हमारे पास सबसे ऊंची मूर्ति जरूर है किन्तु इतनी बड़ी सीढ़ी नहीं है जो आगलगी में फंसे बच्चों की जान बचा सके…!

Featured Post slide Uncategorized अहमदाबाद क्राइम बिहार मुंबई मोतिहारी मोतिहारी स्पेशल राजनीति राष्ट्रीय शिक्षा स्पेशल न्यूज़

नई दिल्ली। हमारे पास दुनिया की सबसे ऊंची मूर्ति है लेकिन हमारे पास ऐसे अग्निशमन यंत्र नहीं हैं कि हम किसी कोचिंग में लगी आग से मासूम बच्चों को बचा सकें! न ही हमारे पास ऐसे यंत्र हैं कि हम खदान में फंसे मजदूरों के शव तक को एक सप्ताह बाद भी निकाल सकें (मेघालय दुर्घटना)!हमारे यहां हर रेलवे स्टेशन पर ऊंचे-ऊंचे तिरंगे झंडे हैं लेकिन हम हर साल होने वाली रेल दुर्घटनाओं को नहीं रोक पा रहे हैं! हमारे पास एक बार में सबसे अधिक खिचड़ी पकाने का विश्व रिकॉर्ड है लेकिन हर साल कई बच्चों के भूख से मरने की ख़बर सुनने को मिलती है!हमारे पास हर साल 99.99% अंक पाने वाले लड़कों की भीड़ लग जाती है लेकिन फिर भी कभी वाराणसी में पुल गिरता है तो कभी मुंबई रेलवे जंक्शन के ओवर ब्रिज पर दुर्घटना होती है और हमारा प्रशासन, हमारी तकनीकी उसे रोक नहीं पाती!

क्या ये सब चोचले नहीं मालूम पड़ते! सबसे ऊंचा झंडा, सबसे ऊंची मूर्ति भी भला कोई रिकॉर्ड है? ये तो कोई भी देश 24 घंटें में बना सकता है। इसमें समय थोड़े लगेगा। आख़िर दुनिया के एक से बढ़कर एक धनी देश मूर्ख़ थोड़े हैं, जो ये सब खुरापात नहीं करते! वो सब भी चाहें तो ये सब कर सकते हैं। लेकिन नहीं, वो शिक्षा, स्वास्थ्य, तकनीकी, रोजगार जैसे मूलभूत चीजों में इनवेस्ट कर रहे हैं। क्योंकि ये सब लॉन्ग टर्म इनवेस्मेंट हैं। एक बार एक निश्चित मुकाम पा लिया तो वो कई पीढ़ियों को काम देगी। फिर जो रिकॉर्ड एक दिन में जब चाहें, तोड़ा जा सके, वो भी कोई रिकॉर्ड है। रिकॉर्ड तो उसे कहते हैं, जिसे चाहकर भी जल्दी न तोड़ा जा सके!सबसे बड़ी मूर्ति, सबसे बड़ा झंडा, सबसे भव्य मंदिर…ये सब भी कोई इतराने या प्रतिस्पर्धा की चीजे हैं! दरअसल अपना देश हीनता का शिकार हो चुका है। हम कैसे भी करके दुनिया में खुद को साबित करना चाहते हैं। कैसे भी करके…!

ठीक वैसे ही, जैसे हीनता से ग्रसित कोई महापुरुष एक ही कमरे के ऊपर कमरा, कमरे के ऊपर कमरा…बनाते हुए मोहल्ले का सबसे ऊंचा मकान बनाकर इतराते फिरें। भले ही वह मकान एक हल्का सा भी झटका न झेल पाए! मैं मूर्ति, झंडा या मंदिर का विरोधी नहीं हूं। लेकिन इनके अलावा भी कई चीजें हैं, जिनकी देश को ज़रूरत है..

सभार…अजय सिंह(FF)

अन्य ख़बरें

प्रोफेसर संजय कुमार के साथ हुई हाथापाई पर क्या कहते हैं मोतिहारी शहर के प्रसिद्ध कवि प्रसाद रत्नेश्व...
ओवैसी वायरस के लिए मोदी का टीका अल्पसंख्यक मोर्चा है: राधा मोहन सिंह
विद्या निकेतन के प्राचार्य डॉक्टर दीनबंधु तिवारी सर
..........यादों में 2017...?...?...?
पार्श्वगायन के क्षेत्र में विशिष्ट पहचान बना चुकी हैं देवी
AAP ने चलाया सदस्यता अभियान 5 लाख सदस्य बनाने का लक्ष्य
सैंड आर्टिस्ट ने बालू पर भगवान बुद्ध की प्रतिमा उकेरकर कर दिया शांति का संदेश
पूर्व कृषि मंत्री ने MGCU के दीवार एवं कैंपस मार्ग के लिए सांसद निधि से दिए 50 लाख
महात्मा गाँधी और लालबहादुर शास्त्री को आदर्श मान हम सभी युवा को आगे बढ़ना चाहिऐ : पप्पू
धारा 370 और 35 A के संबंध में जन जागरण एवं सदस्यता प्रमाण के लिए कई समितियां गठित
एक ही फ़िल्म में मवाली लड़की और प्रिंसेस के किरदार में नज़र आएंगी आम्रपाली दुबे
शराब अभी भी बिक रहा है...ऐसे फेसबुकिया कमेंट पर डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे ने क्या कहा था पढ़िए...
बाढ़ पीड़ित परिवारों के खाते में जाएंगे साढ़े छ: हजार रुपए : सांसद
छात्रसंघ चुनाव को लेकर JAPC एवं AISF के बीच हुआ गठबंधन
नेपाल में इन कारणों से हुई भारत-नेपाल के अधिकारियों की संयुक्त बैठक, इन मुद्दों पर बनी आम सहमति
Tejaswi Yadav twitted, he is undergoing treatment and will come soon
महिलाओं को सशक्त बनने की जररूत : इति प्रज्ञा सिंह
आज खुलेगा इंडियन पोस्ट पेमेंट बैंक प्रधानमंत्री करेंगे दिल्ली उद्घाटन
मेला में ठेला और पान बेचता एक मासूम बचपन
कुशवाहा समाज की बैठक संपन्न। मेघावी छात्रों को आर्थिक सहायता एवं समाज के राजनीतिक हिस्सेदारी के मुद्...

Leave a Reply