सत्याग्रह की आस ,आओ करें उपवास : मधु मंजरी

Featured Post पटना बिहार राजनीति
  • 5
    Shares

पटना। शिक्षा और सामाजिक सरोकार से जुड़ी शिवी फ़ाउण्डेशन ने राजधानी पटना के आम वासियों के साथ मिलकर सात सूत्री मांग के साथ आगामी 05 मई को सांकेतिक उपवास करने का निर्णय लिया है।

पटना के एक समाज सेवी संगठन की सचिव श्रीमती मघु मंजरी कहा कि जे.डब्ल्यू. हॉल्टन ने कहा था, ‘बिहार भारत का दिल है’ और पटना बिहार की
राजधानी है। शहर, जहां सपने पूरे किए जाते हैं। यही कारण है बिहार के लोग पटना शहर आते हैं लेकिन दुर्भाग्य से उनके सपने यहां पूरे नही हो पाते। जिसके कारण वह अपने सपने को पूरा करने के लिए भारत के अन्य शहरों की तरफ पलायन कर जाते हैं।

पटना ,बिहारवासियों का सपनों का शहर है लेकिन
दुर्भाग्य से पटना शहर लोगों का सपना पूरा करने में असमर्थ है। क्योंकि न तो यहां रोजगार है, न ही शिक्षा, स्वास्थ्य एवं उद्योग-धंधे ही हैं जिसके
कारण से पटना की आर्थिक क्षमता एवं सामाजिक गतिशीलता नगण्य है। जिसके चलते पटना लोगों की सपना पूरा करने में असमर्थ जैसा हो जाता है।

श्रीमती मंजरी ने कहा, पटना शहर घनत्व के आधार पर भारत के टॉप 15 शहरों में से एक है। पिछले 30 सालों में देखा जाए तो यहां सोशल
इंफ्रास्ट्रक्चर में कोई भी बदलाव देखने को नहीं मिलता है। पिछले तीन दशकों में कोई भी हॉस्पिटल, मेडिकल कॉलेज, स्कूल, महाविद्यालय, मैनेजमेंट या टेक्नोलॉजिकल इंस्टिट्यूट नहीं खुला।

जो किसी भी शहर की विकास क्षमता को दर्शाता है। जिसके चलते शहर में लोगों की आर्थिक उपार्जन नगण्य है साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों पर शहर का दबाव पड़ा और बिहार में कृषि के वैज्ञानिकीकरण के अभाव में कृषि भी अलाभकारी होने से किसान लोगों की, कृषि के तरफ से रुचि हटती जा रही हैं। जिसके परिणाम स्वरूप बिहार के शहर और गांव में रोजगार देने की क्षमता न होने के कारण लोग मुख्यत: अपने सपनों को पूरा करने हेतु बिहार से पलायन कर रहें हैं।

शिवी फ़ाउण्डेशन की सचिव ने बताया कि अब अविकसित बिहार के सबसे बड़ी समस्या लॉक डाउन खुलने के बाद नजर आएगी। जब बाहर से आये कामगार-मजदूर घर में ही रोजगार की मांग करेंगे, जो सरकार की बहुत बड़ी समस्या होगी। इस
समस्याओं से निदान प्राप्त हेतु सरकार को , नई योजना और नीतियों के अनुसार आगे आना होगा और लोगों की उम्मीद को पूरा करना होगा। दुःख की बात तो यह है कि बिहार में सबसे ज्यादा बेरोजगारी पहले से ही हैं। हम सत्याग्रह की आस, आओ करें उपवास के माध्यम से सरकार को वर्तमान परिस्थितियों से रूबरू कराना चाहते हैं और अपनी सात सूत्री मांग को लेकर हजारों की संख्या में पटनावासी सांकेतिक उपवास कर रहे हैं।

सत्याग्रह का स्थान अपना अपना घर होगा जिसका समय सुबह 9.30 -11.30 बजे
रखा गया है।

श्रीमती मघु मंजरी ने बताया कि हमारी सूत्री मांग:-
1.कोरोना वायरस का खतरा सबसे ज्यादा जनसंख्या घनत्व वाले क्षेत्र में होता है। पटना भारत के सबसे ज्यादा घनत्व वाला शहर है, इस कारण ऐसे क्षेत्रों को लगातार सैनिटाइज किया जाए और सोशल डिस्टेंनसिंग को मजबूती से पालन किया जाए।
2. पटना में छोटे कारोबारी जैसे ऑटोवाले रिक्शावाले, रेडीवाले ,ठेलेवाले और अन्य मजदूर व असहाय लोगों को प्रतिमाह आर्थिक सहायता हेतु 1000 रुपये तीन माह तक सरकार के द्वारा दी जाए। साथ ही सरकार अपने संसाधन से ,बाहर से
आये मज़दूरों को स्टाइपन देकर, जिस तरह का काम बाहर कर रहे थे उनका स्किल डेवलपमेंट, ख़ाली पड़े बाज़ार समिति में कोंरनटाईन कर किया जाय।
3. अगले 45 दिन में बिहार सरकार नीति बनाए और नीति को सार्वजनिक करें ताकि जो लोग वापिस बिहार आये है , उनके सपनों का साकार कर सके पटना शहर और उन्हें पलायन न करना पड़े।
4. पटना में 3 नए हॉस्पिटल और एक मेडिकल कॉलेज के साथ-साथ नए स्कूल, महाविद्यालय, मैनेजमेंट और टेक्नोलॉजिकल इंस्टिट्यूट सरकार के द्वारा खोले जाएं।
5. सरकारी दस्तावेजों में पटना में लगभग 1000 तालाब है। इन तालाबों को फिर से जीवित किया जाए ताकि जल- जमाव के साथ-साथ पानी के संकट का भी निपटारा हो सके।
6. राज्य सरकार ग्रेटर पटना बनाने के प्रोजेक्ट को जल्द से जल्द पूरा करने का प्रयास करें।
7. म्युनिसिपल कॉरपोरेशन और पंचायत को प्रशासनिक शिकंजे से मुक्ति मिले ताकि कामों में तेजी आ सकेे। इसके साथ-साथ सभी कॉरपोरेशन और पंचायत में कम्युनिटी रेडियो स्टेशन खोला जाए ताकि शिक्षा के साथ-साथ अन्य कार्यों में इसका उपयोग हो सके ।

श्रीमती मधु मंजरी ने बताया कि उपरोक्त व्यवस्था के तहत सरकार वर्तमान समस्याओं से निजात पा सकती है और साथ ही शहर की आर्थिक विकास होगी तो लोगों को रोजगार के साथ साथ सपना भी पूरा होगा।

अन्य ख़बरें

सामाजिक संगठनों ने किया गरीब एवं जरूरतमंद लोगों के बीच राहत सामग्री का वितरण
31 अक्टूबर को जिला स्कूल मोतिहारी में केंद्रीय कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह द्वारा दिव्यांग भाई-बहनों ...
M S College Motihari में एबीवीपी ने बाबा साहब की पुण्यतिथि सामाजिक समरसता के रूप में मनाया
महिला के लिए असंसदीय और अमर्यादित भाषा का इस्तेमाल कितना उचित है ?...SSP हरप्रीत कौर
सुकृष्णा कामर्स इस्टीच्यूट ने धूमधाम से मनाया शिक्षक दिवस
मॉब लिंचिंग के शिकार हुए 'आप' नालंदा जिलाध्यक्ष, धर्मेद्र
मुजीब गर्ल हाई स्कूल के संस्थापक स्वर्गीय कमला प्रसाद सिंह की पुण्यतिथि पर पर्यटन मंत्री ने की पुष्प...
रेमॉन मैग्सेसे पुरस्कार से सम्मानित हुये चम्पारण के लाल रवीश कुमार, सैंड आर्टिस्ट ने अनोखे अंदाज में...
जगदेव बाबू के सिद्धांत और आदर्श बिहार सहित भारत का विकास करने में सक्षम : मधुमंजिरी
अखिलेश सिंह ने मदर डेयरी पर बोलकर अपना पोल स्वयं खोल दिया: सचिंद्र सिंह कल्याणपुर विधायक
अरेराज: इंडियन ऑयल के सामाजिक दायित्व निर्वाहन (2019-20) के तहत 100 फीट ऊंचा धरोहर ध्वज का लोकार्पण
रिपोर्टर के किरदार को रूपहले पर्दे पर जीवंत करेंगी मुस्कान राज
चकिया: ABVP की बैठक संपन्न, पूरे देश में NRC लागू करेंने की मांग
30 लोगों को मिला भारत रत्न लाल बहादुर शास्त्री सम्मान
राष्ट्रीय मतदाता दिवस पर चंपारण का प्राण Logo का जिलाधिकारी रमण कुमार ने किया अनावरण
पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की 95 वीं जयंती मनाई गई
पर्यटन मंत्री ने की बूथ स्तर के कार्यकर्ताओं के साथ मीटिंग
साग खोटने के दौरान करंट लगने से एक की मौत
मिसेज ब्यूटी मॉम्स ऑफ बिहार के ग्रैंड फिनाले में छाया मॉम्स का जलवा
जिला पदाधिकारी की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में राजस्व संबंधी सभी कार्यों/योजनाओ के सम्यक निर्वहन/नि...

  • 5
    Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *