नियोजित शिक्षकों की मांग पूरी नही होने पर राजकीय सम्मान वापस करेंगी नम्रता आनंद

Featured Post

पटना 25 अप्रैल राष्ट्रीय युवा पुरस्कार एवम राजकीय शिक्षक सम्मान से सम्मानित नियोजित शिक्षिका डॉ नम्रता आनन्द, राoमoविo सिपारा, फुलवारी शरीफ ने नियोजित शिक्षकों की मांग पूरी नही होने पर बिहार सरकार द्वारा वर्ष 2018 में दिए गए शिक्षक सम्मान पुरस्कार सरकार को वापस करने का निर्णय लिया है।

समान काम-समान वेतन को लेकर नियोजित शिक्षक दो महीनों से अपनी मांगों को लेकर हड़ताल पर हैं।पटना हाइकोर्ट ने भी इस मुद्दे पर संज्ञान
लेने को सरकार को परामर्श कई बार दी है लेकिन बिहार सरकार समझौता करने एवं राजकीय प्रारम्भिक शिक्षक समन्वय समिति की सात मांगों को मानने को तैयार नही है।

कई महीने से वेतन नही दिया गया है, भूखों की कगार पर है, कई बीमारी से ग्रसित हैं और सरकार की अकुशल प्रबन्धन के कारण 60 शिक्षको की मृत्यु हो गयी है, जिसके लिए राज्य सरकार जिम्मेवार है।उनके आश्रितों को अनुकम्पा पर योग्यतानुसार बहाल किया जाय ,हड़ताल अवधि का भी वेतन भुगतान किया जाय ।

इससे पूर्व का भी वेतन भुगतान लम्बित है।
नम्रता आनंद ने कहा कि मैं सरकार को आगाह कराना चाहती हूं कि यदि 10 दिनों के अंदर वार्ता के जरिये इस समस्या का पहल कर ,कोई हल नही निकाल पाती है तो राज्य सरकार द्वारा दिया गया यह सम्मान पुरस्कार वापस करने की मेरी विवशता होगी।

डॉ नम्रता ने कहा कि मैं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जी से निवेदन करती हूँ कि नियोजित शिक्षकों को अन्य शिक्षकों की तरह राज्यकर्मी का दर्जा दें एवं वेतन विसंगति सम्बन्धी एवं कई तरह की वैधानिक सुविधा का लाभ दिया जाय। सरकार की अड़ियल रवैये के कारण बच्चों का भविष्य अधर में एवं अंधकार में है।

उन्होंने कहा कि गलत शिक्षा नीति /व्यवस्था में सुधार करने की भी आज जरूरत है जिससे अविभावको का ध्यान निजी विद्यालयों की तरफ न जायँ। ऐसा लगता है मानो कि प्रत्येक वर्ष शिक्षक दिवस के अवसर पर यह पुरस्कार सहायक शिक्षको के साथ-साथ नियोजित शिक्षकों को भी देना एक औपचारिकता मात्र है।

गौरतलब है कि इस कोरोना जैसे वैश्विक महामारी में भी नियोजित शिक्षकों इस बीमारी की गम्भीरता के बारे में अपने-अपने क्षेत्र में लोगों को जागरूक करने,मास्क,सैनिटाइजर बाँटने एवं दिव्यांगों खासकर किन्नर समुदाय ,जो वैधानिक रूप से सरकारी सुविधा से वंचित हैं, के बीच खाद्य सामग्री का वितरण कर रहे हैं।

अन्य ख़बरें

भ्रष्टाचार के खिलाफ शुरू की गई लड़ाई को तेज करने की जरूरत : त्रिभुवन
भाजपा क्रीड़ा प्रकोष्ठ के सेवा सप्ताह कार्यक्रम में कृषि मंत्री प्रेम कुमार हुए शामिल
मातृत्व, शिशु स्वास्थ्य एवं पोषण सेवाओं की उपलब्धता एवं गुणवत्ता सुनिश्चित कराने हेतु बैठक
CAA कानून एवं प्रस्तावित एनपीआर और एन‌आरसी हमारे संविधान की मूल प्रस्तावना के विरुद्ध:अख्तरूल इमान
कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए आगे आया राधा कृष्ण सेवा संस्थान ट्रस्ट, अब तक 6000 लीटर हर्बल सै...
कोरोना संकट झेल रहे सीतामढ़ी को बाढ़ आपदा से बचाव को लेकर डीएम-एसपी ने तटबंधों का किया निरीक्षण
NTC NEWS MEDIA ने की सच की तहकीकात...मोतिहारी की नई डीएम रानी कुमारी...?
मिसेज ब्यूटी मॉमस का आडिशन 15 सितंबर को पटना में। गृहणी, मां और मॉडल का दिखेगा अद्भुत संयोग
विधायक फैसल रहमान ने कुष्ठ रोगियों के बीच किया राशन का वितरण, ढाका रेफरल अस्पताल का किया निरीक्षण
भोजपुरी फिल्‍म 'बागी-एक योद्धा' से त्योहारों के सीजन में धमाल मचाएंगे खेसारी लाल यादव
मुख्यमंत्री नीतिश कुमार ने दी जिले को 589 योजनाओं की सौगात।
नवल किशोर प्रसाद बने पूर्वी चम्पारण जदयू व्यवसायिक प्रकोष्ठ के जिला अध्यक्ष, शुभचिंतकों ने दी बधाई
दिल्ली मॉडल के साथ पूरे बिहार में चुनाव लड़ेगी आम आदमी पार्टी
इंडियाज राइजिंग स्टार अवार्ड 2019 से सम्मानित किये जायेंगे रियल हीरो
सप्तक्रांति, गरीबरथ, सत्याग्रह, पूर्वांचल व इंटरसिटी एक्सप्रेस ट्रेनों के इलेक्ट्रिक इंजन से संचालन ...
आत्मनिर्भर भारत अभियान आधुनिक भारत की पहचान बन रहा है: प्रकाश अस्थाना
First Voting Experience : फिल्म एक्टर सुनील कविराज सहित कई लोगों ने दिया पहली बार वोट...
SVEEP आइकॉन बनाये गये सैंड आर्टिस्ट मधुरेंद्र कुमार, मतदान के प्रति फैलाऐंगे जागरूकता 
संविधान दिवस पर मुंशी सिंह कॉलेज NSS द्वारा परिचर्चा का आयोजन
'संविधान से समरसता' कार्यक्रम के तहत वाद-विवाद प्रतियोगिता का आयोजन

Leave a Reply