आशा है यह मंत्रिमंडल पिछली सरकारों के मुकाबले अच्छा काम करेगी: डॉ वेद प्रताप वैदिक

Featured Post slide Uncategorized खोज बिहार राजनीति राष्ट्रीय शिक्षा सम्पादकीय स्पेशल न्यूज़

आशा जगाए यह मंत्रिमंडल: डॉ. वेदप्रताप वैदिक

केंद्रीय मंत्रिमंडल में जिन लोगों को मंत्री बनाया गया है, उन्हें देखकर यह कहा जा सकता है कि मंत्रालयों का बंटवारा काफी ठीक-ठाक हुआ है।
गृह मंत्री अमित शाह को बनाया गया है। इस मंत्रालय को सबसे महत्वपूर्ण माना जाता है, क्योंकि यही मंत्रालय देश में शांति और व्यवस्था की जिम्मेदारी लिये रहता है। इसके अलावा सभी नेताओं और अफसरों की कारस्तानियों पर नजर रखने का काम भी यही करता है। भला इस काम के लिए अमित शाह से बेहतर कौन व्यक्ति हो सकता है ?

जब तक यह मंत्रालय राजनाथ सिंह के पास था, उनकी वरिष्ठता का क्रमांक प्रधानमंत्री के बाद दूसरा था। अब इस दूसरे क्रम पर अमित भाई आ गए हैं। राजनाथ को अभी भी दूसरे नंबर पर कहा जाता रहेगा लेकिन असली न. 2 अब अमित शाह ही होंगे। अमित भाई गृहमंत्री नहीं होते तो भी उनकी हैसियत उप-प्रधानमंत्री की ही होती। एक दृष्टि से यह अच्छी बात है लेकिन इसके साथ-साथ एक बड़ा खतरा भी है। यह असंभव नहीं कि भाजपा की यह सरकार भाई-भाई सरकार बन जाए। सरकार की सारी सत्ता दो लोगों में यदि केंद्रित हो गई तो किसी भी दिन अंदरुनी बगावत भड़क सकती है। मोदी को इस मुद्दे पर सावधान रहना होगा।

राजनाथ सिंह अब रक्षामंत्री के तौर पर रफाल सौदे की रक्षा करने में जुटा दिए जाएंगे लेकिन उनके माथे काफी गंभीर जिम्मेदारी आ गई है। चीन और पाकिस्तान की चुनौतियों और आतंकवाद का सामना करने में किसी नए सामरिक कौशल का परिचय उन्हें देना होगा। वे अनुभवी, जागरुक और दूरदर्शी नेता हैं। वे रक्षा-विशेषज्ञों से सहयोग लेकर भारत को अभेद्य बना सकते हैं।

नितिन गडकरी का मंत्रालय नहीं बदला गया, यह अच्छा ही हुआ। गडकरी ने अपने मंत्रालय में चमत्कारी काम करके दिखाया।

वित्तमंत्री के रुप में निर्मला सीतारमण के कंधों पर गंभीर जिम्मेदारी आ गई है। आशा है कि वे नोटबंदी जैसे नादानी के काम दुबारा नहीं होने देंगी और ऐसा बजट पेश करेंगी, जो भारत की शिक्षा और स्वास्थ्य के मामलों में क्रांतिकारी सुधार लाने में मदद करेगा।

‘मानव संसाधन मंत्रालय’ इतना घृणित नाम है कि मोदी इसे तुरंत बदलकर ‘शिक्षा मंत्रालय’ करें। शिक्षा मंत्रालय की जिम्मेदारी डाॅ. रमेश निशंक को मिली हैं। वे पढ़े-लिखे और शिष्ट व्यक्ति हैं। 70 वर्षों में भारत की शिक्षा-व्यवस्था का कबाड़ा हो चुका है। भारत ने शिक्षितों के नाम पर नकलचियों की फौज खड़ी करने का काम किया है। आशा है, निशंक इस ढर्रे को बदलेंगे।

