फैशन की दुनिया में विशिष्ट पहचान बना चुकी है तुलिका वैश, खादी से बने परिधानों को कर रही हैं प्रमोट

Featured Post slide पटना बिहार मनोरंजन मुजफ्फरपुर स्पेशल न्यूज़

पटना। अपनी हिम्मत और लगन के बदौलत तुलिका वैश आज फैशन की दुनिया में अपनी पहचान बनाने में कामयाब हुयी है लेकिन इन कामयाबियों को पाने के लिये उन्हें अथक परिश्रम का सामना भी करना पड़ा है।
बिहार की राजधानी पटना में जन्मीं तुलिका के पिता श्री राजीव रंजन सिंह और मां श्रीमती मीना सिंह घर की लाडली छोटी बेटी को डॉक्टर या इंजीनियर बनाना चाहते थे। बचपन के दिनों में तुलिका की रूचि फैशन की ओर थी।जाने माने फैशन डिजाइनर रोहित बाल को अपना आदर्श मानने वाली तुलिका उन्हीं की तरह फैशन की दुनिया में अपनी पहचान बनाने की ख्वाहिश रखा करती।वह बचपन के दिनों से ही अपने डिजाइन किये हुये कपड़े पहना करती थी।
उन्होंने मैट्रिक तक की पढ़ाई राजधानी पटना के प्रतिष्ठित माउंट कार्मेल स्कूल से पूरी की। इसके बाद उन्होंने पटना वुमेन्स कॉलेज से इंटरमीडियट की पढ़ाई पूरी की। इंटरमीडियट की पढ़ाई पूरी करने के बाद तुलिका आंखो में बड़े सपने दिले राजधानी दिल्ली आ गयी जहां उन्होंने फैशन डिजाइनिंग में डिप्लोमा किया। इसके बाद उन्होंने कई नामचीन कंपनियों में फैशन डिजाइनर हेड के तौर पर काम किया।
जल्द ही तुलिका की मेहनत रंग लायी और उन्हें उनके आदर्श रोहित बाल की कंपनी में बतौर फैशन कोआर्डिनेटर के तौर पर काम करने का अवसर मिला। उनकी मेहनत और लगन को देखते हुये उन्हें कंपनी का सीनियर फैशन डिजाइनर भी बनाया गया। वर्ष 2009 में तुलिका की की शादी बिजनेसमैन सत्यजीत वैश से हो गयी।जहां आम तौर पर युवती की शादी के बाद उसपर कई तरह की बंदिशे लगा दी जाती है लेकिन उनके साथ के साथ ऐसा नही हुआ। तुलिका के पति के साथ ही ससुराल पक्ष के सभी लोग ने उन्हें हर कदम सर्पोट किया। तुलिका ने बताया कि उन्हें उनके बड़े भाई मानवेन्द्र सिंह और भाभी अंशु सिंह तथा बहन ममता सिंह से भी काफी सपोर्ट मिला है।
वर्ष 2017 में तुलिका वैश ने अपना खुद का फैशन हाउस “तुलस्या” लांच किया जिसे राष्ट्रीय स्तर पर काफी सराहना मिल रही है। तुलिका वैश खादी से बने परिधानों को काफी प्रमोट कर रही हैं। वह बिहार के फैशन को वैश्विक मंच पर ले जाना चाहती है।उनका कहना है कि बिहार प्रतिभा के मामले में किसी भी दूसरे राज्य से कम नहीं है। फिर चाहे वह फिल्‍म हो, फैशन हो या फिर कला का क्षेत्र हर जगह बिहार के लोगों ने अपनी सफलता के झंडे गाड़े हैं।राजधानी पटना किसी भी मेट्रो शहर से किसी भी मायने में कम नहीं है।
तुलिका वैश ने कहा हमारा युवा वर्ग फैशन इंडस्ट्री और ग्लैमर जगत से जितना प्रभावित है उतना ही आतुर वह उनमें जाने के लिए भी है। आधुनिक युग में युवा सिर्फ ढंकने और सुंदर बनने के लिए ही कपड़े नहीं पहनता बल्कि अब यह हमारे स्टेट्स और फैशन फंडे का सिंबल बन चुका है।
वैश्विक फैशन जगत में भारत की हिस्सेदारी लगातार बढ़ रही है। इसके अलावा अच्छे से अच्छे ब्रांड के कपड़े पहनना सबसे अच्छा तथा लेटेस्ट डिजाइन पहनना और हमेशा स्टाइलिश बनाना आज के युवा का शौक है जिसे संभव करते हैं फैशन डिजाइनर। यही कारण है कि पिछले कुछ सालों में फैशन डिजाइनिंग का कोर्स सबसे ज्यादा प्रचलित हुआ है। मेरी ख्वाहिश है बिहार का फैशन वैश्विक मंच पर सराहा जाये। उन्होंने कहा कि वह बहुत जल्द पटना में भी तुलिका डिजाइन का ब्रांच खोलने जा रही हैं।
 वैश ने बताया कि वह बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन और पूर्व मिस यूनिवर्स सुष्मिता सेन की स्टाइल और फैशन सेंस से बहुत प्रभावित है और उन्हें अवसर मिलता है तो वह उन्हें अपने डिजाइन किये हुये परिधान पहनाना चाहती है। उन्हें गार्डनिंग और इंटरीयिर डिजाइन में भी काफी दिलचस्पी है।

