कॉरपोरेट मामलों के मंत्रालय और सेबी ने नियामक निगरानी को मजबूत बनाने के लिए समझौता

Featured Post slide दिल्ली राजनीति राष्ट्रीय

नई दिल्ली। कॉरपोरेट मामलों के मंत्रालय और भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी) के बीच एक औपचारिक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर आज हस्ताक्षर किए गए। ऐसा दो नियामक संगठनों के बीच डेटा के आदान-प्रदान के लिए किया गया है। इस समझौता ज्ञापन पर कॉरपोरेट मामलों के मंत्रालय में संयुक्त सचिव  के.वी.आर. मूर्ति और सेबी की पूर्णकालिक सदस्य माधवी पुरी बुच ने दोनों संगठनों के वरिष्ठ अधिकारियों की उपस्थिति में हस्ताक्षर किए।यह समझौता ज्ञापन अर्थव्यवस्था के महत्वपूर्ण क्षेत्रों को प्रभावित करने वाले कॉरपोरेट धोखाधड़ी मामलों के संदर्भ में निगरानी की बढ़ती हुई आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए किया गया है। जिस प्रकार निजी क्षेत्र आर्थिक विकास में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है उसी प्रकार मजबूत कॉरपोरेट प्रशासन तंत्र समय की जरूरत बन गया है।

इस समझौता ज्ञापन से सेबी और कॉरपोरेट मामलों के मंत्रालय के बीच डेटा और सूचनाओं को स्वमेव और नियमित रूप से साझा करने में मदद मिलेगी। इससे निलंबित कंपनियों, सूची से बाहर की गई कंपनियों, सेबी के शेयर धारक पैटर्न के बारे में विशिष्ट जानकारी साझा करने के साथ-साथ कॉर्पोरेट्स द्वारा रजिस्ट्रार के समक्ष दायर वित्तीय विवरणों, शेयरों के आवंटन की रिटर्न,  कॉरपोरेट से संबंधित ऑडिट रिपोर्टों से संबंधित  विशिष्ट विवरणों को साझा करने में मदद मिलेगी। इस समझौता ज्ञापन से नियामक उद्देश्यों के लिए कॉरपोरेट मामलों के मंत्रालय और सेबी में सहज संबंध सुनिश्चित होंगे। डेटा के नियमित आदान-प्रदान के अलावा सेबी और कॉरपोरेट मामलों के मंत्रालयकिसी भी प्रकार की जांच, निरीक्षण और अभियोजन के उद्देश्य के लिए अपने डेटाबेस में उपलब्ध कोई भी जानकारी का एक-दूसरे के अनुरोध पर  आदान-प्रदान कर सकेंगे।यह समझौता ज्ञापन हस्ताक्षर किए जाने की तारीख से लागू हो गया है, जो कॉरपोरेट मामलों के मंत्रालय और सेबी की सतत पहल है। जो मौजूदा तंत्र के माध्यम से पहले ही सहयोग कर रहे हैं। इस पहल के लिए डेटा आदान-प्रदान परिचालन समूह का भी गठन किया गया है। डेटा आदान-प्रदान स्थिति की समीक्षा के लिए इस समूह की समय-समय पर बैठकें आयोजित होंगी। जिनमें डाटा साझा करने के तंत्र में और सुधार करने तथा प्रभावशीलता लाने के बारे में भी विचार-विमर्श किया जाएगा। यह समझौता ज्ञापन दोनों नियामकों के बीच सहयोग और तालमेल के नए युग की शुरुआत है।

Advertisements

अन्य ख़बरें

यूपी बिहार के लोगों पर हो रहे हमले की "कन्हैया कुमार" ने की कडे़ शब्दों में निंदा
पटना मेयर और विधायक ने वैक्सीनेशन सेन्टर का लिया जायजा
मदन मोहन झा के बिहार कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष बनने पर मोतिहारी IT सेल ने दी बधाई
अखिलेश सिंह बाहरी व्यक्ति है इसलिए उन्हें पशुपालकों का आर्थिक सशक्तिकरण रास नहीं आ रहा है: श्याम बाब...
डॉक्टर संजीव रंजन के नए हॉस्पिटल बिल्डिंग "रानी हॉस्पिटल" का भव्य उद्घाटन 29 जुलाई को
गांधीजी के असाधारण व्यक्तित्व व जीवन ने विश्व को अहिंसा, सत्यनिष्ठा, मानवता का मार्ग दिखाया: शैलेंद्...
शालिनी मिश्रा ने साधा राजद पर निशाना, कहा रघुवंश बाबू के निधन के बाद राजद के पास बचा गया है "लोटा भर...
पूर्वी चंपारण में मतदाता जागरूकता के लिए "फिट इंडिया मैराथन रन फॉर वोट" कार्यक्रम आयोजित
भोजपुरी फिल्म सनकी दरोगा.... 3 दिन का ओवर ऑल कलेक्शन
BHU IMS से बीएससी नर्सिंग, बी फार्मा, BOT, BPT करना हो तो आज ही फॉर्म ऑनलाइन कीजिए लास्ट डेट 11 मई
बी फॉर नेशन ने कोरोना वायरस को लेकर चलाया जागरूकता अभियान
भाजपा महिला मोर्चा कर रही है मास्क का निर्माण एवं वितरण
केसरिया एवं अरेराज में अत्याधुनिक ईलाइब्रेरी स्थापित करेगी ब्रावो फार्मा
नहीं रहे वरिष्ठ पत्रकार कुलदीप नैयर
शपथ ग्रहण के दौरान दिल्ली के कौन-कौन से रास्ते रहेंगे बंद...पढ़िए
21वी सदी के शस्त्रों से सुसज्जित शिक्षकों की आवश्यकता: बबन पांडे
विजय जुलूस के साथ बिहार के आगामी विधानसभा चुनाव के लिए आम आदमी पार्टी ने दी दस्तक।
टोक्यो ओलंपिक में भारत का सिल्वर से खुला खाता। प्रधानमंत्री ने दी बधाई
पूर्व कृषि मंत्री राधामोहन सिंह ने राम मंदिर निर्माण के लिए दिया 5 लाख का चेक
बिहार में शिक्षा सुधार के लिए लखौरा में रालोसपा ने किया नुकड़ सभा

Leave a Reply