जनता पर बढ़ रहे आर्थिक बोझ कम करने के लिए सरकार के पास कोई उपाय नहीं: मुन्ना कुशवाहा

Featured Post बिहार राजनीति

मोतिहारी। प्लूरल्स पार्टी के प्रदेश प्रवक्ता मुन्ना कुशवाहा ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी करके बिहार में बढ़ते अपराध और कोरोना प्रसार के लिए सरकार की नीतियों एवं रवैया को गलत ठहराया है। इसके साथ ही साथ उन्होंने बेरोजगारी शराबबंदी सहित विभिन्न मुद्दों को लेकर सरकार को कटघरे में खड़ा किया है।

श्री कुशवाहा अपने प्रेस विज्ञप्ति में कहते हैं कि बिहार की भूमि जो कि सम्पूर्ण देश की रीढ़ है, आज कोरोना जैसे संक्रमण से कमजोर होती जा रही है, ओर इसके लिए केंद्र के साथ राज्य में गठबंधन की सरकार भी जिम्मेदार है।

मुख्यमंत्री के चुनावी वादे को याद करते हुए श्री मुन्ना कहते हैं कि बिहार की जनता को याद होगा जब चुनाव था तो हमारे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बड़े-बड़े वादे किए, क्या हुआ मुख्यमंत्री का वादा….?

वहीं दूसरी और प्रदेश प्रवक्ता मुन्ना कुमार ने चुनाव के पहले के लॉकडाउन के कारण सैकड़ों की संख्या में बिहार आने वाले प्रवासी बिहारियों की ओर इशारा करते हुए कहा है कि चुनाव से पहले के लॉकडाउन में बिहार से बाहर रह कर दिहाड़ी पर अपना जीवन यापन करने वाले हमारे बिहारी भाई, जब बिहार के लिए घर वापसी कर रहे थे, सरकार उनकी सहायता नही कर रही थी, सिर्फ हाथ पर हाथ रखे कोरोना के नाम पर धन उगाही करने में लगी थी। कोरोना के नाम पर करोड़ों का घोटाला हो गया, पर हमारे मजदूर भाइयों को बिहार मे रोजगार नही मिल पाया। हालात ये हुई कि फिर से हमारे मजदूर भाइयों को जीवन यापन के लिए दूसरे शहरों में जाने पर मजबूर होना पड़ा।

Advertisements

वर्तमान परिस्थिति की ओर इशारा करते हुए श्री मुन्ना कहते हैं कि अभी के हालात देखते हुए लगता है कि फिर से हमारे बिहार वासियों को वही दिन न देखना पड़े, जो पिछले साल लॉकडाउन हुई थी।

आम आदमी के आर्थिक परिस्थितियों पर चिंता जाहिर करते हुए प्रदेश प्रवक्ता कहते हैं कि आज जब आप सड़को पर निकलते है तो वही डर लोगो के चेहरे पर दिखता है, लोगो पर आर्थिक बोझ बढ़ता जा रहा है, जो लोग अपना दैनिक जीवन, दैनिक दिहाड़ी से चलाते थे, उनमे डर बना हुआ है कि जाने कब लॉकडाउन लग जाये…! इतना ही नहीं प्राइवेट कोचिंग संस्थानों के संचालक, प्राइवेट स्कूलों संस्थानों के संचालक, रेस्टोरेंट, होटल, कपड़ो की दुकान, हर कोई आज डरा हुआ है, सरकार सिर्फ कोरोना गाइड लाइन को सख्ती से पालन करने को तो बोल रही है, पर इससे जो आम जनता पर बोझ बढ़ता जा रहा है। उसके लिए कोई ठोस कदम सरकार नही उठा रही है।

शराबबंदी पर सरकार को आड़े हाथों लेते हुए प्रदेश प्रवक्ता कहते हैं कि बिहार सरकार की शराब बंदी कानून ने एक नया मोड़ लेकर शराब माफियाओं को जन्म दिया है। वे संदेह जाहिर करते हुए कहते हैं कि आगे पता नही किन-किन माफियाओं को बिहार सरकार अपने गलत नीतियों से बिहार में अपराध को एक नया आयाम देगी।

अन्य ख़बरें

निर्यात ऋण की समय पर उपलब्‍धता भारत की निर्यात वृद्धि की कुंजी: पीयूष गोयल
जल जीवन हरियाली अभियान के प्रगति की जिलाधिकारी ने की गहन समीक्षा बैठक
चुनाव 2019 का रण..........
CAA कानून एवं प्रस्तावित एनपीआर और एन‌आरसी हमारे संविधान की मूल प्रस्तावना के विरुद्ध:अख्तरूल इमान
नवयुवक सेवा समिति की बैठक संपन्न, कार्यकारी पैनल का हुआ गठन
जिंदगी और मौत से जूझ रहा था खलील अंसारी, अधिवक्ता आलोक चंद्र ने अपना खून देकर पेश की मानवता की मिसाल
भोजपुरी फिल्‍म 'बागी-एक योद्धा' से त्योहारों के सीजन में धमाल मचाएंगे खेसारी लाल यादव
प्रख्यात रेत कलाकार मधुरेन्द्र ने कैनवास पर आकृति खीच शीला दीक्षित को दी श्रंद्धाजलि
CPTI पूर्ण रूप से बंद, इसकी सारी कमिटीयाँ हुई भंग
Radhamohan Singh Live
अंतरराष्ट्रीय युवा दिवस के अवसर पर हुआ परिचर्चा का आयोजन
सफाई कर्मियों की कोरोना से रक्षा के लिए पूर्व कृषि मंत्री ने बांटे थ्री प्लाई मास्क
16 से 31 मार्च तक पोषण पखवाड़ा, प्रभारी डीएम ने पोषण संदेश वाहन को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना
PM interacts with leaders of political parties
जदयु: सर्वसम्मति से परमेंद्र सिंह मीठापुर पटना सेक्टर अध्यक्ष नियुक्त
पाटलिपुत्र स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स में बनेगा 100 बेड का अस्‍थाई अस्‍पताल, कला, संस्‍कृति विभाग ने दी स...
"जीवन की ज्वाला"
तेरा जाना......
बाढ़ पीड़ित परिवारों के खाते में जाएंगे साढ़े छ: हजार रुपए : सांसद
मोतिहारी में मिशन साहसी के तहत शुरू हुआ बालिकाओं का सेल्फ डिफेंस प्रशिक्षण

Leave a Reply