दुनिया में परमाणु तस्करी के लिए कुख्यात पाकिस्तान के परमाणु वैज्ञानिक डाॅ. अब्दुल कादिर खान का हुआ देहांत

अंतर्राष्ट्रीय राष्ट्रीय

मोतिहारी। दुनिया भर में परमाणु तस्करी के लिए कुख्यात पाकिस्तान के परमाणु कार्यक्रम के जनक डॉ अब्दुल कादिर खान का रविवार को निधन हो गया वे 85 वर्ष के थे उनका जन्म अविभाजित भारत के भोपाल में 1936 में हुआ था बंटवारे के बाद उनका परिवार पाकिस्तान चला गया था। उनकी प्रारंभिक शिक्षा पाकिस्तान में हुई थी उसके बाद उन्होंने जर्मनी से पीएचडी की डिग्री प्राप्त की।
बात 1998 की है जब पश्चिमी देशों के तीसरी आंख को फोड़ते हुए भारत ने राजस्थान के पोखरण रेंज में परमाणु विस्फोट करके पूरी दुनिया को आश्चर्यचकित कर दिया था। दूसरी बार परमाणु विस्फोट करके दुनिया को चुनौती देने वाले भारत को परमाणु संपन्न होता देख उन्हीं दिनों यूरोप में यूरेनियम सेंट्रीफ्यूगल के क्षेत्र में कार्य कर रहे कादिर खान का राष्ट्रवाद उन्हें पाकिस्तान खींच लाया।
1998 में ही पाकिस्तान भी परमाणु परीक्षण करके इस्लामिक जगत का पहला परमाणु संपन्न मुस्लिम राष्ट्र बना। इसके साथ ही कादिर खान को पाकिस्तान के सर्वोच्च पुरस्कार से सम्मानित किया गया लेकिन अपने स्वभाव से कुख्यात इस पाकिस्तानी नागरिक ने ईरान लीबिया इराक एवं उत्तरी कोरिया को परमाणु तकनीकी संवर्धन डिजाइनिंग आदि में मदद भी की थी।
मालूम हो कि डॉक्टर खान कोरोना संक्रमित थे एवं उनका इलाज चल रहा था। शनिवार को उन्हें सांस लेने में दिक्कत होने पर खान रिसर्च लैबोरेटरीज (KRL) अस्पताल में भर्ती कराया गया था। लेकिन रविवार सुबह सात बजे उन्होंने अस्पताल में ही आखिरी सांस ली।
वही डॉक्टर खान के देहांत पर अपनी संवेदना व्यक्त करते हुए पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा कि वह देश के नागरिकों के हीरो थे उन्होंने पाकिस्तान को परमाणु संपन्न देश बनाया।

Advertisements
आपको जानकर हैरानी होगी कि डॉ अब्दुल कादिर खान ने 1998 में पाकिस्तान ने परमाणु विस्फोट कराने के बाद। अपने पड़ोसी देश ईरान, लीबिया,इराक के साथ-साथ उत्तरी कोरिया को भी परमाणु संवर्धन डिजाइनिंग आदि में मदद करने के आरोप भी लगे थे। जिसे उन्होंने स्वीकार भी किया था। जिसके बाद अमेरिका ने उनपर प्रतिबंध भी लगाया था।

अन्य ख़बरें

चकिया: मिशन साहसी के तहत, लड़कियों के सेल्फ डिफेंस के कार्यक्रम का हुआ समापन
अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर मोतिहारी वासियों ने किया योगाभ्यास,
शपथ ग्रहण के दौरान दिल्ली के कौन-कौन से रास्ते रहेंगे बंद...पढ़िए
हमने अपना अटल रत्न खो दिया :नरेंद्र मोदी
KVK पीपरा में किसान जागरूकता सम्मेलन 2019 सम्पन्न, पिपरा में सीसीटीवी कैमरा तो ही चकिया में किसान भव...
ब्रावो फार्मा को मिला भारत सरकार से covid19 किट के लिए लाइसेंस, अब 5 से 7 मिनट में पता चलेगा कोरोना ...
आज के युवाओं को महात्मा गाँधी के बताऐ हुऐ मार्ग पर चलने की जरूरत : पप्पू
बापू की 150वीं जयंती के अवसर पर भाजपा करेगी 30 दिवसीय 'गांधी संकल्प यात्रा'।
रमगढ़वा: सड़क पर जमा पानी के कारण मदरसा में पढ़ रहे बच्चों स्वास्थ्य एवं भविष्य खतरे में।
भिखारी पाकिस्तान के प्रधानमंत्री पाक अधिकृत कश्मीर-लद्दाख में फोटोशूट कराने में व्यस्त
अटल जी की अस्थि कलश यात्रा पटना से मोतिहारी के लिए प्रस्थान
कारसेवकों के बलिदान दिवस पर विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ताओं ने किया रक्तदान
बिहारी ग्लोबल शिखर सम्मेलन 2019 के दौरान बोले राकेश पांडे चंपारण में दो लाख चंपा के पौधे लगे
शिक्षक को चाणक्य एवं शिष्य चंद्रगुप्त होना चाहिए: पप्पू सर
प्रधानमंत्री का जन्मदिन सेवा दिवस के रुप में मनाया गया हुआ स्वास्थ्य शिविर का हुआ उद्घाटन
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन पर 17 सितंबर को होगा,नि:शुल्क स्वास्थ्य मेला का आयोजन
मुजीब गर्ल हाई स्कूल के संस्थापक स्वर्गीय कमला प्रसाद सिंह की पुण्यतिथि पर पर्यटन मंत्री ने की पुष्प...
यहां पढ़िए अंतरराष्ट्रीय योग दिवस को लेकर आयुष मंत्रालय की क्या-क्या तैयारियां कर रहा है...?
पकड़ी गांव का उपस्वास्थ्य केंद्र की बुरी हालत के लिए जिला स्वास्थ्य समिति जिम्मेदार - अनिकेत पाण्डेय
Happy Deepawali .......by- Nakul Kumar

1 thought on “दुनिया में परमाणु तस्करी के लिए कुख्यात पाकिस्तान के परमाणु वैज्ञानिक डाॅ. अब्दुल कादिर खान का हुआ देहांत

Leave a Reply