बॉलीवुड के ‘ट्रेजिडी किंग’ दिलीप कुमार इस दुनिया में नहीं रहे…

Film बिहार

मुंबई। बॉलीवुड गलियारे से बहुत बड़ी खबर यह आ रही है कि बॉलीवुड के ट्रेजडी किंग के नाम से मशहूर अभिनेता दिलीप कुमार इस दुनिया में नहीं रहे। वे काफी दिनों से अस्वस्थ चल रहे थे।

बॉलीवुड अभिनेता पिछले काफी दिनों से अस्वस्थ चल रहे थे सांस लेने में दिक्कत के चलते 29 जून को उन्हें मुंबई के पी.डी. हिंदुजा अस्पताल में भर्ती कराया गया, जहां उन्होंने 7 जुलाई 2021 को सुबह 7:30 बजे अंतिम सांस ली। वे 98 वर्ष के थे।

उनकी मृत्यु की खबर की सूचना उनके ट्विटर हैंडल से दी गई थी जिस पर मैसेज था कि “with a heavy heart and profound grief, I announce the passing away of our beloved Dilip Saab,  few minutes ago.

बॉलीवुड अभिनेता दिलीप कुमार के देहांत पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी गहरी संवेदना जाहिर की है। उन्होंने अपने संदेश में कहा कि दिलीप कुमार को भारतीय सिनेमा के महानायक के रूप में याद किया जाता रहेगा…

 

जन्म: आपको बता दें कि दिलीप कुमार का जन्म 11 दिसंबर 11 दिसंबर 1922 को पाकिस्तान के पेशावर में हुआ था। उनका वास्तविक नाम युसूफ खान है। उनके पिता बागानों के मालिक थे एवं काफी रईस थे। उनकी शुरुआती पढ़ाई नासिक में हुई थी।

दिलीप कुमार के निधन पर फिल्म अभिनेता अमिताभ बच्चन ने ट्विटर पर अपनी संवेदना जताते हुए कहा है कि एक इंस्टिट्यूट चला गया…

Advertisements

1944 में फिल्म ज्वार भाटा से उन्होंने बॉलीवुड में डेब्यू किया था अभिनेत्री नूरजहां के साथ उनकी जोड़ी काफी हिट रही। फिल्म जुगनू उनकी पहली हिट फिल्म थी एवं उनकी फिल्म मुग़ल-ए-आज़म उस दौर की सबसे अधिक कमाई करने वाली फिल्म थी।  त्रासदी या दु:खद भूमिकाओं के लिए मशहूर होने के कारण उन्हे ‘ट्रेजिडी किंग’ के नाम से भी जाना जाता है।

दिलीप कुमार के निधन पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने भी अपनी संवेदना जाहिर की है ट्विटर पर दिए अपने संदेश में मुख्यमंत्री ने कहा है कि ” हिंदी फिल्मों के प्रसिद्ध और लोकप्रिय अभिनेता एवं दादा साहब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित दिलीप कुमार जी के निधन का समाचार अत्यंत दु:खद है। वे राज्यसभा के सदस्य भी रह चुके थे। उनके निधन से सिनेमा जगत को अपूरणीय क्षति हुई है। ईश्वर उनकी आत्मा को शांति दे।”

अगस्त 1960 को रिलीज हुई फिल्म मुग़ल-ए-आज़म उस वक्त की सबसे अधिक कमाई करने वाली फिल्म बनी इस फिल्म को दो नेशनल फिल्म फेयर समेत कई अवार्ड मिले।
दिलीप कुमार को 1991 में पद्म भूषण, 1994 में दादा साहब फाल्के पुरस्कार, 1998 में Pakistan के सर्वोच्च पुरस्कार “निशान ए इम्तियाज पाकिस्तान” 2015 में पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया है इतना ही नहीं 2000 से लेकर 2006 तक वे राज्यसभा सदस्य भी रहे।
ट्रेजडी किंग के नाम से मशहूर दिलीप कुमार ने अपने फिल्म करियर में ढेर सारी फिल्में की जिनमें
राम श्याम 1967
कर्म 1986
शक्ति 1983
क्रांति 1981
मुग़ल-ए-आज़म 1960
नया दौर 1957
देवदास 1955
दाग 1952
ज्वार भाटा 1944
सौदागर 1991
मधुमति 1958
गंगा जमुना 1961
अंदाज 1949
आन 1952
बैराग 1976
दुनिया 1984
यहूदी 1958
किला 1988
कोहिनूर 1960
आदमी 1968
गोपी 1970
पैगाम 1969
आरजू 1950
हलचल 1951 शामिल है।

 

अन्य ख़बरें

कला संस्कृति मंत्री का अपने क्षेत्र एवं राज्य वासियों के नाम संदेश
"अपना बूथ सबसे मजबूत" मूल मंत्र के साथ भाजपा बूथ पदाधिकारीयों की समीक्षा बैठक सम्पन्न।।
रामगढ़वा के अब्बास अली हुए नोबेल अवार्ड से सम्मानित
पंडित दीनदयाल उपाध्याय जिस विकसित और मानववादी भारत का सपना देखा था वह फलीभूत हो रहा हैः पूर्व मंत्री
सप्तक्रांति, गरीबरथ, सत्याग्रह, पूर्वांचल व इंटरसिटी एक्सप्रेस ट्रेनों के इलेक्ट्रिक इंजन से संचालन ...
बाहरी प्रत्याशी के खिलाफ विरोध के स्वर तेज
अगर हम आपके खजाने में हाथ डालकर देखने लगेंगे तो भारत की गरीब जनता का खून मिलेगा: रवीश कुमार
मोदी सरकार ने जाली(फेक) राशन कार्ड बंद करके गरीबों की हकमारी पर अंकुश लगाया है: कृषि मंत्री
प्रेमी ऑटोवाला का टीजर हुआ लांच एक्शन व डॉयलाग का दिखा तड़का ,दर्शक कर रहें हैं मेकिंग की तारीफ़
अटल जी की श्रद्धांजलि सभा को संबोधित करते हुए केंद्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह
तिरहुत प्रमंडल प्रचार अभियान समिति के जोनल संरक्षक बनाए गए वीरेंद्र जालान
देश में लोकतंत्र को वापस लाने को किया गया है महागठबंधन : आकाश कुमार सिंह
जिला तैलिक साहू संगठन बेतिया ने किया संगठन विस्तार, नगर कमिटी का हुआ गठन।
धनौती नदी पर वाटर रिजर्वायर बनाने के लिए जिलाधिकारी ने किया निरीक्षण
AAP का अस्पताल बचाओ जनसंवाद रथ यात्रा पहुँचा मोतिहारी
मूल्य वृद्धि के खिलाफ मोतिहारी में कांग्रेस का आक्रोश मार्च, सरकार से मूल्यवृद्धि वापस लेने की मांग
इनर व्हील क्लब पटना ने 2019-20 का छठा क्लब खोला
कुपोषण मुक्त पंचायत बनाने के लिए महिला वार्ड सदस्य ने दिखाई अपनी प्रतबद्धता
मोतिहारी में आयोजित होगा अखिल भारतीय भोजपुरी साहित्य सम्मेलन का 26 वां अधिवेशन
चंपारण के लाल राकेश पांडे ने शहीद परिवार को दिया 10 लाख का चेक। आगे भी सहायता का दिलाया भरोसा

Leave a Reply