हर अपराध की दस्तक होती है, उसे समझकर सम्भल जाना ही उचित : SP उपेंद्र शर्मा

क्राइम पकड़ीदयाल बिहार मोतिहारी मोतिहारी स्पेशल स्पेशल न्यूज़
  • 89
    Shares

NTC NEWS MEDIA

Motihari: Nakul Kumar Sah

पकड़ीदयाल के दवा व्यवसाई व रालोसपा नेता प्रेमचंद कुशवाहा की हत्या की गुत्थी सुलझाने के बाद मोतिहारी के तेजतर्रार पुलिस कप्तान उपेंद्र कुमार शर्मा ने अपने फ़ेसबुक पेज पर इस घटनाक्रम के सारांश को साहित्यिक अंदाज में लिखते है कि………. हर घटना से पहले दस्तक होती है बस जरूरी है कि उस दस्तक को समझने की। यदि दस्तक को समझ गए, समय रहते संभल गए, तो फिर ऐसी घटना की नौबत आएगी ही नहीं ।

एसपी साहब आगे लिखते हैं कि अधिकांश केसो में घटना को अंजाम देने वाले और जिसके साथ घटना होने वाली है उन दोनों को दस्तक होती है। किंतु दोनों पक्ष  समझते हुए भी नहीं समझते हैं और इनमें से एक को नुकसान उठाना पड़ता है तो दूसरे को जेल जाना पड़ता है।

               आइए अब पढ़ते हैं उस आर्टिकल को जिसे एसी उपेंद्र कुमार शर्मा ने अपने फेसबुक पेज पर खुद ही लिखा है…

 

हर अपराध की दस्तक होती है
लेकिन हर बार वो दस्तक पुलिस को ही मिले ये जरूरी नहीं
अधिकांश मामलों में ये दस्तक अपराध में सम्मिलित दो पक्षों को ही मिलती है
लेकिन दस्तक मिलती जरूर है
जरूरत होती है दस्तक को सुनकर सम्भल जाने की
अपराध छुपता नहीं…. कभी नहीं…. और फायदे से ज्यादा नुकसान ही कराता है
पकड़ीदयाल के चोरमा में 28.11.18 को हुए हत्या कांड में भी ऐसा ही हुआ
दस्तक मिली
हत्या करने वाले को भी….और
जिसकी हत्या होने वाली थी उसको भी
पैसे का लोभ….हत्या की साजिश का बीज बना
और उस साजिश की वजह से रंजिश हुई
लोभ और क्रोध जब इंसान को घेरे तो फिर दस्तक कौन सुन पायेगा
वैसा ही हुआ….दस्तक अनसुनी हो गई
और अंततः हत्या हुई
नतीजा कई जिंदगियाँ बर्बाद हुई
कोई मारा गया तो कोई जेल गया
जो बचे वो भी जेल जाएंगे
कानून अपना काम करेगा
क्या पाया…….
कुछ नहीं ….. कुछ भी तो नहीं
क्या खोया…..
प्रतिष्ठा….भविष्य….और चरित्र
पुलिस अपना काम करती है
और करती रहेगी
कभी समाज के सहयोग से
कभी उसके बिना
हर व्यक्ति दस्तक सुने
सुनकर सम्भले
उसके बस की न हो
तो पुलिस को बताए
सबका फ़ायदा होगा
पूरे समाज का
निसंदेह ?

       इस प्रकार आपने देखा कि पुलिस कप्तान उपेंद्र कुमार शर्मा अपने पुलिसिया अनुभव के आधार पर लिखते हैं कि हर घटना से पहले उसकी एक दस्तक होती है। अर्थात किसी संभावित घटना को लेकर हल्की-फुल्की जानकारी भी आपको मिले तो सामाजिक रूप से यदि वह सॉल्व हो सके तो ठीक है अन्यथा कानून हाथ में लेने से बेहतर है कि कानून के रखवाले अर्थात पुलिस में कंप्लेन दर्ज कराई जाए ताकि ऐसी किसी भी संभावित घटना से बचा जा सके।

आपको बताते चले कि 28 नवंबर की रात में लगभग 8:45 के आसपास में पकड़ीदयाल के दवा व्यवसाई व रालोसपा नेता प्रेम चंद कुशवाहा की अपराधियों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी।  हत्या के बाद मृतक की पत्नी ने सुंदरपुर के राजद नेता समेत 5 लोगों को नामजद किया था। ऐसा लगने लगा था कि मानो पकड़ीदयाल में शह और मात का एक नया राजनीतिक समीकरण खड़ा हो गया हो…………..किंतु वास्तव में ऐसा नहीं हुआ ।

क्योंकि पकड़ीदयाल, मधुबन  सहित मोतिहारी पुलिस ने, पुलिस कप्तान की देखरेख में समय रहते ही 48 घंटे के भीतर इस घटना का उद्भेदन करके दूध का दूध पानी का पानी कर दिया।

 

Advertisements

अन्य ख़बरें

सरकार की योजनाओं को जनता तक पहुँचाने में मीडिया की भूमिका अहम है: रमण कुमार, जिलाधिकारी, मोतिहारी
मोदी सरकार ने चरमराती अर्थव्यवस्था को सबसे तेजी से दौड़ने वाली अर्थव्यवस्था बनाया: राधा मोहन सिंह
भाजपा कार्यकर्ता ने पेश की मानवता की मिसाल, कुंभ के मेले में भटकी बुजुर्ग महिला को दिया सहारा। महिला...
वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान पूर्व कृषि मंत्री ने lockdown, आइसोलेशन सेंटर, मजदूरों की घर वापसी, रे...
प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान नेता जी सो रहे थे अथवा आंख बंद करके केंद्रीय मंत्री को गंभीरता से सुन रहे ...
अब अमेठी में होगी बंदूक की खेती।
ट्विटर ब्वॉय अकूत संपत्ति अर्जित करने का टेक्निक बिहार के युवाओं को बताएं:मंगल पांडे
 युवा पत्रकार नकुल कुमार एवं NTC NEWS MEDIA को शुभकामनाएं: डॉ.गोपाल कुमार सिंह
मोदी सरकार ने जाली(फेक) राशन कार्ड बंद करके गरीबों की हकमारी पर अंकुश लगाया है: कृषि मंत्री
प्रोफेशर संजय यादव के हमलावरों को गिरफ्तार किया जाए: छात्र राजद
KVK पीपरा में किसान जागरूकता सम्मेलन 2019 सम्पन्न, पिपरा में सीसीटीवी कैमरा तो ही चकिया में किसान भव...
चुनाव 2019 का रण..........
जयमंगल कुशवाहा रालोसपा पूर्वी चंपारण के निर्विरोध जिला अध्यक्ष निर्वाचित
चकिया ट्रेन ब्लास्ट केस का वांछित नक्सली नवल साहनी गिरफ्तार
विशेष वार्ड सभा के द्वारा गर्भावस्था के दौरान पोषण की जरूरतें (तिरंगा भोजन) विषय पर जागरूकता कार्यक्...
हींग और केसर की पैदावार को बढ़ावा देने के लिए होगी अत्याधुनिक टिश्यू कल्चर लैब की स्थापना
एक आदमी के संघर्ष और सपनों की कहानी है पटना-12 : अमित पॉल
बाबा साहब जयंती एवं सतुआनी पर सामाजिक संस्था ने राशन एवं मास्क का किया वितरण
तैलिक साहू सभा के प्रदेश अध्यक्ष रणविजय साहू ने किया गरीबों में कंबल का वितरण
मौलिक अधिकारों के प्राप्ति हेतु संघर्ष आवश्यक: सत्येन्द्र कुमार मिश्र

  • 89
    Shares

1 thought on “हर अपराध की दस्तक होती है, उसे समझकर सम्भल जाना ही उचित : SP उपेंद्र शर्मा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *