कन्हैया कुमार के साथ कांग्रेस की सदस्यता लेने वाले छात्र नेताओं में पूर्वी चंपारण के पियूष रंजन झा भी हैं शामिल

Featured Post बिहार मोतिहारी राजनीति स्पेशल न्यूज़



कन्हैया के करीबी पूर्वी चंपारण के छात्र नेता भी हुए कांग्रेस में शामिल। राहुल गांधी ने दिलाई सदस्यता



मोतिहारी। पूर्व वामपंथी नेता कन्हैया कुमार अब कांग्रेसी हो चुके हैं एवं इसकी गूंज से बिहार में ही नहीं बल्कि देश विदेशों में भी सुनाई दे रही है। वामपंथी नेता मूल रूप से अपने पार्टी के प्रति इतने वफादार होते हैं कि वह कभी पार्टी बदलेंगे भी इसकी परिकल्पना नहीं की जा सकती है किंतु राजनीति में कुछ भी संभव है को कन्हैया कुमार ने कांग्रेस की सदस्यता लेकर चरितार्थ कर दिया।
           आपको बता दें कि 28 सितंबर 2021 को कन्हैया कुमार ने अकेले ही कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण नहीं की बल्कि उनके अलावा बिहार से कुल तीन अन्य छात्र नेताओ ने भी कांग्रेस की सदस्यता राहुल गाँधी की उपस्थिति में ग्रहण किया गया। जिसमे जेएनयू के शोधार्थी पीयूष रंजन झा , AISF के राष्ट्रीय सचिव सुशील कुमार और AISF के प्रदेश सचिव रंजीत कुमार शामिल है।
                 मालूम हो कि इनमें पीयूष रंजन झा पूर्वी चम्पारण ज़िले से आते है। पीयूष रंजन झा के विषय में बताया जाता है कि वह मूल रूप से पूर्वी चंपारण जिले के केसरिया विधानसभा के अंतर्गत लाला छपरा गांव के निवासी हैं। इनके पिता राजकीय उच्च विद्यालय के शिक्षक पद से सेवानिवृत्त हैं ।
                  इनकी प्रारंभिक शिक्षा जिला स्कूल ,मोतिहारी से हुई है एवं उच्च शिक्षा पटना के ए एन कॉलेज से हुई हैं। मास्टर्स की पढाई ख़त्म करने के बाद इनका नामांकन प्रतिष्ठित जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में हुआ ,जहा से इन्होने M.Phil की डिग्री हासिल की। इनके शोध का शीर्षक “मॉरिशस की राजनीति में प्रवासी बिहारियों की भूमिका ” था। वर्तमान में ये जेएनयू से पीएचडी पूरी करने वाले है।
                     पटना के ए एन कॉलेज में पढ़ाई के दौरान ही श्री झा का जुड़ाव छात्र राजनीति से हुआ। कॉलेज के पढाई के क्रम में ये आल इंडिया स्टूडेंट्स फेडरेशन से जुड़े। इसी क्रम में वे कई कार्यक्रमों में अपनी सांगठनिक क्षमता का प्रदर्शन कर चुके हैं।
                     आपको बता दें कि कहा जाता है कि 2015 में कन्हैया कुमार को जेएनयू छात्र संघ चुनाव के अध्यक्ष पद पर जीत दिलवाने में इन्होंने बड़ी भूमिका अदा की थी लेकिन 2017 में सैद्धांतिक और सांगठनिक मतभेदो के चलते इन्होने AISF से अपने आप को अलग कर लिया। इनकी सांगठनिक क्षमता को देखते हुए ही उन्हें कन्हैया कुमार ने अपने साथ कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण कराई है।
                   पीयूष रंजन झा को कांग्रेस से जुड़ने पर इनके समर्थको मे खुशी की लहर है । श्री झा के करीबी एवं पूर्व छात्र नेता संजीव सिंह अभिमन्यु ने कहा की सांगठनिक ताकत देने में माहिर हैं पीयूष रंजन झा, जिसका सीधा फायदा अब कांग्रेस को मिलेगा ।
                  प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार जिलाध्यक्ष शैलेंद्र कुमार शुक्ला, युवा जिलाध्यक्ष बिट्टू यादव, महिला जिलाध्यक्ष पिंकी सिंह, पूर्व मंत्री बृजकिशोर सिंह, आशीष कुमार, आजाद आलम, अमित चौहान, हरेंद्र पंडित सहित कांग्रेस कार्यकर्ताओ द्वारा शुभकामनाएं दी गई है ।

👉  2 अक्टूबर 2021 रोज शनिवार को महा वैक्सीनेशन अभियान का हिस्सा बने वैक्सीनेशन अवश्य कराएं

 

Advertisements

अन्य ख़बरें

डॉ०नामवर सिंह हिंदी आलोचना के स्टेट्स मैन, पत्रकार भवन में हुई शोक सभा में शहर के नामचीन पत्रकार हुए...
Rakesh Pandey.....a ray of hope in Champaran
अन्तर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर महिला वार्ड सदस्यों द्वारा रैली का आयोजन
बाढ़ प्रभावित गांवों में शीघ्र सामुदायिक रसोई केंद्र प्रारंभ करने का निर्णय
चंबल बॉय रवि यादव ने किया यूपी के रामपुर महोत्‍सव का भव्‍य शुभारंभ, कहा – यह है मेरे जीवन का यादगार ...
फिल्म ‘लैला मजनू’ को लेकर सोनालिका प्रसाद ने किया चौंकाने वाला खुलासा
जिला पदाधिकारी सहित अन्य पदाधिकारी एवं कर्मियों ने किया रक्तदान
प्रधानमंत्री का जन्मदिन सेवा दिवस के रुप में मनाया गया हुआ स्वास्थ्य शिविर का हुआ उद्घाटन
चित्रगुप्त सभागार सह लोकनायक जयप्रकाश नारायण सांस्कृतिक भवन का लोकार्पण
पाकिस्तान का संकल्प मोदी को हटाना, देशवासियों का संकल्प पाकिस्तान को मिटाना: कृषि मंत्री, 2 मिनट का ...
इनरव्हील क्लब ऑफ पटना के डांडिया धमाल में डांस मस्ती की धूम
फिल्म 'प्यार का देवता ’ की शूटिंग 9 अक्टूबर से लखनऊ में होगी
परिवार नियोजन पखवाड़ के अंतर्गत महिला जनप्रतिनिधियों का जागरूकता कार्यक्रम
यूपी बिहार के लोगों पर हो रहे हमले की "कन्हैया कुमार" ने की कडे़ शब्दों में निंदा
जरूरतमंदो की मदद के लिये आगे आयी ग्रामीण स्नेह फाउंडेशन
प्रोडक्शन के क्षेत्र में बजरंग प्रोडक्शन हाउस युवाओं को देगा मौका
साइकिल रैली के माध्यम से मतदाताओं से की गई 12 मई को अधिक से अधिक संख्या में मतदान करने की अपील
पूर्व केंद्रीय मंत्री राधामोहन सिंह एवं सिने स्टार सांसद रवि किशन ने किया लुईस फिलिपी के एक्‍सक्‍लूस...
मुजफ़्फ़रपुर में बेख़ौफ़ बदमाशो ने सरेआम पुलिस को  मारी गोली, लूटा कार्बाइन।
Manohar Parrikar was the first IITian chief minister of India:Anuradha Pal IAS

Leave a Reply