देश के पहले मल्टी मॉडल टर्मिनल का… प्रधानमंत्री ने किया उद्घाटन, वाराणसी हल्दिया जल मार्ग से पूर्वी भारतीय राज्यों को होगा फायदा।

गाँव-किसान राजनीति राष्ट्रीय स्पेशल न्यूज़
  • 3
    Shares

NTC NEWS MEDIA 

मोदी ने वाराणसी को दी 2413 करोड़ रुपये की सौगात, देश चाहता है विकास की राजनीति: मोदी

Advertisements

   वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नदियों की इस दुर्दशा के लिए पूर्व की सरकारों को दोषी ठहराया उन्होंने कहा कि हजारों करोड़ों रुपए पानी की तरह बह गए लेकिन नदियों का उद्धार नहीं हुआ। उन्होंने कहा कि देश की जनता अब सिर्फ विकास की राजनीति चाहती है।

प्रधानमंत्री ने अपने संसदीय निर्वाचन क्षेत्र वाराणसी में देश के पहले मल्टी-मॉडल टर्मिनल समेत 2413 करोड़ रुपये की परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास करने के बाद जनसभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा एक जमाना था, जब हमारे देश की नदियों में बड़े-बड़े जहाज चला करते थे। लेकिन आजादी के बाद इस पर ध्यान देने के बजाय उनकी उपेक्षा की गयी।हमारी नदियों की शक्ति के साथ पहले की सरकारों ने बड़ा अन्याय किया। इस अन्याय को समाप्त करने का कार्य हमारी सरकार कर रही है। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार देश में 100 से ज्यादा राष्ट्रीय जलमार्गों पर काम कर रही है। आज लोकार्पित किया गया वाराणसी-हल्दिया जलमार्ग भी उनमें से एक है। इस वॉटर-वे से उत्तर प्रदेश ही नहीं बिहार, झारखंड और पश्चिम बंगाल यानी एक प्रकार से पूर्वी भारत के एक बड़े हिस्से को बहुत बड़ा फायदा होनेवाला है। इस काम में दशकों लग गये। लेकिन आज मैं खुश हूं कि देश ने जो सपना देखा था। वह आज काशी की धरती पर साकार हुआ है।

इससे पूर्व उन्होंने इस टर्मिनल पर कोलकाता से आये पहले भारवाहक जहाज की अगवानी भी की। यह जहाज गत अक्तूबर के अंतिम सप्ताह में कोलकाता से काशी के लिए रवाना हुआ था। राष्ट्रीय जलमार्ग-1 (गंगा नदी) पर बन रहे चार मल्टी मॉडल टर्मिनलों में से इस पहले टर्मिनल को भारतीय अंतर्देशीय जलमार्ग प्राधिकरण द्वारा विश्व बैंक की मदद से जल विकास मार्ग परियोजना के तहत निर्मित किया गया है। करीब 5369.18 करोड़ रुपये की लागत से बने इस टर्मिनल पर आये खर्च को केंद्र सरकार और विश्व बैंक ने आधा-आधा वहन किया है। इसके पूर्व, वाराणसी पहुंचने पर प्रधानमंत्री के समक्ष जलमार्गों के बारे में एक प्रस्तुति दी गयी। इसके अलावा उन्होंने उत्तर प्रदेश के वाराणसी और पश्चिम बंगाल के हल्दिया के बीच जलमार्ग के इस्तेमाल की व्यवहार्यता पर आधारित एक लघु फिल्म भी देखी।

अन्य ख़बरें

"संघर्ष" फिल्म के प्रमोशन के लिए पहुंची अभिनेत्री काजल राघवानी, अभिनेता अवधेश मिश्रा संग पूरी टीम
दिल्ली सरकारी विद्यालयों की दशा दिशा सुधारने के लिए दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया सम्मानित
उपेंद्र कुशवाहा ने दिया इस्तीफा। महागठबंधन में शामिल होकर मोतिहारी से लड़ सकते हैं लोकसभा चुनाव
12 विधानसभा के निर्वाची पदाधिकारियों के साथ जिलाधिकारी ने की बैठक। स्वच्छ, पारदर्शी एवं निष्पक्ष चुन...
3 राज्यों में बनेगी भाजपा सरकार,दो अन्य में भी स्थति होगी मजबूत : शाहनवाज हुसैन
29 नवंबर की रैली को सफल बनाने के लिए बैठक संपन्न, जनसंख्या के अनुसार सत्ता में भागीदारी चाहिए: चंद्र...
रालोसपा के आरोप पर भाजपा का जवाब
शर्म नहीं सम्मान है औरत की पहचान है"  माहवारी स्वछता दिवस पर वार्ड सदस्यों ने दिया संदेश
आसाराम बापू की शिष्या शिल्पी को मिली जमानत
COVID19 से बचाव के लिए प्रभा ग्लोबल के डायरेक्टर, रामनिवास सिंह ने मुख्यमंत्री राहत कोष में ₹51000 क...
मोतिहारी में 21 जून को नरसिंह बाबा मठ में होगा अंतरराष्ट्रीय योग दिवस का मुख्य कार्यक्रम
मिस्टर-मिस और मिसेज पटना सीजन 05 का फिनाले संपन्न मॉडल्स ने रैंप पर बिखेरा जलवा
15 दिसंबर तक भाजपा का गहन संपर्क अभियान, घर घर संपर्क करके पार्टी देगी स्वच्छता का संदेश
चुनाव को लेकर जिलाधिकारी ने सभी कोषांगों के वरीय पदाधिकारियों के साथ की समीक्षा बैठक
बिहार विभूति स्वर्गीय सीताराम सिंह की 71वी जयंती प्रेरणा दिवस के रूप में मनाई गई
जयमंगल कुशवाहा रालोसपा पूर्वी चंपारण के निर्विरोध जिला अध्यक्ष निर्वाचित
GGPC-2019 के दौरान सैंड आर्टिस्ट मधुरेंद्र कुमार वैश्विक शांति राजदूत पुरस्कार से सम्मानित
फसल कटनी में शामिल हुए जिला पदाधिकारी, अग्निकांड से बचाव की दी जानकारी
मिशन चंद्रयान-2 की उम्मीदें अभी भी बरकरार...आर्बिटर ने लैंडर विक्रम को ढूंढा। संपर्क की कोशिश जारी
मसहूर किसान नेता ध्रुव त्रिवेदी ने दी अटल जी को श्रद्धांजलि

  • 3
    Shares

Leave a Reply