NSS ( राष्ट्रीय सेवा योजना )….???

फोटो गैलरी बिहार मोतिहारी मोतिहारी स्पेशल राष्ट्रीय शिक्षा स्वच्छता ही सेवा

NTC NEWS MEDIA / Motihari

 प्रोफेसर दुर्गेशमणि तिवारी/LND College Motihari

        एनएसएस यानी राष्‍ट्रीय सेवा योजना राष्‍ट्र की युवाशक्‍ित के व्‍यक्‍तित्‍व विकास हेतु युवा कार्यक्रम एवं खेल मंत्रालय भारत सरकार द्वारा संचालित एक सक्रिय कार्यक्रम है। इसके गतिविधियों में भाग लेने वाले विद्यार्थी, समाज के लोगों के साथ मिलकर समाज के हित के कार्य करते है । जिनमे साक्षरता संबंधी कार्य, पर्यावरण सुरक्षा, स्‍वास्‍थ्‍य, सफाई एवं आपातकालीन या प्राकृतिक आपदा के समय पीड़ीत लोगों की सहायता आदि मे सामिल हे।

         राष्ट्रीय सेवा योजना एक ऐसा माध्यम है जिससे विद्यालय,महाविद्यालय एवं विश्वविद्यालय में पाठ्यरत छात्र-छात्राओं को सामुदायिक कार्य के माध्यम से राष्ट्र निर्माण में अपना योगदान देने का सुनहरा मौका मिलता है।भारत में छात्र-छात्राओं को पढ़ाई के साथ साथ राष्ट्र सेवा के कार्यों में दक्ष कराना राष्ट्रपिता महात्मा गांधी का विचार था। उनका मानना था आर्थिक एवं सामाजिक विकलांगता के ऊपर शोध करने से बेहतर छात्रों को कुछ सकारात्मक कार्य करें जिससे ग्रामीणों के सामाजिक विकास एवं उनके जीवन शैली में बदलाव आए।

जिसके बदौलत उनको भी राष्ट्र निर्माण में योगदान करने का अवसर मिले। उनके इस दार्शनिक विचार को डॉक्टर एस राधाकृष्णन ने समझा एवं शैक्षणिक संस्थान में एनएसएस को संलग्न करने की सिफारिश किया। उनका मानना था इससे छात्र-शिक्षक,कैंपस-कम्युनिटी के बीच एक मजबूत संपर्क बनेगा जिससे राष्ट्र निर्माण की गति तीव्र होगी। एनएसएस का मुख्य उद्देश्य भी यही है। स्वयंसेवक अपने कार्यक्रम पदाधिकारी के साथ मिलकर एनएसएस के अंतर्गत दैनिक एवं विशेष शिविर के माध्यम से गोद ली गई गांव तथा समाज में स्वैच्छिक कार्यों के माध्यम से राष्ट्र निर्माण में अपनी भूमिका निभाते है जिससे उनके अंदर नेतृत्व करने की क्षमता एवं सामूहिक कार्य करने का विकास होता है जो राष्ट्र निर्माण के लिए महत्वपूर्ण है। राष्ट्रीय सेवा योजना का मुख्य लक्ष्य है “NOT ME BUT YOU”। इसका आशय है स्वयं के लिए नहीं वरन समाज के लिए प्रयत्नशील रहना।

एनएसएस का महत्वपूर्ण अंश है विशेष शिविर। जिसके माध्यम से अपने गोद लिए गए गांव को विकसित करने के लिए 7 से 10 दिन का शिविर का आयोजन हम करते हैं और अपना योगदान ग्रामीणों के विकास के लिए देते हैं। इस वर्ष विशेष शिविर के माध्यम से हमने मौतिहारी के रघुनाथपुर स्थित गंडक कॉलोनी को गोद लिया एवं स्वच्छता ही सेवा-2018 के अंतर्गत विभिन्न कार्यक्रमों के माध्यम से गांव को स्वच्छ बनाना, ग्रामीणों को स्वस्थ्य एवं शिक्षित बनाने के दिसा मे कार्य किया एवं जागरूकता अभियान चलाएं।

इस अभियान में ग्रामीणों का सहयोग सराहनीय रहा। 17 से 23 सितंबर 2018 तक चलने वाले सात दिवसीय विशेष शिविर में हमने स्वास्थ्य शिविर का आयोजन किया। उक्त स्वास्थ्य शिविर में ग्रामीणों का निःशुल्क दंत जांच किया गया उदया देनतल केयर के Dr. Prashant Katyan द्वारा एवं स्वास्थ्य जांच किया गया सदर हॉस्पिटल के पेरामेडिकल टीम द्वारा। साथ ही स्वयंसेवकों द्वारा सदर हॉस्पिटल से प्राप्त किए गए दवाओं को मुफ्त में वितरित किया गया। इसके अलावा आयुष्मान भारत के तहत मिलने वाले स्वास्थ्य बीमा के लाभों की जानकारी दी गई एवं आयुष्मान भारत के लांचिंग का लाइव टेलीकास्ट दिखाया गया। बच्चों को प्रतियोगिता के माध्यम से स्वस्थ रहने के तरीके सिखाया गया एवं साथ ही नुक्कड़ नाटक के माध्यम से बच्चों में विद्यालय जाने से लेकर छुपी हुई प्रतिभाओं को सामने लाने के कौसिस किये एवं बच्चों को प्रेरित किया गया क्योंकि आज के बच्चे राष्ट्र निर्माण के धरोहर है। इसके साथ ही ग्रामीणों को आसपास को स्वच्छ रखने, कुपोषण से बचने तथा पेयजल को शुद्ध करने का तरीका बताया गया। बच्चों को उत्साहित तथा प्रेरित करने के लिए उनके बीच हैंड वॉश, टूथब्रश, टूथपेस्ट, पेंटिंग सामग्री एवं फल आदि का वितरण किया गया। साथ ही हमने मोतिहारी स्टेशन को स्वच्छ करने के लिए स्वच्छता अभियान चलाया। विशेष शिविर के अलावा स्वच्छता ही सेवा के अंतर्गत अन्य कार्यों में मोतीझील किनारे सफाई अभियान एवं टाउन हॉल में आयोजित काव्यांजलि में एनएसएस स्वयंसेवकों ने अपनी भागीदारी दि। उक्त सफाई अभियान में माननीय पर्यटक मंत्री श्री प्रमोद कुमार ने अपना योगदान देते हुए हमारे स्वयंसेवकों को प्रोत्साहित किया। केंद्रीय कृषि एवं किसान मंत्री माननीय श्री राधा मोहन सिंह ने अपने वक्तव्य काव्यांजलि से कार्यनजली के माध्यम से हमें स्वच्छता एवं श्रमदान के लिए प्रेरित किया।
एनएसएस की स्थापना 24 सितंबर 1969 की गई थी। उसके बाद से 24 सितंबर को हर साल एनएसएस डे के से रूप में सेलिब्रेट किया जाता है जिसमें बहुत सारे कार्यक्रम एवं सांसकृतिक प्रोग्राम भी शामिल है। एनएसएस के स्थापना दिवस के शुभ अवसर हमने स्वच्छता ही सेवा-2018 का अवलोकन किये। इसके तहत हम स्वच्छता संबंधित जागरूकता रैली निकाले। उक्त रैली में एनएसएस वॉलिंटियर्स एवं राजकीय मध्य विद्यालय बेलवनवा, मोतिहारी के स्कूली छात्र-छात्राओं एवं शिक्षिका शामिल थे। रैली मे जागरूकता संबंधी नारे के माध्यम से स्वच्छता, स्वास्थ्य एवं शिक्षा के प्रति जागरूक किये। रैली के दौरान एनएसएस वॉलिंटियर्स घर-घर जाकर स्वच्छता के प्रति लोगों को जागरूक किया। साथ ही में स्कूली बच्चों को स्वच्छता, स्वास्थ्य एवं शिक्षा से संबंधित अलग-अलग बिंदुओं पर प्रकाश डालें। बच्चों के साथ हमने एनएसएस एवं स्वच्छता ही सेवा के धून गाये। हम नरसिंह बाबा के मंदिर परिसर में सफाई अभियान चलाये एवं हनुमान मंदिर के सामने दीवार पर स्वच्छता के विभिन्न सगन्स को लिखकर लोगों में  जन जागरूकता फैलाया गया।

Advertisements

अन्य ख़बरें

67वीं BPSC प्रारंभिक परीक्षा (Re-Exam) का Admitcard जारी
सारा खान और नेहा मार्दा ने रैंप पर बिखेरा जलवा
मुफ्त चिकित्सा शिविर का हुआ आयोजन
पाटलिपुत्र स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स में बनेगा 100 बेड का अस्‍थाई अस्‍पताल, कला, संस्‍कृति विभाग ने दी स...
हिंदुस्तान की संस्कृति में महिलाएं अबला नहीं सबला रही हैं : राधामोहन सिंह
15 से 18 वर्ष के किशोर एवं किशोरियों को कोविड-19 टीकाकरण हेतु कार्यशाला का हुआ आयोजन
बिहार नवयुवक सेना की केसरिया प्रखंड कमेटी गठित, 20 हजार नए साथियों को जोड़ने का लक्ष्य
जरूरतमंदो की मदद के लिये आगे आयी ग्रामीण स्नेह फाउंडेशन
सरकारी कल्याणकारी योजनाओं के समेकित जांच के उद्देश्य से निरीक्षण महाअभियान का आयोजन
अग्रोहा धाम में अग्रसेन समाज की कुलदेवी माँ लक्ष्मी का भव्य मंदिर निर्माण शुरू
तिरहुत प्रमंडल आयुक्त ने की समीक्षा बैठक, दिए आवश्यक दिशा निर्देश
विधायक फैसल रहमान ने कुष्ठ रोगियों के बीच किया राशन का वितरण, ढाका रेफरल अस्पताल का किया निरीक्षण
एसडीओ ने जूस पिलाकर तुड़वाया अनशन, विधि सम्मत कार्रवाई का दिलाया भरोसा
राष्ट्रीय पोषण माह के अन्तर्गत बच्चो का लंबाई और वजन मापा गया
शिक्षक संघ द्वारा प्रतिरोध व्‍याख्‍यानों का दूसरा चरण 
ननकाना साहब पर हमले के विरोध में इमरान खान का पुतला दहन
MGCU में सामाजिक-आर्थिक व्‍यवस्‍था और नौकरशाही का भारतीय अनुभव’ विषय पर एक दिवसीय राष्‍ट्रीय संगोष्‍...
कोविड-19 संक्रमण से मृत व्यक्ति के परिजन के बीच 4-4 लाख रूपये अनुदान राशि का वितरण
ए बी पी एल ए की नई पूर्वी चंपारण इकाई गठित, प्रशासनिक पदों का सृजन
दिशा की समीक्षात्मक बैठक में कई अहम मुद्दे पर भी चर्चा

Leave a Reply