अन्य ख़बरें

चैंबर की मासिक बैठक सम्पन्न। अमृत महोत्सव सप्ताह मनाएगी चैंबर। अर्धवार्षिक सभा जुलाई में।।
जिंदगी और मौत से जूझ रहा था खलील अंसारी, अधिवक्ता आलोक चंद्र ने अपना खून देकर पेश की मानवता की मिसाल
कोरोना संक्रमण से हुए मृत्यु में मृतकों के परिवारों को दी गई अनुग्रह राशि
जलजमाव से परेशान लोगों का नगर परिषद में हल्ला बोल, कार्यपालक पदाधिकारी ने किया इलाके का मुआयना
गुजरात में बिहारियों पर हमला निंदनीय: कन्हैया कुमार
7 जिले के DM बदल गए। देखिए पूरा लिस्ट
कोरोना वायरस पर महिला वार्ड सदस्यों द्वरा जागरूकता कार्यक्रम आयोजित
काली पट्टी लगाकर काम कर रहे हैं कार्यपालक सहायक। स्थायीकरण एवं वेतनमान है मुख्य मांगे
करोड़पति सुशील कुमार की चम्पा यात्रा
इनरव्हील क्लब ऑफ पटना ने मनाया शिक्षक दिवस
केरल बाढ़ पीड़ितों के लिए भिक्षाटन करते केशव कृष्णा एवं अन्य
राजनीतिक लूट के खिलाफ युवाओं को संघर्ष का रास्ता चुनना चाहिए: मिश्र
प्रतिरोध मार्च निकालकर वामदलों ने मनाया संविधान बचाओ एवं धर्मनिरपेक्षता दिवस"
राधा कृष्ण मंदिर वृक्षे स्थान मोतिहारी के महंत राम सागर दास से पत्रकार नकुल कुमार की खास बातचीत
सदन में कानून हाथ में लेने वाले अधिकारियों पर नहीं हुई कार्रवाई तो होगा महाधरना: सहनी
सांकेतिक सत्संग करके गुरू पूर्णिमा की औपचारिकता की गई पूरी
कांग्रेस ने हिंदुस्तान की छवि एक कमजोर राष्ट्र के रूप में बना दिया था: कालराज मिश्र
इनरव्हील क्लब ने चलाया कैंसर पर जागरूकता अभियान
जनता विधायक प्रमोद कुमार को नकार चुकी है यही कारण है कि उन्हें दुत्कार रही है: डॉक्टर दीपक कुमार कुश...
24 जनवरी को शिक्षा एवं रोजगार के मुद्दे को लेकर रालोसपा लगाएगी मानव कतार

Leave a Reply