रेडक्रास परिणाम : समाजसेवी चारों खाने चित। विभिन्न पैनल के अधिकतम सदस्य हारे।।

Featured Post बिहार मोतिहारी मोतिहारी स्पेशल स्पेशल न्यूज़

मोतिहारी। भारतीय रेड क्रॉस सोसाइटी के कार्यकारिणी सदस्य निर्वाचन का परिणाम घोषित किया जा चुका है। चुनाव के परिणाम बिल्कुल चकित करने वाले हैं किसी को भरोसा नहीं हो रहा है कि सालों ब्लड डोनेट करने वाले विभिन्न डोनर ग्रुप के चर्चित सदस्य कैसे चारों खाने चित हो गए । यहां तक की अलग-अलग गुटों के अलग-अलग पैनल बने हुए थे लेकिन एक पैनल को छोड़कर बाकी सभी पैनल एवं समीकरण धराशाई हो गए हैं।
मतगणना के बाद जारी विजेता सूची के अनुसार वरिष्ठ चिकित्सक डॉ आशुतोष शरण सर्वाधिक 1329 मतों के साथ प्रथम स्थान पर हैं तो वहीं दूसरे स्थान पर डॉक्टर चंद्र सुभाष है। जिन्हें 1263 मत प्राप्त हुए हैं। वहीं तीसरे स्थान पर विभूति नारायण सिंह है जिन्हें1239 मत प्राप्त हुए हैं।
वही जीतने वाले अन्य निर्वाचित सदस्यों में क्रमशः उज्ज्वल कुमार श्रीवास्तव 1152,
दिलीप कुमार सिंह 1063,
डॉ ओम प्रकाश 970,
मिना मिश्रा 966,
डॉ अमित कुमार 915,
राकेश कुमार सिन्हा 915,
अजय कुमार 877,
पुष्पा किशोर 866,
संजय कुमार जायसवाल 812,
अंगद कुमार सिंह 807,
महेश प्रसाद सिन्हा 783,
आशेष कुमार 770 मतों के साथ रेडक्रॉस कार्यकारिणी के सदस्य निर्वाचित हुए हैं।
आपको बता दें कि पिछले 1 महीने से रेड क्रॉस चुनाव काफी चर्चा में था इसमें कई पुराने तो वहीं कई नए उम्मीदवार मैदान में थे। नई उम्मीदवारों में कुछ ऐसे उम्मीदवार थे जिनको लेकर शहर में जीतने की प्रबल संभावना जताई जा रही थी लेकिन चुनाव के परिणामों की बात करें तो हार का सामना करना पड़ा।
इस संदर्भ में हमने रेड क्रॉस के लिए बड़ी ही सक्रिय रूप से काम करने वालों में प्रोफेसर मुन्ना कुमार, सैयद साजिद हुसैन, मुखिया राजू बैठा एवं समाजसेवी केशव कृष्णा से बातचीत हुई। सभी ने इस संदर्भ में अपनी बेबाक प्रतिक्रिया दी।
इस दौरान प्रोफेसर मुन्ना कुमार ने कहा कि रेड क्रॉस के इस परिणाम को देखते हुए कहा जा सकता है कि हम नहीं हारे हैं बल्कि मोतिहारी हारा है।
उन्होंने कहा कि परिणाम को देखते हुए मुझे एवं मेरे जैसे समाजसेवियों को ऐसा महसूस हुआ है कि समाज सेवा करना अपने पैर पर कुल्हाड़ी मारने के बराबर है लेकिन फिर भी सेवा चुनाव के लिए नहीं करते हैं बल्कि एक संतुष्टि है समाज में जरूरत है हम जैसे लोगों की इसलिए करते हैं।
उन्होंने कहा कि वर्तमान चुनाव में जितने लोग भी जीते हैं वह या तो राजनीतिज्ञ हैं या तो बिजनेसमैन है या डॉक्टर हैं जिनको 1 मिनट भी फुर्सत नहीं है। बावजूद इसके उन्होंने इन नए निर्वाचित सदस्यों से रेडक्रॉस के बढ़ोतरी के लिए आशान्वित हैं।
वही समाजसेवी एवं बिहार यूथ आर्गेनाइजेशन रक्तदाता समूह के सैयद साजिद हुसैन ने कहा कि हालिया परिणाम को देखते हुए कहा जा सकता है कि रेड क्रॉस चुनाव की तैयारी पिछले 6 महीने से ही की जा रही थी एवं जिस तरह से वोटिंग हुई है इसकी उम्मीद नहीं थी।
इतना ही नहीं गोढ़वा पंचायत के मुखिया राजू बैठा ने कहा कि अधिसूचना जारी होने के बाद भी वोटर बनाया गया एवं जातिवाद पूरी तरह से हावी रहा।
उन्होंने कहा कि सामाजिक कार्यकर्ताओं ने जितना अच्छा रेड क्रॉस के लिए काम किया। जिसने रेड क्रॉस को खून दिया। आपदा में अच्छा कार्य किया। वैसे लोगों को वोटरों ने नकार दिया।
उन्होंने चुनाव के पहले बने विभिन्न पैनलों पर भी प्रश्नचिन्ह खड़ा करते हुए कहा कि सारे पैनल वाले ने भी एक दूसरे के साथ धोखा किया है। उन्होंने रेड क्रॉस में विजयी एक नामी डॉक्टर की ओर इशारा करते हुए कहा कि यदि वह इतना मत प्राप्त कर के विजयी हुए हैं तो उनके पूरे पैनल को इतना मत प्राप्त क्यों नहीं हुआ है।
वहीं समाजसेवी केशव कृष्णा की प्रतिक्रिया इससे भिन्न थी उन्होंने कहा कि केशव कहीं भी रहेगा सेवा कार्य उसका जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि जीत हार से कोई दुःखी ना हो।
वहीं दूसरी ओर ब्लड डोनर के राजन श्रीवास्तव, रवि अग्रवाल, अरुण कुमार तिवारी, राहुल अग्रवाल, संजय कुमार रमन, प्रीति कुमारी एवं एडवोकेट आलोक चंद्रा जैसे सक्रिय समाजसेवी इस रेस से बाहर कैसे हो गए इस पर शहर में समीक्षा का दौर जारी है।
आपको बता दें कि रेड क्रॉस मोतिहारी के लिए 12 जून को चुनाव संपन्न हुआ था। इस चुनाव में कुल 63 कैंडिडेट मैदान में थे। वही वोटरों की बात करें तो उनकी संख्या 3639 थी जिनमें से 109 की मृत्यु हो जाने के पश्चात कुल 3530 वोटर बचे थे जिनमें से 2625 ने अपने मत का प्रयोग किया था। वही वोटों की गिनती 14 जून 2022 को संपन्न हुई। इसके गिनती के लिए कुल 20 टेबल बनाए गए थे।
आगे शहर में नगर निकाय का चुनाव आने वाला है एवं हालिया चुनाव परिणामों को देखते हुए, शहर के जाने-माने समाजसेवियों के बीच इस बात की चर्चा भी जोर-शोर से हो रही है की समाज सेवा वोट में कन्वर्ट हो जाए इसकी संभावना काफी कम है क्योंकि वोट व्यक्तिगत चेहरे के साथ-साथ जातिगत एवं राजनीतिक समीकरणों पर भी निर्भर करता है।
अब देखने वाली बात यह होगी कि कल तक नगर निगम का चुनाव लड़ने के लिए महीनों से सोशल मीडिया पर बैनर पोस्टर पर लटकते घूम रहे समाजसेवियों के ऊपर इस चुनाव परिणाम का कितना असर पड़ता है एवं बैनर पोस्टर वैसे ही जहां-तहां लटकते बनेगा या यह समीक्षा करके अपने कदम पीछे खींचेंगे। हालांकि लोकतंत्र में हर व्यक्ति को चुनाव लड़ने का अधिकार प्राप्त है।

