किसी बड़े नौकर से तो छोटा मालिक बनना लाख गुणा अच्छा होता है।

राष्ट्रीय शिक्षा स्पेशल न्यूज़

 

एक ऐसे पढ़े लिखे वेल एजुकेटेड संपन्न होनहार नौजवान की कहानी आपको सुनाने जा रहे हैं जो अपनी सालाना दस लाख के पैकेज वाली नौकरी छोड़ कर आज मिल्क पार्लर चला रहे हैं इस कहानी में प्रेरणा है कुछ अलग ही तरह की इंस्पिरेशन है बेरोजगारों के लिए जो नौकरी के लिए दर-दर भटक रहे हैं इस कहानी में हल है हर उस नौजवान इंसान की समस्या का जो बड़े दबाव में आकर अपनी नौकरी को जैसे-तैसे करता है!

क्या यह सोचने वाली बात नहीं है कि कभी धीरूभाई अंबानी अगर खुद का छोटा मोटा काम शुरू नहीं करते तो क्या ईतनी बड़ी रिलायंस इंडस्ट्री खड़ी हो पाती? रतन टाटा के पिता जमशेद भाई टाटा किसी के यहां नौकरी करते तो क्या आज इतना बड़ा टाटा ग्रुप खड़ा हो पाता ? अनेकों ऐसे उदाहरण है इस देश में जो लोग छोटे-मोटे काम शुरू करके आज आसमान में पहुंच गए हैं।

बस जरूरत होती है शुरुआत की जो आदमी ठान ले शुरुआत करने की वही कुछ कर बैठता है, और ऐसे इंसानों को प्रोत्साहन देना उनकी हौसला अफजाई करना इनकी मदद करना उनको प्रमोट करना समाज के हर इंसान को उनका साथ देना बहुत जरूरी है क्योंकि ऐसे लोगों से हमेशा प्रेरणा मिलती है।

जब आप अपने हुनर से हट कर कोई अपनी रूचि के अनुसार काम करना शुरू करते हैं या फिर असंभव-सा दिखने वाला कोई कारनामा शुरू करने का संकल्प लेते हैं तो मान लीजिए कि आप रात के समय तूफान में छत पर चढ़ कर दीपक जलाना चाह रहे हैं लोग आपकी निंदा भी करेंगे आपका मजाक भी उड़ाएंगे और आप को मूर्ख और अहमक करार देंगे वे कहेंगे कि कैसा पागल बेवकूफ आदमी है जो आंधी तूफान में भी दीपक जलाने की कोशिश कर रहा है।

लेकिन खुद के लिए एक मजबूत स्टैंड लेना पूरे जमाने को चुनौती देने जैसा होता है वही किया प्रदीप श्योराण ने 33 वर्षीय प्रदीप हरियाणा के भिवानी जिले के एक छोटे से गांव के रहने वाले हैं हिसार की गुरु जंभेश्वर यूनिवर्सिटी से एमबीए डिग्री धारक प्रदीप जिन्होंने अपनी मल्टीनेशनल कंपनी में दस लाख रुपए सालाना पैकेज की नौकरी को छोड़ कर कुछ ऐसा करने की ठानी ली जिससे बहुत कुछ आयाम हासिल हो सकते हैं,इनका यह कदम हर बेरोजगार और हर नौकरी पेशा इंसान को सोचने पर मजबूर कर सकता है और जब मैंने इनकी स्टोरी पढ़ी तो वाकई मुझे लगा इंसान कितने मानसिक तनाव में छोटी छोटी नौकरियों के लिए पिसता रहता है।

Pradeep Sheoran ने रोहतक शहर में अलग अलग जगह पर मिल्क पार्लर खोल कर शहरवासीयो को ताजा गर्म दूध पिलाने का काम शुरू किया है साथ में ऑर्गेनिक गुड दूध के साथ देते हैं इनके इस काम के पीछे इनकी सोच बहुत ही उम्दा है प्रदीप का कहना है मेरा ऐसा करना मुझे स्वतंत्रता की अनुभूति प्रदान कर रहा है मुझे सुखद एहसास होता है!

Advertisements

मेरा ऐसा करना कितने लोगों को रोजगार प्रदान कर रहा है और कितने लोगों की सेहत का मैं ख्याल रख रहा हूं मेरा खुद का यह काम मुझको तो संतुष्टि प्रदान कर ही रहा है साथ में जिस मिट्टी के कुल्लड में दूध लोगों को पिलाया जाता है उसके कारण कुम्हार जाति के लोगों को रोजगार और आस पास के किसान ताजा दूध इनके पार्लर पर भेजते हैं यह दूध को गर्म करके लोगों को पिलाते हैं सुबह शाम मॉर्निंग इवनिंग वॉक करने वाले लोग इनके मिल्क पार्लर पर दूध पीते हैं।

सोचने की बात है जिस वेल एजुकेटेड इंसान को लगभग ₹80000 प्रति माह की नौकरी किसी कंपनी ने दी हो और वह उस नौकरी को छोड़कर लोगों को दूध पिलाने का काम करें तो यह जानना बहुत जरूरी है कि ऐसा क्यों किया जाता है जो कंपनी इतना पैसा दे रही है वह एक इंसान को मशीन के रूप में इस्तेमाल करके उससे कई गुना ज्यादा पैसा उससे बनवा जाती है नौकरी करने वाला हर इंसान कोल्हू के बैल जैसा होता है परंतु जिस दिन वह छोटा सा मालिक बन जाता है उसी दिन उसको स्वतंत्रता का आभास होता है उसे लगता है कि वह वाकई एक स्वाधीन इंसान हैं।

रही बात लोगों के कहने सुनने की निंदा करने की निंदा”से घबराकर अपने”लक्ष्य”को ना छोड़े क्योंकि लक्ष्य” मिलते ही निंदा करने वालों की”राय”बदल जाती है।

प्यारे दोस्तों, यह कहानी हमें एक सीख देती है कि हम जिंदगी में कुछ भी कर सकते हैं और ऐसे लोग हमारे आस पास अगर कुछ करने की कोशिश करें तो हमें उनका सहयोग जरूर करना चाहिए प्रदीप मेरे आभासी दुनिया के दोस्त हैं और इनके इस काम के लिए मैं सदैव इनका सहयोग करना चाहूंगा अगर आपको यह प्रेरणादायक सच्ची कहानी पसंद आए तो इसे शेयर करें ताकि और लोग भी कुछ सीख सकें और आत्मनिर्भर बनें स्वाभिमान की जिंदगी जीना चाहें तो जी ले।

इस पोस्ट को पढ़ने वाले हर दोस्त से गुजारिश है इसे शेयर जरूर करें।

धन्यवाद

अन्य ख़बरें

गांधी जयंती पर युवा सहयोग दल ने प्लास्टिक उपयोग न करने का लिया संकल्प
इनर व्हील क्लब ऑफ़ पटना ने मनाया आत्महत्या निवारण दिवस
दुर्घटना में बाल-बाल बचा साइकिल सवार
छात्र राजद की तीन दिवसीय पदयात्रा शुरू
D.El.ED. के तहत अप्रशिक्षित शिक्षकों की परीक्षा आज
शिक्षक के प्रति हमें हमेशा कृतज्ञ होना चाहिए
सदस्यता अभियान को लेकर ABVP मोतिहारी ने किया जिला बैठक का आयोजन ।
LND मोतिहारी के NSS वालंटियर्स ने चलाया "स्वच्छता ही सेवा" जन जागरूकता अभियान
India volunteer Day celebrated with Mission to Identify, Integrate and Intensify the volunteer power...
बाढ़ पूर्व तैयारियों की समीक्षा बैठक में जिलाधिकारी ने कम्युनिटी किचन चलाने एवं गर्भवती, बच्चें, बुज...
AC KI Aadat... यूट्यूब चैनल
पुश अप करने के अनोखे तरीके के कारण सिलचर असम के दीप देव चर्चा में
सेवा सप्ताह के अंतर्गत पूर्व केंद्रीय मंत्री ने किया स्वास्थ्य शिविर का उद्घाटन
बिहार में 15 DSP का हुआ तबादला पूरा लिस्ट यहां देखें
जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक ने पकड़ीदयाल प्रखंड भ्रमण क्रम में बेलवा घाट में जल स्तर का जायजा
चंपारण के लाल राकेश पांडे ब्रिटेन के हाउस ऑफ कॉमंस में Confluence excellence award से सम्मानित।
अगस्ता वेस्टलैंड घोटाले के मुख्य आरोपी को भारत लाया गया।
मोतिहारी में भारत बंद ?असरदार
चंपारण में गांधी जी को मास्क पहनाकर गांधीगिरी, मोती झील की बदबू से परेशान हैं लोग
बिहार के कलाकारों को राज्‍य सरकार देगी प्रोत्‍साहन राशि, बनाने होंगे 15- 20 मिनट के वीडियो

Leave a Reply