सरकार की योजनाओं को जनता तक पहुँचाने में मीडिया की भूमिका अहम है: रमण कुमार, जिलाधिकारी, मोतिहारी

बिहार मोतिहारी स्पेशल शिक्षा सम्पादकीय स्पेशल न्यूज़
  • 15
    Shares

28 फरवरी 2019

नकुल कुमार/मोतिहारी (पूर्वी चम्पारण)

” सरकार की योजनाओं को जनता तक पहुँचाने में मीडिया की भूमिका अहम है: रमण कुमार, जिलाधिकारी, मोतिहारी”

पत्र सूचना कार्यालय, सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय, भारत सरकार, पटना द्वारा मोतिहारी में क्षेत्रीय मीडियाकर्मियों हेतु एकदिवसीय कार्यशाला- “वार्तालाप” का आयोजन किया गया

सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय, भारत सरकार की प्रमुख मीडिया इकाई, पत्र सूचना कार्यालय (पीआईबी), पटना द्वारा मोतिहारी (पूर्वी चंपारण जिले) में 28 फरवरी, 2019 को क्षेत्रीय मीडिया कार्यशाला –“वार्तालाप”का आयोजन किया गया। कार्यशाला का उद्घाटन पूर्वी चम्पारण के जिलाधिकारी, रमण कुमार, पीआईबी, पटना के निदेशक दिनेश कुमार, सहायक निदेशक संजय कुमार, और जिले के वरिष्ठ पत्रकार चन्द्रभूषण पांडेय द्वारा संयुक्त रूप से दीप-प्रज्ज्वलित कर किया गया। इस कार्यशाला में पूर्वी चम्पारण जिला मुख्यालय के वरिष्ठ पत्रकारों के साथ-साथ प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक व अन्य मीडिया से जुड़े मीडियाकर्मियों ने भाग लिया।

उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि पूर्वी चम्पारण के जिलाधिकारी रमण कुमार ने कहा कि सरकार की योजनाओं को जनता तक पहुँचाने में मीडिया की भूमिका अहम है। हिन्दुस्तान का स्वरुप और मजबूत बने इसके लिए जरुरी है जनहित और जन कल्याणकारी योजनाओं का लाभ जनता को मिले।

उन्होंने कहा कि राष्ट्र के निर्माण में मीडिया की भूमिका महत्वपूर्ण है। सरकार चाहती है कि योजनाओं की जानकारी और लाभ लोगों तक पहुँचे लेकिन पूरी और सही जानकारी नहीं पहुँच पाती, इसके लिए मीडिया के साथ साथ प्रसाशन को भी मिल कर आगे आना होगा।

इससे पूर्व अतिथियों और मीडियाकर्मियों का स्वागत पीआईबी, पटना के निदेशक दिनेश कुमार ने किया। श्री कुमार ने कार्यशाला के उदेश्यों की चर्चा करते हुए विषय प्रवेश पर कहा कि सूचना को समाचार में तब्दील करने की कला ही सच्ची पत्रकारिता है।

Advertisements

उन्होंने कार्यशाला में मौजूद पत्रकारों से कहा कि जनकल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन एवं उसकी सफलता में पत्रकारों की अहम भूमिका होती है। उन्होंने यह भी कहा कि इंसान ही ऐसा जैविक समुदाय है जो चेतनाओं से युक्त है लेकिन इस बात की महत्ता इसमें है कि प्रकृति प्रदत इस लाभ का कैसे सदुपयोग किया जाए।

पीआईबी पटना के सहायक निदेशक संजय कुमार ने अपने संबोधन में कहा कि इस कार्यशाला के माध्यम से क्षेत्रीय मीडिया और पीआईबी के बीच बेहतर तालमेल स्थापित करने की कोशिश की जा रही है ताकि सूचनाओं का आदान-प्रदान हो सके। उन्होंने कहा कि मीडिया बदलाव के दौर में है लोगों की उम्मीदें इससे काफी है, उन तक उनकी योजनाएं नहीं पहूँचती तो मीडिया को इसकी सूचना देते है।

कार्यशाला के विशिष्ठ अतिथि वरिष्ठ पत्रकार चन्द्रभूषण पांडेय ने कहा कि पत्रकारिता बदलाव के दौर से गुजर रहा है तथा इसमें जहां एक ओर सकारात्मकाता को बोध हुआ है तो कुछ हद तक पतन भी। बदलते इस दौर में तकनीकी सहयोग से पत्रकार अधिकतम और सुदूर क्षेत्र से भी खबरें ला पा रहे हैं लेकिन पत्रकारिता में व्यवसायिकता की सोच में वृद्धि ने इसे नुकसान भी पहुंचाया है।

श्री पांडेय ने कहा कि सरकार की जो योजनाएं चल रही है वो लोगों तक पूरी तरह से नहीं पहुँच पा रही है, पत्रकार जोखिम उठा कर अपना काम कर रहा है इसमें प्रसाशन की सहभागिता अहम है। वहीं, वरिष्ठ पत्रकार सतीश चन्द्र मिश्र ने पत्रकारिता के समक्ष कठिनाईओं और चुनौती की चर्चा की और कहा कि पत्रकारिता से आम लोगों की अपेक्षाएं बढी है। उन्होनें कहा कि सीधे मीडिया से जुड़ती है और उनके लिए चलाए जा रहे कार्यों की उपेक्षा से हमें अवगत कराती हो।

कार्यशाला के तकनीकी सत्र में मुद्रा योजना पर सेन्ट्रल बैंक आँफ इंडिया, मोतिहारी के प्रबंधक रामेश्वर रजक और किसानों की आय दोगुनी योजना पर जिला कृषि पदाधिकारी ओंकारनाथ सिंह ने विस्तार से प्रकाश डाला। मुद्रा योजना और किसानों की आय दोगुनी योजना पर वक्ताओं से पत्रकारों ने कई अहम सवाल किये। पत्रकारों का सवाल था कि योजनओं का लाभ सही ढंग से लाभर्थियों को नहीं मिल पा रहा है, पत्रकारों ने सरकार की योजनाओं का लाभ लोगों का मिले इसके लिए विभाग और मीडिया के बीच समन्वय की पहल पर जोर दिया।उद्घाटन सत्र के दौरान पी.आई.बी. के ज्ञान प्रकाश के द्वारा पॉवर प्वाइंट प्रजेंटेशन प्रस्तुत किया गया, जिसके माध्यम से प्रतिभागी मीडियाकर्मियों को पीआईबी के मुख्य कार्यों, प्रणालियों, संगठनात्मक संचरना, विशेष सेवाओं, पीआईबी की वेबसाईट इत्यादि के बारे में जानकारी दी गई।

समापन सत्र के दौरान उपस्थित प्रतिभागियों ने कार्यशाला के आयोजन, महत्व एवं उपयोगिता के संबंध में अपने विचार लिखित फीडबैक के रूप में पीआईबी, पटना को सौंपे। कार्यशाला का संचालन पी.आई.बी. के सहायक निदेशक संजय कुमार ने किया। जबकि धन्यवाद ज्ञापन मोतिहारी के जिला जनसंपर्क अधिकारी आलोक कुमार ने किया।

बिहार में क्षेत्रीय मीडिया कार्यशाला- वार्तालाप का यह 11 वां आयोजन है। इससे पूर्व यह नवादा, गया, मुजफ्फरपुर, आरा, कैमूर, औरंगाबाद, नालंदा, जहानाबाद, अररिया और सारण जिलों में आयोजित किया गया।

अन्य ख़बरें

30 लोगों को मिला भारत रत्न लाल बहादुर शास्त्री सम्मान
ढ़ाका के चंदनबाड़ा में तेज रफ्तार टेम्पो पल्टी , कई घायल
देश के पहले मल्टी मॉडल टर्मिनल का... प्रधानमंत्री ने किया उद्घाटन, वाराणसी हल्दिया जल मार्ग से पूर्व...
मौलिक अधिकारों के प्राप्ति हेतु संघर्ष आवश्यक: सत्येन्द्र कुमार मिश्र
मधुबन विधानसभा की जनता परिवर्तन के लिए तैयार : डाॅ. मदन प्रसाद साह
ढाका विधायक फैसल रहमान के बैलगाड़ी का बैल ? हुआ भारत बंद के खिलाफ
शिवहर में मतदान केंद्र पर होमगार्ड जवान की राइफल से चली गोली, मतदान कर्मी की मौत ।
स्पेस टेक्नोलॉजी में अपार संभावनाएं विषय पर अन्तर्राष्ट्रीय स्तर के कार्यक्रम आयोजित किया गया।
ढाका में भी छठ की तैयारियों के बीच खूब हुई खरीदारी
इनर व्हील क्लब ऑफ पटना ने बाल श्रमिकों के बीच अवेरनेस प्रोग्राम करवायाA
वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान पूर्व कृषि मंत्री ने lockdown, आइसोलेशन सेंटर, मजदूरों की घर वापसी, रे...
लॉक डाउन में काला बाजारियों पर रहेगी कड़ी नजर: प्रियरंजन राजू
जिलाधिकारी ने किया बाढ़ प्रभावित क्षेत्र का दौरा अंचलाधिकारी एसडीओ को दिया आवश्यक दिशा निर्देश
मधुबन उत्तरी मुखिया द्वारा अपने स्तर से मधुबन उत्तरी एवं दक्षिणी पंचायतों में कराया गया सैनिटाइजर का...
इंडियन ग्लौरी अवार्ड 2019 से सम्मानित हुये 71 विभूति
India volunteer Day celebrated with Mission to Identify, Integrate and Intensify the volunteer power...
पटना:समर कैंप में एनएसआई के छात्रों ने बिखेरे जलवे
धूमधाम से हुई मां सरस्वती की विदाई...
प्रधानमंत्री मोदी के कार्यक्रम के डिजिटल फोटोस यहां उपलब्ध है
राहुल गांधी सचिन पायलट समेत तमाम नेताओं ने की भारतीय पायलट के सुरक्षित वापसी की कामना

  • 15
    Shares

Leave a Reply