सेविका-सहायिका बहनों ने अपनी मांगों को लेकर किया प्रदर्शन,10 अक्टूबर से काला बिल्ला लगाकर करेंगी काम

गाँव-किसान बिहार मोतिहारी मोतिहारी स्पेशल राजनीति शिक्षा स्पेशल न्यूज़
  • 14
    Shares

NTC NEWS MEDIA / Motihari

अपनी 15 सूत्री मांगों को लेकर बिहार राज्य आंगनबाड़ी कर्मचारी यूनियन के बैनर तले पूर्वी चंपारण की तमाम सेविका-सहायिका बहनों ने आज कचहरी चौक पर महा धरना प्रदर्शन करके अपनी शक्ति का एहसास कराया।

नरसिंह बाबा मठ मोतिहारी के प्रांगण से शुरू हुआ यह प्रदर्शन हॉस्पिटल बलवा चौक राजा बाजार होते हुए कचहरी चौक पर आकर सभा में तब्दील हो गया इस प्रदर्शन में हजारों की संख्या में सेविका-सहायिका बहनों ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया एवं अपनी संगठनात्मक शक्ति का एहसास कराया।

इस अवसर पर बिहार राज्य आंगनबाड़ी कर्मचारी यूनियन के जिला अध्यक्ष ममता कुमारी सिंह ने कहा कि जहां एक और महिला सशक्तिकरण की बातें हो रही हैं तो वहीं दूसरी ओर सेविका-सहायिका बहनों पर काम का दबाव इतना है कि आज उनका शोषण हो रहा है उन्होंने कहा कि आंगनबाड़ी में ड्यूटी मात्र 4 घंटे की होती है किंतु सेविका-सहायिका बहने 24 घंटे काम करती हैं

 इतना ही नहीं ममता सिंह ने सेविका-सहायिका बहनों द्वारा किए जानेवाले कार्यों को गिनाते हुए कहा कि चाहे ओडीएफ चुनाव बीएलओ स्वास्थ्य कार्य पोलियो नगरी भ्रमण केंद्र संचालन जनगणना जन्म से लेकर मृत्यु तक का देखभाल यह सारे कार्य हम सब करती हैं किंतु इतने कम मेहनत आना में इतना काम यह दर्शाने के लिए काफी है कि कहीं ना कहीं हमारा शोषण हो रहा है उन्होंने कहा कि जब तक हमारा सरकारीकरण नहीं हो जाता है तब तक हक की लड़ाई जारी रहेगी।

वहीं दूसरी ओर प्रियंबदा बहन ने कहा कि एकता में बल है निश्चित रूप से सरकार को इस बल के आगे झुकना होगा। उन्होंने कहा कि 4 घंटे के अतिरिक्त जितना भी हम लोग कार्य करेंगे उसके लिए पहले लेटर हमें चाहिए बिना लेटर लिए हम लोग कोई कार्य नहीं करेंगे।

इसके साथ उन्होंने कहा कि 10 अक्टूबर से 28 नवंबर तक सभी आंगनबाड़ी सेविका सहायिका बहाने काला बिल्ला लगाकर कार्य करेंगी। यदि सरकार ने हमारी मांगे इस बीच नहीं मानी तो 28 नवंबर को विधानसभा का घेराव करेंगे एवं 5 दिसंबर से अनिश्चितकालीन हड़ताल की चेतावनी दे डाली।

बताते चलें कि अभी कुछ दिन पहले ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार ने सहायिका, सेविका बहनों के वेतन में इजाफा करने की घोषणा की  है किंतु आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का कहना है कि उन्हें 18000 तक की सैलरी चाहिए। उन्होंने नारा दिया कि “4000 में दम नहीं 18000 से कम नहीं

इस अवसर पर देवेश कुमार सिंह, सारिका गुप्ता, पूजा कुमारी, रेणु देवी, अनामिका, नीरू एवं  प्रखंड के सभी सेविका-सहायिका बहनों ने हिस्सा लिया।

अन्य ख़बरें

पश्चिम चम्पारण सांसद संजय जयसवाल पर हमले की वजह
अटल उद्यान में मोतिहारी भाजपा की बैठक संपन्न, मोतिहारी विधानसभा के प्रशिक्षण शिविर को लेकर विचार-विम...
पिछड़ा वर्ग आयोग को संवैधानिक दर्जा: प्रमोद कुमार
LND College Motihari: समर इंटर्नशिप 2.0 स्वच्छता के 50 घंटे कार्यक्रम के पांचवे दिन...
भारतीय वायुसेना ने पाकिस्तान में घुसकर की ठुकाई, बाप बाप चिल्लाते चाइना पहुँचें इमरान
अभाविप सदस्यता अभियान 5 सितंबर तक 25000 सदस्य बनाने का लक्ष्य
Patna STF से मुठभेड़ में मोस्ट वांटेड कुख्यात अपराधी मुचकुंद ढ़ेर
रमगढ़वा पंचायत के वार्ड नंबर 1 में लगी भीषण आग, मौके पर पहुंच मुखिया ने की मानवीय सहायता
भोजपुरी फिल्म सनकी दरोगा.... 3 दिन का ओवर ऑल कलेक्शन
मिस इको इंटरनेशनल में भारत का प्रतिनिधत्व करेंगी आकांक्षा
ABVP ने केंद्रीय कृषि मंत्री को सौंपा ज्ञापन, कृषि मंत्री करे पहल ताकि SRAP कॉलेज चकिया में हो मास्...
खुले में शौच से मुक्ति के लिए नरकटियागंज प्रखंड के केसरिया पंचायत में हुआ कार्यशाला का आयोजन
चिरैया में खुला कंप्यूटर सेंटर, गरीब छात्रों को मिलेगा 50% डिस्काउंट
बिहार नवयुवक सेना की केसरिया प्रखंड कमेटी गठित, 20 हजार नए साथियों को जोड़ने का लक्ष्य
गांधी के विचार आज भी प्रासंगिक: अवनीश कुमार
जिला समाहरणालय मोतिहारी, पूर्वी चंपारण में एक सादे समारोह में धूमधाम से बिहार दिवस मनाया गया।
22 अक्टूबर से किसानों को जागरूक करने का मुहिम ''चलो गांव की ओर"
शहीद पिंटू कुमार सिंह की आदमकद प्रतिमा ड्यूक हॉस्टल मुजफ्फरपुर में लगाने के लिए एलमुनि एसोसिएशन ने क...
लाठी-गोली-छूरी ना चलल चंपारण में, बाकी अंग्रेजन के भगावे के उपाय गांधीजी ढूंढ लिहलन चंपारण में : आर ...
AC KI Aadat... यूट्यूब चैनल

  • 14
    Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *