कृत्रिम आसूचना और साइबर सुरक्षा में नए आयाम’ विषय पर संगोष्ठी का उद्घाटन

Featured Post slide राष्ट्रीय स्पेशल न्यूज़

उपराष्ट्रपति ने आंकड़ों की सुरक्षा के लिए अलग तरह के दृष्टिकोण और नवाचारों का आह्वान किया;

Advertisements
उपराष्ट्रपति श्री एम. वेंकैया नायडू ने आंकड़ों की सुरक्षा के लिए अलग परिदृश्य और नवाचारों का आह्वान किया है, क्योंकि विज्ञान और प्रौद्योगिकी में नई प्रगति साइबर सुरक्षा के लिए एक बड़ी चुनौती प्रस्तुत करेगी।

हैदराबाद। हैदराबाद में आज सी.आर.राव एडवांस्ड इंस्टीट्यूट ऑफ मैथेमेटिक्स स्टैटिस्टिक्स एंड कंप्यूटर साइंस द्वारा ‘कृत्रिम आसूचना और साइबर सुरक्षा में नए आयाम’ विषय पर दो दिवसीय संगोष्ठी का उद्घाटन करते हुए उपराष्ट्रपति ने साइबर अपराधों में वृद्धि पर चिंता व्यक्त की और कहा कि साइबर सुरक्षा हमारी प्रौद्योगिकी संस्कृति का एक अनिवार्य हिस्सा होना चाहिए।

साइबर सुरक्षा प्रौद्योगिकी संस्कृति का अनिवार्य हिस्सा बनना चाहिए: उपराष्ट्रपति

श्री नायडू ने कहा कि दुनिया भर में इस समय लगभग 8.4 बिलियन कनेक्टेड डिवाइस उपयोग में हैं और पारंपरिक साइबर सुरक्षा प्रणालियां अप्रचलित हो रही हैं। उन्होंने विश्व के समक्ष आ रही असंख्य चुनौतियों का सामना करने के लिए प्रौद्योगिकी को लगातार अद्यतन करने, सॉफ्टवेयर और कंप्यूटिंग कौशल में सुधार लाने की आवश्यकता पर बल दिया।

कृत्रिम आसूचना (एआई) और मशीन लर्निंग (एमएल) कई जटिल समस्याओं को हल करने में सक्षम हैं;

21वीं शताब्दी ऐसी विघटनकारी प्रौद्योगिकियों के निर्माण का साक्षी बनी है, जिनसे हमारी जीवन शैली में मूलभूत बदलाव आया है। उपराष्ट्रपति ने कहा कि कृत्रिम आसूचना (एआई) और मशीन लर्निंग (एमएल) इन प्रौद्योगिकियों में से सबसे उत्साहजनक हैं, जो अनेक अनुप्रयोगों से युक्त हैं। उन्होंने कहा, “ये प्रौद्योगिकियां कई जटिल समस्याओं का समाधान करने में सक्षम हैं।”

श्री नायडू ने बड़े उद्यमों में एआई और एमएल के उपयोग का उल्लेख करते हुए कहा, “व्यापार प्रक्रियाओं को सुदृढ़ बनाने के लिए हमें इन प्रौद्योगिकियों का उपयोग छोटे और मध्यम उद्यमों (एसएमई), लघु व्यवसायों और सामयिक व्यवसायों में करने की संभावनाएं तलाशनी होंगी।

भारत को अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी में विश्व में अग्रणी बनना चाहिए;

उपराष्ट्रपति ने अनुसंधान और विकास में महत्वपूर्ण निवेश के साथ भारत को आधुनिक, अत्याधुनिक प्रौद्योगिकी में विश्व में अग्रणी बनाने का भी आह्वान किया। उन्‍होंने कहा कि भारत को निर्यात को भी बढ़ावा देना चाहिए और जल्द ही प्रौद्योगिकी का शुद्ध निर्यातक बन जाना चाहिए।

श्री नायडू ने कहा कि भारत त्वरित प्रगति के पथ पर अग्रसर है और वह 2022-23 तक अर्थव्यवस्था के आकार को लगभग 4 ट्रिलियन डॉलर तक बढ़ाने की आकांक्षा रखता है। ऐसे में प्रौद्योगिकी और नवोन्मेष गरीबी, भुखमरी, अशिक्षा और बीमारी जैसी प्रमुख विकास चुनौतियों को हल करते हुए भारत की प्रगति का रूख हमारी जनता के जीवन पर वास्तविक और सकारात्मक प्रभाव डालने की दिशा में महत्वपूर्ण हैं।

उपराष्ट्रपति ने कहा कि लगभग 600 मिलियन युवा भारतीय 25 वर्ष से कम उम्र के हैं और ये प्रौद्योगिकी-प्रेमी युवा जनसांख्यिकीय लाभांश प्रस्तुत करते हैं और उनके युवा उत्साह और कौशल को राष्ट्रीय विकास के लिए उपयोग में लाया जाना चाहिए।

उपराष्ट्रपति ने संस्थान में वायरलेस कम्युनिकेशन लैब एंड हाई परफॉर्मेंस कम्प्यूटिंग सुविधा का दौरा किया और शोधकर्ताओं और अन्य लोगों के साथ बातचीत की। उन्होंने संस्थान में डॉ. सी. आर. राव से संबंधित गैलरी का भी दौरा किया और कहा कि वह इस महान देश के महान सपूत हैं और हम सभी को उनके जीवन से प्रेरणा लेनी चाहिए।

श्री नायडू ने संस्थान में ई-लर्निंग सेंटर का भी दौरा किया और वहां के शोधकर्ताओं के साथ बातचीत की। उन्होंने कहा कि समृद्ध और शांतिपूर्ण भारत के सपने को साकार करने के लिए ये ई-लर्निंग सेंटर्स शक्तिशाली माध्यम हैं।

इस अवसर पर सी. आर. राव संस्थान की शासी परिषद के अध्यक्ष और सदस्य नीति आयोग, डॉ. वी.के. सारस्वत, हैदराबाद विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. अप्पा राव पोडिले, सी. आर. राव संस्थान के निदेशक प्रो. डी. एन. रेड्डी, एआरसीसी के परियोजना निदेशक, कमांडर ए. आनंद, संकाय सदस्य, वैज्ञानिक और अनुसंधान अध्येता मौजूद रहें।

अन्य ख़बरें

मतदाताओं को जागरूक करेंगीं रेत की कलाकृतियां, बढ़ायेगी मतदाता प्रतिशत
जयंती पर याद किए गए क्रांतिकारी चंद्रशेखर आजाद,
वी एल वैश्यन्त्री बने हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष
पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की 95 वीं जयंती मनाई गई
मदन मोहन झा के बिहार कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष बनने पर मोतिहारी IT सेल ने दी बधाई
माताओं एवं बच्चों के पोषण संबंधी व्यवहारों के प्रति जन जागरुकता के लिए पोषण रथ रवाना
मठ मंदिर की संपत्ति राष्ट्र की संपत्ति, इसका संरक्षण और संवर्धन सरकार का दायित्व: मंत्री
कश्मीर में बिहारियों पर हुए आतंकी हमले पर बिहार में सत्तापक्ष-विपक्ष की सियासत शुरू
विश्व नारियल दिवस पूर्व मंत्री ने कहा कि कल्प वृक्ष नारियल का पेड़ मानव के स्वास्थ एवं समृद्ध जीवन के...
पकड़ीदयाल में किसान के खेत से निकली भगवान की मूर्ति, ग्रामीणों ने मूर्ति को अपने कब्जे में लेकर की प...
आरक्षण क्रियान्वयन समिति का अध्यक्ष बनाए जाने पर पूर्वी चंपारण अति पिछड़ा वर्ग ने जताई प्रसंता
मोतिहारी बड़ी मस्जिद के इमाम मोहम्मद जलालुद्दीन कासमी साहब का संदेश
पूर्व कृषि मंत्री के सौजन्य से सभी जन वितरण प्रणाली विक्रेताओं को सैनिटाइजर एवं मास्क वितरित
जिलाधिकारी ने मोतीझील में लिया सफाई अभियान का जायजा,जल क्रीड़ा एवं नौकायन को बढ़ावा देने हेतु कार्गो ब...
सवर्ण न्याय आंदोलन का प्रचार प्रसार हुआ तेज़: पीयूष पंडित
बिहार विधानसभा निर्वाचन, संचालन एवं सफलतापूर्वक संपन्न कराने हेतु एक आवश्यक प्रशिक्षण सम्पन्न
प्रोजेक्ट इज्जत के तहत महिलाओं को महज ₹4 में उपलब्ध होगा सैनिटरी नैपकिन: डीएम
अरुण जेटली के निधन से देश की राजनीति में जो एक बड़ी शून्यता आई है उसे भरा नहीं जा सकता: राधा मोहन सिं...
मोतिहारी के विवेक का ISRO में बतौर साइंटिस्ट हुआ चयन
एनएसआई डांस अकादेमी में धूमधाम से मनाया गया नया साल

Leave a Reply