चर्चित नाटककार राजेश कुमार उत्तर प्रदेश संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार के लिए चयनित

Featured Post slide खोज पटना बिहार भागलपुर राष्ट्रीय साहित्य
  • 29
    Shares

पटना। बिहार के भागलपुर शहर के मूल निवासी चर्चित नाटककार राजेश कुमार को 2014 के लिए उत्तर प्रदेश संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार के लिए चयनित किया गया है। उत्तर प्रदेश सरकार ने श्री कुमार को नाट्य लेखन के लिए यह पुरस्कार देने की घोषणा की है। वर्ष 2009 से 2018 तक के उत्तर प्रदेश संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार, सफदर हाशमी पुरस्कार, बीएमशाह एवं रत्न सदस्यों की घोषणा की गई है।

राजेश कुमार देश के चर्चित नाटककार है। बिहार के आरा और भागलपुर रंगमंच से वर्षो जुड़े रहने के बाद नौकरी के दौरान उत्तर प्रदेश में कई दशकों से रंगमंच से जुड़े है। उन्होंने गाय, अंबेडकर और गांधी, गांधी ने कहा था, लास्ट सैलयूट, श्राद्ध, आखिरी सलाम, अन्तिम युद्ध, घर वापसी कह रैदास खलास चमारा, पगड़ी संभाल जट्टा, तफ्तीश, हिन्दू कोड बिल सहित दर्जनों पूर्णकालिक नाटक लिखे हैं।अस्मिता थियेटर ग्रुप द्वारा अरविन्द गौड़ के निर्देशन में राजेश कुमार के दर्जनों नाटको का शो देशभर में होता रहा है। देश की अन्य नाट्य संस्थाएं भी इनके नाटको का मंचन करती रहती है। चर्चित फिल्म निर्माता महेश भट्ट के प्रोडक्शन में राजेश कुमार के कई नाटकों का मंचन हुआ है ।

कह रैदास खलास चमारा नाटक के लिए उन्हें मोहन राकेश सम्मान भी मिल चुका है। राजेश कुमार के तमाम नाटक सामाजिक एवं राजनीतिक सवालों को उठाते मिलते हैं, जो एक नई सोच पैदा करती है ।

बिहार में जन्मे राजेश कुमार ने नाट्य दुनिया में प्रवेश 1976 में नुक्कड़ नाटक आंदोलन से की थी। आरा की नाट्य संस्था “युवानीति”, भागलपुर की “दिशा “ शाहजहाँपुर की नाट्य संस्था “अभिव्यक्ति” के संस्थापक सदस्य रहे हैं। उत्तर प्रदेश के बिजली विभाग में पेशे से ईन्जीनियर रहे राजेश कुमार इन दिनों लखनऊ के रंगमंच में सक्रीय है।

उनके चर्चित नुक्कड़ नाटकों में जिन्दाबाद- मुर्दाबाद, रंगा सियार, जनतन्त्र के मुर्गे, हमे बोलने दो शामिल है वहीँ प्रकाशित पुस्तकों में मोरचा लगाता नाटक, नाटक से नुक्कड़ नाटक तक, जनतन्त्र के मुर्गे (नुक्कड़ नाटक संग्रह),घर वापसी, तफ्तीश हैं आदि प्रमुख्य है।

नाट्य लेखन के साथ साथ कहानी लेखन भी राजेश कुमार ने बखूबी किया है । धर्मयुग,सारिका जैसी प्रतिष्ठित पत्रिकाओं में दर्जनों कहानी भी छप चुकी है।

अन्य ख़बरें

मतदाता जागरूकता अभियान बाइक रैली के दौरान शिक्षक हुए घायल, रेफरल अस्पताल में हो रहा है इलाज
SNS कॉलेज मोतिहारी के NSS वालंटियर्स ने लगाया फ्री मेडिकल कैंप
मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से की बाढ़ पूर्व तैयारियों की समीक्षा
India Post payment Bank ( IPPB) का पर्यटन मंत्री प्रमोद कुमार ने किया शुभारंभ
श्रीनगर के लाल चौक पर 1990 में तिरंगा फहराने वाले कार्यकर्ताओं को अभाविप ने किया सम्मानित
बिहार में नहीं चलेगी मजनूगिरि: गुप्तेश्वर पांडे, DGP Bihar
पूरे विश्व में शांति के लिए युवा पीढ़ी गांधी के सिद्धांत को समझाए एवं सर्व धर्म सभा करवाएं: पदमश्री ...
शिक्षक दिवस विशेष में सहकारिता मंत्री बिहार राणा रणधीर सिंह
शहनाज हुसैन सिग्नेचर सैलून के तीन साल पूरे होने पर, केक काटकर मनाया गया जश्न
राष्ट्र की मुख्यधारा से विमुख होने की अभिव्यक्ति की आजादी नहीं:: प्रमोद कुमार
मतदाता सत्यापन अभियान (EVP) की जानकारी देते हुए जिला अधिकारी रमण कुमार
पटना आईएमए हाॅल में 'आइसा' एवं 'ऐपवा' का छात्रा संवाद, छात्राओं ने मुखर रूप कही मन की बात।
जनवादी लेखक संघ के तत्वावधान में मुंशी प्रेमचंद्र का 139वा जन्मदिन विचार गोष्ठी करके मनाया गया।
जीविका दीदियों का परिभ्रमण जत्था रवाना, महात्मा गांधी से जुड़े स्थलों का दर्शन कर करेंगी ज्ञानवर्धक
भिक्षुकों के बीच कंबल वितरण करते नजर आए जिलाधिकारी, बढ़ती ठंड में जीना हुआ मुहाल
राम जैसा बेटे का इतिहास पढ़ाकर ही, आज के बेटों को मर्यादित किया जा सकता है।
Happy Deepawali .......by- Nakul Kumar
अब भोजपुरी में बनेगी फ़िल्म "टारगेट"
सी०पी०आई०(एम) के 93 वर्षीय वयोवृद्ध नेता कामरेड कृष्णकान्त सिंह का निधन
हर अपराध की दस्तक होती है, उसे समझकर सम्भल जाना ही उचित : SP उपेंद्र शर्मा

  • 29
    Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *