प्रख्यात रेत कलाकार मधुरेन्द्र ने कैनवास पर आकृति खीच शीला दीक्षित को दी श्रंद्धाजलि

Featured Post slide दिल्ली बिहार मोतिहारी मोतिहारी स्पेशल राजनीति राष्ट्रीय स्पेशल न्यूज़

मशहूर कलाकार मधुरेन्द्र ने अपनी भावपूर्ण अंदाज में दिल्ली की पूर्व सीएम शीला दीक्षित को दी श्रंद्धाजलि।

घोड़ासहन, पूर्वी चंपारण : दिल्ली की पूर्व सीएम व कांग्रेस पार्टी के तत्कालीन दिल्ली प्रदेश के 81 वर्षीय अनुभवी अध्यक्षा नेत्री शीला दीक्षित का निधन दिल्ली के एस्कॉर्ट अस्पताल में इलाज के दौरान दिल की दौरे पड़ने से शनिवार को दोपहर में उनकी निधन हो गयी।

हिंदुस्तान के एक ऐसी शिल्पकार की अपूरणीय छति से आहत हो कर पूर्वी चंपारण जिले के घोड़ासहन में शनिवार की शाम में कलाकर मधुरेन्द्र ने गहरी संवेदना व्यक्त करते शीला दीक्षित की चित्र को अपनी कैनवास पर पेंसिल से उकेर कर उन्हें भावभीनी श्रंद्धाजलि रंगों के माध्यम से दिया हैं। मशहूर सैंड आर्टिस्ट मधुरेन्द्र अपनी कला से सदैव समाज को एक नया संदेश देते हैं। बता दें कि शीला दीक्षित पहली सीएम थीं जो लगातार तीन बार दिल्ली की सीएम रहीं। उन्होंने केरल का राज्यपाल का पद भी संभाली फिर 1998 से 2013 तक दिल्ली की सीएम रही थीं। दिल्ली का सीेएम पद संभालने के बाद उन्हें केरल के राज्यपाल का पद भी संभाली थी।

शीला दीक्षित का जन्म 31 मार्च 1938 में हुआ था। काफी लंबे समय से बीमार चल रही थीं। दिल्ली के एस्कॉर्ट अस्पताल में इलाज चल रहा था वही 20 जुलाई को दोपहर में शीला दीक्षित ने अस्पताल में अंतिम सांस ली। वर्तमान में दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कीअध्यक्ष थीं। कांग्रेस की कद्दावर नेता रहीं शीला दीक्षित का जन्म 31 मार्च 1938 को पंजाब के कपूरथला में हुआ था। गौरतलब हो कि उन्होंने दिल्ली के कॉन्वेंट ऑफ जीसस एंड मैरी स्कूल से पढ़ाई की और फिर दिल्ली यूनिवर्सिटी के मिरांडा हाउस कॉलेज से मास्टर्स ऑफ आर्ट्स की डिग्री हासिल की। शीला दीक्षित साल 1984 से 1989 तक उत्तर प्रदेश के कन्नौज से सांसद रहीं। बतौर सांसद वह लोकसभा की एस्टिमेट्स कमिटी का हिस्सा भी रहीं।

Advertisements

अन्य ख़बरें

नवंबर में होगा पहले चम्पारण शार्ट फिल्म फेस्टिवल का आयोजन
चंपारण के लाल राकेश पांडे ने शहीद परिवार को दिया 10 लाख का चेक। आगे भी सहायता का दिलाया भरोसा
मोदी सरकार देश की पहली ऐसी सरकार है जिसने महात्मा गांधी के सपनों को पूरा करके दिखाया है: मंत्री
29 नवंबर की रैली को सफल बनाने के लिए बैठक संपन्न, जनसंख्या के अनुसार सत्ता में भागीदारी चाहिए: चंद्र...
मोतिहारी के किस सड़क का नाम हुआ "महात्मा गांधी मार्ग"(M.G.Road) पढ़िए.....
मंदार रत्न से सम्मानित हुए सीतामढ़ी के ट्री मैन सुजीत
बेस्ट स्टूडेंट लुक कॉनटेस्ट की विनर बनीं निशा कुमारी
बसपा के प्रत्याशी अनिल सहनी ने अपना नामांकन वापस लिया। महागठबंधन के पक्ष में करेंगे प्रचार।
मणिपुर की आयरन लेडी इरोम शर्मिला ने दिया जुड़वा बच्चियों को जन्म, 2017 में हुई थी शादी
मानव के हनन को रोकना हमारा कर्तव्य- अब्बास अली
चम्पारण के लाल सैंड आर्टिस्ट मधुरेन्द्र होंगे, "मगध रत्न यूथ आईकॉन अवार्ड" से पुरस्कृत
गोपालगंज जदयू महिला अध्यक्षा रीता देवी हुई सम्मानित, महिला सशक्तिकरण सहित सामाजिक कार्यों में भी बढ...
भाजप, वाणिज्य प्रकोष्ठ की जिला बैठक सम्पन्न, आत्मनिर्भर भारत सहित कई मुद्दों पर पर हुई बातचीत
देशी चंपारण मटन का स्वाद अब जल्द मिलेगा भागलपुर में
पीरियड महिलाओं के लिए सम्मान का विषय : तृप्ति देसाई, मुद्दा सबरीमाला मंदिर का
जिलाधिकारी ने योजनाओं के क्रियान्वयन में तेजी लाने का दिया निर्देश
अटल जी राजनीतिक मर्यादा के आधार है और यही मर्यादा उनके जीवन का संस्कार है
आईपीसी 497 असंवैधानिक : सुप्रीम कोर्ट
मोतिहारी की सड़कों का होगा चौड़ीकरण, सौंदर्यीकरण एवं बढ़ेंगी जन सुविधाएँ: मंत्री
जन अधिकार पार्टी पूर्वी चंपारण ने जिला मुख्यालय पर दिया धरना

Leave a Reply