सेविका-सहायिका बहनों ने अपनी मांगों को लेकर किया प्रदर्शन,10 अक्टूबर से काला बिल्ला लगाकर करेंगी काम

गाँव-किसान बिहार मोतिहारी मोतिहारी स्पेशल राजनीति शिक्षा स्पेशल न्यूज़
  • 14
    Shares

NTC NEWS MEDIA / Motihari

अपनी 15 सूत्री मांगों को लेकर बिहार राज्य आंगनबाड़ी कर्मचारी यूनियन के बैनर तले पूर्वी चंपारण की तमाम सेविका-सहायिका बहनों ने आज कचहरी चौक पर महा धरना प्रदर्शन करके अपनी शक्ति का एहसास कराया।

नरसिंह बाबा मठ मोतिहारी के प्रांगण से शुरू हुआ यह प्रदर्शन हॉस्पिटल बलवा चौक राजा बाजार होते हुए कचहरी चौक पर आकर सभा में तब्दील हो गया इस प्रदर्शन में हजारों की संख्या में सेविका-सहायिका बहनों ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया एवं अपनी संगठनात्मक शक्ति का एहसास कराया।

इस अवसर पर बिहार राज्य आंगनबाड़ी कर्मचारी यूनियन के जिला अध्यक्ष ममता कुमारी सिंह ने कहा कि जहां एक और महिला सशक्तिकरण की बातें हो रही हैं तो वहीं दूसरी ओर सेविका-सहायिका बहनों पर काम का दबाव इतना है कि आज उनका शोषण हो रहा है उन्होंने कहा कि आंगनबाड़ी में ड्यूटी मात्र 4 घंटे की होती है किंतु सेविका-सहायिका बहने 24 घंटे काम करती हैं

 इतना ही नहीं ममता सिंह ने सेविका-सहायिका बहनों द्वारा किए जानेवाले कार्यों को गिनाते हुए कहा कि चाहे ओडीएफ चुनाव बीएलओ स्वास्थ्य कार्य पोलियो नगरी भ्रमण केंद्र संचालन जनगणना जन्म से लेकर मृत्यु तक का देखभाल यह सारे कार्य हम सब करती हैं किंतु इतने कम मेहनत आना में इतना काम यह दर्शाने के लिए काफी है कि कहीं ना कहीं हमारा शोषण हो रहा है उन्होंने कहा कि जब तक हमारा सरकारीकरण नहीं हो जाता है तब तक हक की लड़ाई जारी रहेगी।

वहीं दूसरी ओर प्रियंबदा बहन ने कहा कि एकता में बल है निश्चित रूप से सरकार को इस बल के आगे झुकना होगा। उन्होंने कहा कि 4 घंटे के अतिरिक्त जितना भी हम लोग कार्य करेंगे उसके लिए पहले लेटर हमें चाहिए बिना लेटर लिए हम लोग कोई कार्य नहीं करेंगे।

इसके साथ उन्होंने कहा कि 10 अक्टूबर से 28 नवंबर तक सभी आंगनबाड़ी सेविका सहायिका बहाने काला बिल्ला लगाकर कार्य करेंगी। यदि सरकार ने हमारी मांगे इस बीच नहीं मानी तो 28 नवंबर को विधानसभा का घेराव करेंगे एवं 5 दिसंबर से अनिश्चितकालीन हड़ताल की चेतावनी दे डाली।

बताते चलें कि अभी कुछ दिन पहले ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार ने सहायिका, सेविका बहनों के वेतन में इजाफा करने की घोषणा की  है किंतु आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का कहना है कि उन्हें 18000 तक की सैलरी चाहिए। उन्होंने नारा दिया कि “4000 में दम नहीं 18000 से कम नहीं

इस अवसर पर देवेश कुमार सिंह, सारिका गुप्ता, पूजा कुमारी, रेणु देवी, अनामिका, नीरू एवं  प्रखंड के सभी सेविका-सहायिका बहनों ने हिस्सा लिया।

अन्य ख़बरें

मृत बिहारी मजदूरों की संख्या व राहत पैकेज की मांग को लेकर "आप" का उपवास
सिवान : अग्नि पीड़ितों के बीच राहत सामग्री का वितरण
CPTI की कार्यशैली पर टैक्स कंसल्टेंट मनोज कुमार ने लगाया सवालिया निशान...???
आज यूथ कांग्रेस करेगी मुख्यमंत्री आवास का घेराव बिट्टू यादव के नेतृत्व में चंपारण से यूथ ब्रिगेड रवा...
कल 2 अगस्त को एल.एन.डी कॉलेज कैंपस में पौधारोपण एवं पर्यावरण संरक्षण विषय पर एक सेमिनार का आयोजन
घर में लगी आग घरेलू सामान सहित मवेशी हुए खाक
कोरोना के समय सेंटर फॉर कैटेलाईजिंग चेंज कर रहा सराहनीय कार्य: CDPO
मिस्टर एंड मिस मगध सीजन 02 का ऑडिशन 29 सितंबर को बिहारशरीफ में।
फिट इंडिया मूवमैंट के तहत छात्र छात्राओं ने लिया फिट रहने का संकल्प।
जयंती पर याद किए गए क्रांतिकारी चंद्रशेखर आजाद,
जिला जदयू का महा सदस्यता अभियान जोरो पर, सैकड़ों लोगों ने ली जदयू की सदस्यता
कुख्यात संतोष झा को अपराधियों ने मारी गोली
पूरे विश्व में शांति के लिए युवा पीढ़ी गांधी के सिद्धांत को समझाए एवं सर्व धर्म सभा करवाएं: पदमश्री ...
मुजफ्फरपुर जिला तैलिक साहू समाज की बैठक संपन्न, राजनीतिक भागीदारी के लिए लिया गया एकजुटता का संकल्प
पश्चिमी चंपारण के सांसद संजय जयसवाल पहुंचे जनता के बीच
जंगलराज के राजा के उत्तराधिकारी संविधान बचाने की झूठी दुहाई दे रहे हैं: पर्यटन मंत्री प्रमोद कुमार
आसाराम बापू का बेटा नारायण साईं बलात्कार के मामले में दोषी करार । बापू के बाद उसका बेटा जाएगा जेल।
उर्दू लाइब्रेरी मोतिहारी में संपन्न मुशायरा कवि सम्मेलन की कुछ झलकियां
आज से काला बिल्ला लगाकर काम करेंगी आंगनबाड़ी बहने
मतदाता जागरूकता के लिए कृषि विभाग ने निकाली मतदाता जागरूकता बाइक रैली

  • 14
    Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *