सड़क पर लड़की को बेल्ट से मारा और फिर………पढ़िए नरेंद्र सहारण की कलम से

गाँव-किसान छत्तीसगढ़ राष्ट्रीय
  • 32
    Shares

NTC NEWS MEDIA

छत्तीसगढ़। नरेन्द्र सहारण

हरिभूमि के रिपोर्टर नरेंद्र सहारण द्वारा लिखा गया यह लेख सही मायने में हमारे समाज को आईना दिखाने के लिए काफी है। जिस तरह से हम ग्रामीण जीवन से मॉडर्न जीवन में प्रवेश कर रहे हैं और अपनी वैदिक संस्कृति को कुत्सित वैज्ञानिकता के चक्कर में खोते जा रहे हैं कहीं ना कहीं सामाजिक रूप से पतन का शिकार हो रहें है। आए दिन महिलाओं के साथ घटित हो रही इस तरह की घटना है इस ओर इशारा करती है की हम सब मोरल पुलिसिंग करना भूल गए हैं। यही कारण है कि इस तरह की घटनाएं समाज में घटित हो रही है…….. पुरा लेख पढ़िए

……..यामाह कंपनी की बढ़िया सी जिगजैग बाइक मेरे सामने से गुजरी जिस पर किशोर कूल डूड और माय लाइफ माय रूल्स वाले युवक-युवती सवार थे। रोड के किनारे मैं भी खड़ा होकर फोन पर बात कर रहा था। मुझसे कुछ दूरी पर वह युवक और युवती बाइक खड़ी करके नीचे उतरे। फासला महज 50 मीटर होगा बा बमुश्किल। लड़के ने जींस की पेंट से बेल्ट निकाली और लड़की को मारना शुरू कर दिया लड़की आराम से समझाने का प्रयास करती रही ।परंतु वह नहीं मान रहा है चार से पांच बेल्ट उसने लड़की को जमा दी। उंगली के इशारे से गंदी गालियां निकालते हुए से समझा कर बाइक के पीछे बिठाकर ले गया।

आसपास में खड़े लोग तमाशबीन होकर इस नजारे को देख रहे थे। और बीच में पड़ने से कतरा रहे थे।क्योंकि मसला कुछ अलग ही टाइप का था। उनके आपस का था या ऐसे मामलों में बीच में कोई पड़ना भी चाहे तो सामने से कोई दो टके का यह कहकर भी झाड़ देता है कि आप से क्या मतलब…? आप अपना काम करिए,मोरल पुलिसिंग करने की जरूरत नहीं है।

हाई क्लास स्टैंडर्ड बच्चों को जरूरत से ज्यादा छूट देने वाले मां बाप क्या कभी यह नहीं देखते कि तुम्हारे बच्चे कहां पर क्या कर रहे हैं…? क्या उस लड़की के मां-बाप को इस बात का भान होगा कि उनकी बेटी किसी अपने ब्वॉयफ्रेंड से बेल्ट खा रही है….? सड़क के ऊपर उसका तमाशा बनाया जा रहा है…? बलात्कार होने पर मोमबत्तियां लेकर निकलने वाले लोग क्या पहले से जागरूक होकर अपने बच्चों को समझा नहीं सकते क्या…? उस लड़के के घरवालों को नहीं लगता कि तुमने हरामि को पैदा किया है…?

Advertisements

तुम्हारा पैदा किया हुआ हरामखोर बेटा किसी की लड़की को सरेराह मार रहा है। क्या तुमने उसे ऐसे ही संस्कारों से पोषित किया है…? पढ़ी लिखी महिलाएं लिबरल जो नारीवाद का पाठ पढ़ाती हैं। महिला सशक्तिकरण की बड़ी-बड़ी बातें करती हैं ।क्या उनको यह विषय दिखाई नहीं देते…? क्या जरूरत से ज्यादा स्वतंत्रता बच्चों को दुर्गति की ओर नहीं ले जा रही …?

बहुत सारे सवाल है जेहन में पर हम चुप हैं हमें क्या परंतु हम लोग कभी यह नहीं देखते कि हमारा बेटा क्या कर रहा है…? या हमारी बेटी पर हम जरूरत से ज्यादा विश्वास जो कर रहे हैं। क्या वह हमारे विश्वास पर खरी उतर रही है…?क्या लडकी और कूल ड्यूड बने लडके तुम्हारे नाम का परचम कहीं लहराने वाले हैं..? या बेज्जती करवाएंगे यह सब चीजें बहुत सोचने की है। परंतु इन ओर कोई ध्यान नहीं देता ।यह बोल कर टाल देते हैं, यह तो आजकल के मॉर्डन जमाने का फैशन है। और आज के दौर क्या एक सामान्य सा हिस्सा है!

ऐसे मामलों में वह किशोर ज्यादा पाए जाते हैं। जो घर से दूर रहकर पढ़ाई कर रहे हैं। चाहे वह लड़के हो या लड़की हो। जिनके बच्चे घर से बाहर जाकर दूसरे शहरों में पढ़ते हैं,हॉस्टलों में रहते हैं। तकरीबन ऐसे मामलों में वही ऐसा करते हुए पाए जाते हैं ।क्योंकि उस शहर से उनके तालुकात कम होते है।उनके जानने वाले कम होते हैं।

बीच सड़क सरे बाजार और सरेराह ऐसी बहुत सी लड़कियां पिट्टी हैं और चुपचाप पीटने वाले के पीछे बैठकर निकल लेती हैं। और मेरे जैसै देखने वालों के मन में सवाल यही उठता है अरे इस प्यार को क्या नाम दूं।Narendra Saharan  Chattisgardh

अन्य ख़बरें

मोतिहारी में आयोजित दो दिवसीय कौशल रोजगार मेले का हुआ समापन, 1557 युवाओं को मिला रोजगार।
एएनएम,आशा फैसिलेटर एव स्वास्थ्य कर्मीयो की साप्ताहिक बैठक सम्पन्न, चिकुनगुनिया पर दिया गया आवश...
वित्त मंत्री अरुण जेटली ने लिखी प्रधानमंत्री को चिट्ठी, स्वास्थ्य कारणों से नहीं लेंगे कोई बड़ी जिम्...
भिक्षुकों के बीच कंबल वितरण करते नजर आए जिलाधिकारी, बढ़ती ठंड में जीना हुआ मुहाल
पर्यटन मंत्री ने किया छठ घाटों का निरीक्षण, विधि एवं सुरक्षा व्यवस्था का लिया जायजा
पप्पू यादव का प्रेस कॉन्फ्रेंस... कई मुद्दों पर एक साथ बोलें, 20 सितंबर से मेडिकल माफियाओं के खिलाफ ...
गोपाल साह +2 विद्यालय में I.Sc. में होगी कृषि की पढ़ाई, पाठ्यक्रम का हुआ शुभारंभ...
कॉरपोरेट मामलों के मंत्रालय और सेबी ने नियामक निगरानी को मजबूत बनाने के लिए समझौता
भाजपा कार्यकर्ता ने पेश की मानवता की मिसाल, कुंभ के मेले में भटकी बुजुर्ग महिला को दिया सहारा। महिला...
बिहार पुलिस के जवान ने शादी कार्ड पर छपवाया कोविड-19 से संबंधित संदेश
रमगढ़वा : शिक्षक सम्मान समारोह का हुआ आयोजन
जिला टॉप शुभम के इंटर की पढ़ाई का खर्च देगी बिहार नवयुवक सेना
अंतरिम बजट2019 में किसानों के मुद्दे पर मोतिहारी के नेताओं की प्रतिक्रिया,
नाले में डूबने से एक छात्रा की मौत...!!! जिम्मेदार कौन.....???
फिलहाल दो ट्रेड़ो के 17 पदों के लिए 36 लोगों का हुआ इंटरव्यू
इनरव्हील क्लब का दो दिवसीय कार्यक्रम संपन्न
नवयुवक सेवा समिति की बैठक हुई संपन्न
भारत रत्न मा०अटल बिहारी जी को भावभीनी श्रद्धांजलि
अटल जी को शायर डॉक्टर सबा अख्तर की श्रद्धांजलि
कुशवाहा समाज की बैठक संपन्न। मेघावी छात्रों को आर्थिक सहायता एवं समाज के राजनीतिक हिस्सेदारी के मुद्...

  • 32
    Shares

Leave a Reply