मातृत्व, शिशु स्वास्थ्य एवं पोषण सेवाओं की उपलब्धता एवं गुणवत्ता सुनिश्चित कराने हेतु बैठक

Featured Post बिहार मोतिहारी मोतिहारी स्पेशल स्पेशल न्यूज़ स्वास्थ्य

बैठक में प्रखंड स्तरीय सरकारी पदाधिकारी एवं महिला पंचायत प्रतिनिधि मौजूद

मोतिहारी। आज चैम्पियन परियोजना के अंतर्गत प्रखंड स्तरीय सरकारी पदाधिकारियों एवं महिला पंचायत प्रतिनिधियों की बैठक का आयोजन सभा कक्ष, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, मोतिहारी प्रखंड, पूर्वी चम्पारण जिला में आयोजित किया गया. बैठक का उद्देश्य महिला वार्ड सदस्यों के द्वारा मातृत्व स्वास्थ्य एवं पोषण की बेहतरी हेतु किये जा रहे विभिन्न कार्यों को साझा करना, सरकार की योजनाओं को जमीनी स्तर तक उतारने में हो रही दिक्कतों को साझा करना एवं सामूहिक जिम्मेदारी तथा आपसी सामंजस्य स्थापित करने हेतु पहल करना था।
प्रखंड स्तरीय बैठक का उद्घाटन इंदुबाला सिंह, प्रखंड विकास पदाधिकारी; डॉ. श्रवण कुमार पासवान, प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी, संध्या कुमारी, प्रखण्ड स्वास्थ्य प्रबंधक, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, नंदन झा, डीसीएम पूर्वी चंपारण एवं महिला प्रतिनिधियों द्वारा संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलन कर किया गया।कार्यशाला के दौरान आकाश कुमार सिंह, कार्यक्रम पदाधिकारी, सेंटर फॉर कैटेलाईजिंग चेंज, पटना ने प्रखंड स्तरीय पदाधिकारियों का स्वागत करते हुए बताया की संस्था बिहार राज्य में विगत 15 वर्षों से महिलाओं एवं किशोरियों के उत्थान हेतु कार्यरत है एवं विभिन्न कार्यक्रमों के माध्यम से उन्हें सशक्त, क्षमतावान, नेतृत्वकर्ता के रूप में स्थापित करने का लगातार प्रयत्नशील है. संस्था के माध्यम से ‘चैम्पियन परियोजना’ नामक एक कार्यक्रम विगत वर्ष 2018 से बिहार के 15 जिलों में 3000 महिला जन प्रतिनिधियों के साथ चलाया जा रहा है. इस परियोजना में पूर्वी चम्पारण जिले के मोतीहारी सदर एवं छौरादानो प्रखंड की 200 महिला वार्ड सदस्य जुडी हुई हैं।
उन्होंने आगे बताया की चैंपियन परियोजना के माध्यम से कई महिला जन प्रतिनिधियों ने अपने अपने वार्ड में महिलाओं की स्वास्थ्य एवं पोषण सम्बन्धी आवश्यकताओं एवं जरूरतों पर सकारात्मक कारवाई करने की पहल की है, एवं विभिन्न मांगों के सम्बन्ध में सरकारी पदाधिकारियों के साथ दूरभाष पर संपर्क एवं पत्राचार कर मामलों की गंभीरता से अवगत कराया है एवं सकरात्मत बदलाव हेतु पहल की है।
चैम्पियन परियोजना कार्यक्रम के पूर्वी चम्पारण जिला के समन्वयक, श्री आदित्य राज ने बताया कि महिला जन प्रतिनिधियों ने अपने स्तर से आंगनवाडी केन्द्र, स्वास्थ्य उपकेन्द्र, अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र एवं सदर अस्पताल का निरक्षण भी कर रही है एवं उन आकलन से निकल कर आए बिंदुओं को लेकर एक मांग पत्र का निर्माण एवं नीति निर्माताओं एवं सरकारी पदाधिकारियों के साथ साझा किया है ताकि स्वास्थ्य एवं पोषण में अपेक्षाकृत सुधार हो सके।
कार्यक्रम के दौरान जिले की 10 महिला पंचायत प्रतिनिधियों द्वारा उनके माध्यम से वार्ड एवं पंचायत में स्वास्थ्य एवं पोषण के सम्बन्ध में किये जा रहे कार्यों को भी साझा किया गया जिसमें मुख्य रूप से नीलम कुमारी वार्ड-5, पश्चिम ढेकहा, सविता देवी वार्ड-1, चंद्रहिया, सुधा देवी वार्ड-11, मीना देवी वार्ड-7 बारा बरियारपुर इत्यादि।कार्यशाला के दौरान प्रखंड स्तरीय पदाधिकारियों के द्वारा इन महिला पंचायत प्रतिनिधियों का सामूहिक रूप से संवाद भी किया गया साथ ही साथ सरकार के स्तर से अपेक्षित सहयोग को भी जानने की कोशिश की गई. महिला वार्ड सदस्यों ने इच्छा जाहिर किया की उन्हें प्रखंड स्तर पर स्वास्थ्य एवं पोषण के क्षेत्र में आयोजित विभिन्न समीक्षा बैठकों में बुलाया जाए ताकि वे अपनी वार्ड एवं पंचायत की समस्याओं को बैठक में रख कर उसके निदान हेतु प्रयास कर पायें.
कार्यक्रम के दौरान कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे डाॅ. श्रवण पासवान, चि० प्रभारी, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, मोतिहारी ने बताया की एक महिला के लिए स्वास्थ्य एवं पोषण बहुत ही अहम मुद्दा है एवं सरकार की ओर से विभिन्न कार्यक्रमों के माध्यम से सेवाएं देने का कार्य किया जा रहा है. महिला जन प्रतिनिधि अपनी जानकारी इन विषयों पर बढ़ा रही हैं, यह एक बहुत ही शुभ संकेत है. मेरा उनसे आग्रह है की वे अपने पंचायत में और भी लोगों को इन विषयों के ऊपर जागृत करें एवं विभिन्न कार्यक्रमों में उनकी भागीदारी सुनिश्चित करें. जन प्रतिनिधि होने के नाते समुदाय आपसे ज्यादा जुड़ें हुए हैं एवं स्वास्थ्य सेवा प्रदाताओं को आपके द्वारा सहयोग मिलता रहेगा यही हमारी आशा एवं विश्वास है. स्वास्थ्य विभाग, छौरादानो प्रखंड अपने ए.एन.एम्. एवं आशा बैठकों में चुनिन्दा महिला पंचायत प्रतिनिधियों को बुलाना अब से सुनिश्चित करेगा, इसका मैं आश्वासन देता हूँ।कुछ महिला जन प्रतिनिधियों को पूर्व से ही उनके पोषण माह में किये गए उल्लेखनीय कार्यों की वजह से जान रही हूँ. महिला जन प्रतिनिधियों के माध्यम से पुरुषों को गोद भराई में शामिल कराना एवं पति के रूप में उनकी जिम्मेवारियों को एहसास दिलवाना एक बहुत ही बड़ी उपलब्धी है. मेरी जन प्रतिनिधियों से अपेक्षा है की वे अपने पंचयात में पोषण के ऊपर जन जागरण करें एवं विभिन्न बैठकों के आयोजन में सेविका का सहयोग करें. अनीमिया से पीड़ित माताएं, किशोरियां, अति कुपोषित बच्चे, एवं अल्प पोषित बच्चों को चिन्हित करने में भी आपका सहयोग अपेक्षित है. समेकित बाल विकास परियोजना की ओर से उन्हें सभी प्रकार का सहयोग मिलेगा इसका उन्होंने विश्वास दिलाया।कार्यक्रम में उपस्थित , प्रखंड विकास पदाधिकारी प्रतिनिधि ने बताया की उन्हें खुशी है की महिला जन प्रतिनिधि अपने कार्यों एवं दायित्यों को बखूबी अंजाम दे रहीं हैं. सरकार के स्तर से उन्हें हर तरह का सहयोग दिया जा रहा है एवं आगे भी दिया जाएगा. आज के समय में पंचायत प्रतिनिधियों को सरकार के द्वारा अनेक महत्वपूर्ण कार्यों की जिम्मेदारी दी जा रही है – मुख्यमंत्री के सात निश्चय का पूर्ण क्रियान्वयन इस दिशा में एक बहुत बड़ी पहल है. संविधान के अनुसार पंचायत को तीसरी सरकार माना गया है एवं पंचायत प्रतिनिधियों को यह अधिकार है की वे अपने क्षेत्र में चलने वाली सरकारी योजनाओं का मूल्यांकन कर गुणवत्तापूर्ण क्रियान्वयन में सहयोग करें. उन्होंने कम उम्र में विवाह, 21 वर्ष से पूर्व गर्भधारण ना करने, दो बच्चे से ज्यादा परिवार ना बढ़ाने में भी परिवार को समझाने का दायित्व महिला वार्ड सदस्यों को दिया।
चैंपियन परियोजना में शामिल वार्ड सदस्यों ने यह आशा जताई की वे प्रखंड स्तरीय सरकारी पदाधिकारियों के साथ बैठक के माध्यम से मातृत्व स्वास्थ्य एवं पोषण संबंधी विषयों पर उनके द्वारा जमीनी स्तर पर किये जा रहे कार्यों से अवगत करा पाई. उन्होंने यह भी विश्वास जताया की सरकारी तंत्र अब उन्हें सहयोगी की भूमिका में देखेगा एवं सामूहिक जिम्मेदारी लेते हुए इन मुद्दों पर त्वरित कारवाई हेतु अपने स्तर से प्रयास करेगा।
कार्यक्रम के सफल आयोजन में चैम्पियन परियोजना के क्षेत्रीय समन्वयकों अरुण कुमार, सारिका कुमारी, बिकेश कुमार एवं सुनीता देवी का सराहनीय योगदान रहा।

