हनुमान जी दलित थे यह उतना प्रासंगिक नहीं है जितना कि उनका समाज के प्रति निस्वार्थ सेवक होना।

गाँव-किसान बिहार राजनीति राष्ट्रीय

NTC NEWS MEDIA

नकुल कुमार        www.ntcnewsmedia.com

लोकतंत्र मैं सत्ता का हस्तांतरण हमेशा होते रहना चाहिए किसी एक पार्टी को अथवा किसी एक व्यक्ति को हमेशा मौका नहीं दिया जाना चाहिए। क्योंकि इससे निरंकुशता का भय अक्सर बना रहता है। कुछ केसो में काम भी होता है लेकिन क्रिएटिविटी नहीं हो पाती है। बदलाव के इस दौर में जनता सब कुछ देख रही है समझ रही है एवं दिन प्रतिदिन टीवी रेडियो आदि पर हो रहे विश्लेषण का अपने स्तर से विश्लेषण भी कर रही है।

इस परिस्थिति में अगर नेता चाहे की हम मंदिर मस्जिद के नाम पर लड़ा कर हनुमान जी को दलित बताकर जनता को बरगला कर उसका वोट लेकर सत्ता में आ जाएंगे तो इसे मुंगेरीलाल का सपना ही कहा जाएगा।

हनुमान जी दलित थे अथवा नहीं क्या डिबेट का विषय नहीं है अपितु हनुमान जी ने अपने जीवन में जितना त्याग किया जितना सेवा भाव से अपने प्रभु राम की माता सीता की भजन लक्ष्मण की एवं किष्किंधा नरेश एवं अपने मित्र सुग्रीव की सेवा की उससे नेताओं को काफी कुछ सीखने चाहिए क्योंकि यदि सेवा भाव से काम करने वाला व्यक्ति दलित है तो समाज का हर व्यक्ति दलित करना पसंद करेगा जिसने पूरी इमानदारी से सेवा भाव से अपने मालिक की सेवा की है।

Advertisements

आज के समय में नेता हजारों लाखों रुपए खर्च करके राजनेता बनते हैं एवं उसके बाद खुद को कुबेर पति मानने लगते हैं जिससे वे जनता का काम करने की वजह चुनाव जीतने के हथ कंडो पर विचार करने लगते हैं चुनाव जीतने के साथ ही अगले चुनाव की तैयारी शुरू हो जाती है तैयारी करना अच्छी बात है लेकिन सिर्फ कुर्सी बचाने के लिए राजनीति के नीचे से नीचे स्तर तक पहुंच जाना या किसी भी दृष्टिकोण से अच्छा नहीं है।

आज पढ़ी-लिखी जनता काफी होशियार है सचेत है क्योंकि नेताओं ने ठगी करके गरीब जनता को होशियार बना दिया है एवं आज की जनता मांस दारू पर बिकने वाली नहीं है बल्कि अपने अधिकारों के लिए फेसबुक व्हाट्सएप से लेकर रोड तक क्रांतिकारी लड़ाई लड़ने के मूड में हैं यही कारण है कि अब हजारों की संख्या में लोग नोटा बटन का प्रयोग कर रहे हैं एवं भविष्य में राइट ऑफ रिकॉल की भी मांग उठेगी ताकि अपने पद बचाने के लिए नहीं बल्कि जनता के इतने ही नेता काम कर सके।

अन्य ख़बरें

राजद के खिलाफ भाजपा का काउंटर अटैक...अब भाजपा करेगी संविधान संरक्षण सम्मेलन
भोजपुरी कविता : प्रसाद रत्नेश्वर
भारत बना एशिया कप चैंपियन, बांग्लादेश ने जीता दिल
मुख्य सचिव दीपक कुमार पहुंचे केसरिया, विकास कार्यो में तेजी लाने का दिया निर्देश
गुजरात में हो रहे बिहारियों पर हमले के खिलाफ महागठबंधन ने किया पुतला दहन
रेमॉन मैग्सेसे पुरस्कार से सम्मानित हुये चम्पारण के लाल रवीश कुमार, सैंड आर्टिस्ट ने अनोखे अंदाज में...
एएन कॉलेज में मनाया गया अंतरराष्ट्रीय महिला हिंसा उन्मूलन दिवस
मन तो बावरा है निश्छल प्रेम की चाह में दर दर भटकता रहता...!
मिसेज ब्यूटी मॉमस का आडिशन 15 सितंबर को पटना में। गृहणी, मां और मॉडल का दिखेगा अद्भुत संयोग
जीत का जुनून ऐसा कि सीने पर चाकू से लिखा "मोदी"
नहीं रहे मुजफ्फरपुर के प्रखर समाजसेवी सुखदेव प्रसाद, पटना में ईलाज के दौरान ली अंतिम सांस।
कला-क्षेत्र में वर्ल्ड रिकार्ड  बनाना  चाहती है: निहारिका
आतंकवाद एवं बातचीत दोनों साथ साथ नहीं हो सकते पाकिस्तान मसूद अजहर को भारत को सौंपें।
दिनेश तिवारी की फिल्‍म ‘परिवार के बाबू’ में गेस्‍ट एपीयरेंस में नजर आयेंगी भोजपुरी क्‍वीन रानी चटर्ज...
ढाका विधायक फैसल रहमान कोरोना संक्रमित पाए गए, हुए आइसोलेट
चकिया में मिशन साहसी के तहत शुरू हुआ बालिकाओं का सेल्फ डिफेंस प्रशिक्षण
वैकल्पिक राजनीति के दृष्टिकोण से, कन्हैया का चंपारण आना ऐतिहासिक : पुष्पेंद्र द्विवेदी
घर में लगी आग घरेलू सामान सहित मवेशी हुए खाक
Surgical Strike 2.0, घर घर दीप जलाकर मोदी सरकार को जिताने का लिया संकल्प
इनर व्हील क्लब पटना ने 2019-20 का छठा क्लब खोला

Leave a Reply