फैशन की दुनिया में विशिष्ट पहचान बना चुकी है तुलिका वैश, खादी से बने परिधानों को कर रही हैं प्रमोट

Featured Post slide पटना बिहार मनोरंजन मुजफ्फरपुर स्पेशल न्यूज़
  • 15
    Shares

पटना। अपनी हिम्मत और लगन के बदौलत तुलिका वैश आज फैशन की दुनिया में अपनी पहचान बनाने में कामयाब हुयी है लेकिन इन कामयाबियों को पाने के लिये उन्हें अथक परिश्रम का सामना भी करना पड़ा है।
बिहार की राजधानी पटना में जन्मीं तुलिका के पिता श्री राजीव रंजन सिंह और मां श्रीमती मीना सिंह घर की लाडली छोटी बेटी को डॉक्टर या इंजीनियर बनाना चाहते थे। बचपन के दिनों में तुलिका की रूचि फैशन की ओर थी।जाने माने फैशन डिजाइनर रोहित बाल को अपना आदर्श मानने वाली तुलिका उन्हीं की तरह फैशन की दुनिया में अपनी पहचान बनाने की ख्वाहिश रखा करती।वह बचपन के दिनों से ही अपने डिजाइन किये हुये कपड़े पहना करती थी।
उन्होंने मैट्रिक तक की पढ़ाई राजधानी पटना के प्रतिष्ठित माउंट कार्मेल स्कूल से पूरी की। इसके बाद उन्होंने पटना वुमेन्स कॉलेज से इंटरमीडियट की पढ़ाई पूरी की। इंटरमीडियट की पढ़ाई पूरी करने के बाद तुलिका आंखो में बड़े सपने दिले राजधानी दिल्ली आ गयी जहां उन्होंने फैशन डिजाइनिंग में डिप्लोमा किया। इसके बाद उन्होंने कई नामचीन कंपनियों में फैशन डिजाइनर हेड के तौर पर काम किया।
जल्द ही तुलिका की मेहनत रंग लायी और उन्हें उनके आदर्श रोहित बाल की कंपनी में बतौर फैशन कोआर्डिनेटर के तौर पर काम करने का अवसर मिला। उनकी मेहनत और लगन को देखते हुये उन्हें कंपनी का सीनियर फैशन डिजाइनर भी बनाया गया। वर्ष 2009 में तुलिका की की शादी बिजनेसमैन सत्यजीत वैश से हो गयी।जहां आम तौर पर युवती की शादी के बाद उसपर कई तरह की बंदिशे लगा दी जाती है लेकिन उनके साथ के साथ ऐसा नही हुआ। तुलिका के पति के साथ ही ससुराल पक्ष के सभी लोग ने उन्हें हर कदम सर्पोट किया। तुलिका ने बताया कि उन्हें उनके बड़े भाई मानवेन्द्र सिंह और भाभी अंशु सिंह तथा बहन ममता सिंह से भी काफी सपोर्ट मिला है।
वर्ष 2017 में तुलिका वैश ने अपना खुद का फैशन हाउस “तुलस्या” लांच किया जिसे राष्ट्रीय स्तर पर काफी सराहना मिल रही है। तुलिका वैश खादी से बने परिधानों को काफी प्रमोट कर रही हैं। वह बिहार के फैशन को वैश्विक मंच पर ले जाना चाहती है।उनका कहना है कि बिहार प्रतिभा के मामले में किसी भी दूसरे राज्य से कम नहीं है। फिर चाहे वह फिल्‍म हो, फैशन हो या फिर कला का क्षेत्र हर जगह बिहार के लोगों ने अपनी सफलता के झंडे गाड़े हैं।राजधानी पटना किसी भी मेट्रो शहर से किसी भी मायने में कम नहीं है।
तुलिका वैश ने कहा हमारा युवा वर्ग फैशन इंडस्ट्री और ग्लैमर जगत से जितना प्रभावित है उतना ही आतुर वह उनमें जाने के लिए भी है। आधुनिक युग में युवा सिर्फ ढंकने और सुंदर बनने के लिए ही कपड़े नहीं पहनता बल्कि अब यह हमारे स्टेट्स और फैशन फंडे का सिंबल बन चुका है।
वैश्विक फैशन जगत में भारत की हिस्सेदारी लगातार बढ़ रही है। इसके अलावा अच्छे से अच्छे ब्रांड के कपड़े पहनना सबसे अच्छा तथा लेटेस्ट डिजाइन पहनना और हमेशा स्टाइलिश बनाना आज के युवा का शौक है जिसे संभव करते हैं फैशन डिजाइनर। यही कारण है कि पिछले कुछ सालों में फैशन डिजाइनिंग का कोर्स सबसे ज्यादा प्रचलित हुआ है। मेरी ख्वाहिश है बिहार का फैशन वैश्विक मंच पर सराहा जाये। उन्होंने कहा कि वह बहुत जल्द पटना में भी तुलिका डिजाइन का ब्रांच खोलने जा रही हैं।
 वैश ने बताया कि वह बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन और पूर्व मिस यूनिवर्स सुष्मिता सेन की स्टाइल और फैशन सेंस से बहुत प्रभावित है और उन्हें अवसर मिलता है तो वह उन्हें अपने डिजाइन किये हुये परिधान पहनाना चाहती है। उन्हें गार्डनिंग और इंटरीयिर डिजाइन में भी काफी दिलचस्पी है।

अन्य ख़बरें

300 सीट जीतकर कोई हिंदुस्तान पर मनमानी नहीं कर सकता: असदुद्दीन ओवैसी
मोतिहारी बड़ी मस्जिद के इमाम मोहम्मद जलालुद्दीन कासमी साहब का संदेश
Jyoti Jha: A Story of Inspiration
आज स्व. लक्ष्मी नारायण दुबे की प्रतिमा का होगा अनावरण, 1966ई. में हुई थी कॉलेज की स्थापना।
मानव के हनन को रोकना हमारा कर्तव्य- अब्बास अली
चंपारण पहुंचे "साइकिल मैन" रतन रंजन का हुआ भव्य स्वागत
अक्षरा सिंह को मिला छठी मैया का आशिर्वाद रिलीज होते ही देशभर में धूम मचा रही छठ गीत "रोवेले बाँझनिया...
आंगनवाड़ी केंद्र में हुई गोद भराई, महिला वार्ड सदस्यों ने गर्भवती महिलाओं को दी आयरन युक्त भोजन लेने ...
मिस्टर मिस और मिसेज 2019 का ऑडिशन पटना में 30 अगस्त को
बिट्टू यादव के नेतृत्व में मोतिहारी युवा कांग्रेस का एकदिवसीए बैठक संपन्न
गुरु पूर्णिमा विशेष: जीवन दर्शन-गुरु की महत्ता एवं भ्रम से वास्तविकता की ओर' विषय पर एलएनडी कॉलेज मे...
भारत रत्न मा०अटल बिहारी जी को भावभीनी श्रद्धांजलि
केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री राधा मोहन सिंह ने किया वृक्षारोपण
सेवा दिवस के अवसर पर कृषि मंत्री द्वारा किया गया सिलाई मशीन वितरण
युवाओं के विभिन्न समस्याओं को उठाने वाले अनिकेत पाण्डेय को 2058 ही मत क्यों मिला...? एक समीक्षा।
बिहार में शराब के विरुद्ध अभियान में सीवान पुलिस की बड़ी कामयाबी
मंत्री कला,संस्कृति एवं युवा विभाग प्रमोद कुमार ने स्मार्ट क्लास का किया उद्घाटन
प्रतिरोध मार्च निकालकर वामदलों ने मनाया संविधान बचाओ एवं धर्मनिरपेक्षता दिवस"
किसान विरोधी सरकार को पूर्वी चंपारण की जनता सिखायेगी सबक : आकाश कुमार सिंह
हिंदी सेवा सम्मान से नवाजे गये लेखक, पत्रकार और हिंदी प्रेमी

  • 15
    Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *