काशी की ज्ञानवापी मस्जिद मामले में पुरातात्विक सर्वे के लिए स्थानीय अदालत ने दिया फैसला

Featured Post धार्मिक ज्ञान राष्ट्रीय

वाराणसी। कोर्ट ने काशी विश्वनाथ मंदिर पक्ष के लोगों में फैसला सुनाया है. पुरातात्विक सर्वेक्षण मामले पर वादी मंदिर पक्ष के प्रार्थना पत्र पर सिविल जज सीनियर डिविजन फास्ट ट्रैक कोर्ट में 2 अप्रैल को फैसला सुरक्षित कर लिया गया था।

वादी काशी विश्वनाथ मंदिर पक्ष की ओर से 1991 से चल रहे इस मामले में दिसंबर 2019 को पुरातात्विक सर्वे की मांग के लिए अनुरोध किया था।

वाराणसी। काशी की ज्ञानवापी मस्जिद के मामले में पुरातात्विक सर्वेक्षण को मंजूरी मिल गई है। इस सर्वेक्षण का खर्च सरकार उठाएगी। वाराणसी फार्स्ट ट्रैक कोर्ट के जज आशुतोष तिवारी ने गुरुवार को यह फैसला दिया। उन्होंने सर्वे कराने के लिए एक कमीशन बनाने का आदेश भी दिया है। इससे पहले दो अप्रैल को हुई सुनवाई के दौरान दोनों पक्षों की बहस के बाद फैसला सुरक्षित रख लिया गया था।

सर्वेक्षण की मांग को लेकर हरिहर पांडे की तरफ से याचिका दायर की गई थी। अदालत के आदेश के बाद हरिहर पांडे ने भास्कर से बात करते हुए कहा कि इस फैसले से विश्वनाथ मंदिर परिसर से ज्ञानवापी मस्जिद को हटाने का रास्ता साफ होगा। उन्होंने कहा कि यह एक ऐतिहासिक फैसला है। जिसके लिए हमने लंबी लड़ाई लड़ी है।

वहीं मस्जिद की इंतेजामिया कमेटी से जुड़े सैयद यासीन ने एक समाचार पत्र से बातचीत के दौरान कहा कि वे फैसले को हाईकोर्ट में चुनौती देंगे। उन्होंने कहा कि समिति सर्वे करने के लिए किसी को मस्जिद में दाखिल नहीं होने देगी। यासीन के इस बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए हरिहर पांडे का कहना है कि पुरातत्व विभाग सुरक्षाकर्मियों के साथ आएगा, उन्हें रोकना मस्जिद समिति के बस के बाहर है। अब सर्वे भी होगा और सच भी सामने आएगा।

Advertisements

वाराणसी में मुगल बादशाह औरंगजेब के आदेश पर ऐतिहासिक मंदिर को तोड़कर ज्ञानवापी मस्जिद बनाई गई थी। हिंदू समुदाय इसे अपना ऐतिहासिक स्थल मानता है। वहीं मुसलमान इसे अपना पवित्र स्थान मानते हैं।

1991 में केंद्र सरकार सभी धर्मस्थलों से जुड़े विवादों में यथास्थिति बनाए रखने के लिए एक कानून लाई थी। हालांकि, अयोध्या के बाबरी मस्जिद विवाद को इस कानून के दायरे से बाहर रखा गया था।

इस कानून के तहत 1947 से पहले जो धर्मस्थल जिस स्थिति में था उसी में रहेगा। अंजुमन इंतेजामिया मस्जिद वाराणासी का कहना है कि ज्ञानवापी मस्जिद को भी इसी कानून के तहत सुरक्षा मिली हुई है। इस मस्जिद से किसी तरह की छेड़छाड़ केंद्र सरकार के कानून का उल्लंघन होगा।

अन्य ख़बरें

चंपारण के मधुबन में तेजस्वी यादव ने की बड़ी सभा, जनता से मांगा एक मौका
बॉलीवुड का तरका और लजीज व्‍यजनों से गुलजार होगा पटनाविसायों का साल का अंतिम शाम
24 जनवरी को होगा मोतिहारी चैंबर ऑफ कॉमर्स का पदस्थापना सह सम्मान समारोह, चार क्षेत्रों में दिए जाएंग...
आध्यात्मिक गुरु अम्मा ने भी "स्वच्छता ही सेवा" के तहत की सफाई, दिया स्वच्छता का संदेश
नवयुवक पुस्तकालय मोतिहारी का जीर्णोद्धार सह चहारदीवारी निर्माण का हुआ भूमिपूजन
पताही थानाध्यक्ष पर शराब माफियाओं ने किया जानलेवा हमला, शरीर में भारी चोट, अनेक हड्डियों के टूटने की...
24 जनवरी को शिक्षा एवं रोजगार के मुद्दे को लेकर रालोसपा लगाएगी मानव कतार
गैर सरकारी संस्था और सामाजिक क्षेत्र में विशिष्ट पहचान बनायी ब्रजेश वर्मा ने
जिले के 2 पदाधिकारियों का हुआ ट्रांसफर, कर्मचारी एवं पदाधिकारियों ने की मंगलकामना
कांग्रेस की जबरदस्त जीत, रितेश नाथ तिवारी ने केक काटकर मनाया जीत का जश्न
भाजपा महिला मोर्चा कर रही है मास्क का निर्माण एवं वितरण
94 लाख से ज्यादा लोगों को टीके लगाए गए, विश्व में भारत तीसरे स्थान पर
महादलित बस्ती में आंगनबाड़ी केंद्र पर बच्चों के बीच कॉपी, पेंसिल, कटर, रबड़ और पौष्टिक आहार का वितरण
कुंडलपुर महोत्सव में सैंड आर्ट के सुपरस्टार मधुरेन्द्र विखेरेंगें अपनी कला का जौहर, राज्यपाल लालजी ट...
शिक्षा सुधार के मुद्दे को लेकर प्रखंड से पटना तक मशाल जुलूस निकालेगी रालोसपा
अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर मोतिहारी वासियों ने किया योगाभ्यास,
बीजेपी के स्टार प्रचारक मनोज तिवारी पहुंचे मोतिहारी, राधामोहन सिंह के लिए मांगा वोट।
प्रेमी ऑटोवाला का ट्रेलर रिलीज के साथ ही सोशल मीडिया में मचा रहा हैं धूम।
संजीव कुमार कर्ण ने मेहनत और लगन से शिक्षा और सामाजिक क्षेत्र में पहचान बनायी
जदयू द्वारा जारी किए गए अपने उम्मीदवारों की पूरी लिस्ट यहां देखिए

Leave a Reply