फोड़ा,फुंसी,एक्ज़िमा का होम्योपैथिक इलाज संभव है

Uncategorized

                               क्या आप खाज ,खुजली, फोड़ा, फुंसी, एक्ज़िमा,दाद ,दिनाय , या किसी भी तरह  के चरम रोग से ग्रस्त है तो निश्चित रूप से या पूरा पोस्ट आपके लिए ही है।आज हमारे साथ हैं मोतिहारी के जाने-माने होम्योपैथिक  चिकित्सक .  डॉ सबा अख्तर। जो आपको बताएंगे कि यदि आपको खाज खुजली एग्जिमा फोड़ा फुंसी  आदि  हो गई हो तो उससे होम्योपैथिक इलाज के द्वारा निजात कैसे पाएंगे।

      चूँकि अभी ये बीमारियां आम हो चुकी हैं । और चरम रोग के नाम पर लोगों के पॉकिट से काफी पैसे कट रहे हैं। आराम तो हो जाता है  मगर कुछ दिन बाद फिर उससे ज़्यादा एरिया में ये  फुंसियां निकल जाती  है चूहा को बिल से निकाले बिना बिल को बंद कर देंगे तो चूहा फिर कहीं न कहीं अपना बिल बनाएगा ना।

    दोस्तों …किसी भी मरहम को जब आप लगाते है तो वहां से फंगल बैक्टीरिया वहां से अन्दर ही दब जाता है और जैसे मौक़ा मिलता है वो बहार आ निकलता है। 

     चूँकि इसका मेयाज़म सोरा होता है जो बड़ा ही ज़िद्दी मेयाज़म होता है ।  और मेयाज़ मेटिक इलाज सिर्फ होमियो पैथ  ही के पास है । ये पहले जिस्म में छुपे मेयाज़म को बहार लाता है फिर उसके बॅक्टेरिया को मारता है तब वो इंटरनल दवा से ब्लड को साफ करता है और बीमारी से हमेशा हमेश के लिए मुक्ती मिल जाती है।

      ये फंगल अनेको प्रकार के होते हैं और हर प्रकार के लिए दवाइयाँ भी सिम्पटोम के मुताबिक अलग् अलग  होती है। 
कुछ खानदानी भी होती हैं तो कुछ  ऐलर्जिकल भी होती है । जिसका तसखिस करना भी जरुरी होता है । होमियो पैथ  में भी एक से एक दवाइयाँ   आगइ हैं । जैसे मदर टिंक्चर , ट्राईट्रियूशन   पेटेंट वगैरह । जो कीमती भी होती है और असर भी।

Advertisements

 इलाज करने का तरीका

1 पहले हम मेयाज़म की तलाश कर  एंटी सोरिक दवा देते है।
2  फिर उसको मारने के लिये   एंटी फंगल दवा देते है।
3 फिर  परेशानी से बचने के लिय एंटी सेप्टिक  लोशन देते है।
      जैसे 
सुल्फार, ग्रैफाइटिस, सोरिनम ,पेट्रोलियम एंटी सोरीक हैं तो 
मार्क सोल,कैल्केरिया सल्फ ,नेट्रम सल्फ , मेज़ेरियम्, टेलुरियाम् ,  अर्स सल्फ रुबेरम्, सकुचम् चक ,  एस करीसोरोबियम् etc के इलावा अनेको दवाइयाँ एंटी फंगल हैं तो वहीँ  नेट्रम मयूर, जुग्लान्स रेजिया , एंटी पाईरिंन  हिस्टा मुनियम् etc  के इलावा  अनेकों दवाइयाँ एंटी एलर्जिक  हैं ।

तो चलमोग्रा  आयल  एंटी सेप्टिक हैं तो  वहीँ इचिनिसिया  हाइड्रो  कोटाइल, अज़ादिरिकटा खून साफी का काम करती हैं ।
लेहाज़ा कमाल तो दवाइयों का मुनासिब चुनाव का है ।जो एक डॉ की तज़ुर्बा कारी पर मुनहसर है।  .

 इस नंबर पर आप डॉक्टर साहब  से फ्री सलाह ले सकते है

डॉ एम् एस सिद्दीकी 

जर्मन होमियो किलिनिक 
पंच मन्दिर चौक मोतिहारी
9852592060

contact for advertisment and more
Nakul Kumar
8083686563

अन्य ख़बरें

मुख्तार अंसारी के मौत की उच्चस्तरीय जांच की मांग......
नकुल का................. समर्पण
शब्द ​से नकुल कुमार तक
एक वर्षीय प्यार का हजार वर्षीय इजहार
तेरे बिना......... बदलाव अधुरा
कोरोना की जंग में जरूरतमंद लोगों की मदद के लिये मसीहा बनें विनय पाठक
तेजस्वी यादव के नेतृत्व में पटना में व्यवसायियों ने निकाला कैंडल मार्च, बिहार में बढ़ते अपराध की घटन...
महात्मा गांधी के पुण्यतिथि पर कृतज्ञ चम्पारण ने दी श्रद्धांजलि... श्रद्धांजलि सभा में माधव आनंद सहि...
नकुल........ ब्रेकअप कर ले यार।।
वार्ड पार्षद व शायर गुलरेज शहजाद ने दी अटल जी को श्रद्धांजलि
बोधगया में सैंड आर्ट से बनी मधुरेन्द्र की कलाकृतियां देंगी, मतदाता जागरूकता का संदेश।
Critic Poem By Nakul Kumar
Written by Nakul Kumar 8083686563
देश के भविष्य के लिए बालिका शिक्षा जरूरी, बेटी पढ़ाओ देश बढ़ाओ
शपथ ग्रहण के दौरान दिल्ली के कौन-कौन से रास्ते रहेंगे बंद...पढ़िए
पुलवामा शहीद संजय सिंह का परिवार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से मिलकर कुछ कहना चाहता है, कयास लगाए जा रह...
....इस वर्ष की अंतिम इच्छा............?
Motihari me CPIM Rally
राम मंदिर बनाम बाबरी मस्जिद......
? बचपन पढ़ाओं आन्दोलन ?

3 thoughts on “फोड़ा,फुंसी,एक्ज़िमा का होम्योपैथिक इलाज संभव है

  1. Priligy Tabletas 30 Mg Buying Viagra And Ciallis [url=http://cialibuy.com]generic cialis[/url] Cytotec Pour Methergin How To Get A Free Trial Of Levitra Priligy Dernieres Nouvelles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *