बाबा साहब जयंती एवं सतुआनी पर सामाजिक संस्था ने राशन एवं मास्क का किया वितरण

Featured Post पटना बिहार

पटना 14 अप्रैल स्वंय सेवी संगठन दीदीजी फाउडेशन ने समानता अधिकार के जनक संविधान निर्माता बाबा साहब डॉक्टर भीमराव अंबेडकर की 129 जयंती और सतुआनी का त्योहार गरीब लोगों के बीच मनाया और उनके बीच राशन सामग्री
और कोरोना वायरस से निपटने के लिये मास्क का वितरण किया।

राष्ट्रीय युवा पुरस्कार से सम्मानित समाज सेविका एवं शिक्षिका डॉ नम्रता आनंद ने दीदी जी फाउंडेशन के बैनर तले बाबा साहब डॉक्टर भीमराव अंबेडकर की 129 जयंती और सतुआनी का त्योहार गरीब लोगों के बीच मनाया।

डॉ नम्रता आनंद ने बताया कि हमने पटना शहर केजगजीवन नगर चितकोहरा झुग्गी झोपड़ी में रहने वाले गरीब और जरूरतमंद लोगों के बीच सतुआनी का त्योहार मनाया गया जिससे लोग काफी खुश हैं। हमने उनके बीच राशन साम्रगी सत्तू, प्याज, मिर्च का वितरण किया और लोगों को मास्क भी दिये।

डॉ नम्रता आनंद ने बताया कि दीदी जी फाउंडेशन से बहुत सारे लोग जुड़ गए हैं जो हर समय मानवता की सेवा करने में तत्पर रहते हैं । हमे खुशी होती है उन शिक्षकों के लिए जो कहते हैं मानवता की सेवा करना ही सबसे बड़ा धर्म है।

इस कार्यक्रम को सफल बनाने में मोकामा के प्लस टू के शिक्षक श्री अनिल कुमार ने अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया। उनके सहयोग राशि से गरीबों ने
कोविड-19 भयानक बीमारी में सतुआनी त्योहार मनाया साथ ही फुलवारी प्रखंड के शिक्षक जैनब अंजुम, नीतू , निशा, प्रियंका, नीतीश, चंद्रप्रभा आदि ने भी इस कार्य में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

वहीं अनिल कुमार ने कहा वैश्विक महामारी कोरोना के प्रकोप में गरीब, झुग्गी झोपड़ी,बेसहारा और जरूरतमंद लोगों के बीच सतुआनी त्योहार मनाया गया एवं कोविड-19 मास्क का वितरण किया गया जो सही में मानवता का काम है।

दीदी जी फाउंडेशन की पटना जिला समन्वयक कोमल सोनी ने लोगो को समझाया कि वे सोशल डिस्टेंस बनाकर रखें। मार्केट में मास्क नहीं मिलने के कारण पिछले कई दिनों से दीदी जी फाउंडेशन की सदस्य ललिता देवी, कोमल सोनी, जानवी, सीता देवी आदि ने मिलजुल कर मास्क का निर्माण किया।

डॉ नम्रता आनंद ने बताया कि सूती कपड़ों को धोकर उपयोग में लाया जा सकता है। जिससे
वह गरीब लोग कोरोना के प्रभाव से बचे रहेंगे।दीदी जी फाउंडेशन के रंजीत ठाकुर ने भी अपनी परेशानियों को भूल कर बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया जो एक सराहनीय बात है।

फाउंडेशन की सदस्य ललिता देवी ने कहा आज हमे इस बात की बेहद संतुष्टि हो रही है कि हम लोगों ने मास्क बनाकर गरीबों के बीच इस्का
वितरण किया एवं हम सब तब तक मास्क बनाते रहेंगे और इस का निःशुल्क वितरण करते रहेंगे जब तक करोना वायरस समाप्त नहीं जाता।

फुलवारी की शिक्षिकाओं एवं फाउंडेशन के सदस्यों ने झुग्गी-झोपड़ी में रहने सभी लोगों को कोरोना
महामारी से बचाव के लिए भी प्रमुख बातें समझयी। उन्हें स्वच्छता से रहने और साफ सफाई का विशेष ध्यान रखने के लिए समझाया गया साथ ही खान-पान पर संयम बरतने की सलाह दी गयी। सभी लोगों को सोशल डिस्टेंस बनाकर रहने को
कहा और बार बार साबुन से हाथ धोने की सलाह भी दी गयी।

अन्य ख़बरें

पूर्वी चंपारण ताइक्वांडो संघ के नई कार्यकारिणी का हुआ गठन शिवाजी चुने गए जिलाध्यक्ष
मोतिहारी में 21 जून को नरसिंह बाबा मठ में होगा अंतरराष्ट्रीय योग दिवस का मुख्य कार्यक्रम
आरक्षण क्रियान्वयन समिति का अध्यक्ष बनाए जाने पर पूर्वी चंपारण अति पिछड़ा वर्ग ने जताई प्रसंता
आखिर तेजस्वी यादव की रैली में क्यों हुआ मोदी मोदी पूरा पढ़िए
नवयुवक सेवा समिति की बैठक संपन्न, कार्यकारी पैनल का हुआ गठन
लालू प्रसाद यादव के जन्मदिन पर पूर्व प्रत्याशी डॉ.मदन प्रसाद साह ने दलित बस्ती में संचालित की "लालू ...
"सा रे गा मा" फेम गायिका आंशिका सिंह ने दी शानदार प्रस्तुति
जिले से सटे बॉर्डर पॉइंट पर कोविड-19 टेस्ट एवं टीकाकरण के लिए जिलाधिकारी ने दिया निर्देश
एनीमिया बचाव को लेकर महिला जनप्रतिनिधि द्वारा माता बैठक सम्पन्न।।
बिहार विधानसभा निर्वाचन, संचालन एवं सफलतापूर्वक संपन्न कराने हेतु एक आवश्यक प्रशिक्षण सम्पन्न
सरकार के खिलाफ जनता का आक्रोश ही भारत बंद : वामदल
चकिया: ABVP के काॅलेज इकाई का हुआ पुनर्गठन,
अप्रवासी सम्मेलन को सफल बनाने को लेकर भाजपा विदेश संपर्क विभाग की हुई बैठक
बिहार से प्रसाद रत्नेश्वर बने इज़ेडसीसी शासक मंडल के सदस्य
भोजपुरी लोक गायिका "तिस्ता" से अंतिम बातचीत का वीडियो
शिवहर में ट्रेन चलवाऐंगी रामादेवी... रेल मंत्री पीयूष गोयल से मिलकर हुई रेल लाइन बिछाने की संभावनाओं...
तेली हुंकार रैली को सफल बनाने वाले कार्यकर्ताओं को प्रदेश अध्यक्ष रणविजय साहू ने किया सम्मानित
ट्विटर ब्वॉय अकूत संपत्ति अर्जित करने का टेक्निक बिहार के युवाओं को बताएं:मंगल पांडे
पूर्वी चंपारण के जिला कृषि परिसर के मंदिर में हनुमान जी की मूर्ति की हुई स्थापना।।
मेरे गुरु मेरे मार्गदर्शक: रजत पाठक की कलम से

Leave a Reply