चिकित्सा के साथ ही संगीत के क्षेत्र में भी मनीष सिन्हा ने बनायी पहचान

Featured Post slide खोज धार्मिक ज्ञान पटना बिहार मनोरंजन स्पेशल न्यूज़

पटना। बहुमुखी प्रतिभा के धनी डा.मनीष सिन्हा ने चिकित्सा के साथ ही संगीत के क्षेत्र में भी अपनी विशिष्ट पहचान बनायी है। उन्होंने अबतक के करियर के दौरान कई चुनौतियों का सामना किया और कामयाबी का परचम लहराया।
बिहार की राजधानी पटना में जन्में मनीष सिन्हा के पिता
वीरेन्द्र कुमार सिन्हा और मां श्रीमती माधुरी सिन्हा ने पुत्र को अपनी राह चुनने की आजादी दे रखी थी। बचपन के दिनों से ही मनीष सिन्हा की रूचि संगीत की ओर थी। मनीष सिन्हा को संगीत की प्रारभिक शिक्षा अपनी मां और प्रोफेसर माधुरी सिन्हा से मिली। माधुरी सिन्हा पार्श्वगायन किया करती थी। मनीष सिन्हा स्कूल और कॉलेज में होने वाले सांस्क़तिक कार्यक्रमों में पार्श्वगायन किया करते और इसके लिये उन्हें काफी सराहना मिला करती।
मनीषा सिन्हा ने मैट्रिक तक की पढ़ाई राजधानी पटना के पाटलिपुत्रा हाई स्कूल से की। इसके बाद उन्होंने नालंदा मेडिकल कॉलेज से एमबीबीएस और पटना मेडिकल कॉलेज से एमएस की पढ़ाई की। इसके बाद मनीष सिन्हा आंखो में
बड़े सपने लिये मायानगरी मुंबई आ गये जहां उन्होंने एक निजी कंपनी में एक वर्ष तक काम किया। इस दौरान उनकी मुलाकात महान संगीतकार नौशाद साहब से हुयी जिन्होंने उनकी संगीत के प्रति उनकी प्रतिभा को पहचाना और इस राह पर चलने के लिये प्रेरित किया।
मनीष सिन्हा ने उस्ताद मकबूल हुसैन खान और कुलदीप सिंह से शास्त्रीय संगीत की शिचा हासिल की। टीसीरीज के सौजन्य से श्री मनीष सिन्हा का पहला अलबम साईधुन निकाला गया जिसे काफी ख्याति मिली। इसके बाद मनीष सिन्हा ने टीसीरीज के लिये शिवगीता ,हनुमान चालीसा ,जलते हैं जिसके लिये, दीया इश्क है, तुझे देखने के बाद, नशा प्यार का समेत कई अलबमों के लिये आवाज दी। मनीष सिन्हा ने वर्ल्ड वाइड रिकार्ड के लिये लव फारएवर, गुजारिश के लिये भी पार्श्वगायन किया जिसके लिये उन्हें काफी सराहना मिली।
मनीष सिन्हा को उनके करियर में मान-सम्मान भी खूब मिला। उन्हें वर्ष 2013 में इंडियन मेडिकल ऐशोसियेशन की ओर से प्रतिभा अवार्ड महाराष्ट्र सम्मान से नवाजा गया। इसके अलावा वह वर्ष 2017 में स्पेशल एचीवर अवार्ड आर्टस्ट डॉक्टर पुरस्कार से भी सम्मानित किये गये।
मनीष सिन्हा ने न सिर्फ भारत बल्कि देश-विदेश भी अपनी जादुई आवाज से श्रोताओंको मंत्रमुग्ध किया है। मनीष सिन्हा ने गजल गायिकी को नया आयाम दिया और वह अबतक यूएसए,यूके ,कनाडा ,सिंगापुर और काठमांडू समेत कई देशो में परफार्म कर चुके हैं।मनीष सिन्हा आज कामयाबी की बुलंदियों पर है। वह अपनी सफलता का श्रेय अपने माता-पिता, गुरू और अपने शुभचितंकों को देते हैं।

अन्य ख़बरें

प्रोफेशर संजय यादव के हमलावरों को गिरफ्तार किया जाए: छात्र राजद
बेरोजगारी के लिए सरकारी नीतियां जिम्मेवार:मिश्र
स्वयंसेवी संस्था प्रभा फाउंडेशन ने पुलिस वालों के बीच किया फलों का वितरण
छठ का पहला अर्ध्य आज, प्रशासन पूरी तरह से तैयार, मोती झील में रेस्क्यू बोट के साथ SDRF की टीम तैनात
आज यानी 25 अप्रैल को मोतिहारी समाहरणालय गेट के बगल में रेत कलाकृति बनाएंगे सैंड आर्टिस्ट मधुरेंद्र क...
चंद्रहिया में शुरू होगी शाम की पाठशाला, ग्रामीण महिलाओं में शिक्षा की अलक जलाने की अनोखी पहल
दानापुर रेल मंडल में शुरू हुआ स्वच्छता पखवाडा, डीआरएम ने रेलकर्मचारियों को दिलाई स्वच्छता की शपथ
भोजपुरी सिनेमा स्‍क्रीन एंड स्‍टेज अवार्ड 2019, सुपर स्टार मनोज तिवारी, रवि किशन, दिनेशलाल यादव निरह...
मुजफ़्फ़रपुर में बेख़ौफ़ बदमाशो ने सरेआम पुलिस को  मारी गोली, लूटा कार्बाइन।
हॉस्पिटल रोड स्थित चंद्रा लाइफ लाइन हॉस्पिटल मैं निशुल्क जांच शिविर आज
गोपनीय शाखा के प्रधान सहायक की बहन ने GPAT-2021 परीक्षा में मारी बाजी, जिलाधिकारी ने दी शुभकामनाएं
विधायक फैसल रहमान ने कुष्ठ रोगियों के बीच किया राशन का वितरण, ढाका रेफरल अस्पताल का किया निरीक्षण
चुनाव जीतने के बाद सबसे पहले इस गांव की सड़क बनवाऐंगे डॉ दीपक कुमार
पश्चिम चम्पारण सांसद संजय जयसवाल पर हमले की वजह
स्नातक नामांकन में छात्रों की सुविधा के लिए ABVP ने जिले के विभिन्न कॉलेजों में लगाया हेल्पडेस्क,
खट्टी मीठी यादों के साथ मोतिहारी सेंट्रल यूनिवर्सिटी के VC अरविंद अग्रवाल की छुट्टी, राष्ट्रपति ने ...
Felicitation of Jyoti Jha and Vinay Rai by Zenith Commerce Academy
बिहार में भाजपा,जदयू और लोजपा के बीच सीटों के बंटवारे का पूरा लिस्ट इस लिंक पर देखिए।
घर में लगी आग घरेलू सामान सहित मवेशी हुए खाक
ब्रावो मास्क मेकिंग एंड प्रोटेक्टिव गियर यूनिट का जीप अध्यक्ष, नगर सभापति, पूर्व विधायक, पूर्व वार्ड...

Leave a Reply