निर्यात ऋण की समय पर उपलब्‍धता भारत की निर्यात वृद्धि की कुंजी: पीयूष गोयल

Featured Post slide राजनीति राष्ट्रीय
  • 14
    Shares

पत्रकार /नकुल कुमार 

नई दिल्ली। केन्‍द्रीय वाणिज्‍य एवं उद्योग और रेल मंत्री पीयूष गोयल ने आज नई दिल्‍ली में एफआईईओ, रत्‍न और आभूषण निर्यात संवर्धन परिषद (जीजेईपीसी) जैसे निर्यात संगठनों के प्रतिनिधियों, वित्‍त मंत्रालय के अधिकारियों और वित्‍तीय संस्‍थाओं के प्रमुखों के साथ बैठक कर निर्यात ऋण से सम्‍बन्धित मामलों पर चर्चा की। इस अवसर पर वाणिज्‍य एवं उद्योग राज्‍यमंत्री हरदीप सिंह पुरी और सोम प्रकाश, वाणिज्‍य सचिव, अनूप वधावन, सचिव एमएसएमई, डॉक्‍टर अरुण कुमार पांडा, विदेश व्‍यापार के महानिदेशक, आलोक वर्धन चतुर्वेदी एवं वाणिज्‍य विभाग के वरिष्‍ठ अधिकारियों ने इस बैठक में भाग लिया।  

वाणिज्‍य मंत्री ने कहा कि निर्यात ऋण की समय पर और दक्षता से उपलब्‍धता किसी भी व्‍यापारिक गतिविधि के लिए महत्‍वपूर्ण है और यह निर्यात की वृद्धि को बढ़ावा देने वाले प्रमुख संवाहकों में से एक है। उन्‍होंने कहा कि अब वक्‍त आ गया है कि हमें सब्सिडी से दूरी बनाते हुए निर्यातकों को सस्‍ते ऋण सुगमता से उपलब्‍ध कराने चाहिए।

      श्री पीयूष गोयल ने कहा कि पिछले कुछ वर्षों से निर्यात ऋण का अंश कम हुआ है और यह चिंता का विषय है, विशेषकर एमएसएमई क्षेत्र के लिए, जिसे ऋण देने वाली संस्‍थाओं की ओर से हो रही अतिरिक्‍त मांग का सामना करना पड़ रहा है।

      वाणिज्‍य मंत्री ने कहा कि हितधारकों के साथ आज की बैठक इस महत्‍वपूर्ण चुनौती का सामना करने और प्रतिभागी संगठनों और संस्‍थाओं की ओर से दी गई जानकारी के आधार पर स्थिति से निपटने के लिए बुलाई गई है।  

      वित्‍त मंत्री ने कहा कि निर्यातकों का बोझ कम करने और भारतीय निर्यातों को विश्‍व की बेहतरीन पद्ध‍तियों के अनुरूप प्रतिस्‍पर्धी बनाने के लिए हमें सबसे पहले स्‍थायित्‍व पूर्ण नीति वाला एक प्रारूप तैयार करना होगा, जो अंतरराष्‍ट्रीय स्‍तर पर स्‍वीकार्य, निरंतर और सुदृढ हो और उसके बाद विश्‍वास, निष्‍ठा और परिश्रम पर आधारित उसी प्रारूप के भीतर से समाधान तलाशने चाहिए। सरकारी संगठनों, निर्यात संवर्धन परिषदों और वित्‍तीय संस्‍थानों द्वारा किये गए कार्यों में पारदर्शिता लानी होगी।

