नियोजित शिक्षकों की मांग पूरी नही होने पर राजकीय सम्मान वापस करेंगी नम्रता आनंद

Featured Post

पटना 25 अप्रैल राष्ट्रीय युवा पुरस्कार एवम राजकीय शिक्षक सम्मान से सम्मानित नियोजित शिक्षिका डॉ नम्रता आनन्द, राoमoविo सिपारा, फुलवारी शरीफ ने नियोजित शिक्षकों की मांग पूरी नही होने पर बिहार सरकार द्वारा वर्ष 2018 में दिए गए शिक्षक सम्मान पुरस्कार सरकार को वापस करने का निर्णय लिया है।

समान काम-समान वेतन को लेकर नियोजित शिक्षक दो महीनों से अपनी मांगों को लेकर हड़ताल पर हैं।पटना हाइकोर्ट ने भी इस मुद्दे पर संज्ञान
लेने को सरकार को परामर्श कई बार दी है लेकिन बिहार सरकार समझौता करने एवं राजकीय प्रारम्भिक शिक्षक समन्वय समिति की सात मांगों को मानने को तैयार नही है।

कई महीने से वेतन नही दिया गया है, भूखों की कगार पर है, कई बीमारी से ग्रसित हैं और सरकार की अकुशल प्रबन्धन के कारण 60 शिक्षको की मृत्यु हो गयी है, जिसके लिए राज्य सरकार जिम्मेवार है।उनके आश्रितों को अनुकम्पा पर योग्यतानुसार बहाल किया जाय ,हड़ताल अवधि का भी वेतन भुगतान किया जाय ।

इससे पूर्व का भी वेतन भुगतान लम्बित है।
नम्रता आनंद ने कहा कि मैं सरकार को आगाह कराना चाहती हूं कि यदि 10 दिनों के अंदर वार्ता के जरिये इस समस्या का पहल कर ,कोई हल नही निकाल पाती है तो राज्य सरकार द्वारा दिया गया यह सम्मान पुरस्कार वापस करने की मेरी विवशता होगी।

डॉ नम्रता ने कहा कि मैं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी से निवेदन करती हूँ कि नियोजित शिक्षकों को अन्य शिक्षकों की तरह राज्यकर्मी का दर्जा दें एवं वेतन विसंगति सम्बन्धी एवं कई तरह की वैधानिक सुविधा का लाभ दिया जाय। सरकार की अड़ियल रवैये के कारण बच्चों का भविष्य अधर में एवं अंधकार में है।

उन्होंने कहा कि गलत शिक्षा नीति /व्यवस्था में सुधार करने की भी आज जरूरत है जिससे अविभावको का ध्यान निजी विद्यालयों की तरफ न जायँ। ऐसा लगता है मानो कि प्रत्येक वर्ष शिक्षक दिवस के अवसर पर यह पुरस्कार सहायक शिक्षको के साथ-साथ नियोजित शिक्षकों को भी देना एक औपचारिकता मात्र है।

गौरतलब है कि इस कोरोना जैसे वैश्विक महामारी में भी नियोजित शिक्षकों इस बीमारी की गम्भीरता के बारे में अपने-अपने क्षेत्र में लोगों को जागरूक करने,मास्क,सैनिटाइजर बाँटने एवं दिव्यांगों खासकर किन्नर समुदाय ,जो वैधानिक रूप से सरकारी सुविधा से वंचित हैं, के बीच खाद्य सामग्री का वितरण कर रहे हैं।

अन्य ख़बरें

गरीबों के बीच राशन वितरण करेगा उत्संग फाउंडेशन
मोबाइल का ईयर फोन लगाकर बाइक चला रहे युवक की ट्रक से टक्कर में हुई मौत। पत्नी को वीडियो कॉल करके दम ...
स्वामी विवेकानंद जयंती पर 101 युवाओं को अत्तुनिया फाउंडेशन ने किया सम्मानित
जदयू व्यवसायिक प्रकोष्ठ की बैठक के पश्चात 1 मार्च को आयोजित होने वाले कार्यकर्ता सम्मेलन में शामिल ह...
वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से राजस्व विभाग की हुई समीक्षा बैठक, मुख्य सचिव हुए शामिल
सभी सुविधाओं से परिपूर्ण साल्ट एक्सप्रेस का अशोक राजपथ में हुआ शुभारंभ
बीजेपी के स्टार प्रचारक मनोज तिवारी पहुंचे मोतिहारी, राधामोहन सिंह के लिए मांगा वोट।
4 फेज में मोती झील से इस दिन से हटाया जाएगा अतिक्रमण
पढ़िए पूरा सच...तेलंगना कैडर की IAS "स्मिता सभरवाल" के बारे में। इन्हीं का फोटो चंपारण में रानी कुमा...
सामाजिक संगठनों ने किया गरीब एवं जरूरतमंद लोगों के बीच राहत सामग्री का वितरण
मंदार रत्न से सम्मानित हुए सीतामढ़ी के ट्री मैन सुजीत
आसाराम बापू की संस्था ने मनाया मातृ-पितृ पूजन दिवस
गृह मंत्रालय: नाइट कर्फ्यू, रात 9:00 बजे से सुबह 5:00 बजे तक
पश्चिमी चंपारण में जदयू अल्पसंख्यक प्रकोष्ठ की स्थिति काफी मजबूत: मोहम्मद तमन्ना
सोशल यूथ कमिटी ने मैट्रिक एवं इंटरमीडिएट में 70% अंक से उतीर्ण छात्रों को किया सम्मानित
भारत भी कृषि आय बढ़ाने के लिए कृत्रिम इंटेलिजेंस का लाभ उठाए: उपराष्ट्रपति
CAA एवं NRC के समर्थन में मोतिहारी के अधिवक्ताओं ने बनाया मानव श्रृंखला
जल जीवन हरियाली अभियान के प्रगति की जिलाधिकारी ने की गहन समीक्षा बैठक
सरदार बल्लभ भाई पटेल की 144वी जयंती पर Run for Unity में दौड़े शहरवासी
लॉक डाउन की सख्ती से अनुपालन हेतु जिलाधिकारी ने किया नगर भ्रमण

Leave a Reply