पढ़िए पूरा सच…तेलंगना कैडर की IAS “स्मिता सभरवाल” के बारे में। इन्हीं का फोटो चंपारण में रानी कुमारी के नाम से वायरल हो रहा है…

Featured Post slide खोज बिहार मोतिहारी मोतिहारी स्पेशल राजनीति शिक्षा स्पेशल न्यूज़
  • 25
    Shares

मोतिहारी /नकुल कुमार

मोतिहारी। स्मिता सभरवाल तेलंगाना कैडर से २००१ बैच की भारतीय प्रशासनिक अधिकारी हैं। वह लोगो में “पीपल्स ऑफिसर” नाम से भी लोकप्रिय हैं। वह पहली महिला आईऐएस अधिकारी हैं, जीने मुख्यमंत्री कार्यालय में नियुक्त किया गया हैं।

स्मिता का जन्म पश्चिम बंगाल में हुआ था। उनकी अधिकतर शिक्षा भारत के वभिन्न हिस्सों में हुई। उनके पिता कर्नल प्रणब दास एक सेनानिवृत्त सेना अधिकारी थे, जों की भारतीय सेना में सेवा करते थे। उनकी स्कूली शिक्षा के आखरी दो साल सेट ऐन मार्रेद्पल्ली, हैदराबाद में बीते। बाद में उन्होंने सेंट फ्रांसिस डिग्री कॉलेज से वाणिज्य में स्नातक की डिग्री की।

वह “संघ लोक सेवा आयोग” की परीक्षा पास करने वाली सबसे कम उम्र के अधिकारियो में शामिल हैं। उन्होंने सम्पूर्ण भारत में राष्ट्रीय स्तर पर चौथा स्थान हासिल किया और IAS के लिए चयन किया।

मसूरी की नेशनल अकादमी से प्रशासनिक प्रशिक्षण पूरा होने के बाद परिवीक्षाधीन दिनों के दौरान उन्हे आदिलाबाद जिले में प्रशिक्षण दिया गया। उनको अपना पहला स्वतंत्र प्रभार मदनपल्ली, चित्तूर के उप कलेक्टर के रूप में मिला था, जिससे उन्हें भूमि अधिग्रहैण प्रबंधन और जिला प्रशासन का अनुभव मिला।

इसके बाद उन्होंने ग्रामीण विकास क्षेत्र में बतौर परियोजना निदेशक, डीआरडीऐ (कडापा) में काम किया। वारंगल में नगर निगम आयुक्त के रूप में उन्होंने अपने कार्यकाल ले दौरान “फण्ड योर सिटी” नामक एक योजना शुरू की जिसके अंतर्गत बड़ी संख्या में सार्वजानिक उपयोगिताएं जैसे ट्राफिक जंक्शन, फुट ओवर-ब्रिज, बस स्टैंड, उद्यान, आदि सार्वजानिक-निजी भागीदारी के साथ बनाये गए थे। इसके बाद उन्होंने वाणिज्य कर, विशाखापट्नम में बतौर उपयुक्त पद संभाला और कुरनूल व हैदराबाद के संयुक्त कलेक्टर के रूप में भी सेवा की।

साल 2011 में अप्रैल में उन्होंने जिला कलेक्टर के रूप में “करीमनगर जिले” में कार्यभार संभाला, जहाँ उन्होंने स्वास्थ्य व शिक्षा के क्षेत्र में विशेष योगदान दिया। करीमनगर जिले को प्रधानमंत्री के २० अंक कार्यक्रम के दौरान “सर्वश्रेष्ट जिले” से सम्मानित किया गया था।

 मतदान प्रतिशत बढ़ने के लिए उन्होंने एक “मतदान पंदुगा” नामक एक योजना भी चलायी थी। उन्होंने “लोगो के अधिकारी” के रूप में जाना जाता हैं और तकनीक के क्षेत्र में नवीनतम कार्यक्रमों का उपयोग, विशेष रूप से क्षेत्र में सरकारी कार्यक्रमों को लागू कराने के लिए जाना जाता हैं।

 स्काइप के जरिए सरकारी डॉक्टरों की निगरानी ने सार्वजनिक स्वास्थ्य क्षेत्र में परिदृश्य को पूरी तरह बदल दिया है। विशेष रूप से डिज़ाइन किए गए सॉफ्टवेयर के माध्यम से सरकारी स्कूलों के प्रदर्शन की निगरानी में करीमनगर और मेडक जिले अपने कार्यकाल के दौरान राज्य में शीर्ष स्थान बन चुके हैं।

Advertisements

अन्य ख़बरें

उर्वरक सह कृषि सामग्री विक्रेता संघ ने मुख्यमंत्री राहत कोष में दिया 2 लाख एक हजार साठ रुपया
अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर महिला सशक्तिकरण के जन जागरूकता हेतु डीएम के नेतृत्व में मैराथन दौड़ आयो...
मतदाता जागरूकता के लिए निकाली गई मोटरसाइकिल रैली, 12 मई को है क्षेत्र में मतदान
Radhamohan Singh Live ऑल इंडिया एग्रो इनपुट डीलर एसोसिएशन मीटिंग
एएन कॉलेज में मनाया गया अंतरराष्ट्रीय महिला हिंसा उन्मूलन दिवस
वीडियो कॉन्फ्रेन्सिंग के माध्यम से दुर्गा पूजा के अवसर पर जिलावार विधि व्यवस्था तैयारियों की समीक्षा...
तेली अधिकार रैली 29 नवंबर को पटना में, चंपारण से रैली में जाने के लिए तैयारियां जोरों पर
ढाका में स्थिति हुआ सामान्य... अफवाह फैलाने वालों पर होगी सख्त कार्रवाई
अमेरिकी दादागिरी को दरकिनारा कर "आनाज के बदले तेल" शुरू करने का समय
बिहारी ग्लोबल शिखर सम्मेलन 2019 के दौरान बोले राकेश पांडे चंपारण में दो लाख चंपा के पौधे लगे
अगस्ता वेस्टलैंड घोटाले के मुख्य आरोपी को भारत लाया गया।
प्रतिरोध मार्च..... Live with NTC NEWS MEDIA
सोशल मीडिया एवं कॉलेज शिक्षा और कोचिंग शिक्षा में अन्तर विषय पर व्याख्यान और वाद-विवाद प्रतियोगिता क...
7 जिले के DM बदल गए। देखिए पूरा लिस्ट
अरेराज: इंडियन ऑयल के सामाजिक दायित्व निर्वाहन (2019-20) के तहत 100 फीट ऊंचा धरोहर ध्वज का लोकार्पण
"एक प्यार का नगमा है" मुकेश की याद में सुरीली शाम
चित्रगुप्त सभागार सह लोकनायक जयप्रकाश नारायण सांस्कृतिक भवन का लोकार्पण
एलएनडी कॉलेज में चल रहे 10 दिवसीय एनसीसी प्रशिक्षण शिविर का समापन
विश्व पर्यावरण दिवस पर कोरंटीन सेंटर के प्रवासियों को पौधा एवं मास्क देकर दी गई विदाई
गुजरात में हो रहे बिहारियों पर हमले के खिलाफ महागठबंधन ने किया पुतला दहन

  • 25
    Shares

Leave a Reply