नियोजित शिक्षकों की मांग पूरी नही होने पर राजकीय सम्मान वापस करेंगी नम्रता आनंद

Featured Post
  • 4
    Shares

पटना 25 अप्रैल राष्ट्रीय युवा पुरस्कार एवम राजकीय शिक्षक सम्मान से सम्मानित नियोजित शिक्षिका डॉ नम्रता आनन्द, राoमoविo सिपारा, फुलवारी शरीफ ने नियोजित शिक्षकों की मांग पूरी नही होने पर बिहार सरकार द्वारा वर्ष 2018 में दिए गए शिक्षक सम्मान पुरस्कार सरकार को वापस करने का निर्णय लिया है।

समान काम-समान वेतन को लेकर नियोजित शिक्षक दो महीनों से अपनी मांगों को लेकर हड़ताल पर हैं।पटना हाइकोर्ट ने भी इस मुद्दे पर संज्ञान
लेने को सरकार को परामर्श कई बार दी है लेकिन बिहार सरकार समझौता करने एवं राजकीय प्रारम्भिक शिक्षक समन्वय समिति की सात मांगों को मानने को तैयार नही है।

कई महीने से वेतन नही दिया गया है, भूखों की कगार पर है, कई बीमारी से ग्रसित हैं और सरकार की अकुशल प्रबन्धन के कारण 60 शिक्षको की मृत्यु हो गयी है, जिसके लिए राज्य सरकार जिम्मेवार है।उनके आश्रितों को अनुकम्पा पर योग्यतानुसार बहाल किया जाय ,हड़ताल अवधि का भी वेतन भुगतान किया जाय ।

इससे पूर्व का भी वेतन भुगतान लम्बित है।
नम्रता आनंद ने कहा कि मैं सरकार को आगाह कराना चाहती हूं कि यदि 10 दिनों के अंदर वार्ता के जरिये इस समस्या का पहल कर ,कोई हल नही निकाल पाती है तो राज्य सरकार द्वारा दिया गया यह सम्मान पुरस्कार वापस करने की मेरी विवशता होगी।

डॉ नम्रता ने कहा कि मैं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी से निवेदन करती हूँ कि नियोजित शिक्षकों को अन्य शिक्षकों की तरह राज्यकर्मी का दर्जा दें एवं वेतन विसंगति सम्बन्धी एवं कई तरह की वैधानिक सुविधा का लाभ दिया जाय। सरकार की अड़ियल रवैये के कारण बच्चों का भविष्य अधर में एवं अंधकार में है।

उन्होंने कहा कि गलत शिक्षा नीति /व्यवस्था में सुधार करने की भी आज जरूरत है जिससे अविभावको का ध्यान निजी विद्यालयों की तरफ न जायँ। ऐसा लगता है मानो कि प्रत्येक वर्ष शिक्षक दिवस के अवसर पर यह पुरस्कार सहायक शिक्षको के साथ-साथ नियोजित शिक्षकों को भी देना एक औपचारिकता मात्र है।

गौरतलब है कि इस कोरोना जैसे वैश्विक महामारी में भी नियोजित शिक्षकों इस बीमारी की गम्भीरता के बारे में अपने-अपने क्षेत्र में लोगों को जागरूक करने,मास्क,सैनिटाइजर बाँटने एवं दिव्यांगों खासकर किन्नर समुदाय ,जो वैधानिक रूप से सरकारी सुविधा से वंचित हैं, के बीच खाद्य सामग्री का वितरण कर रहे हैं।

अन्य ख़बरें

ब्रावो फाउंडेशन के के द्वारा जरूरतमंदों के बीच बाटी जा रही हैं खाद्य सामग्री
राजधानी पटना में दिखायी जायेगी लघु फिल्म "पुर्नजन्म"
पक्षी संरक्षण के लिए KBC विजेता सुशिल के मुहिम को और तेज करेगी, उत्संग फाउंडेशन
CAA एवं NRC के समर्थन में बजरंग दल, विश्व हिंदू परिषद एवं दुर्गा वाहिनी ने बनाया मानव श्रृंखला
अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर मोतिहारी वासियों ने किया योगाभ्यास,
मुख्य सचिव बिहार ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रमंडल वार कोविड-19 स्थिति की समीक्षा
अमन क्लिनिक मोतिहारी में लगा दानपेटी। पेश की मानवता की मिसाल...!
पाटलिपुत्र स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स में बनेगा 100 बेड का अस्‍थाई अस्‍पताल, कला, संस्‍कृति विभाग ने दी स...
गरीबों के बीच राशन वितरण करेगा उत्संग फाउंडेशन
संभावित बाढ़ के मद्देनजर सभी अधिकारी रहें अलर्ट: जिलाधिकारी
प्रेमी ऑटोवाला का ट्रेलर रिलीज के साथ ही सोशल मीडिया में मचा रहा हैं धूम।
मिस इको इंटरनेशनल में भारत का प्रतिनिधत्व करेंगी आकांक्षा
अप्रवासी सम्मेलन को सफल बनाने को लेकर भाजपा विदेश संपर्क विभाग की हुई बैठक
हरिहरगंज से पटना तक एनएच-139 को फोर लेन में तब्दील किया जायेगा :सुशील सिंह
लाॅकडाउन में भी घर घर दूध और पनीर पहुंचाएगी सीताराम डेयरी
सभी मान्यता प्राप्त दलों के साथ जिला निर्वाचन पदाधिकारी पूर्वी चंपारण ने की बैठक
खेसारीलाल यादव की फिल्‍म ‘कुली No.1’ बनी साल की पहली छमाही में सबसे बड़ी फिल्‍म
भोजपुरी फिल्म काजल के प्रमोशन को मोतिहारी पहुंचे फिल्मी सितारे
संगीता तिवारी की तीन - तीन फिल्‍मों का भव्‍य मुहूर्त मुंबई में हुआ संपन्‍न
ब्रज भूषण की बहुचर्चित भोजपुरी फिल्‍म ‘काजल’ मुंबई में हुई रिलीज

  • 4
    Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *