राज्य के शिक्षकों ,आंगनबाड़ी एवं आशा सेविकाओं को कोरोना योद्धा के रूप में 1 करोड़ तक का विशेष बीमा कवर दिया जाए

Featured Post बिहार मोतिहारी मोतिहारी स्पेशल राजनीति स्पेशल न्यूज़
  • 36
    Shares

मोतिहारी। आम आदमी पार्टी ने बिहार सरकार पर बड़ा आरोप लगाते हुए बोला कि बिहार में न तो आम आदमी ही सुरक्षित है और न ही कोरोना से मुक्ति में लगे शिक्षक, आंगनबाड़ी और आशा सेविकाएं ही ।

आंगनवाड़ी, आशा कार्यकर्ताओं के साथ शिक्षको की भी ड्यूटी लगाई है। महाराष्ट्र, गुजरात, दिल्ली, मुंबई, आंध्र प्रदेश सहित देश के विभिन्न राज्यों से पहुंच रहे प्रवासी मजदूरों में कोविड-19 का खतरा बना हुआ है। जिनकी देखरेख का काम शिक्षकों को सौंपा गया है।

प्रदेश प्रवक्ता मुन्ना भाई का आरोप है कि इस बाबत न तो शिक्षको को कोई पूर्व प्रशिक्षण दिया गया है और न ही उन्हें सुरक्षा किट प्रदान दी गई है, न ही शासन स्तर से शिक्षकों को विशेष बीमा सुरक्षा सुविधा दी है। जबकि राज्य शासन द्वारा राहत और बचाव से जुड़े प्रत्येक स्वास्थ्य और पुलिस विभाग के अधिकारियों कर्मचारियों को 50 लाख तक का विशेष बीमा कवर प्रदान किया है। विशेष प्रशिक्षण के साथ साथ मेडिकल सुरक्षा किट प्रदान की गई है, यहां तक कि सम्बन्धित कर्मचारियों के परिवारों को संक्रमण से बचाने के लिए उन्हें ड्यूटी स्थल पर रुकने की समुचित व्यवस्था का प्रावधान किया गया है। बिहार सरकार से मांग करते हुए उन्होंने कहा कि शिक्षको को कोरोना योद्धा के रूप में सुविधा मिले और दिल्ली की आप सरकार की भांति 1 करोड़ तक का विशेष बीमा कवर दिया जाए।

उन्होंने ने आरोप लगाया कि कोरोना संदिग्ध के सर्वे के लिए स्वास्थ्य विभाग शहर और ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना कोविड 19 के संदिग्ध के विषय में आशा कार्यकर्ता, आंगनबाड़ी सेविका घर- घर जाकर जानकारी जुटा रही हैं। उनलोगों को कोई प्रशिक्षण नहीं दिया गया है । आशा फेसिलेटर के द्वारा बाहर से आने वाले लोगों की सूची मांगी गयी है जिसमें कोरोना का लक्षण आता हो। लेकिन उन्हें न तो कोरोना मरीज से बचाव के लिए कोई मास्क, टोपी और कोई किट मिला है। कई जगहों पर सर्वे करने वाली टीम के साथ मारपीट और हमले की खबर आ चुकी है। वही क्षेत्र में जाने से इन्हे कोई सुरक्षा मुहैया नहीं है। ऐसे में अगर किसी को कोरोना हो जाता है तो सब घरों में यह खतरा बढ़ जाएगा। बिहार सरकार इन्हे भी कोरोना योद्धा के रूप में सुविधा प्रदान करे और विशेष बीमा कवर दिया जाए।

अन्य ख़बरें

छात्र राजद ने दी उग्र आंदोलन की चेतावनी
आखिर तेजस्वी यादव की रैली में क्यों हुआ मोदी मोदी पूरा पढ़िए
रमगढ़वा पंचायत के वार्ड नंबर 1 में लगी भीषण आग, मौके पर पहुंच मुखिया ने की मानवीय सहायता
दो दिन में इतिहास के दो पन्‍नों को हमने खो दिया : खेसारीलाल यादव
DUSU के चुनाव परिणाम से उत्साहित अभाविप के कार्यकर्ताओं ने रंग गुलाल लगाकर मनाया जश्न
दोस्ती जिंदाबाद फ़िल्म की रिलीज हुई शानदार पोस्टर, 18 अक्टूबर को सिनेमाघरों में
बिना हेलमेट के सड़कों पर निकलता है ये शख्स, देखकर पुलिस भी नहीं काटती चालान
भारत के नौजवान सभा(DYFI) की रैली 15 Sep. को, DM को सौंपेंगे मांग पत्र
स्व०योगेन्द्र प्रसाद के प्रतिमा का अनावरण सह कार्यकर्ता सम्मेलन सम्पन्न
भारत ने बांग्लादेश और नेपाल को दिया इतना वैक्सीन
शासन भ्रष्ट प्रशासन निरस्त:शिवम कुमार साह
करोड़पति सुशील कुमार बने चुनाव 2019 के ब्रांड एम्बेसडर। अब लोगों को वोट डालने के प्रति जागरूक करते न...
नव नियुक्त ANM का लॉटरी सिस्टम के माध्यम से पदस्थापन किया गया
CAA एवं NRC के समर्थन में ABVP का जुलूस
ऐसा कोई सगा नहीं जिसको नीतीश चाचा ने ठगा नहीं: तेजस्वी यादव
स्वास्थ केंद्र पकड़ी के बदहाली के लिये जनप्रतिधि जिम्मेवार: मिश्र
पटना गोलघर के प्रांगण में हुआ योगाभ्यास... पर्यटन मंत्री हुए शामिल
मोतिहारी के किस सड़क का नाम हुआ "महात्मा गांधी मार्ग"(M.G.Road) पढ़िए.....
पोषण मेला में बच्चों के पौष्टिक आहार, साफ-सफाई, डायरिया आदि विषय को लेकर फैलाई गई जन जागरूकता
काशी की ज्ञानवापी मस्जिद मामले में पुरातात्विक सर्वे के लिए स्थानीय अदालत ने दिया फैसला

  • 36
    Shares

Leave a Reply