नए किसान बिल से देश की खाद्य सुरक्षा पर पड़ेगा बड़ा असर: बीरेंद्र कुमार जालान

Featured Post slide मोतिहारी स्पेशल राजनीति
  • 51
    Shares

तिरहुत। केंद्रनीत मोदी सरकार किसानों के मुद्दे पर संसद में जो बिल लेकर आई है, इससे किसानों के आर्थिक हित और देश की किसानी का बहुत बड़ा नुकसान होगा। इसलिए आम आदमी पार्टी इसका पुरजोर विरोध करती है, और इस बिल के विरुद्ध जोरदार आंदोलन करेगी। उक्त बातें आम आदमी पार्टी तिरहुत चुनाव अभियान समिति के संरक्षक बीरेंद्र कुमार जालान ने एक प्रेस विज्ञप्ति जारी करके कहीं।
 श्री जालान कहते हैं कि इस बिल के अनुसार किसानों की उपज को कारपोरेट घराने खरीदेंगे, पुरानी व्यवस्था भी चालू रहेगी। सरकार जरा यह बताएं कि न्यूनतम समर्थन मूल्य पर देश के कुल उपज का कितना प्रतिशत हिस्सा ,सरकार खरीद पाती है। अभी तक किसान असंगठित खरीदारों से ही, अपनी उपज आने पौने दामों में बेचने को मजबूर होता था क्योंकि सरकार की खरीद एजेंसियां निर्धारित दर पर खरीद करने में आनाकानी करती थी। अब बड़े कॉरपोरेट घराने ,किसानों का शोषण करेंगे तथा जिस समय फसल का मूल्य कम होगा वह लेकर बड़े पैमाने पर इसका भंडारण करेंगे, सरकार उन्हें टैक्स में भी छूट दे रही है! जब दाम बढ़ेंगे तो मनमाने दर पर बेचेंगे ,इससे जनता को भी नुकसान होगा।
वह कहते हैं कि दूसरे बिल में सरकार ने जो अनुबंधित खेती की अनुमति दी है जिसके अनुसार किसानों को बीज खाद पानी वगैरह की सुविधा देकर ,कारपोरेट घराने एकाधिकार के रूप में उनकी फसल ,मनमाने दाम पर खरीदेंगे।
मोदी सरकार के इस बिल से, पहले से बदहाल किसान अब विदेश के द्वारा प्रायोजित बड़े औद्योगिक घरानों के शोषण के शिकार होंगे ,तथा धीरे-धीरे देश के किसान मजदूर बनकर ,किसानी से किनारा कर लेंगे। इससे देश के खाद्य सुरक्षा पर बहुत बड़ा असर पड़ेगा और देश खाद्य वस्तुओं के लिए भी विदेशों पर निर्भर हो जाएगा।
सरकार की अंतिम बड़ी सहयोगी पार्टी, अकाली दल ने भी इसी कारण से सरकार से किनारा कर लिया है ,उसके मंत्री ने त्यागपत्र दे दिया है! पंजाब के अकाली दल के नेता किसानों की समस्या को समझते हैं ।
केंद्र सरकार के इस किसान विरोधी बिल के कारण पूरे देश के किसान आंदोलन कर रहे हैं। आम आदमी पार्टी इसका विरोध करती है ,और बिहार चुनाव में भी इसे जोर-शोर से उठाया जाएगा, क्योंकि बिहार में भी कृषि पर निर्भर किसानों की संख्या बहुत बड़ी है ,और वह अभी बाढ़ की समस्या से जूझ रहे हैं। आने वाला समय में यह एक मुद्दा बनेगा।

अन्य ख़बरें

पूर्व कृषि मंत्री के सौजन्य से सभी जन वितरण प्रणाली विक्रेताओं को सैनिटाइजर एवं मास्क वितरित
चंपारण में गांधी जी को मास्क पहनाकर गांधीगिरी, मोती झील की बदबू से परेशान हैं लोग
विवेकानंद अवार्ड से सम्मानित किये गये मास्टर उज्जवल
भाजपा के पूर्व जिला अध्यक्ष लक्ष्मण प्रसाद का 85 वर्ष के आयु में निधन,आज होगा अंतिम संस्कार
अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने चलाया मतदाता जागरूकता अभियान, एमएस कॉलेज के छात्र अध्यक्ष समेत कई लो...
लोकतंत्र के चौथे स्तंभ मीडिया के लिए भी होनी चाहिए आर्थिक पैकेज की घोषणा
नप क्षेत्र में प्रवेश वाले छह मुख्य सड़कों पर हो रहा 'गेट-वे ऑफ बेतिया' का निर्माण: गरिमा
कृत्रिम आसूचना और साइबर सुरक्षा में नए आयाम’ विषय पर संगोष्ठी का उद्घाटन
देशी चंपारण मटन का स्वाद अब जल्द मिलेगा भागलपुर में
डॉ. मदन मिले फातमी से... महागठबंधन को मजबूत करने की कवायद तेज
तिरहुत प्रमंडल आयुक्त ने की समीक्षा बैठक, दिए आवश्यक दिशा निर्देश
आसाराम जी बापू का 55 वां आत्मसाक्षात्कार दिवस धूमधाम से मनाया गया
गरीबों एवं असहायों के बीच राशन सामग्री का वितरण
राधा मोहन सिंह के पक्ष में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मांगा जन समर्थन
औरंगाबाद, एनटीपीसी परियोजना से बिहार को मिलेगी 1683 मेगावाट बिजली
चंपारण राजनीतिक प्रशिक्षण संस्थान द्वारा राष्ट्रीय युवा दिवस को प्रेरणा दिवस के रूप में मनाया गया
3 मार्च की रैली को लेकर मोतिहारी अल्पसंख्यक समाज की बैठक संपन्न
पटना फैशन वीक सीजन 4 संपन्न ,मॉडलस से रैंप पर बिखेरे जलवे
नृत्यांगन हॉबी सेंटर का वैलेंटाइन डे सेलेब्रेशन 09 फरवरी को
बिहार रत्न सम्मान से सम्मानित हुये ई.रविकांत झा

  • 51
    Shares

1 thought on “नए किसान बिल से देश की खाद्य सुरक्षा पर पड़ेगा बड़ा असर: बीरेंद्र कुमार जालान

Leave a Reply