LND College Motihari में मना विश्व एड्स दिवस। छात्रों को मिला जागरूकता ही बचाव का महामंत्र

बिहार मोतिहारी स्पेशल शिक्षा
  • 18
    Shares

NTC NEWS MEDIA

लक्ष्मी नारायण दुबे महाविद्यालय परिसर में राष्ट्रीय सेवा योजना के द्वारा विश्व एड्स दिवस पर एड्स जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया गया।  एड्स दिवस के अवसर पर आयोजित उक्त कार्यक्रम में छात्रों को संबोधित करते हुए प्राचार्य डॉक्टर अरुण कुमार ने बताया कि एड्स दिवस 1 दिसंबर को मनाया जाता है। एड्स दिवस का मुख्य लक्ष्य है लोगों में एड्स के प्रति जागरूकता फैलाना है । क्योंकि यह बीमारी दुनिया का सबसे घातक बीमारियों में से एक है । जिसका अभी मुकम्मल इलाज नहीं है । एचआईवी एक वायरस का नाम है ।जिसके कारण दुनिया का सबसे घातक बीमारी एड्स होता है । एचआईवी कोई हिंदी नाम नहीं है । एचआईवी वायरस एक मनुष्य में दूसरे मनुष्य तक रक्त एवं सीमेन के द्वारा संक्रमण करता है । इस बीमारी का जानकारी ही बचाव है।

वहीं एन.एस .एस.के कार्यक्रम पदाधिकारी प्रोफ़ेसर दुर्गेशमणि तिवारी ने बताया कि पूरे विश्व मे WHO के अनुसार 2017 के अंत में 36.9 मिलीयन लोग विश्वस्तर पर HIV के साथ रह रहे हैं जिनमें से 21.7 मिलीयन 59% लोगो को विश्वस्तर पर HIVएन्टी रेट्रो वायरल थेरेपी प्राप्त हुआ है जो कि एक बड़ी सफलता का वर्णन करती है। भारत में प्रत्येक वर्ष 1 मिलियन (दस लाख) से ज्यादा एड्स रोगी की पहचान हो रही है। जिसका आज तक संपूर्ण इलाज विकसित नहीं हुआ है।एड्स के शुरुआती लक्षण में फ़्लू जैसी लक्षण होती है बुख़ारी गले में खराश, रात में पसीना आना, थकान व वजन घटना आदि शामिल होता है । इस बीमारी के कोई ऐसे लक्षण नहीं है। जिससे आप कह सकते हैं कि वह एड्स का मरीज़ है । टेस्ट के द्वारा ही प्रमाणित हो सकता है कि वह एड्स का मरीज़ है।

HIV एक विषाणु है जिससे एड्स होता है यह खून एवं सीमेन के द्वारा एक आदमी से दूसरे आदमी में पहुंचता है । इतना ही नहीं अशुद्ध सुई यानि की सिरिंज के प्रयोग से भी यह वायरस एक आदमी से दूसरे आदमी तक पहुंच सकता है । एक्सीडेंटल केस में भी खून की आवश्यकता होती है अगर किसी व्यक्ति को अशुद्ध खून चढ़ाया जाए तो उसे भी एड्स हो सकता है ।
गर्भावस्था में पल रहा शिशु को भी एड्स हो सकता है अगर उनके माता को एड्स है । एड्स मरीज द्वारा इस्तेमाल किया गया अस्तरा या शेविंग ब्लेड के द्वारा भी संक्रमित हो सकता है।  इस कार्यक्रम में अभिसारिका,जूही,अंशिका, अपूर्वा, रविकांत पाण्डेय, अवनीश , गुलशन उत्कर्ष आदि स्वयंसेवक शामल हुए।।

Advertisements

अन्य ख़बरें

एलएनडी कॉलेज में चल रहे 10 दिवसीय एनसीसी प्रशिक्षण शिविर का समापन
चंबल बॉय रवि यादव ने किया यूपी के रामपुर महोत्‍सव का भव्‍य शुभारंभ, कहा – यह है मेरे जीवन का यादगार ...
आज से बदल जाएंगे मोतिहारी के सड़कों के नाम...
CPIM ने जुलूस निकालकर जताया विरोध
द ड्रीमर की ओर से आयोजित दस दिवसीय एक्टिंग एंड पर्सनालिटी वर्कशॉप संपन्न
मुखिया पति हत्या मामले में पीड़ित परिवार से मिले रणविजय साहू, प्रशासन से की परिवार को सुरक्षा देने क...
AAP का अस्पताल बचाओ जनसंवाद रथ यात्रा पहुँचा मोतिहारी
अधिकार रैली में जुटेंगे जिले भर के छात्र, 4 जनवरी को राजेंद्र नगर भवन के मैदान में है रैली
CAA एवं NRC के समर्थन में ABVP का जुलूस
सडक दुर्घटना में अधिवक्ता अशोक शर्मा की मौत,मोतीपुर के बर्जी के समीप ट्रक से आल्टो टकराई
देवापुर घाट पर डाक बम कांवरियों का उमड़ा जनसैलाब
Underprivilege children felt above during children's Day celebration at Be for Nation trust
भारत लीडरशिप फेस्टिवल में सम्मानित होंगे चंपारण के आदित्य
सामाजिक कार्यकर्ताओं ने गरीबों के बीच कंबल का किया वितरण
शिवहर में ट्रेन चलवाऐंगी रामादेवी... रेल मंत्री पीयूष गोयल से मिलकर हुई रेल लाइन बिछाने की संभावनाओं...
भोजपुरी कविता : प्रसाद रत्नेश्वर
करोड़पति सुशील कुमार की चम्पा यात्रा
अटल जी की श्रद्धांजलि सभा को संबोधित करते हुए केंद्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह
नहीं रहे मुजफ्फरपुर के प्रखर समाजसेवी सुखदेव प्रसाद, पटना में ईलाज के दौरान ली अंतिम सांस।
कार्तिक पूर्णिमा आज, विभिन्न नदियों में श्रद्धालुओं ने लगाई आस्था की डुबकी

  • 18
    Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *