गुरु पूर्णिमा विशेष: जीवन दर्शन-गुरु की महत्ता एवं भ्रम से वास्तविकता की ओर’ विषय पर एलएनडी कॉलेज में हुआ सेमिनार का आयोजन

Featured Post slide बिहार मोतिहारी मोतिहारी स्पेशल शिक्षा स्पेशल न्यूज़

गुरु पूर्णिमा के शुभ अवसर पर लक्ष्मी नारायण दुबे महाविद्यालय में गुरु महिमा पर एक सेमिनार आयोजित किया गया। जिसमें ‘जीवन दर्शन-गुरु की महत्ता एवं भ्रम से वास्तविकता की ओर’ शीर्षक पर चर्चा की गई ।
सेमिनार में उपस्थित अतिथियों का स्वागत B.Ed विभागाध्यक्ष डॉ परमानन्द त्रिपाठी द्वारा किया गया। उक्त अवसर पर श्री त्रिपाठी ने कहा कि प्राचीन काल में गुरु के आश्रम में उनके सानिध्य में जीवन को समझने में सहयोग प्राप्त होता था। उन्होंने कहा कि हमें गुरु के वचनों को अपने जीवन में आत्मसात करना चाहिए।
प्राचार्य ने अपने उद्बोधन में कहा कि हमारे जीवन में आने वाली समस्याओं से हम सामना कैसे करें और उनका समाधान कैसे प्राप्त करें। उन्होंने कहा कि हमारे जीवन में उपस्थित भ्रम को वास्तविकता में बदलने की आवश्यकता है। इसे हम सोचने के तरीकों से बदल सकते हैं। किसी भी कार्य को करने से पहले उस पर ध्यान केंद्रित करना होगा, जैसे अर्जुन को केवल अपने लक्ष्य के तहत मछली का आंख दिखता था।
उन्होंने कहा कि हमें सूचनाओं को ग्रहण करने की प्रक्रिया को कम करना होगा, कम से कम सूचनाएं मस्तिष्क में प्रवेश करें ताकि आप अपने आप को अपने लक्ष्य को फोकस कर सके।
हंगरी के ओलंपिक खिलाड़ी के जज्बे को सलाम करते हुए प्राचार्य ने कहा कि करली, जो हंगरी का ओलंपिक खिलाड़ी था दाएं हाथ के भंग हो जाने के बावजूद भी दो बार ओलंपिक चैंपियन बने।
डॉक्टर सुबोध कुमार ने अपने संबोधन में यह कहा कि भ्रम को दूर करके ही लक्ष्य का निर्धारण करें तभी हम लक्ष्य को प्राप्त कर सकते हैं।वहीं दूसरी ओर डॉक्टर पीनाकि लाहा ने कहा कि डिजिटल गुरु की मदद लेकर निसंदेह हम आगे बढ़ सकते हैं पर अनावश्यक भूल से बचे।
डॉ.अशोक कुमार पांडेय ने छात्रों के संबोधन में कहा कि शिक्षक होता है जैसे सुकरात ने जेल से भागने के बजाय विष पीना स्वीकार किया था ताकि कोई यह न कहें कि तुम्हारा गुरु भगोड़ा था। हमारे गुरु ऐसे होते हैं जो शिष्य को कलंकित होने से बचाते हैं इस अवसर पर प्रोफेसर दुर्गेश मणि तिवारी अपने उद्बोधन में कहा कि गुरु ऐसे होते हैं जो अपने शिष्यों के नकारात्मकता को सकारात्मकता में बदल देते हैं जैसे महात्मा बुद्ध ने अंगुलिमाल डाकू को बदल दिया था।
कार्यक्रम का संचालन प्रोफेसर मधुबाला मौर्या के द्वारा किया गया। कार्यक्रम का समापन उद्बोधन डॉक्टर परमानंद त्रिपाठी ने किया। कार्यक्रम के समापन के अवसर पर B.Ed विभागाध्यक्ष डॉ त्रिपाठी ने कहा कि जीवन को सफल बनाने के लिए आवश्यक है कि लक्ष्य के निर्धारण में रुचि का ध्यान रखा जाए और यह सफलता दीर्घकालिक रूप से आनंददाई बनी रहे इसके लिए यह आवश्यक है कि हमेशा अनुशासित बने।
उक्त कार्यक्रम में डॉ सर्वेश दुबे, प्रोफेसर राकेश रंजनकुमार, श्री राजीव कुमार, डॉ प्रमोद कुमार राय, प्रोफेसर जलेश्वर कुमार, प्रोफेसर मधुलिका, प्रोफेसर प्रियरंजन, प्रोफेसर आरके झा, डॉ कृष्ण कुमार सिन्हा, एवं विद्यार्थियों में , मनीषा, अनवर आलम, स्नेहलता और नीतीश कुमार सहित अन्य लोगों की मौजूदगी रही।

 

 

 

Advertisements

? बाढ़ से उत्पन्न बीमारियां एवं उनसे बचाव विषय पर डॉ संजीव रंजन से खास बातचीत

 

अन्य ख़बरें

जंगलराज के राजा के उत्तराधिकारी संविधान बचाने की झूठी दुहाई दे रहे हैं: पर्यटन मंत्री प्रमोद कुमार
शुद्ध प्राणवायु एवं प्राकृतिक संतुलन के लिए वृक्षारोपण जरूरी: 'ट्रीमैन' राजेश
सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज पीसी घोष (पिनाकी चन्द्र घोष)  देश के पहले लोकपाल होंगे।
मॉम अभी जिंदा है तो विक्रम और प्रज्ञान कैसे मर सकतें है...???
'संविधान से समरसता' कार्यक्रम के तहत वाद-विवाद प्रतियोगिता का आयोजन
स्टूडेंट इस्लामिक संगठन ने किया सरकार के वर्तमान शिक्षा नीतियों का विरोध
मुख्य सचिव दीपक कुमार पहुंचे केसरिया, विकास कार्यो में तेजी लाने का दिया निर्देश
हींग और केसर की पैदावार को बढ़ावा देने के लिए होगी अत्याधुनिक टिश्यू कल्चर लैब की स्थापना
संत फ्रांसिस एकेडमी मोतिहारी के बच्चों ने आईसीएसई की परीक्षा में लहराया परचम
रमगढ़वा : शिक्षक सम्मान समारोह का हुआ आयोजन
कारसेवकों के बलिदान दिवस पर विश्व हिंदू परिषद के कार्यकर्ताओं ने किया रक्तदान
29 नवंबर की रैली को सफल बनाने के लिए बैठक संपन्न, जनसंख्या के अनुसार सत्ता में भागीदारी चाहिए: चंद्र...
जल और जीवन बचाओ हरियाली लाओ से संबंधित रेत कलाकृति बनाकर सैंड आर्टिस्ट ने दिया पर्यावरण संरक्षण का स...
आज से भाजपा चलाऐगी "कमल ज्योति संकल्प" जनसंपर्क अभियान। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विकास ऐजेंडा से...
12 वर्ष की लड़की की शादी तिगुना उम्र के व्यक्ति साथ चुपके चोरी हो रही थी... फिर हुआ 6 घंटे का संघर्...
चकिया रेल कांड अभियुक्त हार्डकोर नक्सली वीरेंद्र पासवान ने गिरफ्तार
संविधान गरीब को भी राजा बनने का अधिकार देता है : मुकेश सहनी
CPIM राज्य सचिव कामरेड अवधेश कुमार ने पारकिंसन बीमारी से पीड़ित कविवर रामेश्वर प्रशान्त से मुलाकात क...
छात्र राजद ने दी उग्र आंदोलन की चेतावनी
कोचिंग के चारो ओर लगवाएं कैमरा: एसपी.... बिहार नवयुवक सेना का चांदमारी बंद हुआ सफल

Leave a Reply