बिहार एक विरासत दो दिवसीय कला और फिल्म महोत्सव संपन्न

Featured Post पटना बिहार साहित्य

पटना 20 अक्टूबर 2019। ग्रामीण स्नेह फाउंडेशन द्वारा बिहार : एक विरासत कार्यक्रम के अंतर्गत19 और 20 अक्टूबर को प्रेमचंद रंगशाला, राजिंदर नगर पटना में दो दिवसीय कला और फिल्म महोत्सव आयोजित किया गया।

दो दिवसीय कला और फिल्म महोत्सव 19 अक्टूबर, 2019 को सुबह 10:00 बजे प्रतिभागियों के औपचारिक पंजीकरण के साथ शुरू हुआ और 20 अक्टूबर, 2019 को शाम 05:00 बजे संपन्न हुआ।

ग्रामीण स्नेह फाउंडेशन के सचिव गंगा कुमार ने अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा कि यह ग्रामीण स्नेह फाउंडेशन के लिए गौरव और सम्मान का क्षण है कि इस साल कला और फिल्म महोत्सव मनाने के लिए भी प्रख्यात और विशिष्ट व्यक्तित्व जैसे पद्म विभूषण डॉ सोनल मानसिंह, पद्मश्री डॉ जेके सिंह,  इरशाद कामिल, डॉ अजीत प्रधान, डॉ शांति जैन, तिरुपति शरण, आरएन दास, पद्मश्री उषा किरण खान, दीपक आनंद और सीमा त्रिपाठी मौजूद है।

मुख्य अतिथि पद्म विभूषण डॉ। सोनल मानसिंह ने अपने संबोधन में ग्रामीण स्नेह फाउंडेशन द्वारा विभिन्न क्षेत्रों विशेषकर कला और संस्कृति के क्षेत्र में निभाई जा रही भूमिका की सराहना की। उन्होंने कहा कि भारत को दुनिया भर में अपनी कला और सांस्कृतिक विरासत के लिए जाना जाता है और इसका दायरा बहुत अधिक है और इस कला और संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए बहुत काम किए जाने की जरूरत है।

अपने संबोधन में गेस्ट ऑफ ऑनर इरशाद कामिल ने ग्रामीण स्नेह फाउंडेशन द्वारा किए गए कार्यों की प्रशंसा करते हुए कहा कि जमीनी स्तर पर युवा कलात्मक प्रतिभा की खोज करना और उसके बाद उसका पोषण करना कला और संस्कृति की निवारण और संवर्धन में वास्तविक सेवा है।

उन्होंने कहा कि व्यक्तियों, समुदायों, संगठनों और सरकार द्वारा बिहार की कला और संस्कृति को राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर लाने की दिशा में किए गए प्रयास प्रोत्साहन और प्रशंसा के पात्र हैं।

लगभग 400 से 500 प्रतिभागियों का जमावड़ा दो (02) दिन के कार्यक्रम में देखा गया, जहां बिहार लोक संगीत फ्यूजन प्रतियोगिता (UTSAH), UTSAH बिहार बैंड, लोक नृत्य प्रतियोगिता, निबंध प्रतियोगिता, अतुल्य भारत पर लघु और वृत्तचित्र फिल्में और Super 30 फिल्मका प्रदर्शन दो दिवसीय कार्यक्रम का मुख्य आकर्षण था।

इसके अलावा पद्म विभूषण डॉ सोनल मानसिंह और प्रतिष्ठित गीतकार इरशाद कामिल सहित ज्ञात लोगों के बीच मानव सभ्यता के संस्कृति लोकाचार पर एक संवादात्मक बातचीत हुई। सर्वश्रेष्ठ पुरस्कार देने के लिए एक पुरस्कार वितरण और सत्कार समारोह हुआ जिसमें श्रेष्ठ UTSAH बैंड जो मोक्ष – द बैंड को दिया गया।

लघु फिल्म पंकज कुमार द्वारा निर्देशित द अल्फाबेट को दिया गया। अंग्रेजी में निबंध के लिए एकलाव्या केंद्रीय विद्यालय सहरसा की शाश्वत रॉय को दिया गया। हिंदी में निबंध के लिए ब्रज किशोर किंडर गार्टन स्कूल छपरा की हर्षिता को दिया गया।

सीनियर वर्ग में पेंटिंग के लिए छपरा केंद्रीय विद्यालय छपरा के फराज रहमान को दिया गया। जूनियर वर्ग में पेंटिंग के लिए नोट्रेडम एकेडमी मुंगेर की प्रांजल राज को गया। लोक नृत्य ब्रजकिशोर
किंडर गार्टन स्कूल छपरा को दिया गया को पुरस्कृत किया गया।

सभी अतिथियों, गणमान्य व्यक्तियों और प्रतिभागियों ने दो (02) दिन के कार्यक्रम का आनंद लिया और आशा व्यक्त की कि ग्रामीण स्नेह फाउंडेशन भविष्य में भी इस तरह के आयोजन करेगा और स्वास्थ्य और शिक्षा जैसे अन्य क्षेत्रों के अलावा कला और संस्कृति की दिशा में काम करना जारी रखेगा।

अन्य ख़बरें

पर्यटन मंत्री ने किया छठ घाटों का निरीक्षण, विधि एवं सुरक्षा व्यवस्था का लिया जायजा
सी०पी०आई०(एम) के 93 वर्षीय वयोवृद्ध नेता कामरेड कृष्णकान्त सिंह का निधन
JACP एवं युवा शक्ति की संयुक्त बैठक SNS college में संपन्न, पुन्नु सिंह बने काॅलेज अध्यक्ष
अगर आप की उम्र 60 वर्ष है तो आपको मिलेगा ₹3000 का मासिक पेंशन... पढ़िए कैसे उठाएंगे आप इस योजना का ल...
बिजली मिस्त्री की बेटी बनी SDM, 63वें BPSC में प्रियंका कुमारी को आया 101 रैंक
श्रीनगर के लाल चौक पर 1990 में तिरंगा फहराने वाले कार्यकर्ताओं को अभाविप ने किया सम्मानित
वैश्य समाज के सभी उप जातियों के संगठन प्रमुखो ने बैठक के पश्चात राधा मोहन सिंह के पक्ष में मतदान करन...
सुगौली के गन्ना किसानों की भुगतान समस्या को लेकर अंतरराष्ट्रीय मानवाधिकार काउंसिल ने चीनीमील मैनेजर ...
जिला कांग्रेस कमेटी ने दी Congress के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के जन्मदिन की बधाई
CAA एवं NRC के समर्थन में ABVP का जुलूस
चीन की सेनाओं में हताहत होने वालों की संख्या हमारे देश से अधिक है: राधा मोहन सिंह
इंडियाज बेस्टीज अवार्ड से अंलकृत हुई निखारिका कृष्णा अखौरी
चकिया: छात्रों की सहायता के लिए ABVP ने विवि परिसर में लगाया हेल्प डेस्क ।
कमेंटेटर लिटिल गुरु, वैश्विक शांति राजदूत पुरस्कार से सम्मानित
ताकत एवं पैसे के बल पर चुनाव जीतने वाले बाहुबली नेता लोकतंत्र के लिए खतरा हैं : प्रोफेसर दुर्गेशमणि ...
कथित नेता थके हारे मन से जनमानस को भड़काने में लगे हैं: मंत्री
नवम्बर के दूसरे सप्ताह में रिलीज होगी "प्रेमी ऑटो वाला"
शिक्षकों के योगदान का सम्मान जरूरी:ASP H.S.Gaurav
दीदी जी फाउंडेशन ने कोरोना वायरस को लेकर चलाया जागरूकता अभियान
भाजपा का "युवा संकल्प सम्मेलन" आज लगेगा नेताओं का जमावड़ा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *