मृत बिहारी मजदूरों की संख्या व राहत पैकेज की मांग को लेकर “आप” का उपवास

Featured Post बिहार राजनीति

मोतिहारी ,27 मई। आज आम आदमी पार्टी (आप) द्वारा बिहार की नीतिश सरकार से देशव्यापी लॉकडॉन के दौरान विभिन्न घटनाओं में मारे गए बिहारी मजदूरों का आधिकारिक आंकड़ा जारी करने तथा उनके आश्रितों के लिए मुआवजा व राहत पैकेज की मांग को ले एक दिवसीय राज्य स्तरीय सांकेतिक उपवास रखा गया। राज्य स्तर पर उपवास का कार्यक्रम पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सुशील कुमार सिंह के नेतृत्व में एवं जिला स्तर पर जिलाध्यक्ष के नेतृत्व में रखा गया।

प्रदेश प्रवक्ता मुन्ना कुमार ने बताया कि कोरोना महामारी के नियमों का पालन करते हुए सभी पार्टी पदाधिकारियों और सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने अपने-अपने स्थानों पर एक दिवसीय सांकेतिक उपवास रखा।

उपवास के दौरान प्रदेश अध्यक्ष सुशील कुमार सिंह ने एक बयान जारी कर कहा कि कोरोना महामारी के दौरान पूरे देश से बिहार के मजदूरों का अपने राज्य में रिवर्स माइग्रेशन हो रहा है, इसके चलते कई मजदूरों की मौत सड़क पर, रेल पटरियों पर, वाहनों की भिड़ंत में, भूख और बीमारी से हो रही है। कई-कई ट्रेनें कई दिनों बाद रास्ता भटकते हुए बिहार पहुंच रही है, जिसके कारण कई मजदूरों के बच्चों की ट्रेन में ही भूख- प्यास से मौतें हो रही हैं।

प्रदेश अध्यक्ष ने आरोप लगाया कि करीब 15 सालों से बिहार की सत्ता पर काबिज़ नीतीश कुमार, बिहार को उस काबिल नहीं बना पाए कि यहां जनता को अपने राज्य में ही रोजगार मिल पाए। उन्होने लोगों को अपना ही घर बार छोड़कर रोजगार की तलाश में दूसरे राज्यों में जाने पर मजबूर कर दिया गया है।

आज जब मजदूरों को मदद की जरूरत है, तब उन्हें सरकार ने बड़ी बेशर्मी से बेसहारा छोड़ दिया है। नीतीश जी बताएं कि गरीब मजदूरों से इन्हें इतनी नफरत क्यों है?

उन्होंने कहा कि लॉकडाउन के दौरान मरने वाले मज़दूरों में बिहार के मजदूरों की संख्या काफी अधिक है। इसके बावजूद बिहार सरकार की ओर से अब तक कोई आधिकारिक आंकड़ा जारी नहीं किया गया है और न ही मरने वाले मजदूरों के आश्रितों के लिए कोई राहत पैकेज की घोषणा की गई है। इसलिए हमारी मांग है कि बिहार सरकार मरने वाले मज़दूरों के आंकड़े तुरंत जारी कर आश्रितों के लिए मुआवजे की घोषणा करे।

प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार आज के उपवास कार्यक्रम में जिला अध्यक्ष ऊमेश सिंह कुशवाहा, प्रदेश प्रवक्ता मुन्ना कुमार, जिला प्रवक्ता सुजित सिंह, वाकिल सिंह, बिरेन्द्र ज़ालान, ललन सिन्हा, रवि प्रकाश, सकिल, मनोज प्रसाद कुशवाहा, मुमताज खान, मुन्ना सिंह मौर्य, निरज शर्मा, हरिश चन्द्र, विष्णु गुप्ता, रघुवीर चन्द्र मौर्य, रहमतत्तुला, सीमा कुमारी, विकास कुमार आदि शामिल रहे।

अन्य न्यूज

इस लॉकडाउन में गुम हुयी खुशियों पर बजने वाली किन्नरों की ताली

 

बिहार मैट्रिक का रिजल्ट जारी विभिन्न क्षेत्रों के छात्र-छात्राओं ने मारी बाजी

 

Advertisements

अन्य ख़बरें

केंद्रीय विश्वविद्यालय में महिलाओं के सम्मान में चला हस्ताक्षर अभियान, मानव श्रृंखला निर्माण एवं साम...
"संघर्ष" फिल्म के प्रमोशन के लिए पहुंची अभिनेत्री काजल राघवानी, अभिनेता अवधेश मिश्रा संग पूरी टीम
अपनी दमदार प्रस्तुति के बल पर संगीत के क्षेत्र में विशिष्ट पहचान बना चुकी है प्रिया राज
पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की 95 वीं जयंती मनाई गई
पूर्व कृषि मंत्री राधामोहन सिंह ने राम मंदिर निर्माण के लिए दिया 5 लाख का चेक
पटना आईएमए हाॅल में 'आइसा' एवं 'ऐपवा' का छात्रा संवाद, छात्राओं ने मुखर रूप कही मन की बात।
प्रोफेसर संजय कुमार के साथ मारपीट निंदनीय, विवि जल्द नहीं खुला तो होगा आंदोलन: ABVP
प्रथम खंड की परीक्षा का केंद्र बदल गया है। अब इस परीक्षा केंद्र पर होगी परीक्षा ।।
इनरव्हील क्लब का दो दिवसीय कार्यक्रम संपन्न
दस दिवसीय खादी फेस्ट 2019 का हुआ समापन, आयोजन समिति ने मोतिहारी वासियों का जताया आभार
अनीश राना बने मिस्टर और मुस्कान के सिर सजा मिस पर्सनालिटी का खिताब
सवर्ण आंदोलन से डरी सरकार, गिरिराज सिंह होंगे बिहार के नए उपमुख्यमंत्री
"अपना बूथ सबसे मजबूत" मूल मंत्र के साथ भाजपा बूथ पदाधिकारीयों की समीक्षा बैठक सम्पन्न।।
वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से राजस्व विभाग की हुई समीक्षा बैठक, मुख्य सचिव हुए शामिल
जयंती पर याद किए गए बाबा साहब भीमराव अंबेडकर
गोपालगंज जदयू महिला अध्यक्षा रीता देवी हुई सम्मानित, महिला सशक्तिकरण सहित सामाजिक कार्यों में भी बढ...
स्नातक नामांकन में छात्रों की सुविधा के लिए ABVP ने जिले के विभिन्न कॉलेजों में लगाया हेल्पडेस्क,
भिखारी पाकिस्तान के प्रधानमंत्री पाक अधिकृत कश्मीर-लद्दाख में फोटोशूट कराने में व्यस्त
शर्म नहीं सम्मान है औरत की पहचान है"  माहवारी स्वछता दिवस पर वार्ड सदस्यों ने दिया संदेश
वर्तमान एवं भावी पीढ़ियों के प्रेरणा स्रोत है नेताजी: प्रकाश अस्थाना

Leave a Reply