डाॅ. हर्षवर्धन स्वास्थ्य मंत्रालय में चमत्कार कर सकते हैं। ज.प्र. नड्ढा ने कई उत्तम पहल की थीं लेकिन हर्षवर्धन तो खुद डाॅक्टर हैं। भारत में डाक्टरी सबसे बड़ी लूटपाट का जरिया बन गई है। उस पर रोक लगे और भारत के गरीब से गरीब आदमी का इलाज भी आराम से हो सके, ऐसी व्यवस्था हर्षवर्धन करेंगे, ऐसी आशा है। डाॅ. हर्षवर्धन के समान जमीन से जुड़े नेता राजनीति में कम ही हैं। रेल मंत्री पीयूष गोयल और सूचना व पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर भी बड़े योग्य और परिश्रमी व्यक्ति हैं।

डाॅ. जयशंकर को प्रतिभाशाली छात्र और अत्यंत कर्मठ कूटनीतिज्ञ के तौर पर पिछले 50 साल से जानता रहा हूं। वे निश्चय ही विदेश मंत्रालय को नई दिशा देंगे। अन्य मंत्रालयों की नियुक्तियां भी ठीक-ठाक हैं। आशा है, यह नई सरकार पिछली सरकार के मुकाबले बेहतर काम करके दिखाएगी।

अन्य ख़बरें

अपनी कविता की प्रस्तुति देती हुई कवयित्री मधुबाला सिन्हा
शिक्षकों की चुनावी पाठशाला का हुआ आयोजन, स्कूलों के चेतना सत्र में कैसे चुनावी पाठशाला का आयोजन हो, ...
तीसरी आंख : नगर थाना में सीसीटीवी कैमरा मॉनिटरिंग केन्द्र का शुभारंभ
थाना क्षेत्र में शराब पकड़ी गई तो सिर्फ थानेदार ही दोषी क्यों...डीएसपी, एसपी क्यों नहीं....?
लोगों के दिमाग को ODF करने की आवश्यकता, तभी हंड्रेड परसेंट ODF हो पाएगा
Thank You कुलपति जी। व्यवसायिक पाठ्यक्रमों की परीक्षा केंद्र, गृह जिला में मिलने से छात्रों में उत्स...
मुख्यमंत्री से नहीं संभल रहा बिहार कृपया आप सावधानीपूर्वक घर से बाहर निकलिए: तेजस्वी यादव
डेटॉल द्वारा आयोजित कार्यक्रम "हैंड वॉश" कल, केंद्रीय कृषि मंत्री होंगे शामिल
आज प्रधानमंत्री “आजादी का अमृत महोत्सव” से जुड़े कार्यक्रमों का करेंगे उद्घाटन
नवयुवक सेवा समिति द्वारा मनाया गया गांधीजी का 150 वां जन्मदिन
बिहार सरकार के पर्यटन मंत्री प्रमोद कुमार ने किया स्वास्थ्य शिविर का उद्घाटन
एनएसआई बैनर तले बनी शार्ट फिल्म छठ की महिमा रिलीज
मुजफ़्फ़रपुर में बेख़ौफ़ बदमाशो ने सरेआम पुलिस को  मारी गोली, लूटा कार्बाइन।
मकर सक्रांति, उत्तरायण पर्व एवं ऋषि प्रसाद जयंती समारोह धूमधाम से संपन्न
मोतिहारी बड़ी मस्जिद के इमाम जनाब मोहम्मद जलालुद्दीन कासमी साहब
कविता
दिसंबर तक बिहार नवयुवक सेना(BNS) के 30 हजार सदस्य बनाने का लक्ष्य : अनिकेत पाण्डेय
महात्मा गांधी के पुण्यतिथि पर कृतज्ञ चम्पारण ने दी श्रद्धांजलि... श्रद्धांजलि सभा में माधव आनंद सहि...
कृषि मंत्री ने किया नि:शुल्क स्वास्थ्य शिविर का उद्घाटन
मुख्य सचिव बिहार ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से की समीक्षा बैठक

Leave a Reply