बिहार में नहीं चलेगी मजनूगिरि: गुप्तेश्वर पांडे, DGP Bihar

क्राइम बिहार स्पेशल न्यूज़

DGP ने बात कह दी है साफ-साफ, बिहार में नहीं चलेगी मजनूगिरी
बिहार के 38 जिलों में साइबर सेल के कुल 74 यूनिट बनाए गए हैं। इसमें पटना में 4 यूनिट और बड़े जिले में 3 यूनिट काम कर रही है।

बिहार में मजनूगिरी नहीं चलेगी. अगर लड़कियों और महिलाओं पर गंदी नजर डाला तो पुलिस बख्शने वाली नहीं है. लड़कियों के साथ छेड़खानी और बदसलूकी करने वालों के खिलाफ पुलिस कड़ी कार्रवाई करेगी। ये बातें बिहार पुलिस के मुखिया गुप्तेश्वर पांडेय ने पटना के ज्ञान भवन में संवाद कार्यक्रम के दौरान कही।

पटना के ज्ञान भवन में संवाद कार्यक्रम का आयोजन किया गया। पहला सेशन कॉलेज में पढ़ने वाली छात्राओं के साथ था। इस सेशन में महिलाएं भी काफी संख्या में थी। डीजीपी ने स्पष्ट कर दिया कि लड़कियों और महिलाओं की सुरक्षा के साथ वो कोई समझौता नहीं करेंगे।

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि स्कूल-कॉलेज में पढ़ने वाली छात्राओं की सुरक्षा और उनकी परेशानियों को खत्म करने के लिए जल्द ही एक नई व्यवस्था की शुरूआत की जाएगी।।

नई व्यवस्था की जिम्मेवारी महिला थाना की थानेदार के हवाले होगा। डीजी बॉक्स लेकर महिला थाना की थानेदार खुद स्कूल-कॉलेज में जाएंगी।वहां पढ़ने वाली छात्राओं से बात करेंगी। जिसमें छात्राएं अपनी समस्या को लिख कर डाल देंगी। अगर उन पर कोई अश्लील कमेंट्स करता है या फिर उनके साथ छेड़खानी की घटना करता है तो एस लफंगे का नाम और पता लिखकर बॉक्स में डाल देंगी। फिर उनका लिखा हुआ लेटर सीधे डीजीपी के पास आएगा। उसके बाद छात्राओं को तंग करने वाले लफंगों से पुलिस की टीम निपटेगी।

ज्ञान भवन में मौजूद छात्राओं को डीजीपी ने आश्वस्त कराया कि उनकी सुरक्षा के लिए पुलिस की टीम हमेशा मुस्तैद है। वहीं, दूसरे सेशन में डीजीपी कॉलेज के छात्रों और युवा वर्ग से मुखातिब हुए।

बढ़ते अपराध पर युवा वर्ग की सोंच क्या है? उनकी पुलिस के साथ किस तरह की उम्मीदें हैं? संवाद कार्यक्रम के जरिए डीजीपी छात्रों और युवाओं की राय जानना चाहा। सीधे संवाद के जरिए कई बातें सामने निकल कर आई भी। पहले की तरह आज भी डीजीपी ने अपराधियों को कड़ा संदेश दिया कि अगर अपराधी गोली चलाएंगे तो पुलिस भी उसका जवाब देने से नहीं चुकेगी।

इस मौके पर स्पेशल ब्रांच के एडीजी जितेंद्र सिंह गंगवार ने बताया कि साइबर क्राइम को रोकने के लिए किस तरह के कारगर कदम उठाए गए हैं।एडीजी के अनुसार हर जिले में साइबर सेल बना दी गई है। कुल 74 यूनिट बनाए गए हैं। इसमें पटना में 4 यूनिट और बड़े जिले में 3 यूनिट काम कर रही है।

छात्राओं से एडीजी ने अपील की कि आपके पास सोशल साइट्स के जरिए कई प्रकार के लुभावने मैसेज आएंगे। लेकिन उन मैसेज पर आप आंख बंद कर विश्वास न करें। सोशल साइट्स का उपयोग पढ़ाई और नॉलेज के साथ ही खुद को सुरक्षित रखने के लिए करें।

Advertisements

अन्य ख़बरें

पकडी़दयाल में फ्री मेडिकल कैंप में सैकड़ों की जाँच कर दी गई निःशुल्क दवाइयां
NSS LND College Motihari.... 2.0 स्वच्छता के 50 घंटे कार्यक्रम के आज सातवें दिन
'विश्व माहवारी स्वछता दिवस' के उद्देश्यों को सार्थक कर रहा है 'सेनेटरी पैड बैंक'
ABVP प्रखंड इकाई हरसिद्धि: दो हजार छात्र-छत्राओं को सदस्यता दिलाकर किया गया अभियान का समापन
कोरोना का टीका नहीं लेने वाले लोगों को नहीं मिलेगा राशन और...
बिहार पुलिस के जवान ने शादी कार्ड पर छपवाया कोविड-19 से संबंधित संदेश
हरिहरगंज से पटना तक एनएच-139 को फोर लेन में तब्दील किया जायेगा :सुशील सिंह
सुशांत सिंह राजपूत इंस्पायर्ड फिल्म 'न्याय द जस्टिस' मे नजर आयेगे शक्ति कपूर
मोतिहारी के विवेक का ISRO में बतौर साइंटिस्ट हुआ चयन
राष्ट्र निर्माण अभियान के तहत AAP ने चलाया सदस्यता अभियान, किया गया पार्टी विस्तार
अटल जी को राजकुमारी गुप्ता जी की श्रद्धांजलि
मसहूर किसान नेता ध्रुव त्रिवेदी ने दी अटल जी को श्रद्धांजलि
बेस्ट स्टूडेंट लुक कॉनटेस्ट की विनर बनीं निशा कुमारी
सेवा सप्ताह के अंतर्गत पूर्व केंद्रीय मंत्री ने किया स्वास्थ्य शिविर का उद्घाटन
दिल्ली वर्ल्ड पब्लिक स्कूल का वार्षिक खेलकूद समारोह का आयोजन
मोतिहारी जिला महिला जदयु का एकदिवसीय महिला समागम संपन्न, नीतीश कुमार के कार्यों की संपेत स्वर में सर...
पटना:समर कैंप में एनएसआई के छात्रों ने बिखेरे जलवे
पटना आईएमए हाॅल में 'आइसा' एवं 'ऐपवा' का छात्रा संवाद, छात्राओं ने मुखर रूप कही मन की बात।
शिक्षक को ज्ञानवान बुद्धिमान एवं चरित्रवान होना चाहिए: Dr. Hena Chandra
मोतिहारी चैंबर ऑफ कॉमर्स ने 23 जून से ही दुकानों को खोलने के लिए जिलाधिकारी को दिया सुझाव

Leave a Reply