सेविका-सहायिका बहनों ने अपनी मांगों को लेकर किया प्रदर्शन,10 अक्टूबर से काला बिल्ला लगाकर करेंगी काम

गाँव-किसान बिहार मोतिहारी मोतिहारी स्पेशल राजनीति शिक्षा स्पेशल न्यूज़

NTC NEWS MEDIA / Motihari

अपनी 15 सूत्री मांगों को लेकर बिहार राज्य आंगनबाड़ी कर्मचारी यूनियन के बैनर तले पूर्वी चंपारण की तमाम सेविका-सहायिका बहनों ने आज कचहरी चौक पर महा धरना प्रदर्शन करके अपनी शक्ति का एहसास कराया।

नरसिंह बाबा मठ मोतिहारी के प्रांगण से शुरू हुआ यह प्रदर्शन हॉस्पिटल बलवा चौक राजा बाजार होते हुए कचहरी चौक पर आकर सभा में तब्दील हो गया इस प्रदर्शन में हजारों की संख्या में सेविका-सहायिका बहनों ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया एवं अपनी संगठनात्मक शक्ति का एहसास कराया।

इस अवसर पर बिहार राज्य आंगनबाड़ी कर्मचारी यूनियन के जिला अध्यक्ष ममता कुमारी सिंह ने कहा कि जहां एक और महिला सशक्तिकरण की बातें हो रही हैं तो वहीं दूसरी ओर सेविका-सहायिका बहनों पर काम का दबाव इतना है कि आज उनका शोषण हो रहा है उन्होंने कहा कि आंगनबाड़ी में ड्यूटी मात्र 4 घंटे की होती है किंतु सेविका-सहायिका बहने 24 घंटे काम करती हैं

 इतना ही नहीं ममता सिंह ने सेविका-सहायिका बहनों द्वारा किए जानेवाले कार्यों को गिनाते हुए कहा कि चाहे ओडीएफ चुनाव बीएलओ स्वास्थ्य कार्य पोलियो नगरी भ्रमण केंद्र संचालन जनगणना जन्म से लेकर मृत्यु तक का देखभाल यह सारे कार्य हम सब करती हैं किंतु इतने कम मेहनत आना में इतना काम यह दर्शाने के लिए काफी है कि कहीं ना कहीं हमारा शोषण हो रहा है उन्होंने कहा कि जब तक हमारा सरकारीकरण नहीं हो जाता है तब तक हक की लड़ाई जारी रहेगी।

वहीं दूसरी ओर प्रियंबदा बहन ने कहा कि एकता में बल है निश्चित रूप से सरकार को इस बल के आगे झुकना होगा। उन्होंने कहा कि 4 घंटे के अतिरिक्त जितना भी हम लोग कार्य करेंगे उसके लिए पहले लेटर हमें चाहिए बिना लेटर लिए हम लोग कोई कार्य नहीं करेंगे।

इसके साथ उन्होंने कहा कि 10 अक्टूबर से 28 नवंबर तक सभी आंगनबाड़ी सेविका सहायिका बहाने काला बिल्ला लगाकर कार्य करेंगी। यदि सरकार ने हमारी मांगे इस बीच नहीं मानी तो 28 नवंबर को विधानसभा का घेराव करेंगे एवं 5 दिसंबर से अनिश्चितकालीन हड़ताल की चेतावनी दे डाली।

बताते चलें कि अभी कुछ दिन पहले ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार ने सहायिका, सेविका बहनों के वेतन में इजाफा करने की घोषणा की  है किंतु आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का कहना है कि उन्हें 18000 तक की सैलरी चाहिए। उन्होंने नारा दिया कि “4000 में दम नहीं 18000 से कम नहीं

इस अवसर पर देवेश कुमार सिंह, सारिका गुप्ता, पूजा कुमारी, रेणु देवी, अनामिका, नीरू एवं  प्रखंड के सभी सेविका-सहायिका बहनों ने हिस्सा लिया।

अन्य ख़बरें

प्रत्येक जिले में कोरोना के जांच की अविलंब व्यवस्था हो अन्यथा स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे त्यागपत्र ...
गांधी जयंती पर आज मोतिहारी शहर में होने वाले विभिन्न कार्यक्रमों की लिस्ट यहां देखिए
सरकार की योजनाओं को जनता तक पहुँचाने में मीडिया की भूमिका अहम है: रमण कुमार, जिलाधिकारी, मोतिहारी
MS College की NSS टीम द्वारा गांवों में साफ-सफाई एवं वृक्षारोपण कार्यक्रम चलाया गया
सिपाही बहाली घोटाले की हो सीबीआई जांच: "आम आदमी पार्टी"
गलवान घाटी में शहीद जवानों को भाजयुमो मोतिहारी ने दी श्रद्धांजलि
विधायक फैसल रहमान ने कुष्ठ रोगियों के बीच किया राशन का वितरण, ढाका रेफरल अस्पताल का किया निरीक्षण
EVM/VVPAT का प्रथम रेणडोमाईजेशन हेतु राजनीतिक दलों के साथ जिला निर्वाचन पदाधिकारी की बैठक संपन्न
मोदी सरकार दलित,पीड़ित, शोषित, वंचित वर्ग के साथ महिलाओं और युवाओं की आशा-आकांक्षाओं को समर्पित रही ह...
शिक्षक-सभ्य समाज का आइना...Rajeev Kumar Mishra
केंद्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह के जन्मदिन पर हुआ वृक्षारोपण एवं पौधा वितरण
युवा समाजसेवी सुमित कुमार ने वार्ड 09 में कराया सैनिटाइजर का छिड़काव, बना चर्चा का विषय
11 महिलाओं ने जीता मिसेज़ एंड मिस इंडिया यूनिवर्सल 2019 का ताज और टाइटल
सीतामढ़ी में धारा 144, अफवाह फैलने से रोकने के लिए इंटरनेट बंद ?
सुशांत सिंह राजपूत इंस्पायर्ड फिल्म 'न्याय द जस्टिस' मे नजर आयेगे शक्ति कपूर
कायस्थ महोत्सव में चित्रांश समाज की हस्तियों को मिला सम्मान
दिल्ली मॉडल के साथ पूरे बिहार में चुनाव लड़ेगी आम आदमी पार्टी
मल्टीप्लेक्स बायो प्रोडक्ट की उपयोगिता एवं उपयोग विषय पर एक दिवसीय संगोष्ठी आयोजित
बिहार के गरीबों और दबे-कुचले समाज को मिली जमानत : शिवलाल सहनी
वैकल्पिक राजनीति के दृष्टिकोण से, कन्हैया का चंपारण आना ऐतिहासिक : पुष्पेंद्र द्विवेदी

Leave a Reply