अन्य ख़बरें

आसाराम जी बापू का 55 वां आत्मसाक्षात्कार दिवस धूमधाम से मनाया गया
जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक ने पकड़ीदयाल प्रखंड भ्रमण क्रम में बेलवा घाट में जल स्तर का जायजा
रोटरी क्लब मोतिहारी द्वारा विश्व जनसंख्या दिवस पर आयोजित किया गया कार्यक्रम, जनसंख्या वृद्धि पर अंकु...
ब्रावो फाउंडेशन ने जिला विधिज्ञ संघ भवन में लगवाया ऑटोमेटिक हैंड सैनिटाइजर डिस्पेंशर
गाँधी जयंती के अवसर पर निकाली गई झाँकी
मोतिहारी में मंत्री लेसी सिंह ने "भाग्यलक्ष्मी सम्मान समारोह- 2022" कार्यक्रम का किया उद्घाटन
संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद मैं भारत की जीत, अगले 3 वर्षों तक के लिए स्थाई सदस्य
ABVP ने सेल्फी विथ कैम्पश यूनिट को लेकर किया पोस्टर का विमोचन, "जहाँ जहाँ परिसर - वहाँ वहाँ परिषद" क...
आसाराम बापू के भक्तों ने मनाया ब्लैक डे: 5 साल पहले आज ही के दिन आसाराम बापू हुए थे गिरफ्तार
भ्रष्टाचार के खिलाफ शुरू की गई लड़ाई को तेज करने की जरूरत : त्रिभुवन
चित्रगुप्त सभागार सह लोकनायक जयप्रकाश नारायण सांस्कृतिक भवन का लोकार्पण
चयनित शिक्षकों के लिए नियुक्ति पत्र जारी करने की तिथि हुई निर्धारित, शिक्षकों में हर्ष
जिलाधिकारी ने किया निर्माणाधीन खेल भवन का निरीक्षण। यहाँ बन रहा है खेल भवन...
दर्शकों को बेहद पसंद आयेगी "नागधारी" :प्रियंका महाराज
सेवा दिवस के अवसर पर मोतिहारी में हुआ स्वास्थ्य शिविर आयोजन
कांग्रेस की जन आकांक्षा रैली को लेकर बिट्टू यादव के नेतृत्व में पीपरा विधानसभा में हुई जनसंपर्क बैठक...
खेल दिवस पर जिले के खिलाड़ी एवं प्रशिक्षक हुए सम्मानित, वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान उप मुख्यमंत्री...
क्या समाजवादी पार्टी के नेता मुलायम सिंह यादव (नेता जी) का देहांत हो गया हैं...?
जगदेव बाबू के सिद्धांत और आदर्श बिहार सहित भारत का विकास करने में सक्षम : मधुमंजिरी
कला संस्कृति मंत्री ने किया बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों का दौरा

Leave a Reply