अन्य ख़बरें

भारत की जनवादी नौजवान सभा ने निकाला प्रतिरोध मार्च
स्वामी विवेकानंद जयंती पर 101 युवाओं को अत्तुनिया फाउंडेशन ने किया सम्मानित
रेलवे ग्रुप D एडमिट कार्ड के लिए महत्वपूर्ण लिंक, यहां क्लिक कीजिए
पूर्वी चंपारण जिले के इन प्रखंडों के पंचायत है बाढ़ से प्रभावित
मोदी सरकार ने चरमराती अर्थव्यवस्था को सबसे तेजी से दौड़ने वाली अर्थव्यवस्था बनाया: राधा मोहन सिंह
राजस्थान के रण में सेना के जवानों संग, राजनाथ सिंह मनाएंगे दशहरा
AES, JE, चमकी बुखार व डायरिया से बचने के लिए जन जागरूकता अभियान को लेकर बैठक संपन्न
पार्श्वगायन के क्षेत्र में विशिष्ट पहचान बना चुकी हैं देवी
चैंबर के अर्द्धवार्षिक सम्मेलन में कोरोना एवं बाढ़ का अर्थव्यवस्था पर प्रभाव पर हुई परिचर्चा
सरकारी कल्याणकारी योजनाओं के समेकित जांच के उद्देश्य से निरीक्षण महाअभियान का आयोजन
गुजरात में हो रहे बिहारियों पर हमले के खिलाफ महागठबंधन ने किया पुतला दहन
पूर्व केंद्रीय मंत्री राधामोहन सिंह एवं सिने स्टार सांसद रवि किशन ने किया लुईस फिलिपी के एक्‍सक्‍लूस...
रसीदपुर में मनरेगा के तहत बने पशु शेड का जिलाधिकारी ने किया निरीक्षण
"स्वच्छता ही सेवा" के अंतर्गत प्रधानमंत्री के जीवन पर बनी लघु फिल्म "चलो जीते हैं" दिखाई गई।
Munshi Singh College live: अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद का सदस्यता अभियान अंतिम चरण में
आध्यात्मिक गुरु अम्मा ने भी "स्वच्छता ही सेवा" के तहत की सफाई, दिया स्वच्छता का संदेश
कुशल युवा कार्यक्रम के तहत छात्रों के बीच बंटा प्रमाणपत्र
बिजनेस के साथ साथ सामाजिक क्षेत्र में खास पहचान बना चुके हैं 'विशाल गप्पू'
मतदाता जागरूकता के लिए मोतिहारी में आज शाम 6:00 बजे से कैंडल मार्च
जिला निर्वाचन पदाधिकारी के नेतृत्व में मान्यता प्राप्त राजनीतिक दलों के जिलाध्यक्षों की बैठक संपन्न

Leave a Reply