आशा है यह मंत्रिमंडल पिछली सरकारों के मुकाबले अच्छा काम करेगी: डॉ वेद प्रताप वैदिक

Featured Post slide Uncategorized खोज बिहार राजनीति राष्ट्रीय शिक्षा सम्पादकीय स्पेशल न्यूज़

आशा जगाए यह मंत्रिमंडल: डॉ. वेदप्रताप वैदिक

केंद्रीय मंत्रिमंडल में जिन लोगों को मंत्री बनाया गया है, उन्हें देखकर यह कहा जा सकता है कि मंत्रालयों का बंटवारा काफी ठीक-ठाक हुआ है।
गृह मंत्री अमित शाह को बनाया गया है। इस मंत्रालय को सबसे महत्वपूर्ण माना जाता है, क्योंकि यही मंत्रालय देश में शांति और व्यवस्था की जिम्मेदारी लिये रहता है। इसके अलावा सभी नेताओं और अफसरों की कारस्तानियों पर नजर रखने का काम भी यही करता है। भला इस काम के लिए अमित शाह से बेहतर कौन व्यक्ति हो सकता है ?

जब तक यह मंत्रालय राजनाथ सिंह के पास था, उनकी वरिष्ठता का क्रमांक प्रधानमंत्री के बाद दूसरा था। अब इस दूसरे क्रम पर अमित भाई आ गए हैं। राजनाथ को अभी भी दूसरे नंबर पर कहा जाता रहेगा लेकिन असली न. 2 अब अमित शाह ही होंगे। अमित भाई गृहमंत्री नहीं होते तो भी उनकी हैसियत उप-प्रधानमंत्री की ही होती। एक दृष्टि से यह अच्छी बात है लेकिन इसके साथ-साथ एक बड़ा खतरा भी है। यह असंभव नहीं कि भाजपा की यह सरकार भाई-भाई सरकार बन जाए। सरकार की सारी सत्ता दो लोगों में यदि केंद्रित हो गई तो किसी भी दिन अंदरुनी बगावत भड़क सकती है। मोदी को इस मुद्दे पर सावधान रहना होगा।

राजनाथ सिंह अब रक्षामंत्री के तौर पर रफाल सौदे की रक्षा करने में जुटा दिए जाएंगे लेकिन उनके माथे काफी गंभीर जिम्मेदारी आ गई है। चीन और पाकिस्तान की चुनौतियों और आतंकवाद का सामना करने में किसी नए सामरिक कौशल का परिचय उन्हें देना होगा। वे अनुभवी, जागरुक और दूरदर्शी नेता हैं। वे रक्षा-विशेषज्ञों से सहयोग लेकर भारत को अभेद्य बना सकते हैं।

नितिन गडकरी का मंत्रालय नहीं बदला गया, यह अच्छा ही हुआ। गडकरी ने अपने मंत्रालय में चमत्कारी काम करके दिखाया।

वित्तमंत्री के रुप में निर्मला सीतारमण के कंधों पर गंभीर जिम्मेदारी आ गई है। आशा है कि वे नोटबंदी जैसे नादानी के काम दुबारा नहीं होने देंगी और ऐसा बजट पेश करेंगी, जो भारत की शिक्षा और स्वास्थ्य के मामलों में क्रांतिकारी सुधार लाने में मदद करेगा।

‘मानव संसाधन मंत्रालय’ इतना घृणित नाम है कि मोदी इसे तुरंत बदलकर ‘शिक्षा मंत्रालय’ करें। शिक्षा मंत्रालय की जिम्मेदारी डाॅ. रमेश निशंक को मिली हैं। वे पढ़े-लिखे और शिष्ट व्यक्ति हैं। 70 वर्षों में भारत की शिक्षा-व्यवस्था का कबाड़ा हो चुका है। भारत ने शिक्षितों के नाम पर नकलचियों की फौज खड़ी करने का काम किया है। आशा है, निशंक इस ढर्रे को बदलेंगे।

डाॅ. हर्षवर्धन स्वास्थ्य मंत्रालय में चमत्कार कर सकते हैं। ज.प्र. नड्ढा ने कई उत्तम पहल की थीं लेकिन हर्षवर्धन तो खुद डाॅक्टर हैं। भारत में डाक्टरी सबसे बड़ी लूटपाट का जरिया बन गई है। उस पर रोक लगे और भारत के गरीब से गरीब आदमी का इलाज भी आराम से हो सके, ऐसी व्यवस्था हर्षवर्धन करेंगे, ऐसी आशा है। डाॅ. हर्षवर्धन के समान जमीन से जुड़े नेता राजनीति में कम ही हैं। रेल मंत्री पीयूष गोयल और सूचना व पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर भी बड़े योग्य और परिश्रमी व्यक्ति हैं।

डाॅ. जयशंकर को प्रतिभाशाली छात्र और अत्यंत कर्मठ कूटनीतिज्ञ के तौर पर पिछले 50 साल से जानता रहा हूं। वे निश्चय ही विदेश मंत्रालय को नई दिशा देंगे। अन्य मंत्रालयों की नियुक्तियां भी ठीक-ठाक हैं। आशा है, यह नई सरकार पिछली सरकार के मुकाबले बेहतर काम करके दिखाएगी।

अन्य ख़बरें

जिलाधिकारी रमन कुमार ने धान की फसल काटकर किया धन कटनी समारोह का शुभारंभ
डॉ प्रियंका के हत्यारों को सख्त से सख्त सजा का आवाहन, मोतिहारी एवं सीतामढ़ी में कैंडल मार्च
सिर्फ ₹5 के लिए उस सज्जन पुरुष ने 'पुलिस लाइन', मोतिहारी का नाम बेच दिया.... अब आगे
अपनी नज़रों में गिर गया हूँ मैं.
सामाजिक संगठन द्वारा मोतिहारी के मिस्काॅट मोहल्ले में किया गया सैनिटाइजेशन
फिट इंडिया मूवमैंट के तहत छात्र छात्राओं ने लिया फिट रहने का संकल्प।
चुनाव हारने के बाद कन्हैया कुमार ने भरी हुंकार... चुनाव हारे हैं जंग नहीं। फिर उठेंगे...लड़ेंगे...जी...
दृष्टि
महिला दिवस के अवसर पर स्वयंसेवी संस्था ने महिला सदस्यों को किया सम्मानित
जिला जदयू का महा सदस्यता अभियान जोरो पर, सैकड़ों लोगों ने ली जदयू की सदस्यता
जीविका दीदीयों ने पुराने वृक्षों को बांधा राखी, उनकी रक्षा का लिया संकल्प
विधानसभा निर्वाचन 2020 की तैयारियों के मद्देनजर ईवीएम (EVM) संग्रह केंद्र का जिलाधिकारी ने किया निरी...
हॉस्पिटल में तैयारी पूरी, पर्याप्त मात्रा में है दवाइयां एवं ऑक्सीजन: जिलाधिकारी
सेवा सप्ताह के अंतर्गत पूर्व केंद्रीय मंत्री ने किया स्वास्थ्य शिविर का उद्घाटन
15 से 18 वर्ष के किशोर एवं किशोरियों को कोविड-19 टीकाकरण हेतु कार्यशाला का हुआ आयोजन
नवयुवक सेवा समिति की बैठक हुई संपन्न
झूठा आश्वासन देकर नीतीश कुमार सत्ता में बने हुए हैं: डॉ दीपक कुमार (रालोसपा)
गणेश उत्सव....
रमगढ़वा पंचायत के वार्ड नंबर 1 में लगी भीषण आग, मौके पर पहुंच मुखिया ने की मानवीय सहायता
जिंदगी और मौत से जूझ रहा था खलील अंसारी, अधिवक्ता आलोक चंद्र ने अपना खून देकर पेश की मानवता की मिसाल

Leave a Reply