विश्व हेपेटाइटिस दिवस पर कुमार हेल्थ केयर छतौनी में नि: शुल्क जांच व टीकाकरण शिविर

Featured Post slide बिहार मोतिहारी मोतिहारी स्पेशल स्पेशल न्यूज़ स्वास्थ्य
  • 13
    Shares

विश्व हेपेटाइटिस दिवस पर 60 मरीजों का किया गया नि: शुल्क जांच व टीकाकरण

विश्व हेपेटाइटिस दिवस पर कुमार हेल्थ केयर छतौनी में नि: शुल्क जांच व टीकाकरण शिविर लगा कर लोगो को जागरूक एवं टीकाकरण किया गया।

हॉस्पीटल के निदेशक डा. कमलेश कुमार डी एम (गैस्ट्रो) ने बताया कि हेपेटाइटिस बी रोगियों की संख्या लगातार बढ़ने का मुख्य कारण लोगों में जानकारी का अभाव है। इस बीमारी के लक्षण एवं बचाव के बारे में प्रकाश डालते हुए डा. कुमार ने बताया कि हैपेटाइटिस बी एक संक्रामक रोग है जो हेपेटाइटिस बी विषाणु के कारण फैलता है। इस रोग से पीड़ित कई मरीजों को लंबे समय तक इसका पता भी नहीं चलता।
उन्होनें बताया कि विश्वभर में लीवर सिरोसिस एवं लिवर कैंसर के 60 % मामले हेपेटाइटिस बी के कारण होते हैं। हेपेटाइटिस बी के फैलने का मुख्य कारण संक्रमित व्यक्ति के साथ असुरक्षित यौन संबंध बनाने, संक्रमित सुई, ब्लेड, निर्जंतुक (Sterilized) नहीं किए गए उपकरणों से टैटू बनवाना, कान छिदवाना, दाढ़ी का ब्लेड, या संक्रमित व्यक्ति का टूथ ब्रश जैसा व्यक्तिगत सामान इस्तेमाल करना शामिल है।
वही कार्यक्रम में मौजूद डा. लिपि प्रियदर्शिनी ने बताया कि यह बीमारी गर्भावस्था में प्रसव के समय संक्रमित माता से शिशु को भी हो सकता है। इतना ही नहीं संक्रमित व्यक्ति का रक्त दान (ब्लड ट्रांसफ्यूजन), अंग प्रत्यारोपण (ऑर्गन ट्रांसप्लांट) करते समय ठीक से जांच नहीं किए जाने पर भी हेपेटाइटिस बी फैल सकता है। साथ डा. कुमार एवं डा. प्रियदर्शिनी ने बताया कि यह बीमारी गले लगने, हाथ मिलाने, किसी के खांसने या छींकने से नहीं फैलता।
उक्त अवसर पर उपस्थित मरीजों को जागरुक करते हुए डा. कुमार ने बताया कि भूख कम लगना, चमड़ी और आंख का रंग पीला होना, पेशाब का रंग पीला एवं लाल होना, कमजोरी, सिर दर्द, बुखार, पेट दर्द, जी मिचलाना, खुजली, उल्टी, खून की उल्टी, पेट में पानी होना इस बीमारी की प्रमुख लक्षण है जबकि जीर्ण यानी (क्रोनिक) हेपेटाइटिस बी से पीड़ित ज्यादातर रोगियों में इनमें से कोई भी लक्षण नहीं होता।
डा. कुमार ने बताया कि यह बीमारी HIV से भी खतरनाक बीमारी है। इससे लीवर सिरोसिस एवं लीवर कैंसर होता है। वही डा. लिपि प्रियदर्शनी ने बताया कि लोगो को जागरूक करने एवं इस बिमारी से बचने के लिए कुमार हेल्थ केयर में हर माह के दुसरे रविवार को हेपेटाइटिस बी का जांच एवं टीकाकरण किया जाता है।
कार्यक्रम को सफल बनाने में राजेश कुमार सिंह, विनोद कुमार, पवन कुमार, विश्वनाथ चौधरी, जाकिर अंसारी, डा. राजेश, डा. शाहिद, सुमन कुमार, रोहित कुमार, सोनू कुमार, रामकिशोर मिश्रा, करण कुमार, शिव कुमार, गायत्री शर्मा, चंदा देवी ने अहम भूमिका निभाई। उक्त मौके पर 60 मरीजों की नि: शुल्क जांच एवं टीकाकरण किया गया।

अन्य ख़बरें

गांधी के विचार आज भी प्रासंगिक: अवनीश कुमार
केंद्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह के जन्मदिन पर हुआ वृक्षारोपण एवं पौधा वितरण
हमारे पास सबसे ऊंची मूर्ति जरूर है किन्तु इतनी बड़ी सीढ़ी नहीं है जो आगलगी में फंसे बच्चों की जान ब...
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने केंद्रीय मंत्रियों के साथ विचार-विमर्श किया
मोतिहारी की सड़कों का होगा चौड़ीकरण, सौंदर्यीकरण एवं बढ़ेंगी जन सुविधाएँ: मंत्री
बारात में आए बच्चे को छोड़कर बराती हुए रफूचक्कर, परिजनों की खोजबीन जारी
रिटायर्ड कर्मी से दिन-दहाडे़ 20 हजार की लूट...घटना बलुआ चौक की
इनर व्हील क्लब पटना ने 2019-20 का छठा क्लब खोला
NSS LND College Motihari.... 2.0 स्वच्छता के 50 घंटे कार्यक्रम के आज सातवें दिन
शरण नर्सिंग होम की तरफ से लगा, डाक बम कांवरियो के लिए स्वास्थ्य एवं सेवा शिविर
जयंती पर याद किए गए क्रांतिकारी चंद्रशेखर आजाद,
लोक आस्था के महापर्व के अवसर गरीब महिलाओं में वस्त्र एवं आवश्यक समान वितरित
चांद की कक्षा में पहुंचा chandrayaan-2 अगले माह 7 सितंबर को होगी लैंडिंग
इनरव्हील क्लब ऑफ पटना ने वितरित की राहत सामग्री
सैंड आर्टिस्ट ने बालू पर भगवान बुद्ध की प्रतिमा उकेरकर कर दिया शांति का संदेश
वार्ड नंबर 4 में चयनित लाभुक परिवारों को मिली शौचालय की चाभी
Super Dancer Anshu
बेटियों के सम्मान में चांदमारी में कोचिंग-ट्यूशन बंद, बेटा बचाओ आंदोलन की आवश्यकता
डेटॉल द्वारा आयोजित कार्यक्रम "हैंड वॉश" कल, केंद्रीय कृषि मंत्री होंगे शामिल
दीदी जी फाउंडेशन ने कोरोना वायरस को लेकर चलाया जागरूकता अभियान

  • 13
    Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *