कार्यक्रम का आयोजन ।
कोरोना त्रासदी के प्रभाव से कुपोषित बच्चों एवं किशोरियों को निकालने का सराहनीय कार्य कर रहा सेंटर फॉ...
केंद्रीय कृषि मंत्री ने LCD लगे रथ को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना। ग्रामीण क्षेत्रों में दिखाई जाएगी ...
मणिपुर की आयरन लेडी इरोम शर्मिला ने दिया जुड़वा बच्चियों को जन्म, 2017 में हुई थी शादी
12 वर्ष की लड़की की शादी तिगुना उम्र के व्यक्ति साथ चुपके चोरी हो रही थी... फिर हुआ 6 घंटे का संघर्...
पाकिस्तान का संकल्प मोदी को हटाना, देशवासियों का संकल्प पाकिस्तान को मिटाना: कृषि मंत्री, 2 मिनट का ...
बिजनेस के साथ साथ सामाजिक क्षेत्र में खास पहचान बना चुके हैं 'विशाल गप्पू'
इंडियन ग्लौरी अवार्ड 2019 से सम्मानित हुये 71 विभूति
शासन भ्रष्ट प्रशासन निरस्त:शिवम कुमार साह

  • 33
    Shares

Leave a Reply