डॉ०नामवर सिंह हिंदी आलोचना के स्टेट्स मैन, पत्रकार भवन में हुई शोक सभा में शहर के नामचीन पत्रकार हुए शामिल

गाँव-किसान बिहार मोतिहारी मोतिहारी स्पेशल राजनीति राष्ट्रीय शिक्षा साहित्य स्पेशल न्यूज़

NTC NEWS MEDIA 

डॉ०नामवर सिंह हिंदी आलोचना के स्टेट्स मै

जर्नलिस्ट वेलफेयर सोसायटी  मोतिहारी पूर्वी चंपारण द्वारा  पत्रकार भवन में आज डॉ०नामवर सिंह के निधन पर एक श्रद्धाजंलि सभा का आयोजन सोसाइटी के अध्यक्ष संजय ठाकुर की अध्यक्षता में किया गया।

श्रद्धाजंलि अर्पित करते हुए श्री ठाकुर ने कहा कि पुलवामा में आतंकवादी हमले में वीर सैनिकों की शहादत से पूरा देश मर्माहत है इसी बीच हिंदी के प्रख्यात आलोचक डॉ०नामवर सिंह के देहावसान का दुखद समाचार मिला। हिंदी साहित्य और आलोचना के शलाका पुरुष नामवर जी का चले जाना एक अपूर्णीय क्षति है।

हिंदुस्तान के कार्यालय प्रभारी सतीशचंद मिश्र ने श्रद्धाजंलि अर्पित करते हुए अपने उद्बोधन में कहा कि पिछले दिनों हिंदी कथा साहित्य की महान लेखिका कृष्णा सोबती हम से बिछड़ गईं और अब डॉ०नामवर सिंह चले गए। पंडित रामचंद्र शुक्ल के बाद इतना बड़ा आलोचक हिंदी साहित्य में दूसरा कोई नहीं हुआ। श्री मिश्र ने नामवर सिंह के व्यक्तित्व और कृतित्व पर विस्तृत प्रकाश डालते हुए उनके संघर्षों और सृजन कर्म बताते हुए कहा कि बकौल नामवर सिंह जीवन यात्रा में पीछे मुड़ कर देखने का कोई औचित्य नहीं है।

वरीय पत्रकार चंद्रभूषण पांडेय ने श्रद्धाजंलि अर्पित करते हुए कहा कि हिंदी साहित्य और समालोचना में नामवर सिंह का योगदान इतना बड़ा है कि बिना उसकी चर्चा किया हिंदी साहित्य और समालोचना का इतिहास अधूरा है।

Advertisements

युवा शायर और नगर पार्षद गुलरेज़ शहज़ाद ने कहा कि नामवर सिंह हिंदी आलोचना के वाचिक परंपरा के सृजनधर्मी थे।प्रसिद्धि और प्रतिष्ठा के जिस शिखर पर नामवर जी दिखते हैं वह अज्ञेय के बाद कोई दूसरा नहीं दिखता।

समाजसेविका बिंटी शर्मा ने नामवर जी की कविता – नयन को घेर लेते घन,स्वयं में रह न पाता मन/ लहर से मूक अधरों पर,व्यथा बनती मधुर सिहरन…. के माध्यम से श्रद्धाजंलि अर्पित की।

संजय पांडेय ने श्रद्धाजंलि अर्पित करते हुए कहा कि उन्होंने आलोचना के क्षेत्र में जो काम किया है वह अद्वितीय है।उन्होंने अपनी शर्तों पर जीवन जिया कभी समझौता नहीं किया।

ब्रजेश मिश्रा ने कहा कि हिंदी में कोई दूसरा नामवर पैदा नहीं होगा।हिंदी समालोचना की दुनिया में जो रिक्तता आई है वह भरी नहीं जा सकती।नामवर जी ने नागफनी के जैसी जिंदगी गुज़री लेकिन कभी विचलित नहीं हुए बल्कि निरंतर संघर्ष करते रहे।इस अवसर पर राकेश कुमार,कैलाश गुप्ता,रवीश मिश्रा,अमित कुमार,गिरीश मिश्र,अरुण सिंह,सचिन पांडेय,शैलेंद्र मिश्र बाबा और समाजसेवी मनोज कुमार ने अपनी श्रद्धाजंलि अर्पित की। धन्यवाद ज्ञापन जर्नलिस्ट वेलफेयर सोसाइटी के सचिव अरुण तिवारी ने किया।

अन्य ख़बरें

चंपा से चंपारण के नायक करोड़पति सुशील कुमार
सैंड आर्टिस्ट मधुरेन्द्र ने लिया कोरोना वैक्सीन ग्रामीणों को किया प्रेरित
जिलाधिकारी पूर्वी चंपारण द्वारा ढाका, घोड़ासहन एवं चिरैया Quarantine centre का किया गया निरीक्षण
विद्या निकेतन के प्राचार्य डॉक्टर दीनबंधु तिवारी सर
इनरव्हील क्लब ऑफ पटना के डांडिया धमाल में डांस मस्ती की धूम
कृष्णाष्टमी पर रिलीज़ हुआ प्रिया मल्लिक का सोहर
केंद्रीय मंत्री डॉ हर्षवर्धन, रामलीला में बने राजा जनक,कहा मेरे लिए गर्व की बात
ठंड के प्रकोप के बीच नवयुवक समाज सेवा संगठन ने गरीब असहायों को बाटा कंबल।
केंद्रीय कृषि मंत्री ने LCD लगे रथ को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना। ग्रामीण क्षेत्रों में दिखाई जाएगी ...
जरूरतमंदो की मदद के लिये आगे आयी ग्रामीण स्नेह फाउंडेशन
बेहोश डाक बम कांवरियाँ की ढाका रेफरल अस्पताल में हुई मौत
खाद व्यवसायी की बेटी ने IIT JEE ADVANCED में पाई सफलता
कैसे काम करता है टेली मेडिसिन सेंटर जिसका उद्घाटन पूर्वी चंपारण जिला अधिकारी ने अभी अभी किया है
श्री साईं बाबा ट्रस्ट द्वारा हुआ छठ घाट का निर्माण, उद्योगपति राकेश पांडे ने की प्रशंसा।
भामाशाह जन कल्याण संस्थान की मासिक बैठक सम्पन्न, समाज की राजनीतिक भागीदारी पर हुई चर्चा
Global Youth Peace Committee postponed Global Youth Peace Conclave due to rapid spread of COVID –19 ...
जूनियर राष्ट्रीय बॉल-बैडमिंटन चैंपियनशिप की तैयारी के लिए बैठक संपन्न
हींग और केसर की पैदावार को बढ़ावा देने के लिए होगी अत्याधुनिक टिश्यू कल्चर लैब की स्थापना
अर्थपूर्ण सिनेमा बनाना चाहते हैं अमित पॉल
पूर्व कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह बनाए गए रेलवे समिति के अध्यक्ष, बधाई देने वालों का लगा तांता

Leave a Reply