“जीवन की ज्वाला”

” जीवन की ज्वाला” **************** “धुआँती शाम में सड़क के किनारे उगे हुए कुकुरमुत्ते की तरह उगी झोपड़ियां और उन झोपड़ियों में गरमाती राजनीति मुस्कुराता हसीन ख्वाब और लहराता यथार्थ सब कुछ कह जाता है नहीं कहता तो बस दो वक्त की रोटी और पूरे तन के ढंके कपड़े सुगन्धित तेल और साबुन और सँग […]

आगे पढ़े

मोदी महोत्सव स्थगित शहीदों को दी गई श्रद्धांजलि

शहादत को सलाम करते हुए स्थगित की गई मोदी महोत्सव: सुमीत श्रीवास्तव पटना। भारतीय जनता युवा मोर्चा के पूर्व प्रदेश कार्यसमिति सदस्य सुमीत श्रीवास्तव के नेतृत्व आज शिवाक्ष यूथ क्लब की तत्काल बैठक हुई। जिसमें देश की वर्तमान स्तिथि को देखते हुए क्लब द्वारा आज 17 जून से 19 जून 2020 तक आयोजित होने वाले […]

आगे पढ़े
Featured Video Play Icon

ऐ दोस्त अलविदा अब, ये सलाम याद रखना…

“जीवन की पलकों पर ठहरा हुआ “आँसू” ढलक गया: गुलरेज शहजाद” भोजपुरी और हिंदी के मूर्धन्य कवि और उपन्यासकार अश्विनी कुमार आँसू का रविवार को 76 वर्ष की उम्र में देहावसान हो गया। आपका जन्म सुगौली अंतर्गत ग्राम/पो० सुगाँव में 01 जनवरी 1944 को हुआ।हिंदी भाषा-साहित्य से स्नातकोत्तर की डिग्री हासिल की।इसके अतिरिक्त संगीत,समाज शिक्षा, […]

आगे पढ़े

“सा रे गा मा” फेम गायिका आंशिका सिंह ने दी शानदार प्रस्तुति

मोतिहारी। लॉक डॉउन के दौरान विभिन्न सामाजिक संस्थाओं द्वारा घर बैठे छात्र, कलाकारों को ऑनलाइन मंच प्रदान करके उन्हें अपनी प्रतिभा दिखाने के मौके अपने फेसबुक पेज के माध्यम से प्रदान किए गए हैं। इसी संदर्भ में मोतिहारी के उत्संग फॉउंडेशन द्वारा अपने पेज के माध्यम से लोंगो के एक अनूठी मुहिम चला रही है […]

आगे पढ़े

कोरोना संक्रमण से बचाव के प्रति पेंटिंग प्रतियोगिता में भाग लेने वाले 9 विजेताओं को कला संस्कृति मंत्री ने किया सम्मानित

मोतिहारी। शनिवार को बिहार के कला संस्कृति एवं युवा विभाग मंत्री अपने विधानसभा क्षेत्र मोतिहारी में जिला प्रशासन द्वारा ऑनलाइन पेंटिंग प्रतियोगिता में शामिल प्रतिभागियों को सम्मानित कर रहे थे इस दौरान उन्होंने जिला पदाधिकारी के कार्यों की सराहना भी की। कला संस्कृति एवं युवा विभाग मंत्री ने जिला प्रशासन द्वारा ऑनलाइन कलाकृति के माध्यम […]

आगे पढ़े

“यादें”….. कवयित्री मधुबाला सिन्हा

“जिंदगी के पटल पर बस यादें हीं यादें हैं कभी सुख की तिजोरी खुली तो कभी दुःख की गगरी छलकी कभी बचपन की राहें गुजरीं कभी किशोरवय की बातें ठहरीं कभी बैठ दुछत्ती पर यादें है गहरायी कभी हिरनियों सी मद में खुद में हीं इठलायीं कभी बागों का झूला बनकर आसमा में लहराईं तो […]

आगे पढ़े

तन ‘ की भूख उमग पड़ी जब बूढ़ों को भी लूटते देखा…

“भूख” ***** एक भूख उसने है देखा एक भूख मैंने भी देखा पेट की ज्वाला सुलग पड़ी जब सूखा – यौवन बिकते देखा ‘तन ‘ की भूख उमग पड़ी जब बूढ़ों को भी लूटते देखा सुख की सीढ़ी चढ़ी चेतना शब्द-अर्थ को गिरते देखा एक भूख के दंश से मैंने हर एक को लड़ते देखा […]

आगे पढ़े

कार्यशाला में पांचवें दिन आंकड़ा विश्लेषण एवं प्राचीन शोध पद्धति पर चर्चा

मोतिहारी। अध्ययन एक प्रकार की समाधि प्रक्रिया है।कोई भी शोध अन्तिम सत्य को प्रतिपादित नही करता है। इस लिये सत्य एक सतत प्रक्रिया है। शोध मे हम तत्काल परिस्थितियों के आधार पर तार्किक सत्य को सिद्धांत के रुप में प्रतिपादित करते है। उक्त उद्गार बाबासाहब भीमराव अंबेडकर विश्वविद्यालय, लखनऊ के शिक्षाशास्त्र संकाय के अधिष्ठाता प्रो. […]

आगे पढ़े

आलोचक-कवि डा० खगेन्द्र ठाकुर की स्मृति सभा में शिक्षाविदों ने रखे अपने विचार

बिहार। जनवादी लेखक संघ एवं हिन्दी विभाग जी०डी०कालेज के संयुक्त तत्वावधान में कालेज के शिक्षक प्रकोष्ठ में हिन्दी के वरिष्ठ आलोचक-कवि डा० खगेन्द्र ठाकुर की स्मृति सभा की गयी। इसकी अध्यक्षता हिन्दी विभागाध्यक्ष और जलेस के जिलाध्यक्ष डा० राजेन्द्र साह ने की जबकि डा० निरंजन कुमार ने संचालन किया। डा०राजेन्द्र साह ने अपने अध्यक्षीय वक्तव्य […]

आगे पढ़े

अटल जी राजनीतिक मर्यादा के आधार है और यही मर्यादा उनके जीवन का संस्कार है

मोतिहारी। साहित्य अकादमी नई दिल्ली व महात्मा गांधी केंद्रीय विश्वविद्यालय मोतिहारी,बिहार के तत्त्वावधान में आयोजित राष्ट्रीय परिसंवाद का आयोजन केंद्रीय विश्वविद्यालय मे चाणक्य परिसर के राजकुमार शुक्ल सभागार में किया गया। पत्रकारिता और साहित्य: अटल बिहारी वाजपेयी का विशेष संदर्भ विषयक परिसंवाद का उद्घाटन विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो.संजीव कुमार शर्मा, भूपेन्द्र नारायण मंडल विश्वविद्यालय मधेपुरा […]

आगे पढ़े