सवर्ण आंदोलन से डरी सरकार, गिरिराज सिंह होंगे बिहार के नए उपमुख्यमंत्री

पटना बिहार

NTC NEWS MEDIA

पटना। बिहार कैबिनेट से जुड़ी सबसे बड़ी खबर हम ब्रेक कर रहे हैं। भूमिहार ब्राह्मण समुदाय के विरोध का असंभावित असर बिहार कैबिनेट पर देखने को मिल सकता है। दशहरा के ठीक बाद कैबिनेट में अब तक का सबसे बड़ा बदलाव होने की उम्मीद है। बिहार कैबिनेट का चेहरा अब शायद यूपी की योगी कैबिनेट जैसा हो सकता है। क्योंकि खबर ये है कि बिहार सरकार में अब एक नहीं, बल्कि दो डिप्टी सीएम होंगे। मतलब साफ है कि बिहार में सुशील मोदी के अलावा भी एक डिप्टी सीएम रहेगा। सबसे बड़ी खबर यह भी है कि यह डिप्टी सीएम भारतीय जनता पार्टी का होगा और संभवत बिहार के अगले डिप्टी सीएम का नाम भी तय हो चुका है।
एससी-एसटी एक्ट, सवर्णों पर लाठीचार्ज, सवर्णों पर मुकदमा, प्रमोशन में आरक्षण, स्वर्ण नेताओं के खिलाफ हल्ला बोल और सीएम पर चप्पल फेंकने के ताजा मामलों ने बिहार की नीतीश सरकार को हिला कर रख दिया है। नीतीश को चिंता है कि कहीं वे कांग्रेस के चक्रव्यूह में फस न जाएं। चिंता इसलिए क्योंकि हाल की घटनाओं में भूमिहार ब्राह्मणों के आक्रोश से सवर्ण वोट के टूटने की फीडबैक मिली है। ऐसे में सोशल इंजीनियरिंग के मास्टर नीतीश कुमार ने मास्टर स्ट्रोक खेल दिया है।
मास्टर स्ट्रोक का पहला शॉट वे PK यानी प्रशांत किशोर को लॉन्च कर लगा चुके हैं। कहा जा रहा है कि प्रशांत किशोर को राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बनाकर पार्टी में नंबर दो की पोजीशन देने के पीछे की वजह ये है प्रशांत किशोर ब्राह्मण हैं।
राजनीतिक रणनीतिकार हैं।
सिर पर लोकसभा और फिर विधानसभा का चुनाव है। ऐसे में उन्हें प्रशांत किशोर जैसा थिंक टैंक तो मिल ही गया, साथ ही ब्राह्मण को संगठन में इतनी बड़ी जिम्मेदारी देकर उन्होंने सवर्णों को खास संदेश दिया है। हालांकि, जदयू और भाजपा को मालूम है कि प्रशांत किशोर को मंत्री पद मिलने के बाद भी सवर्णों के आक्रोश पर पानी नहीं गिरने वाला।
ऐसे में अब बिहार में सुशील मोदी के बराबर कद पर सवर्ण समुदाय से एक डिप्टी सीएम बनाने की रणनीति बनी है। कहा जा रहा है कि इस रणनीति पर अंतिम मुहर तक लग चुकी है। रणनीतिकार प्रशांत किशोर को मंत्री बनाने के साथ ही बिहार में भाजपा कोटे से एक और डिप्टी सीएम बनाए जाने की खबर है। शर्त ये है कि यह डिप्टी सीएम भूमिहार जाति से हो और दबंग हो। ताकि सवर्णों को भड़काने वालों को जवाब दे सके और सवर्णों को मनाने का दम भी रखता हो। भाजपा से जुड़े सूत्रों के अनुसार डिप्टी सीएम के लिए गिरिराज सिंह के नाम पर मुहर तक लग चुकी है।
गिरिराज को डिप्टी सीएम बनाने के लिए कुछ विरोध के बाद भी सहमति बन गई है। पार्टी सूत्रों के अनुसार शुक्रवार यानी विजयादशमी के रोज गिरिराज सिंह दिल्ली से पटना भी पहुंच रहे हैं। क्योंकि बिहार में दशहरा के ठीक बाद कैबिनेट विस्तार होने की सूचना है। इसी कैबिनेट विस्तार में गिरिराज सिंह को डिप्टी सीएम का ताज मिल सकता है।

अन्य ख़बरें

समस्याओं का करेंगे समाधान मोतिहारी को खुशहाल बनाएंगे: डॉ. दीपक कुमार
ढ़ाका के चंदनबाड़ा में तेज रफ्तार टेम्पो पल्टी , कई घायल
देशी चंपारण मटन का स्वाद अब जल्द मिलेगा भागलपुर में
भाजपा महिला मोर्चा कर रही है मास्क का निर्माण एवं वितरण
पप्पू यादव का प्रेस कॉन्फ्रेंस... कई मुद्दों पर एक साथ बोलें, 20 सितंबर से मेडिकल माफियाओं के खिलाफ ...
महिला के सिर पर बाल नहीं थे फिर मोतिहारी के इस डॉक्टर से इलाज कराया और बाल उग गए
कृभको के तहत जिला के थोक एवं खुदरा विक्रेताओं का पाॅश मशीनों से उर्वरकों की बिक्री का प्रशिक्षण सम्प...
शत्रुघ्न साहू बने आम आदमी पार्टी के बिहार प्रदेश अध्यक्ष
तेली अधिकार रैली में चंपारण से अवध बिहारी प्रसाद के नेतृत्व में हजारों की तादाद में शामिल होंगे लोग।
जल और जीवन बचाओ हरियाली लाओ से संबंधित रेत कलाकृति बनाकर सैंड आर्टिस्ट ने दिया पर्यावरण संरक्षण का स...
योग के बारे में बता रहे हैं...युवा भारत पतंजलि के जिला उपाध्यक्ष ओमकार प्रकाश
चंपारण पहुंचे "साइकिल मैन" रतन रंजन का हुआ भव्य स्वागत
डॉ आशुतोष शरण उत्कृष्ट नागरिक सम्मान से सम्मानित
रंगदारी मामले में अपराधियों ने शिक्षक को मारी गोली, घायल अवस्था में पटना रेफर
जिले के सभी थानों, सर्किल एवं डीएसपी कार्यालयों के लिए NRI राकेश पांडे ने किया यह काम
सरकार की योजनाओं को जनता तक पहुँचाने में मीडिया की भूमिका अहम है: रमण कुमार, जिलाधिकारी, मोतिहारी
अपनी कविता की प्रस्तुति देती हुई कवयित्री मधुबाला सिन्हा
सारा खान और नेहा मार्दा ने रैंप पर बिखेरा जलवा
कार्यशाला में पांचवें दिन आंकड़ा विश्लेषण एवं प्राचीन शोध पद्धति पर चर्चा
मोनू सिंह की अध्यक्षता में युवा शक्ति ने किया संगठन का विस्तार

Leave a Reply