डॉ दीनबंधु तिवारी जी

Uncategorized

मेरे गुरु जी,
           मार्गदर्शक,
               संस्कृत के मनीषी,
                       शिक्षा व संस्कृति के प्रतिबिंब,
                                                 विचारों के सागर,
                                      संरचनात्मक शक्तियों के उत्सर्जक,
परम् आदरणीय #डॉ_दीनबंधु_तिवारी जी के विषय में कुछ भी लिखना सूरज को दीपक दिखाने जैसा है, समुंदर के अंतर में छुपे खजाने को बताने जैसा है। लेकिन फिर भी उनके प्रति मेरे मन में जो अटूट श्रद्धा, विश्वास एवं प्रेम है इसी के वश होकर आज मैं आपका फोटो डालने का साहस जुटा पाया हूं। निश्चित रूप से मेरा बचपन आपके मार्गदर्शन में प्रस्फुटित हुआ, बढ़ा एवं सामाजिक सरोकार के रूप में आज चरणबद्ध तरीके से विकसित हो रहा है। मेरे मन में विचारों की जो क्रांति है, शब्दों का जो संसार है उसमें काफी हद तक आपके प्यार और स्नेह की परछाई है।
                        साहित्य के प्रति मेरे मन में जो प्रेम है। उसका प्रस्फुटन #विद्या_निकेतन के साहित्यिक वातावरण में आप श्रीमान के श्रेष्ठ मार्गदर्शन का ही प्रतिफल है। आपके विचारों में जो समत्व भाव है, जो सारगर्भिक्ता है, जो अपनेपन की की तीक्ष्णता है एवं मेरे लिए जो दुलार है उसकी विवेचना कर पाना मेरे लिए संभव नहीं
है।
         हे विचार क्रांति के नायक, मोतिहारी में ज्ञान, बुद्धि​ एवं कौशल केन्द्र के रूप में विद्या निकेतन संस्थान के संस्थापक, संस्कृत के जुगनू को  सूर्य के रूप में प्रकाशित करने वाले श्रेष्ठ विद्वान आपको बारंबार प्रणाम है।

Advertisements
contact for advertisment and more
Nakul Kumar
8083686563

अन्य ख़बरें

सरस्वती पूजा को सरस्वती पूजा ही रहने दें इसे विकृत ना करें
स्वच्छ भारत अभियान फेल
लोहड़ी पर्व... पढ़िए मुस्लिम योद्धा दुल्ला भट्टीवाले की कहानी
.....होठों पर तेरी।
सपने होते हैं परछाई से...........पुष्पा दांगी
तुम मुझे कपड़ा दो मैं तुम्हें झोला दूंगा....
मुख्तार अंसारी के मौत की उच्चस्तरीय जांच की मांग......
छात्र राजद ने दी उग्र आंदोलन की चेतावनी
जीवधारा भाजपा मंडल कमेटी की बैठक संपन्न
चिन्तन पुकार
NTC CLUB Run By Nakul Kumar...8083686563
? बचपन पढ़ाओं आन्दोलन ?
तुम्हारे प्यार में
एक वर्षीय प्यार का हजार वर्षीय इजहार
चम्पारण में किसानों का आत्मदाह
CPTI की कार्यशैली पर टैक्स कंसल्टेंट मनोज कुमार ने लगाया सवालिया निशान.........?
शिक्षकों की चुनावी पाठशाला का हुआ आयोजन, स्कूलों के चेतना सत्र में कैसे चुनावी पाठशाला का आयोजन हो, ...
नकुल कुमार की कलम से.....
आज से दूरदर्शन पर प्रसारित होगा एक घंटे का भोजपुरी कार्यक्रम
......प्रधान सेवक के आंसू

Leave a Reply