औरंगाबाद, एनटीपीसी परियोजना से बिहार को मिलेगी 1683 मेगावाट बिजली

Featured Post slide औरंगाबाद बिहार
  • 12
    Shares

औरंगाबाद । एनटीपीसी लिमिटेड की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी नबीनगर पावर जेनरेटिंग कंपनी एनपीजीसी की सुपर थर्मल पावर परियोजना से बिहार को आगामी जून 2021 से 1683 मेगावाट बिजली मिलने लगेगी ।
एनपीजीसी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी विजय सिंह ने आज बताया कि औरंगाबाद जिले के बारुन और नवीनगर प्रखंड की सीमा पर स्थापित एनपीजीसी की सुपर थर्मल पावर परियोजना की पहली इकाई से बिहार को अभी 565 मेगावाट से अधिक बिजली मिल रही है और अगले जून महीने तक इस परियोजना की दोनों इकाइयों के चालू हो जाने से 1683 मेगावाट बिजली बिहार को मिलने लगेगी ।
उन्होंने बताया कि परियोजना की दूसरी इकाई से आगामी दिसंबर माह से बिजली का व्यवसायिक उत्पादन प्रारंभ हो जाएगा । इस इकाई में 660 मेगावाट बिजली उत्पादन होगा ।इस इकाई के व्यावसायिक उत्पादन शुरू करने की सभी तैयारियां अंतिम चरण में है और इसके परीक्षण का सभी कार्य लगभग पूरा किया जा चुका है ।
श्री सिंह ने बताया कि इस परियोजना में 660 – 660 मेगावाट की कुल 3 इकाइयां स्थापित की जा रही हैं और इसके तीनों इकाइयों से कुल 1980 मेगावाट बिजली का उत्पादन होगा जिसका 85% भाग बिहार को मिलना है ।
उन्होंने बताया कि पहली इकाई से अभी 660 मेगावाट बिजली उत्पादन हो रहा है जबकि दूसरी इकाई दिसंबर से और तीसरी इकाई जून 2021 से चालू हो जाएगी । इन तीनों इकाइयों के चालू हो जाने से बिहार बिजली के मामले में और बेहतर स्थिति में हो जाएगा ।
मुख्य कार्यकारी अधिकारी ने बताया कि इस परियोजना के निर्माण पर कुल 17000 करोड़ रुपए से अधिक की लागत आई है और इसका निर्माण 2800 एकड़ से अधिक भू भाग में किया गया है ।
उन्होंने बताया कि इस परियोजना के बनने से प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से हजारों की संख्या में स्थानीय कामगारों को रोजगार मिल रहा है तथा क्षेत्र की आर्थिक स्थिति को सुदृढ़ करने में मदद मिली है ।
श्री सिंह ने बताया कि यह परियोजना सुपर क्रिटिकल तकनीक पर आधारित है और इससे प्रदूषण नहीं के बराबर होता है । उन्होंने बताया कि एनपीजीसी की ओर से परियोजना विस्थापित क्षेत्र तथा आसपास के इलाके में पुनर्वास एवं पुनर्स्थापन कार्यक्रम के तहत 60 करोड रूपये से अधिक खर्च किए जा रहे हैं ।
इनमें सड़क पेयजल स्वास्थ्य शिक्षा एवं अन्य बुनियादी सुविधाओं से संबंधित योजनाएं शामिल हैं ।अभी कंपनी की ओर से औरंगाबाद को रोहतास जिले से जोड़ने वाली एक महत्वपूर्ण सड़क मेंह इंद्रपुरी का नवनिर्माण कराया जा रहा है ।
कोविड-19 एवं लॉकडाउन के दौरान एनपीजीसी की ओर से जरूरतमंदों की सहायता के लिए खाद्य सामग्री का पैकेट सैनिटाइजर मास्क आदि उपलब्ध कराए गए तथा जिला प्रशासन को पीपीई कोविड-19 कीट मास्क आदि सुलभ कराया गया ।

अन्य ख़बरें

देवापुर घाट पर डाक बम कांवरियों का उमड़ा जनसैलाब
भोजपुरी फिल्‍म 'बागी-एक योद्धा' से त्योहारों के सीजन में धमाल मचाएंगे खेसारी लाल यादव
SDM ने दो गज की दूरी एवं मास्क है जरूरी का दिया संदेश
खिलाड़ियों के लिए चलाया जा रहा है "लर्न फ्रॉम होम" और "स्पोर्ट्स क्विज" कार्यक्रम
आर्मी रैली का रजिस्ट्रेशन शुरू
बारात में आए बच्चे को छोड़कर बराती हुए रफूचक्कर, परिजनों की खोजबीन जारी
बेटी के जन्मदिन पर, व्यवसायी पिता ने किया 100 पौधों का वितरण
भारत लीडरशीप ऑवार्ड से सम्मानित होंगे एक्टर सुनिल कुमार 
ब्रावो फार्मा के चेयरमैन राकेश पांडे डॉक्टर ऑफ फिलॉसफी इन इंटरनेशनल रिलेशंस (मानद कारण) की उपाधि से ...
चलो गाँव की ओर के तहत रमगढ़वा के शिवनगर पंचायत का हुआ भम्रण
दैनिक जागरण परिवार की ओर से आयोजित कवि सम्मेलन की पूरी फोटो...यहाँ क्लिक कीजिए।
नामांकन तिथि को तत्काल रद्द कर उसे आगे बढ़ाने की आवश्यकता है: ABVP
डॉक्टर भीमराव अंबेडकर को पुष्प एवं माल्यार्पण करके शिक्षक संघ ने मनाया संविधान दिवस
मतदाताओं को जागरूक करने राजगीर पहुंचे सैंड आर्टिस्ट मधुरेंद्र कुमार का जयशंकर प्रसाद स्मृति भवन में ...
मैं सूअर और तू मेरा बच्चा... वेद प्रताप वैदिक का ट्यूटर संस्मरण
NSS LND College Motihari.... 2.0 स्वच्छता के 50 घंटे कार्यक्रम के आज सातवें दिन
रेमॉन मैग्सेसे पुरस्कार से सम्मानित हुये चम्पारण के लाल रवीश कुमार, सैंड आर्टिस्ट ने अनोखे अंदाज में...
शहर में निकली मतदाता जागरूकता रैली, जिलाधिकारी रमण कुमार सहित तमाम अधिकारी एवं स्कूली बच्चें हुए शाम...
चंद्रहिया में शुरू होगी शाम की पाठशाला, ग्रामीण महिलाओं में शिक्षा की अलक जलाने की अनोखी पहल
मोनू सिंह की अध्यक्षता में युवा शक्ति ने किया संगठन का विस्तार

  • 12
    Shares

Leave a Reply