Advertisements

श्री गोयल ने बताया कि पारदर्शिता भारत के निर्यात के वास्तविक प्रतिस्पर्धी लाभों का दोहन किया जाना सुनिश्चित करेगी। उन्‍होंने आशा व्यक्त की कि सभी हितधारकों के साथ आज की बैठक के परिणाम न केवल निर्यात क्षेत्र के लिए विजन प्रदान करेंगे, बल्कि सरकारी विभागों और वित्तीय संस्थानों द्वारा कार्यान्वयन और कार्रवाई की कार्ययोजना भी प्रस्‍तुत करेंगे। श्री पीयूष गोयल ने आशा व्‍यक्‍त की कि इस बैठक के परिणामस्‍वरूप अगले पांच वर्षों में निर्यात ऋण तीन गुना हो जाएगा और भारत शेष दुनिया के साथ बराबरी कर सकेगा, जहां ऋण सस्ता है और ब्याज दरें कम हैं।

बैठक में वित्त मंत्रालय, आर्थिक मामलों के विभाग,वित्तीय सेवाओं के विभाग, भारतीय रिजर्व बैंक,भारतीय स्टेट बैंक, केनरा बैंक, पंजाब नेशनल बैंक,एचडीएफसी बैंक, कोटक महिंद्रा बैंक, एक्सिस बैंक,बार्कलेज बैंक, सिटी इंडिया, बैंक ऑफ अमेरिका,एक्जिम बैंक, ईसीजीसी, इंडियन बैंक्स एसोसिएशन,एफआईईओ, ईईपीसी, जीजेईपीसी, लघु उद्योग भारती, फिक्की और सीआईआई के अधिकारी शामिल होंगे।

अन्य ख़बरें

भोजपुरी फिल्म काजल के प्रमोशन को मोतिहारी पहुंचे फिल्मी सितारे
29 नवंबर की रैली को सफल बनाने के लिए बैठक संपन्न, जनसंख्या के अनुसार सत्ता में भागीदारी चाहिए: चंद्र...
अटल जी का देहांत एक अपूरणीय क्षति: डॉक्टर दीनबंधु तिवारी
घरेलु महिलाएं केक बनाना सीख पा सकती है रोजगार : सुमन
तेजस्वी यादव की रैली को लेकर,मधुबन प्रखंड कार्यालय में हुई समीक्षा बैठक
लायंस क्लब ऑफ पटना शिव शक्ति का तीसरा पद ग्रहण समारोह आयोजित
पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की 95 वीं जयंती मनाई गई
पूरे विश्व में शांति के लिए युवा पीढ़ी गांधी के सिद्धांत को समझाए एवं सर्व धर्म सभा करवाएं: पदमश्री ...
नियोजित शिक्षकों की मांग पूरी नही होने पर राजकीय सम्मान वापस करेंगी नम्रता आनंद
बिहार एक विरासत दो दिवसीय कला और फिल्म महोत्सव संपन्न
इंडियन ग्लौरी अवार्ड 2019 से सम्मानित हुये 71 विभूति
बाहरी प्रत्याशी के खिलाफ विरोध के स्वर तेज
जीत का जुनून ऐसा कि सीने पर चाकू से लिखा "मोदी"
वैकल्पिक राजनीति के दृष्टिकोण से, कन्हैया का चंपारण आना ऐतिहासिक : पुष्पेंद्र द्विवेदी
हाँ, मैं डरपोक हूँ... "जनता कर्फ्यू" विरोधियों को डाॅ.स्वर्णिमा शर्मा का जवाब
आतंकवाद एवं बातचीत दोनों साथ साथ नहीं हो सकते पाकिस्तान मसूद अजहर को भारत को सौंपें।
पकड़ीदयाल में किसान के खेत से निकली भगवान की मूर्ति, ग्रामीणों ने मूर्ति को अपने कब्जे में लेकर की प...
केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार अब हमारे बीच नहीं रहे कृतज्ञ राष्ट्र उन्हें दे रहा है भावभीनी श्रद्धांजलि
पहली बार बॉक्स ऑफिस पर होगा कल्लू और काजल राघवानी की फ़िल्म 'प्रतिबंध' का धमाका
डॉ हेना चंद्रा के "चंद्रा लाइफ लाइन हॉस्पिटल" में हुआ विचित्र बच्चे का जन्म

  • 14
    Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *