चर्चित नाटककार राजेश कुमार उत्तर प्रदेश संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार के लिए चयनित

Featured Post slide खोज पटना बिहार भागलपुर राष्ट्रीय साहित्य
  • 29
    Shares

पटना। बिहार के भागलपुर शहर के मूल निवासी चर्चित नाटककार राजेश कुमार को 2014 के लिए उत्तर प्रदेश संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार के लिए चयनित किया गया है। उत्तर प्रदेश सरकार ने श्री कुमार को नाट्य लेखन के लिए यह पुरस्कार देने की घोषणा की है। वर्ष 2009 से 2018 तक के उत्तर प्रदेश संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार, सफदर हाशमी पुरस्कार, बीएमशाह एवं रत्न सदस्यों की घोषणा की गई है।

राजेश कुमार देश के चर्चित नाटककार है। बिहार के आरा और भागलपुर रंगमंच से वर्षो जुड़े रहने के बाद नौकरी के दौरान उत्तर प्रदेश में कई दशकों से रंगमंच से जुड़े है। उन्होंने गाय, अंबेडकर और गांधी, गांधी ने कहा था, लास्ट सैलयूट, श्राद्ध, आखिरी सलाम, अन्तिम युद्ध, घर वापसी कह रैदास खलास चमारा, पगड़ी संभाल जट्टा, तफ्तीश, हिन्दू कोड बिल सहित दर्जनों पूर्णकालिक नाटक लिखे हैं।अस्मिता थियेटर ग्रुप द्वारा अरविन्द गौड़ के निर्देशन में राजेश कुमार के दर्जनों नाटको का शो देशभर में होता रहा है। देश की अन्य नाट्य संस्थाएं भी इनके नाटको का मंचन करती रहती है। चर्चित फिल्म निर्माता महेश भट्ट के प्रोडक्शन में राजेश कुमार के कई नाटकों का मंचन हुआ है ।

कह रैदास खलास चमारा नाटक के लिए उन्हें मोहन राकेश सम्मान भी मिल चुका है। राजेश कुमार के तमाम नाटक सामाजिक एवं राजनीतिक सवालों को उठाते मिलते हैं, जो एक नई सोच पैदा करती है ।

बिहार में जन्मे राजेश कुमार ने नाट्य दुनिया में प्रवेश 1976 में नुक्कड़ नाटक आंदोलन से की थी। आरा की नाट्य संस्था “युवानीति”, भागलपुर की “दिशा “ शाहजहाँपुर की नाट्य संस्था “अभिव्यक्ति” के संस्थापक सदस्य रहे हैं। उत्तर प्रदेश के बिजली विभाग में पेशे से ईन्जीनियर रहे राजेश कुमार इन दिनों लखनऊ के रंगमंच में सक्रीय है।

उनके चर्चित नुक्कड़ नाटकों में जिन्दाबाद- मुर्दाबाद, रंगा सियार, जनतन्त्र के मुर्गे, हमे बोलने दो शामिल है वहीँ प्रकाशित पुस्तकों में मोरचा लगाता नाटक, नाटक से नुक्कड़ नाटक तक, जनतन्त्र के मुर्गे (नुक्कड़ नाटक संग्रह),घर वापसी, तफ्तीश हैं आदि प्रमुख्य है।

नाट्य लेखन के साथ साथ कहानी लेखन भी राजेश कुमार ने बखूबी किया है । धर्मयुग,सारिका जैसी प्रतिष्ठित पत्रिकाओं में दर्जनों कहानी भी छप चुकी है।

अन्य ख़बरें

गौरव झा की फिल्‍म ‘लेडी सिघंम’ से बॉलीवुड स्टार शक्ति कपूर की फिर हो रही भोजपुरी स्‍क्रीन पर वापसी
बिजनेस के साथ साथ सामाजिक क्षेत्र में खास पहचान बना चुके हैं 'विशाल गप्पू'
जिला टॉप शुभम के इंटर की पढ़ाई का खर्च देगी बिहार नवयुवक सेना
मकर सक्रांति, उत्तरायण पर्व एवं ऋषि प्रसाद जयंती समारोह धूमधाम से संपन्न
अटल जी को जागृति सेवा किड्स प्ले स्कूल ने दी श्रद्धांजलि
पुल निर्माण के लिए राणा रणधीर सिंह ने ग्रामीण कार्य विभाग के सचिव को लिखा पत्र।
सनकी दरोगा.......प्रेस कॉन्फ्रेंस रवि किशन अंजना सिंह लाइव
अंतरिम बजट2019 में किसानों के मुद्दे पर मोतिहारी के नेताओं की प्रतिक्रिया,
खुले में हगना बंद करो... स्वच्छ भारत अभियान की ओर एक कदम
कड़े संघर्ष के बाद फिल्म इंडस्ट्री में पहचान बनायी सुरेश कुमार चौधरी ने
पंडित दीनदयाल उपाध्याय जिस विकसित और मानववादी भारत का सपना देखा था वह फलीभूत हो रहा हैः पूर्व मंत्री
शिक्षा वह हथियार है जिससे सब कुछ संभव है: डॉ दीपक कुमार
कॉरपोरेट मामलों के मंत्रालय और सेबी ने नियामक निगरानी को मजबूत बनाने के लिए समझौता
पूर्व IAS ऑफिसर शाह फैसल ने बनाई "जम्मू कश्मीर पीपुल्स मूवमेंट" पार्टी। 2010 के यूपीएससी टॉपर रहे है...
बैठक में गांधी जी की 150 वीं जयंती से शुरू हो रहे कार्यक्रमों के संबंध में आवश्यक दिशा-निर्देश
प्रतिरोध मार्च..... Live with NTC NEWS MEDIA
लाॅकडाउन में भी घर घर दूध और पनीर पहुंचाएगी सीताराम डेयरी
पूर्व केंद्रीय मंत्री राधामोहन सिंह एवं सिने स्टार सांसद रवि किशन ने किया लुईस फिलिपी के एक्‍सक्‍लूस...
इनरव्हील क्लब ऑफ पटना ने जरूरतमंदों के बीच बाटी राशन सामग्री
करोड़पति सुशील कुमार की चम्पा यात्रा

  • 29
    Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *